What is brahma Muhurta time in Hindi top 5 amazing fact कुछ भी संभव करे इस समय

0
48
brahma Muhurta time

Brahma Muhurta यानि creator’s hour वो समय है जब आप एक बार फिर से लाइफ के साथ जुड़ते है और खुद को दोबारा बनाते है. आसान शब्दों में समझे तो ये वही समय है जब हम सुबह की शुरुआत करते है.

ऐसा माना जाता है की जो लोग सुबह ब्रह महूर्त में नयी शुरुआत करते है वे अपने लक्ष्य को दूसरो से बेहतर हासिल करते है. सपनो को हकीकत में कैसे बदले ये हम सबके सामने सबसे बड़ा सवाल रहता है. ऐसे कई सवालों का जवाब है जिसे brahma Muhurta time in Hindi के दौरान ही पाया जा सकता है.

हम पहले के आर्टिकल में The witching hour के बारे में पढ़ चुके है. सुबह 3 से 5 बजे के बीच के अलौकिक अनुभव को आसानी से समझ पाना संभव नहीं है.

brahma Muhurta time

बड़े बुजुर्ग सुबह 4 बजे के आसपास शयन त्याग देते है क्यों की वे जानते है ब्रह्म महूर्त के समय जो व्यक्ति सोता हुआ रहता है उसके दिन की शुरुआत सही नहीं होती है. इस वक़्त सम्पूर्ण ब्रह्माण्ड से कनेक्शन बनाया जा सकता है और जो भी हमारे सपने है उन्हें हकीकत बनाया जा सकता है.

कुछ विद्वानों के अनुसार सूर्योदय से ठीक 1:30 घंटे पहले का समय ब्रह्म महूर्त का समय होता है. हमें इसी समय उठ जाना चाहिए और ध्यान का अभ्यास करना चाहिए ताकि दिन की अच्छी शुरुआत की जा सके.

what is brahma Muhurta time in Hindi

हर रोज सुबह 3-5 बजे के बीच का समय जादुई समय कहलाता है. इसकी वजह है इस दौरान होने वाली घटनाए. इसके सबसे फायदे में disease-free body and an increased lifespan आम फायदे में से है. अगर आपके दिन की शुरुआत अच्छी नहीं हो रही है तो आपको brahma muhurta time में उठ जाना चाहिए.

ये वो समय है जब हम खुद के अस्तित्व की तलाश कर सकते है, भविष्य में हमारा लक्ष्य क्या होना चाहिए इसके बारे में सोच सकते है.

इस वक़्त मनुष्य मस्तिष्क सबसे ज्यादा शांत होता है इसलिए आप चाहे तो ध्यान के जरिये अवचेतन मन की शक्तियों को समझ सकते है. अंतर की गहराई में उतर सकते है.

अगर बात करे biological clock की तो ये सूर्य के उदय के साथ जुड़ी हुई है. ब्रह्म महूर्त में उठना और शाम होते ही जल्दी खाना खाकर सो जाना ये सब हमारे ancestors की कल्चर थी.

आज ना तो शुकून की नींद है और ना ही सुबह समय पर उठा जाता है. दिनभर हम एक ही गतिविधि को दोहराते है पैसा कमाना और शाम होते होते उसे खर्च कर करवटे बदलते हुए सो जाते है.

देखा जाए तो हम बस इतना ही सो पा रहे है की सुबह उठ जाए. पहले जैसा शुकून नींद में अब नहीं रहा है. यही एक वजह है की आपको दिन की सही शुरुआत के लिए सुबह brahma Muhurta time में उठना शुरू कर देना चाहिए.

Why Brahma Muhurta is so auspicious?

इसे extremely auspicious माना जाता है. सूर्योदय से ठीक 1:30 घंटे पहले का समय ब्रह्म महूर्त का समय होता है. बड़े बुजुर्ग अपने दिन की शुरुआत इसी समय करते है जिसकी वजह से वे पूरा दिन खुद को सहज शांत महसूस करते है.

सूर्योदय के बाद तक सोने वाले व्यक्ति को लक्ष्य की प्राप्ति में काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ता है. आज की भागदौड़ वाली लाइफ में तो ज्यादातर काम बिगड़ने लगते है.

ऐसे कई कारण है जो Importance of brahma Muhurta time को दर्शाते है. ये वो समय है जब हम खुद को दोबारा बनाते है. आँखे बंद कर कल्पना करते हुए विचार करते है की हमें आगे क्या करना है. भविष्य की योजना को साकार बनाना है तो इस समय से शुरुआत करना सही रहता है.

spiritual science of brahma mahurat

अगर आपको बीमारी रहित जीवन बिताना है तो सुबह ब्रह्म महूर्त में उठना शुरू कर दीजिये. ये आपकी लाइफ को लम्बा बनाने में हेल्प करता है.

अगर आप दिन-भर के कामो में थके हुए महसूस कर रहे है तो सुबह के समय जल्दी उठना आपको इसमें हेल्प कर सकता है. ये आपके प्राण उर्जा के स्तर को बढ़ाता है जिसकी वजह से आप दिनभर के कामो के लायक उर्जा को ले पाते है और प्लान के साथ काम को पूरा कर पाते है.

Benefits of Brahma Muhurta

अगर आपने हमारी पिछली पोस्ट biological clock के बारे में पढ़ा है तो आपको पता होगा की हमारी बॉडी इस पर आधारित होती है. अगर हम brahma Muhurta time के साथ इसे फॉलो करे तो न सिर्फ हमारा दिन अच्छा जाता है बल्कि हर काम को योजनाबद्ध तरीके से पूरा भी कर सकते है. ऐसे कई फायदे है जिन्हें हम इस दौरान ले सकते है जैसे की

Enhances Performance अगर हम सुबह जल्दी उठकर दिन की शुरुआत करते है तो जल्दबाजी से बचते है. हर काम को योजना से पूरा करते है जिसकी वजह से दिमाग पर extra load नहीं पड़ता है और Performance में सुधार होता है.

Improvement of Health अगर स्वास्थ्य की दृष्टी से देखा जाए तो brahma Muhurta time में उठने के कई फायदे है. इसमें

  • Improving immunity
  • Maintaining blood pH level
  • Energy level
  • Reducing body pain and cramps
  • Getting positive energy and the manifestation of dreams become easy
  • Finding meaning to live your life
  • Having more to will power and positive thoughts जैसे बेनिफिट शामिल है.
  • Reduces Diabetes Mellitus सुबह की शुरुआत में योग प्राणायाम और ध्यान से की जाए तो मधुमेह को कण्ट्रोल किया जा सकता है.
  • Brings Physiological Changes हमें फिट रखने में ये अहम् योगदान निभाती है इसलिए सुबह जल्दी उठना हमारे शरीर के लिए फायदेमंद होता है.
  • Increases Melatonin Secretion हमारे Pineal gland के सक्रीय होने पर एक खास हार्मोन काम करता है जो शरीर में उत्साह को बनाए रखता है.
  • सुबह के समय जल्दी उठना हमें प्रकृति से जोड़ता है.

अगर हम सुबह की शुरुआत सही करते है तो ये हमें आगे बढ़ने में हेल्प करता है. इसका एक फायदा ये भी है की हम सिर्फ सही समय पर उठना शुरू कर दे तो पूरे दिन सबकुछ अपने समय के हिसाब से सही होने लगता है.

Science behind Brahma Muhurta

अगर Brahma Muhurta time के पीछे के विज्ञान को समझने की कोशिश करे तो पाएंगे की spiritual well-being में बिना किसी मतलब के कुछ भी नहीं होता है. ये समय मैडिटेशन के लिए सबसे खास होता है क्यों की इस दौरान Cosmic energy पूरे यूनिवर्स से हमें आसानी से मिलना शुरू हो जाती है.

एक अच्छी नींद के बाद जब आप calm, conscious होते है तो इस उर्जा को प्राप्त कर आप अपने दिन को बेहतर बना सकते है.

आप अपनी जागरूकता को अपने चरम पर बनाए रख सकते है. यूनिवर्स से कनेक्शन बनाने के साथ साथ आप कुछ भी करने में खुद को सक्षम पाते है.

Can we sleep after brahma Muhurta?

कुछ लोगो को शंका है की brahma Muhurta time यानि ब्रह्म महूर्त में ध्यान का अभ्यास करने के बाद अगर नींद आने लगे तो क्या हमें सूर्योदय के बाद थोड़ी देर सो जाना चाहिए. ऐसा लगभग हर व्यक्ति के साथ होता है जिसका नींद पर कण्ट्रोल नहीं होता है.

इसकी एक वजह ये भी हो सकती है की शरीर जिस सुख की अभिलाषा करता है वो उसे इस दौरान मिलने लगता है जिसकी वजह से नींद आने लगती है.

इसके बारे में मिली जुली राय देखने को मिलती है. कुछ एक्सपर्ट के अनुसार ब्रह्म महूर्त में उठने के बाद सोना नहीं चाहिए वही कुछ एक्सपर्ट ये मानते है की अगर नींद आ रही है तो आप ध्यान के अभ्यास के बाद सो सकते है.

सबसे बेस्ट होगा की आप इस दौरान योग निद्रा या फिर न्यास ध्यान का अभ्यास करे. ये शवासन की एक विधि है जिसमे शरीर और मस्तिष्क को रिलैक्स करवाया जाता है.

Things to do during Brahma Muhurta time

अब बात करते है की ऐसी कौन कौन सी गतिविधि है जिन्हें आप Brahma Muhurta time के दौरान कर सकते है. सुबह की सही शुरुआत हो या फिर खुद को अपने सपनो से जोड़ना हो इसके लिए ब्रह्म महूर्त का समय ही सही रहता है.

इस दौरान अभ्यास करना आपके लिए practice the Law of Attraction का अभ्यास करने जैसा होता है. जो चाहो उसे अपनी ओर आकर्षित कर लो. आइये जानते है की ऐसे कौन कौन से काम है जो आप सुबह सुबह कर सकते है.

  • सुबह ब्रह्म महूर्त के दौरान ध्यान का अभ्यास करना आपको मस्तिष्क की कार्य क्षमता को बढाने में हेल्प करता है.
  • Brahma Muhurta time के दौरान आप Brahma Gyan or knowledge को सुन सकते है.
  • दिनभर के दौरान आपका क्या क्या प्लान रहने वाला है और कैसे शुरुआत करनी है इन सबके बारे में प्लान बना सकते है.
  • खुद को समझते हुए और ज्यादा बेहतर बना सकते है.
  • अवचेतन मन और पुरानी यादो को ताजा कर सकते है.

Things to avoid in Brahma Muhurta

सुबह सुबह ब्रह्म महूर्त समय के दौरान खाने से बचना चाहिए. ऐसा माना जाता है की इस दौरान अगर हम भोजन ग्रहण करते है तो वो बीमारी की वजह बनता है. इसके अलावा इस समय आपको जितना हो सके शांत बने रहना चाहिए. अगर आप इस समय तनाव लेते है तो आपका पूरा दिन तनाव से गुजरता है.

Pregnant women, children और बीमार व्यक्ति को इस समय नहीं उठना चाहिए. इस बारे में मिली जुली राय है और आज भी विवाद का विषय बना हुआ है की इन सबके लिए brahma Muhurta time के दौरान उठना सही रहता है या नहीं.

Read : नाभि दर्शना अप्सरा शाबर मंत्र साधना सिद्धि विधान जो एक दिवस में सिद्ध होती है

सपनो को पूरा करने के लिए ये समय ही क्यों ?

इन्सान अपनी चेतना के जरिये आगे बढ़ता है. अगर वो इसका सही प्रयोग करना सीख ले तो उसके लिए कुछ भी मुश्किल नहीं रह जाता है. अगर हम सुबह की शुरुआत सही करे तो हमारे लिए योजना बनाना आसान होता है क्यों की दिन का समय अभी बाकी है.

दिन भर में हम क्या करने वाले है और इसका हम पर क्या प्रभाव होने वाला है ये सब इसके जरिये संभव है. Brahma Muhurta time में उठकर जब शांत मन से योजना बनाई जाती है तो उसे पूरा करना आसान होता है.

इसके अलावा अगर एक काम सही ढंग से पूरा होता है तो हम शांति से दूसरे काम पर फोकस बनाए रख सकते है. ऐसा तभी सम्भव है जब हम काम की सही शुरुआत करे. अगर काम की शुरुआत को जल्दी में करेंगे तो योजना के अनुसार काम को पूरा नहीं किया जा सकता है.

यही वजह है की इस समय यूनिवर्स भी हमारी मदद करने के लिए तैयार रहता है. Law of attraction का सही प्रयोग करना भी आसान हो जाता है.

Read : सम्मोहन में स्पर्श साधना प्रयोग के Top 5 Amazing Benefit सिर्फ आँखों से नहीं इशारो से भी करे सम्मोहन

Can Brahma Muhurta bring you success? final conclusion

सुबह की शुरुआत brahma Muhurta time से की जाए तो हमारे लिए योजना बनाना आसान हो जाता है. इसके अलावा हमारी इच्छा को पूरा करना भी संभव हो सकता है क्यों की जब हम कोई काम सही शुरुआत के साथ करते है तो उसे पूरा करने के पीछे हमारा अवचेतन मन लगा होता है.

शांत मन से किसी भी कार्य को आसानी से किया जा सकता है.

आपको जान लेना चाहिए की The morning period between 3.30 am to 5.30 am is called Brahma Muhurta यानि सुबह साढ़े तीन बजे से लेकर साढ़े पांच बजे तक का समय ब्रह्म महूर्त का समय होता है. इस समय में उठना आपके दिन की बेहतर शुरुआत के लिए अच्छा माना जाता है.

अगर आप The power of your subconscious mind में बिलीव करते है तो आपको brahma Muhurta time में उठना शुरू कर देना चाहिए.

Previous article15 strange Signs of negative energy in a person in Hindi खुद को नेगेटिव से कैसे रोके
Next articleHow to Download Netflix Movies with StreamFab Netflix Downloader 5 amazing benefit
Nobody is perfect in this world but we can try to improve our knowledge and use it for others. welcome to my blog and learn new skill about personal | psychic | spiritual development. our team always ready to help you here. You can follow me on below platform

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here