क्या आप भी toxic relationship से गुजर रहे है ? इससे बाहर निकलने के लिए इन tips को अपनाइए

0

Toxic relationship उन रिश्तो को कहते है जिनकी वजह से हमारी लाइफ की स्थिति बदतर होती जाती है. आज के टाइम में रिश्तो को निभाने में indian culture सबसे आगे है. दुसरो के साथ आपके रिश्ते कैसे भी हो आप उनसे दूर नहीं हो सकते है क्यों की वो आपके अपने है या किसी तरह से जुड़े है. जब एक रिश्ता आपको mentally, emotionally or spiritually damaging करना शुरू कर देता है तब वो टॉक्सिक रिलेशनशिप में बदल जाता है.

ऐसे कई Signs of a toxic relationship in hindi है जिनके जरिये आप पहचान कर सकते है की आपके रिश्ते में कही ऐसी कोई स्थिति तो नहीं बन रही है. इसे हम qualities of fear ( किसी तरह का डर ), submission/domination (or inequality), and deception के आधार पर भी देख सकते है. कुछ स्थिति कण्ट्रोल की जा सकती है लेकिन कुछ में से आपको बाहर निकलना ही होता है.

toxic-relationship-hindi

ऐसा ज्यादातर leave in relationship के केस में होता है. दो दिल आपस में मिलते है और साथ रहने का फैसला करते है लेकिन कुछ समय बाद ही इसमें प्यार की जगह एक दुसरे की मर्जी को थोपना ज्यादा होने लगता है. ऐसा इसलिए होता है क्यों की हम personal boundries को महत्व नहीं देते है. अगर आपके आसपास ऐसी कोई स्थिति पैदा हो रही तो इससे बाहर कैसे निकले आइये जानते है इसके बारे में डिटेल से.

इस पोस्ट में हम इन खास पॉइंट पर बात करने वाले है.

  1. ख़राब रिश्ता क्या है ?
  2. toxic relationship और abusive relationship में क्या फर्क है और ये एक दुसरे से कैसे अलग है ?
  3. रिश्ते में toxic रिलेशन होने की वजह
  4. क्या इस ख़राब रिश्ते को सुधार सकते है
  5. इस स्थिति से बाहर कैसे निकले

What is a toxic relationship?

ऐसी रिलेशनशिप जो भावनात्मक, मानसिक रूप से या फिर आध्यात्मिक रूप से आपको कमजोर करती है toxic relationship कहलाती है. ये एक स्थिति है जिसमे एक व्यक्ति दुसरे व्यक्ति के साथ अपने संबंधो की मर्यादा को तोड़कर उन्हें निचा दिखाने, कण्ट्रोल करने या फिर उनकी स्वतंत्रता को छिनने की कोशिश करता है.

ख़राब रिश्ते के संकेत

ऐसे कई सारे Signs of a toxic relationship है जो ये दर्शाते है की आप जिंदगी को अपने तरीके से नहीं बल्कि दुसरो के लिए जी रहे है.

  • Walking on eggshells: आपकी वजह से कोई नाराज ना हो जाए इस तरह की सोच के साथ रिश्ते को निभाना जो हमेशा आपको हर जगह दुसरो के लिए खुद की इच्छा को scarifies करने के लिए मजबूर करता है.
  • Can’t speak freely: दुसरो के सामने अपने thoughts, feelings or needs को खुलकर ना रख पाना वजह है fearing negative repercussions यानि दुसरे इसे नेगेटिव न ले ले.
  • It’s always about them: आप दुसरो के लिए कुछ भी कर लो लेकिन समय आने पर वो आपके favor में कभी नही होते है.
  • Abandoning values: कहते है प्यार बुरे से बुरे लोगो को भी बदल देता है लेकिन दुसरो के लिए values, interests, friendships इन सबको छोड़ देना यानि आपकी अपनी पहचान ही खो देना होता है.
  • Feeling drained and depressed: आपके पार्टनर के साथ रहते हुए आपको कभी ख़ुशी महसूस ना होती हो. हमेशा जब भी आपके उनके साथ रहते है तो तनाव में या उलझे हुए रहते है.
  • Playing the role of parent or therapist: रिलेशनशिप में दोनों के बिच प्यार भरे रिश्ते की बजाय दूरियां बन जाना और आपका रिश्ता एक सलाह देने वाला या फिर केयर करने वाला ही बन कर रह जाना.
  • Being made fun of: सबसे ज्यादा ये चीज देखने में आती है की हम कुछ दोस्तों के साथ रहना पसंद करते है जब की वो ऐसा कोई मौका नहीं छोड़ते है जिसमे वो हमें निचा दिखा सके.
  • Being taken advantage of: आप बहुत अच्छे है और हमेशा दुसरो की मदद करते है लेकिन ऐसा करना हमेशा सही नहीं रहता है क्यों की कुछ लोग इस अच्छाई का खूब फायदा उठाते है.
  • Always agreeing with them: आप उनसे सहमत है या नहीं ये कोई मायने नहीं रखता है आप हमेशा उनकी हाँ में हाँ मिलाते है.
  • Constant drama: रिश्ते कभी भी एक तरफ से नहीं निभाये जा सकते है. कभी कभी आपको अपने पार्टनर के साथ रहते हुए महसूस होता है जैसे ये सब एक ड्रामा हो.
  • Strict roles: अगर आप बदल जाते है तो आपके रिश्ते ख़राब हो जायंगे इस वजह से आप खुद को बदल नहीं सकते है और दुसरो की पसंद के रोल में खुद को दिखाते है.
  • Jealous of your success: आपकी कामयाबी पर खुश होने की बजाय एक जलन की भावना पैदा होना जो उनके व्यवहार से झलकने लगती है.
  • Brings out the worst in you: आपको समझने और आगे बढ़ने की बजाय वो आपको आपके कमियों की वजह से निचा दिखाने की कोशिश करे और कमियों को आपके ऊपर हावी होने दे.
  • Regressing instead of progressing: आपके अन्दर के उत्साह को कम करने में पीछे नहीं रहते है. आपकी खुद की वैल्यू को बढाने की बजाय कम करते जाते है.
  • No support: रिलेशन में है लेकिन उनके पास आपके लिए टाइम नहीं है.
  • Unreliable: उन्हें आप पर भरोसा नहीं है बार बार आप पर शक भी करते है इसके बावजूद आप उन्हें छोड़ देने की बजाय साथ ही रहते है.
  • Deception, suspicion, and paranoia: आपका पार्टनर आपसे अक्सर झूठ बोलता है. आपने उन्हें रंगे हाथ पकड़ा है इसके बावजूद वो आपके सामने अपनी गलती नहीं मानता है.
  • Self-absorption: आपका पार्टनर अपनी वजह से अक्सर मुसीबत में फंसता रहता है लेकिन दोष आता है आप पर.
  • Contempt: आपके रिश्ते में शक की वजह से आपको समझने की बजाय आपका पार्टनर ही आपको गलत साबित करने की कोशिश कर रहा है.
  • Disrespecting boundaries: आप अपने रिश्ते में एक clear physical, emotional, mental or spiritual boundaries बनाने की कोशिश करते है और आपका पार्टनर बार बार उन सीमाओं को तोड़ता जाता है.
  • Submission/domination: ऐसे पार्टनर जो आपको आजादी देने की बजाय आपको अपने अंडर में रखने की कोशिश करते है. आप क्या करते है, क्या पहनते है इन सब पर उनकी मर्जी जताना.
  • Non-stop obstacles: बुरा वक़्त भी एक समय के बाद हट जाता है लेकिन आपके साथ जैसे ये कभी ख़त्म ही ना हो.
  • Feeling unworthy: आप अपनी personal value खो चुके है और जब भी अपने पार्टनर को पास पाते है आप खुद को कमजोर पाते है.
  • Keeping count of wrongdoings: आपका पार्टनर आपकी गलतियों पर आपको समझाने और बाहर निकालने की बजाय उन्हें गिनाने लगता है.
  • Lack of self-responsibility: अपनी की गई गलती के लिए आपका पार्टनर कभी भी accept नहीं करता है.
  • Justifying bad behavior: आप अपने partner के द्वारा किये गए व्यवहार को छिपाने की कोशिश करते है.
  • Unequal division of labor: आप अपने partner के लिए हर तरह के emotional work को करते है लेकिन आपका partner आपके लिए ऐसा कभी नहीं करता है.

अगर आप भी अपने relationship में इस तरह के symptom पाते है तो समझ जाइये की आप एक toxic relationship में रह रहे है.

Difference between Toxic and Abusive Relationships

इन दोनों ही relationship में हम अपने रिलेटिव या फिर partner द्वारा मानसिक रूप से शोषित होते है. ये दोनों word हम अलग अलग स्थिति के लिए इस्तेमाल करते है. क्या आप जानते है

Can you be in a toxic, but not abusive, relationship and vice versa?

यानि क्या ऐसा हो सकता है की toxic relation में रहते हुए हम abusive का शिकार ना हो या फिर abusive होते हुए toxic relation में रहना ?

बिलकुल ऐसा हो सकता है. हम इन दोनों स्थिति से गुजर सकते है और ये दोनों स्थिति एक दुसरे को ओवरलैप भी कर सकते है.

All types of abuse are toxic, but not all forms of toxicity are abusive

सभी तरह की abusive के symptom toxic के हो सकते है लेकिन सब toxic relation के फॉर्म abusive हो ऐसा जरुरी नहीं है.

इसे आप इस तरह से समझ सकते है जैसे की जिम्मेदारी ना लेना toxic relation हो सकती है लेकिन ये abusive हो ऐसा जरुरी नहीं है. इस तरह की स्थिति एक immature or untrustworthy partner के साथ हो सकती है लेकिन abusive नहीं हो सकती है.

abuse करना intentionally-inflicted होता है जो की एक व्यक्ति के अन्दर की भावना से पैदा होता है जब की toxic relation एक व्यक्ति के खराब व्यवहार की वजह से होता है.

आप खुद से सवाल कर सकते है की क्या आपकी relationship किसी तरह की intentionally-inflicted negativity से प्रभावित तो नहीं है ? अगर आप या आपका पार्टनर इस तरह की स्थिति से गुजर रहे है तो हाँ आप abusive relationship से गुजर रहे है.

दूसरी तरह से देखे तो अगर आपकी relationship के ख़राब होने की वजह poor communication, low self-esteem, or immaturity है तो आप toxic relationship से गुजर रहे है.

इसका मतलब ये नहीं है की आप दोनों स्थिति से एक साथ नहीं गुजर सकते, ऐसा भी संभव है की आप दोनों स्थिति से गुजर सकते है.

What Causes Toxic Relationships?

बात करे इसकी वजह की तो इसकी four common causes of toxic relationships है जिन्हें आप इस तरह से समझ सकते है.

  1. Poor communication and personal boundaries
  2. Emotional or mental immaturity
  3. Childhood wounds and traumas
  4. Narcissism and sociopathy

How-To-Fix-A-Toxic-Relationshipकई बार ऐसा होता है की relationship में रहते हुए हम openly लोगो के साथ या अपने partner के साथ बात नहीं कर पाते है. हमें पता ही नहीं होता है की हम लोगो के साथ सही तरीके से बात कैसे करे.

कई बार इसकी वजह emotional or mental immaturity भी होती है जिसमे हम oopposing interests, desires, values, or beliefs में कैसे behave करे ये समझ नहीं पाते है.

विपरीत स्थिति में ऐसी स्थिति हमारी समझ से बाहर हो जाती है. ऐसी स्थिति में toxic relationship बहुत ज्यादा complex हो जाती है.

इस तरह की स्थिति के लिए कई बार बचपन की घटनाए या हादसे शामिल होते है. बचपन में हम कई बार ऐसी घटनाओं से गुजरते है जिनकी वजह से हमारे मन में किसी तरह के डर बैठ जाते है.

इन सब मे narcissism and sociopathy सबसे ज्यादा खतरनाक है जिसमे हम ऐसे व्यक्ति के साथ relationship में होते है जो मानसिक रूप से नेगटिव होते है. ऐसे लोग हमें अपने जाल में फंसा कर रखते है जिसकी वजह से हम दुसरे लोगो से कट जाते है.

पढ़े : moon phase and magical working क्या वास्तव में ग्रहण में साधना जल्दी सिद्ध होती है ? – रहस्य

क्या रिश्ते को सुधारा जा सकता है ?

ये निर्भर करता है की आप किस कारण इस तरह की स्थिति से गुजर रहे है. अगर आपका partner या आप दोनों के बिच सही तरीके से communication नहीं हो पा रहा है तो इसे relationship therapy के जरिये सोल्व किया जा सकता है. Unresolved childhood wounds को हम inner work के जरिये सही कर सकते है. लेकिन, अगर आप अपने रिश्ते में narcissism or sociopathy के शिकार है तो आपको जितनी जल्दी हो सके छोड़ देना चाहिए क्यों की इसे कोई भी किसी स्थिति में भी सोल्व नहीं कर सकते है.

इन 4 स्थिति में हम 3 में से बाहर निकल सकते है लेकिन अंतिम स्थिति से हम बाहर नहीं निकल सकते बल्कि इसे छोड़ देना ही बेहतर होगा.

इन स्थिति से आप बाहर निकल सकते है. अगर आपकी relationship को काफी समय हो जाता है तो आप इसे बचाने केलिए कोशिश कर सकते है. आप अपने partner को बचा नहीं सकते ना ही फिक्स कर सकते है जब तक की वो खुद इसकी जिम्मेदारी न ले. बेहतर होगा की आप पहले खुद से अपने रिश्ते से जुड़े कुछ सवाल कर ले.

आपका रिश्ता आपके लिए कितना मायने रखता है या फिर आप उसे अपनी लाइफ में आगे रखना चाहते है या नहीं इससे जुड़े कुछ जवाब खोजने चाहिए जैसे की

Toxic relationship quiz
  1. क्या में अपने partner के आसपास होने पर उससे प्यार को महसूस करता हूँ ?
  2. क्या मै अपने partner के आसपास होने पर खुद को सेफ पाता हूँ.
  3. क्या मेरा partner मेरी moral/sexual/emotional boundaries की रेस्पेक्ट करता है ?
  4. दुसरे लोगो के सामने क्या मुझे कभी मेरे partner से सम्मान मिलता है ?
  5. मेरे विचार और व्यवहार को में partner के सामने खुलकर व्यक्त कर सकता हूँ.
  6. किसी तरह की गलती के लिए क्या मेरा partner sorry accept करता है ?
  7. क्या मेरा partner मुझे बराबर का सम्मान देता है ?
  8. क्या मेरा partner मुझे emotionally and mentally केयर करता है ?
  9. क्या में अपने partner के साथ आजादी से बदलाव करने को फ्री हूँ ?
  10. क्या पुरानी बाते शेयर करने के लिए मेरा पार्टनर इतना mature है ?

आपको अपने रिश्ते को बचाने के लिए सबसे पहले इन सवालों का जवाब पा लेना चाहिए.

पढ़े : कम समय में सांसो के जरिये kundalini meditation में सफलता हासिल करने की सरल विधि

इतना सब होने के बावजूद रिश्ते को कायम क्यों रखे ?

Toxic relationship के इतने बुरे effect होने के बावजूद हम अपने partner को छोड़ नहीं पाते है इसकी वजह है हमारे कुछ ऑब्जेक्शन जो हमें इस तरह की रिलेशन से बाहर निकलने से रोक लेते है.

ज्यादातर लोग कुछ डर की वजह से इस रिश्ते से बाहर नहीं निकल पाते है.

  • I don’t want to be alone: अकेले होने का डर लगता है क्यों की अगर आप इस रिश्ते को तोड़ देते है तो आप अकेले पड़ जायेंगे और फिर शायद कोई और इसकी जगह ना ले.
  • I still love him/her: हम इतना होने के बाद भी उनसे ही प्यार करते है जिनसे हम बार बार निचा दिखाए जाते है.
  • It’s my first serious relationship: relationship में लम्बे समय तक रहने के बाद हम किसी एक व्यक्ति के साथ इमोशनली कनेक्ट हो जाते है. पहला प्यार और रिश्ता कोई भी तोडना नहीं चाहता है.
  • This is the best I can do : क्या हुआ अगर मेरा partner मुझसे ख़राब behave करता है में अपनी तरफ से जो कर सकता हूँ उससे best करने की कोशिश तो कर सकता हूँ.
  • I have children, a house, a career, I feel trapped: शादीशुदा महिला अपने रिश्ते में शोषित होने के बावजूद अपने partner को छोड़ नहीं पाती है क्यों की वो अब रिश्ते में बंधी हुई है.
  • Our relationship didn’t start this way. I’m sure it will get better: कोई भी रिश्ता किसी ख़राब व्यवहार से शुरू नहीं होता है. हम रिश्ते में हमेशा अच्छे पहलु से शुरुआत करते है इसलिए अगर रिश्ता ख़राब हो रहा है तो कुछ वजह तो होगी इसे पहले की तरह बेहतर बनाया जा सकता है.
  • I’m scared of multiple negative repercussions: अगर मेने इस रिश्ते को तोड़ दिया तो क्या गारंटी है की आगे मेरे साथ ऐसा नहीं होगा? ये सवाल ज्यादातर लडकियों को परेशान करता है जिसकी वजह से वो अपने रिश्ते से बाहर नहीं निकल पाती है.

How to get out of a relationship

जब इस तरह की स्थिति पैदा होती है तब हमारे सामने सवाल पैदा होता है how i can save or end up this kind of relationship?  ज्यादातर लोगो के लिए ये आसान नहीं होता है की वो अपने partner को छोड़ दे. कुछ तरीके है जिन्हें अपनाकर हम रिलेशन को बचा सकते है और जब ये काम नहीं करते है तो इस रिश्ते को एंड करना ही पड़ता है.

पढ़े : सबसे उग्र Smashan Kali Vashikaran Mantra जो बेहद कम समय में अपना असर दिखाती है

रिश्ते को बचाने के लिए उठाये जाने वाले कदम
  • आप relationship counseling की मदद ले सकते है ताकि रिश्ते को कैसे बेहतर बनाया जा सकता है को लेकर guide किया जा सके.
  • आपको non-violent communication skills के बारे में जानना चाहिए. अगर आपको प्रॉब्लम सही तरीके एक दुसरे को समझने में आ रही है तो वो इससे दूर हो सकती है.
  • partner की बातो को सुनने के लिए art of active listening का सहारा ले सकते है.
  • अपने partner और आपमें मिलने वाले mutual interests and passions को खोजे इससे आपको रिश्ते को मजबूत बनाने में मदद मिलेगी.
  • Regular intimacy and affection के लिए हर रोज एक समय निकाले.
  • आप चाहे तो mindfulness meditation technique का प्रयोग कर सकते है.
  • रिश्ते को मजबूत बनाने के लिए आप clear personal boundaries को निर्धारित कर सकते है ताकि एक दुसरे की प्राइवेसी का सम्मान बना रहे.

अगर आपके रिश्ते में थोड़ी सी भी उम्मीद है तो आप उसे बचाने के लिए ये उपाय कर सकते है लेकिन, अगर ये पूरी तरह से बर्दास्त से बाहर हो जा रहा है तो आपको इससे बाहर निकलने में ही भलाई है.

How to end your relationship

सबसे पहले तो ध्यान दे क्या हो रहा है

आपको सबसे पहले तो ध्यान देना होगा की कही आप खुद को किसी और के जरिये manipulate तो नहीं होने दे रहे है? कुछ ऐसा जो आपको इन सबके बावजूद परेशान कर रहा हो और एक happy life से रोक रहा हो. अगर आपकी लाइफ में कुछ भी गलत हो रहा है जो आपको आगे बढ़ने से रोक रहा है तो आपको इसके बारे में पता होना चाहिए.

अपने partner द्वारा manipulations होने से बचे

कई बार ऐसा होता है की आपके partner को पता चल जाता है की आप रिश्ते को ख़त्म करने की सोच रहे है और वो आपको प्रभावित करने के लिए अच्छे बनने की कोशिश करता है. वो हरदम कोशिश करते है की आपको अपनी लाइफ में कैसे भी वापस पहले की तरह बनाए रखे. ये वो रिश्ते को सुधारने के लिए नहीं बल्कि आपको प्रभावित करने के लिए करते है. आपको इससे बचने की जरूरत है.

किसी खास दोस्त का support लेने की कोशिश करे

इस तरह की स्थिति से बाहर निकलने के लिए आपको एक सहारे की जरुरत होगी. अपने आसपास दोस्तों में से किसी को तलाशे. आपके परिवार का कोई मेम्बर या फिर दोस्त आपकी इसमें help कर सकता है. ऐसा ना होने की स्थिति में ऑनलाइन जैसे की facebook पर नए ग्रुप से जुड़ कर भी आप support पा सकते है.

Plan an escape route

toxic relationship जैसी स्थिति से बाहर निकलने के लिए आपको अपने आगे के प्लान को सोच कर चलना होगा. आपको इसके बाद क्या चाहिए और की चाहिए इन सबको प्लान करना होगा जैसे की आप क्या करेंगे किस्से support ले सकते है, कहा रहना होगा और क्या करना होगा. इन सबके बाद ही आप अपने पार्टनर को छोड़ कर आगे बढ़ सकते है.

अपने से 5 साल बाद की लाइफ के बारे में सोचे

ज्यादातर लोगो को इस स्थिति से बाहर निकलने के लिए मोटिवेशन की जरुरत होती है. आप इसके लिए अपनी लाइफ को अब और भविष्य के साथ तुलना कर सकते है. अगर आपके partner को छोड़ देने से आपका future secure होता है तो आपको इसे imagination करना चाहिए इससे आपको help मिलेगी.

Create a goal to work towards

कई बार ऐसा होता है की हम इस स्थिति से बाहर निकलने के बाद भी इसके effect से बाहर नहीं निकल पाते है. ऐसी स्थिति में खुद को मोटीवेट करने के लिए एक और रास्ता आप अपना सकते है जिसमे आप अपनी लाइफ को toxic relationship और उससे बाहर निकलने के बाद की स्थिति को compare कर सकते है. ऐसा करना आपको मोटीवेट तो करेगा ही साथ ही मानसिक रूप से तैयार करेगा की आपने जो फैसला लिया है वो सही है.

Use empowering affirmations

अगर आप ख़राब relationship से बाहर निकलने के बाद खुद को इसके लिए जिम्मेदार या फिर गलत निर्णय लेने वाले मान रहे है तो आपके अन्दर खुद के प्रति विश्वास की कमी है. ज्यादातर लोग जब आपको अकेले देखते है तो कही न कही सोचते है की गलती आपकी भी होगी. इस स्थिति से बाहर निकलने के लिए आप कुछ motivational affirmation का सहारा ले सकते है.

  • I am worthy of happiness,” मुझे भी happy रहने का हक़ है.
  • “I have the right to live a life I love,” – मुझे अपनी लाइफ को अपने तरीके से जीने का हक़ है.
  • “I am empowered to make wise decisions,” – में खुद के स्तर पर सही निर्णय ले सकता हूँ.
  • “I am strong and brave,” – में मजबूत और बहादुर हूँ.
  • “I can do whatever I put my mind towards.” – में वो सब कर सकने में काबिल हूँ जो मुझे आगे ले जाए.

इस तरह की सोच के साथ आप खुद को मोटीवेट कर सकते है और आगे बढ़ सकते है.

save yourself from toxic relationship final word

दोस्तों इस वक़्त शहरो में leave in relationship के ऐसे केस देखने को मिलते है जिसमे दो लोग आपस में मिलते तो एक अच्छी शुरुआत के साथ है लेकिन आगे चलकर इसमें प्यार और भरोसा कम रिश्ते को थोपना ज्यादा देखने को मिलता है. आपका partner आपको कुछ भी आपकी मर्जी से करने को रोकना शुरू कर देता है और आप उनकी मर्जी से लाइफ को आगे बढाए इस तरह की सोच के साथ वो आपको हर जगह प्रभावित करने की कोशिश करते है. ये सब sign of toxic relationship आपके साथ देखने को मिलते है तो आपको इससे बाहर निकलने की सोचना चाहिए.

हालाँकि ऐसा नहीं की रिश्ते को ख़त्म करना ही final option होता है, आप इसे बचाने की कोशिश कर सकते है लेकिन ये तभी सम्भव है जब रिश्ते में सुधार की थोड़ी सी भी आश हो. अगर ऐसा नहीं है तो खुद को इससे दूर करना ही एकमात्र उपाय है.

Never miss an update subscribe us

* indicates required

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here