Tibetan singing bowls how to use, benefit and hidden risk in Hindi

0

Tibetan singing bowls एक तरह से bell है जिन्हें चोट करने पर खास तरह की उच्च स्तर की sound waves पैदा होती है. इस बाउल को singing bowls or Himalayan bowls के नाम से भी जाना जाता है. ऐसा माना जाता है की इनकी healing properties इतनी पावरफुल होती है की ये माध्यम को deep relaxation experience करवा सकती है जो की गहरे ध्यान की स्थिति के दौरान अनुभव किया जाता है.

अलग अलग धातु के संयोजन और उनकी मात्रा इससे निकलने वाले vibration को control करती है जो हमारे mind पर अलग अलग प्रभाव डालती है. हमारा mind बेहद कम समय में आराम अनुभव करने लगता है इसके अलावा ये हमें म्यूजिक सुनने जैसा psychological effects and benefits देती है. हमारे मस्तिष्क पर इससे निकलने वाले sound waves and vibration का अलग अलग प्रभाव पड़ता है जिसकी वजह से different state of consciousness को experience किया जाता है.

Tibetan singing bowls

ये अभ्यास आज का नहीं बल्कि ancient practice of sound therapy में इसका काफी वर्णन देखने को मिलता है. इसका ज्यादातर प्रयोग Stress relief, sleep improvement, blood pressure को stablize करने में, depression को दूर करने, immune system को मजबूत करने, healing process को fast करने में होता है.

इसके प्रयोग के दौरान निकलने वाले vibration बिलकुल वही frequency produce करते है जैसा की हमारा mind अलग अलग Conscious state के दौरान produce करता है. हालाँकि इसे एक सेफ प्रयोग माना जाता है लेकिन इसके भी कुछ रिस्क है जिन्हें ध्यान न देने की स्थिति में हमें साइड effect से गुजरना पड़ सकता है. आइये जानते है की सिंगिंग बाउल का प्रयोग healing process में कैसे करे.

Tibetan singing bowls

Sound therapy के साथ Tibetan singing bowls का प्रयोग काफी लम्बे समय से regeneration के लिए किया जाता आ रहा है. Regeneration एक ऐसी Spiritual practice है जिसमे हम body को relax करते है और उसके बाद दोबारा एक ताजगी का अनुभव करते है. जैसा की इसका नाम है स्पष्ट है की ये हमारी body और mind को heal कर उसे दोबारा नया बनाती है.

Tibetan singing bowls वास्तव में एक बहुत सारी धातु का बना हुआ बर्तन है जिसका प्रयोग आज से 6000 years’ से हो रहा है खासकर उत्तर के साइड में. इस बर्तन के जरिये mysterious acoustic phenomenon create किया जाता है जिसकी खोज spiritual tourists ने की थी जो हिमालय में मिले थे. बाद में Chinese invasion of Tibet देखने को मिला जिसकी वजह से ये Europe and USA में भी Popular healing medium and meditation equipment बन गया.

Tibetan singing bowls and the gong के जरिये जो आवाज वातावरण में गूंजती है ये सीधा हमारे दिमाग पर असर डालती है. इसके जरिये brain के दोनों हिस्सों को एक समय में deep relaxation मिलता है और healing process को पूरा किया जाता है. सबसे ज्यादा इसका असर stress पर दीखता है जिसमे ये ना सिर्फ तनाव को दूर करता है बल्कि किसी भी तरह के body and mind level पर toxins को दूर करता है.

Sound therapy के बाद mind पूरी तरह calm हो जाता है और काफी समय तक इसका vibration हमारी body पर positive effect डालता है. आइये जानते है ये healing process हमें किस तरह प्रभावित करता है.

positive effect of sound therapy

ऐसा माना जाता है की इसके जरिये ommm का vibration create होता है जो हमारे basic DNA codes and activates को revive करता है. Tibetan singing bowls आज भी एक strongest musical instruments में से एक है जो sound therapy and vibrations के जरिये body and mind को healing करने के काम आता है.

इन्हें singing bowls इसलिए कहा जाता है क्यों की इनसे निकलने वाली साउंड काफी लम्बे समय तक वातावरण में बनी रहती है. एक ताम्बे के बर्तन से निकलने वाली साउंड जिस तरह लम्बे समय तक अपने आसपास के वातावरण में बनी रहती है उसी तरह इसके sound and vibration को काफी समय तक आसपास नोटिस किया जा सकता है.

ये इतना खास क्यों है ?

Tibetan bowls को बनाते समय 5 से 7 मेटल को आपस में फोर्ज किया जाता है. इसमें निम्न तरह की धातु को मिलाया जाता है जिनका प्रभाव भी अलग अलग है जैसे की

  1. lead (Saturn)
  2. tin (Jupiter)
  3. iron (Mars)
  4. copper (Venus)
  5. mercury (Mercury)
  6. silver (the Moon)
  7. gold (the Sun)

बाउल को बनाते समय किस अनुपात में इन धातु को रखा जाता है और किस साइज़ का बनाया जाता है इसका सीधा असर tone, vibration and quality of sound पर देखा जा सकता है. अलग अलग साइज़ और आकार के बाउल का sound therapy में अलग अलग तरह से इस्तेमाल किया जाता है.

सबसे ज्यादा इस्तेमाल किया जाने वाला strikers एक wooden mallets होता है जो बाउल की रिम के चारो ओर घुमाया जाता है. सिर्फ तिब्बत ही नहीं अलग अलग country के हिसाब से इनका डिजाईन बनाया जा चूका है जिसमे Nepalese, Japanese, Bengalese and crystal bowls जो की कांच का होता है अज बड़े पैमाने पर अलग अलग तरह से sound therapy and healing में काम में लिया जा रहा है.

How does sound affect our body?

हमारा मन सबसे ज्यादा sound से प्रभावित होता है. अलग अलग फ्रीक्वेंसी की आवाज हम पर अलग अलग असर डालती है. Human mood and nature को change करने के लिए सबसे fast तरीका है sound है. ये हमारे मूड को different states of consciousness में ले जाने में सक्षम है. मैडिटेशन के दौरान जिस trance state को experience किया जाता है उसी स्टेट को हम आवाज के जरिये महसूस कर सकते है.

Tibetan singing bowls के traditional use for meditation को देखे तो ये हमारे body and mind को दोबारा से फ्रेश बनाता है. शरीर के किसी भी जोड़ में दर्द से राहत दिलाता है और headaches and migraine or spine injuries जैसी प्रॉब्लम से राहत दिलाता है. इन सबके पीछे हमारे body का relax होना है.

जब body relax हो जाती है तब ये खुद को heal करना शुरू कर देती है. Concentration में सुधार होता है और emotional tensions and blockages से राहत मिलती है. ऐसे ही कई प्रभाव है जो हमें sound therapy में देखने को मिल जाते है. sound therapy से निकलने वाले vibration का प्रभाव गहरा होता है जो mental or emotional pain जैसे की low self-esteem, worries, fear, anger, anxiety, depression, insomnia जैसी समस्या से निजात दिलाता है.

इसका unique vibration and tone हमारे blood pressure को stablize करता है. शरीर के हर चक्र को इसका अलग tone and vibration के जरिये heal कर active किया जाता है ताकि energy flow को बिना किसी अवरोध के पूरी body में regulate किया जा सके. यही वजह है की sound therapy में Tibetan singing bowls हर तरह के physical, mental and spiritual level पर healing करता है.

Sounds affect all three human levels: the physical, mental and spiritual

sound therapy हमें हर स्तर पर प्रभावित करती है जैसे की

Physical effect of vibrations

  • गहरा आराम – deep relaxation and muscle regeneration
  • हर तरह के जोड़ो के दर्द से राहत जैसे की muscles, sciatica, headache and migraine, the digestive system, headaches and migraine, spine injuries, shoulders
  • पाचन तंत्र में सुधार – better digestion
  • atoms, molecules, cells, tissues and organs function के काम करने में सुधार
  • शरीर में उर्जा का प्रवाह सही तरीके से होता है – better energy flow
  • elimination of toxins from the body किसी भी तरह के टोक्सिन को शरीर से बाहर निकालना
  • Better immune system रोग प्रतिरिधक क्षमता में सुधार होता है.

Mental or emotional effect:

  • दिमाग का पूरी तरह शांत होना – relaxed mind, mental/emotional tensions and blockages are eased
  • better concentration – एकाग्रता में बढ़ोतरी
  • आंतरिक भाव में सुधार inner feelings are activated and released
  • more energy and strength in everyday life दिनभर के कामो में तरोताजा महसूस करना
  • मानसिक तरनव और दर्द में राहत – alleviated mental or emotional pain
  • आत्म-विश्वास में सुधार improved self-confidence, boosted creative and productive potential

आध्यात्मिक बदलाव

  • खुद को लेकर positive feeling आना
  • लाइफ को बैलेंस महसूस करना – better balance and harmony in your life
  • experiences of bliss
  • चक्र में किसी तरह की ब्लॉकेज का दूर होना – cleansing of chakras
  • ध्यान में लम्बे समय तक बैठे रहने की वजह से महसूस होने वाले अनुभव इसमें कुछ समय में महसूस किये जा सकते है जिसमे higher frequency reaches our innermost essence, जो energy को बूस्ट करता है और vibration level को बढाता है.
  • आध्यात्मिक होने के बाद आने वाले एकभाव का अनुभव

ये सब हमें sound therapy के समय Tibetan singing bowls के प्रयोग के दौरान महसूस किये जाते है. ये हमारे spiritual intelligence को शुरुआत देता है.

वैज्ञानिक शोध में इनके खास vibration को महसूस किया गया है

Scientific analyses of electromagnetic brainwaves के दौरान ये साबित किया जा चूका है की ऐसी waves’ जिनका सीधा connection हमारे different states of consciousness से है हमें प्रभावित करती है. दिनभर के कामो के दौरान जब हम चेतन मन यानि Consciousness में रहते है हमारा मस्तिष्क Beta waves को produce करता है.

alpha waves को meditation and calm consciousness के दौरान experience किया जा सकता है वही Theta waves गहरी नींद के दौरान produce होती है और Delta waves को singing bowls पर महसूस किया जा सकता है. ये सभी waves हमें feeling of deep relaxation का अहसास करवाती है.

Tibetan singing bowls के साथ the gong नाम के instrument का इस्तेमाल किया जाता है जो strong energy को generate करता है. sound therapy को relax होने के लिए सबसे ज्यादा असरदार माना जाता है. वैसे तो किसी भी प्रकार के म्यूजिक को हम healing के लिए मान सकते है लेकिन गोंग से निकलने वाली vibration बेहद शक्तिशाली होती है और deep states of consciousness पैदा करती है.

sound therapy हमारे अन्दर के energetic imbalances को सही करती है. Ancient Chinese therapy में भी गोंग का इस्तेमाल होता है जो की vibrating sounds पर काम करती है. ये हमारे शरीर के energetic lines के साथ vibration की फील्ड को पैदा करता है जो बैलेंस करने का काम करती है.

लम्बे समय से किये जाने वाले Crystal chakra meditation with antique Tibetan singing bowls के प्रयोग से Kundalini energy को बढ़ते हुए महसूस किया जा सकता है जो central energetic channel के जरिये पूरी body में flow करती है और हर उर्जा चक्र को सक्रिय करती है. जो लोग हलके बहरे होते है उनके ऊपर Gong therapy का प्रयोग फायदेमंद है और जो लोग सुन नहीं पाते है वे भी इसके vibration को महसूस कर सकते है.

How to play Tibetan singing bowl

अगर आप healing के उदेश्य से इसका प्रयोग कर रहे है तो Tibetan singing bowl का इस्तेमाल कुछ खास तरीको से कर सकते है. शुरुआत में ये थोड़ा मुश्किल हो सकता है लेकिन कुछ समय के अभ्यास के बाद आपको इसमें एन्जॉय मिलने लगता है. आप इसका प्रयोग इस तरह करे

Method 1: Striking अपने उलटे हाथ में बाउल को ले और दूसरे हाथ में mallet को ले. अब एक जोर की चोट बर्तन पर मारे. कुछ समय के लिए इसका vibration आसपास के वातावरण में गूंजता रहता है. कुछ समय बाद दोबारा इस तरह की चोट करे.

Method 2: Rimming सबसे पहले आरामदायक स्थिति में बैठ जाए और अपने स्पाइन को सीधा कर ले. सबसे पहले एक जोरदार चोट करे. चोट करने के कुछ सेकंड बाद ही अब mallet को लेकर बाउल के चारो और घुमाना शुरू कर दे. mallet को बाउल से हल्का छूता हुआ रखे. इससे निकलने वाला vibration फील करने की कोशिश करे.

Tibetan singing bowls healing फाइनल वर्ड

दोस्तों sound therapy में इस्तेमाल होने वाले Tibetan singing bowls का प्रयोग हमें हर स्तर पर लाभ देता है जिसकी वजह से हम Physical, mental and spiritual stress को दूर कर relax feel कर सकते है. आजकल बाजार में मिलने वाले हर वैरायटी के बाउल का प्रयोग आप घर पर ही कर सकते है. ज्यादातर Yoga and meditation centre ने sound therapy और सिंगिंग बाउल का प्रयोग करना शुरू कर दिया है जिसकी वजह से energy vibration में बढ़ोतरी को महसूस किया जा सकता है.

मंदिर में बजने वाले घंटे की ध्वनी भी इसी तरह काम करती है. ताम्बे का प्रयोग सबसे ज्यादा strong vibration पैदा करता है जिसकी वजह से कम्पन को सीधे स्पाइनल कार्ड में महसूस किया जा सकता है. अगर आपने इस तरह का प्रयोग किया है तो अपने अनुभव को शेयर करना न भूले.

Never miss an update subscribe us

* indicates required
Previous articleSuicidal feelings and thoughts how to overcome this condition Hindi Guide
Next articleTop 5 Reiki principles that help to learn Reiki easily Hindi Guide
Nobody is perfect in this world but we can try to improve our knowledge and use it for others. welcome to my blog and learn new skill about personal | psychic | spiritual development. our team always ready to help you here. You can follow me on below platform

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here