तीसरे नेत्र के जागरण के लिए आज ही daily life में करे ये बदलाव मिलेगा दोगुना फायदा

9

top Third eye opening symptoms, meaning and purpose in hindi के बारे में हम त्राटक की पिछली पोस्ट में पढ़ चुके है. अगर आप third eye activation by trataka की बजाय किसी और method से जैसे की meditation, daily life activities  के आधार पर यदि अपने तीसरे नेत्र का जागरण करना चाहते है तो इस पोस्ट को पूरा पढ़े. आज हम अजन चक्र ( आज्ञा चक्र ) जिसे वैज्ञानिक भाषा में pineal gland भी कहते है के विषय में और ज्यादा जानेंगे. तीसरी आँख खुलने के लक्षण क्या है और इसे खोलने की विधि क्या है के साथ ही हम जानने वाले है इसके अनुभव के बारे में.

third eye opening

ज्यादातर लोग मानते है की तीसरे नेत्र का जागरण होना एक बेहद कठिन प्रक्रिया है और इसमें वर्षो की मेहनत लगती है. हालाँकि तीसरे नेत्र का जागरण एक दुर्गम प्रक्रिया है क्यों की इसमें आपको बेहद सूक्ष्म अनुभव को समझना होता है. normal life में हम जितना छोटी बातो को ignore करते रहते है उतना ही हमारा third eye और sixth sense block होता जाता है. एक normal life हम क्या change करे जिससे हमें third eye opening में help मिल सके. आइये जानते है basic method and common symptom of agya chakra activation in hindi.

importance of third eye opening or activate in our life

आज्ञा चक्र का सीधा संबंध आपके spiritual experience, subconscious mind and inner wisdom से है. अगर आपका third eye active  है तो आप बेहतर संतुलन की स्थिति बनाए रख सकते है, clear vision generate कर सके है और focus रह सकते है. अगर किसी कारणवश आपका pineal gland or ajna chakra blocked हो जाता है तो आप कई तरह की परेशानी से गुजरने लगते है जैसे की निम्न सोच, संकीर्ण मानसिकता, overthinking कभी कभी हकलाना या घुटन सी महसूस करने लगना जैसी समस्या में फंस सकते है.

वैसे तो कुछ मात्रा में सभी का pineal gland और आज्ञा चक्र जाग्रत रहता है लेकिन इसकी क्षमता का सही इस्तेमाल करने के लिए इसे साधना पड़ता है. इसका पूर्ण इस्तेमाल आप इसे कितना साध सकते है पर निर्भर करता है. अगर आपको life में success होने के साथ साथ spiritual line में आगे बढ़ना है तो आपका third eye active होना चाहिए.

तीसरे नेत्र के जागरण से जुडी सबसे खास बात ये है की ये आपके अन्दर के सभी अंधकार को दूर कर देती है, आपको सबकुछ क्लियर दिखाई देता है, सुनाई देता है और feel होता है. कुदरत का ये सबसे सबसे अनोखा गिफ्ट है जिसे लोग आध्यात्मिक शक्ति या फिर मानसिक शक्ति का एक हिस्सा कहते है.

change while opening third eye in hindi

तीसरे नेत्र का जागरण अपने साथ साथ कुछ अनोखे बदलाव लाता है जिसमे सबसे खास है आपके सोचने का दायरा बढ़ जाना. आपका अवचेतन मन विस्तृत होना शुरू कर देता है जिससे आपके अन्दर निम्न quality बनने लगती है.

  •  Clairvoyance (clear seeing) – जिसे vision देखना भी कहते है.
  • Clair-cognizance (clear knowing) – आपको बाते साफ़ तौर पर समझ आती है और आपको पता रहता है.
  • Clairaudience (clear hearing) – आप सबकुछ साफ सुनने लगते है.
  • Clair-empathy (clear feeling) – आपकी भावनाए दुसरो को लेकर साफ़ होने लगती है.
  • Clair-tangency (clear knowing through touch) – किसी के स्पर्श द्वारा उसकी मनोदशा और मन का हाल समझना.
  • Clairsentience (clear knowing through feeling) – सिर्फ अहसास से किसी के बारे में सबकुछ जान लेना.

ये सब वो अहसास है जो आपको physical 5 sense से अनुभव नहीं हो सकते है. हमारी 5 इंद्री से बढ़कर 6th sense में ये सब अनुभव होना शुरू होते है. इसके लिए आपको किसी तरह के बड़ी साधना करने आवश्यकता नही, नियमो में बंधने की जरुरत नहीं है. आपको इसके लिए सिर्फ खुद के अंदर में सुधार करने की जरुरत है.

how to open your third eye – complete divine process in hindi

हम बचपन से एक ऐसे माहौल और समाज का हिस्सा बन कर रहते है जिसकी वजह से third eye सही तरीके से active नहीं हो सकता है. बचपन में ही हमें ऐसे पाठ पढाए जाते है जिसकी वजह से मानसिकता संकीर्ण बनने लगती है. parents बच्चो को ये तो कहते है की तुम्हे ये नहीं करना वो नहीं करना ये गन्दी बात है वगेराह लेकिन कभी भी ये नहीं बताते की ये गन्दी बात क्यों है, अगर किसी चीज के लिए मना किया है तो क्यों किया है.

अगर आप बचपन से जानते है की कोई चीज क्यों मना की तो आगे चल कर आपकी सोच भी विस्तृत होगी. हर बात के अलग अलग मायने होते है निर्भर करता है इसे लेकर हम क्या सोचते है. खैर ये सब आपको ये बताने के लिए है की आखिर क्यों हम उम्र के साथ इतने संकीर्ण मानसिकता के बनते जा रहे है अगर third eye opening के लिए आपको इन सब बातो में परेशानी आ रही है तो आपको सबसे पहले मानसिकता में बदलाव लाना पड़ेगा.

अगर आप लम्बे समय से संघर्ष करने के बाद भी आप कुछ सही तरह से समझ नहीं पाते है और confuse हो रहे है तो ये आपकी बचपन की परवरिश का नतीजा है. आखिर क्यों हम दुसरो के कहने से प्रभावित हो जाते है ? क्या हमें खुद पर भरोसा नहीं या फिर दुसरे हमारे अन्दर वो quality पैदा करते है जो हमारे अन्दर तो है लेकिन हम उसे उभार नहीं पाते है.

step by step guide on how to open third eye or activate sixth sense

बात करते है कुछ ऐसे top tips to activate sixth sense or third eye in hindi की जिनके जरिये हम आज्ञा चक्र को जाग्रत करने के लिए स्टेप गाइड को अपनाते है. और तरीको की तुलना में ये easy है क्यों की इसमें आप level के अनुसार आगे बढ़ते है जो आपको धीरे धीरे इसके लिए ready करता है.

# 1 अपने आसपास बनाये comfort zone

आपका third eye ( आज्ञा चक्र ) इसलिए blocked है क्यों की आप संकीर्ण मानसिकता के है. आप चीजो को नए नजरिये से नहीं सोचते है और लगभग एक ही नजरिया life की हर घटना के लिए अपनाते है. इसकी वजह से आपकी सोच में वो विस्तार नहीं होता है जो होना चाहिए.

इससे बचने के लिए आपको daily पब्लिक प्लेस में घूमना चाहिए. नए लोगो से मिलना उनकी सोच के बारे में स्टडी करना की वो किस हालात में किस सोच को अपनाते है. एक ही परिस्थिति 10 लोगो के साथ हो सकती है लेकिन जिसका नजरिया अलग होगा, समझ सकता है वो इससे कभी प्रभावित नहीं होगा ना ही इसे दोष देगा, खुद को कमजोर महसूस करेगा बल्कि normal life की तरह behave  करेगा. आपके अन्दर सबसे पहले इस quality का होना बेहद जरुरी है.

# 2 fast foods को limited करे या बंद कर दे

अगर आप भी ज्यादातर बाहर के खाने के शौक़ीन है तो आपको इसे limited करना होगा. extra fat, processed carbohydrates और extra sugar इन सबसे ज्यादा affect होती है. आपको इन सबको ignore, limited करना होगा. हमारा शरीर इसके लिए नहीं बना और जब आप इसे इन सबकी आदत डाल देते है तो आपका body इसके अनुसार behave करने लगता है जिसमे सबसे ज्यादा है आपके कण्ट्रोल से बाहर होना.

# 3 हर तरह का खाना खाए

खाने में ज्यादातर लोग choosy होते है किसी को मटर पसंद नहीं तो किसी को पालक, किसी को लौकी से परेशानी होती है तो किसी को सोयाबीन से. आपको अपने खाने का तरीका बदलना चाहिए और खाने में हर तरह की सब्जी शामिल करनी चाहिए. जैसे हरी सब्जिया, सोयाबीन, सूखे मेवे, फल इनसे ना सिर्फ आपका खाना healthy होगा बल्कि ये आपको संतुष्टि का बेहतर अहसास करवाएगा.

third eye activation में एक healthy diet का बहुत महत्वपूर्ण योगदान रहता है क्यों की ये शरीर के लिए अच्छी खुराक होता है साथ ही एक sufficient energy level भी create करता है. इसके अलावा body के hormone को भी कण्ट्रोल करता है जिससे आपके विचार प्रभावित होते है.

# 4 use cleansing herbs for third eye

अगर कोई आपको पूछे की आप पूजा पाठ में धुप, अगरबत्ती या धुनी इस्तेमाल क्यों करते है तो आप क्या कहेंगे ? हम पूजा पाठ में इन सबका प्रयोग इसलिए नहीं करते की ये अच्छी खुशबू देते है बल्कि इसलिए की इनसे हमारे चक्र बैलेंस रहते है. खुशबू का सबसे ज्यादा प्रभाव आज्ञा चक्र पर पड़ता है जिससे हम इस दौरान शांति का अहसास करते है, निर्मल अनुभव करते है.

आप भी इन herbs का इस्तेमाल कर सकते है जिससे आपका आज्ञाचक्र बैलेंस रहे. ये इसके लिए एक cleansing का काम करता है जैसे घर की बुरी शक्तियों को हटाने के लिए हम धूनी देते है. इन हर्ब में खुशबू ऐसी होनी चाहिए जो आपको सबसे ज्यादा पसंद हो ना की सिर्फ धुँआ फेंकती हो.

# 5 meditation practice for third eye opening

मैडिटेशन यानि ध्यान की परिभाषा क्या है ? विचारो को रोकना और सीधी कमर कर बैठना जिसमे आपको ध्यान रखना होता है की posture न बिगड़े. क्या आप ध्यान लगा पाओगे ? वक़्त के साथ चीजो की परिभाषा बदलती आ रही है और आज के समय में अगर आप ध्यान में सफल होना चाहते है तो आपको सबसे पहले सुनी सुनाई धारणाओं से खुद को मुक्त करना होगा.

ध्यान में posture का महत्त्व है मुद्रा का महत्त्व है लेकिन एक शुरुआती साधक के लिए ये संभव नहीं की वो अपने अन्दर फोकस करे या physical activity पर गौर करे. इसलिए ध्यान की शुरुआत में आप इन सब चीजो को नजरंदाज कर सकते है. आराम से बैठ जाइये या लेट जाइए और विचारो को रोकने की बजाय उन्हें flow होने दीजिये. अपनी body में हो रही हरकत को महसूस करे. इससे जल्दी ही आप शांति की अवस्था में चले जाएंगे. जितना समय आप इसे दोगे उतना ही अंतर से जुड़ते जाओगे.

# 6 stop overthinking and ground your-self in present

आपकी sixth sense सही ढंग से काम नहीं कर रही है क्यों की आप overthinking के शिकार है. इसे avoid करने का सबसे अच्छा तरीका है भविष्य की चिंता किये बगैर present में रहना. कल क्या करना है, क्या होगा उसकी चिंता आज क्यों करे इसकी बजाय अपने आज को और बेहतर बनाए ताकि आने वाला कल बेहतर बन सके.

# 7 Tooth paste and fluoride water को करे ignore

ज्यादातर डॉक्टर आपको दांतों की सुरक्षा की लिए अच्छा toothpaste इस्तेमाल करने की सलाह देते है. लेकिन, क्या वाकई टूथपेस्ट आपके लिए सही है ? एक रिसर्च में ये बात सामने आई है की pineal gland को सबसे ज्यादा प्रभावित करता है fluroid water and toothpaste जिनमे कैल्शियम की मात्रा सबसे ज्यादा होती है. ये अन्दर कैल्शियम की इतनी मात्रा को बढ़ा देता है की आपकी pineal gland सही से काम नहीं कर पाती है.

india में लोग toothpaste के brand के पीछे crazy है जब की almost सब जगह नीम जो दांतों के लिए एक नेचुरल हर्ब है उपलब्ध है. विकसित देश almost एक महीने 500 से 700 रूपये नीम की दातुन पर खर्च करते है क्यों की वो इसकी खासियत जानते है और इसको  priority देते है. वहाँ ये दुकानों पर बिक्री के लिए रखा जाता है और हम इसका सही मूल्य भी नहीं समझ पा रहे है.

नीम की दातुन का इस्तेमाल और प्राकृतिक रूप से cleansing water का इस्तेमाल आपको sixth sense activation में हेल्प करेगा साथ ही इसे बैलेंस भी.

# 8 body को साफ़ करने वाले antioxidants

हमारी body में समय के साथ toxic की मात्रा जमा होने लगती है. इसलिए daily life में ऐसी चीजे शामिल करे जो natural anti-oxidents है जैसे की अंजीर, नारियल, किशमिश आदि. समय समय पर इन्हें लेते रहे जिससे की आपकी body साफ और hygine रहे इससे भी आपको third eye opening में help मिलेगी.

# 9 explore your core belief to help third eye opening

core belief या हमारी अवधारणा जो हमें आगे बढ़ने से रोकती है. हम uncosncious रूप से कुछ चीजो के लिए एक mindset बना कर रखते है. हो सकता है ये सही हो लेकिन हर समय नहीं क्यों की वक़्त के साथ सबकुछ बदलता है ऐसे में जरुरत है ऐसी core belief में बदलाव की. सबसे पहले तो इन्हें identify करे फिर अलग नजरिये से सोचे की जो आपकी पहली अवधारणा है वो कितनी सही है. याद रखिये जितना ज्यादा आप इसे लेकर conscious रहेंगे उतना ही आपको इसमें help मिलेगी.

# 10 how exercise and drinking lot of water help to open third eye ?

जितना ज्यादा आप पानी पिने को लेकर अवेयर रहेंगे आपकी body उतनी ही साफ़ रहेगी. पानी हमारे शरीर से toxins को बाहर निकाल देता है जिसमे शारीरिक मेहनत हेल्प करती है. इसके अलावा ये आपके दिमाग को भी शांत बनाता है.

# 11 third eye opening by chanting om or hum

universe का सबसे पहला साउंड ॐ का माना जाता है इसलिए इसका जाप आपके third eye यानि अजन चक्र को cleanse, recharge and balance करने के काम आता है. कुछ लोगो के अनुसार बीज मंत्र का जाप भी इसमें हेल्प करता है जिससे आपकी third eye open होने लगती है.

# 12 yoga will help you to create more energy

ऐसे आसन जिनमे हमारे अन्दर बैलेंस बनता है और energy flow बढ़ता है. इसमें सबसे बढ़िया अभ्यास है शवासन, न्यास ध्यान, योगनिद्रा और ऐसे ही अभ्यास जिनमे हम physical और mental activity को कण्ट्रोल करते है.

# 13अंतर्मन से भविष्य देखने की क्षमता को develop करे

ज्यादातर लोग जाने अनजाने में भविष्य की झलक सपने के माध्यम से देखते रहते है. ये आपके अंतर्मन का एक अभ्यास है जिसमे आप खुद को deeply inner vision – a state of subconscious mind तक ले जाते है भावनाओ द्वारा और फिर कुछ झलक को catch करने की कोशिश करते है.

इसका एक छोटा सा example है किसी चीज के बारे में सोने से थोड़ी देर पहले सोचते रहना और फिर उसका solution हमें हमारा अवचेतन मन सुझाए ऐसी भावना देकर सो जाना. सपने में हमें उस प्रॉब्लम का solution पता चलता है जो अवचेतन मन दिखाता है. ये एक अभ्यास है जो subconscious mind programming के अन्दर आता है. इसके बारे में हम पहले ही लिख चुके है.

# 14 use of sound healing in third eye opening

क्या आप जानते है की साउंड का हम पर सबसे जल्दी असर पड़ता है. अगर आप मैडिटेशन करते वक़्त अल्फ़ा म्यूजिक सुने तो आपका ध्यान 10 गुना तेजी से लगता है और आप फोकस हो जाते है. अलग अलग साउंड का अलग प्रभाव पड़ता है इसलिए आप अपने मूड के हिसाब से साउंड का चयन कर third eye opening की process को easy बना सकते है.

# 15 imagine third eye opening and do a practice

आप चाहे तो इसके लिए रोज कुछ समय practice भी कर सकते है. एक शांत जगह रिलैक्स होकर बैठ जाइए. आँखे बंद कर ध्यान को आज्ञा चक्र पर ले जाए और कल्पना करे की एक purple light की ball open हो रही है और आपके तीसरे नेत्र का जागरण हो रहा है. अक्सर लोगो को शुरू में ध्यान लगाने पर गहन अँधेरे और सुरंग में चलने का अनुभव होता है लेकिन इसके कुछ समय बाद ही हमें blue, silver, redish, या purple light का अनुभव होने लगता है. ये निर्भर करता है आपके अन्दर कौनसे तत्व की मात्रा अधिक है.

# 16 Third eye opening के दौरान मायाजाल में ना फंसे

ज्यादातर लोगो के मन में तीसरे नेत्र के जागरण से जुडी कुछ गलत अवधारणा बैठी हुई है जो उनके energy flow को रोक देती है और उनकी thinking blocked हो जाती है. इससे बचे और एक अनुभव डायरी बनाए और उसे अपने अनुसार रिकॉर्ड करे और खुद अनुभव करे.

# 17 NLP or Neuro-linguistic programming

ये एक experiment प्रोग्राम है जिसके जरिये हम पस्त को बदल सकते है. पस्त में आपके अन्दर बैठा कोई भी फोबिया, डर, मिस्टेक, ये फिर पूर्व-धारणा इन सबको बदला जा सकता है. देखा जाए तो इसके जरिये हम mind को reprogram कर सकते है जो की third eye activation process को और भी simple बना देता है.

# 18 do a practice of mindfulness

ध्यान योग में अपनी सांसो पर ध्यान देना या फिर अपने आसपास हो रही घटना को देखना महसूस करना वो भी बिना किसी reaction के mindfulness practice  का हिस्सा है. जब हम ऐसा करते है तो third eye activate होने लगता है. इसके अलावा ये हमें present में live रहने के लिए प्रेरित करता है.

# 19 use of crystal in third eye activation

क्रिस्टल आम तौर पर healing के काम आते है. अगर आपके चक्र balanced नहीं है तो इससे आपको हेल्प मिलती है. crystal का meditation में use करना जागरण की प्रोसेस को fast बना देता है.

symptom of third eye opening

जब आप जान लेते है की third eye कैसे activate की जा सकती है simple तरीको से तो आप इसके कुछ symptom भी जान सकते है. अगर आपको जानना हो की कैसे पता चलेगा की third eye activate हुई भी है या नहीं तो इन symptom पर गौर करे. हालाँकि person to person ये अलग हो सकते है लेकिन कुछ common symptom है.

  • आज्ञाचक्र की जगह पर स्पन्दन – एक vibration आपको दोनों आँखों के बिच जगह के आसपास के एरिया में महसूस होने लगता है.
  • सर में दर्द और बार बार migraine की शिकायत – ये काफी तकलीफ से भरा अनुभव हो सकता है क्यों की ये समय adjustment का होता है.
  • ध्यान के समय vision दिखना – जब भी आप आँखे बंद कर रिलैक्स होते है आपको झलक दिखना शुरू हो जाती है. किसी स्थान पर खुद को महसूस करना, किसी अपने को देखना ये सब third eye activation के top symptom in hindi में से एक है.

Third eye opening – अन्तिम शब्द

तीसरे नेत्र के जागरण को सिखने के लिए एक dedication, will जो किसी काम के लिए आपको motivate करती रहे की जरुरत होती है. इसमें आपको टाइम लग सकता है क्यों की जितना deeply आप inner vision तक जाते है उतना ही strong आपके third eye activation के चांस बढ़ते जाते है. अगर आप भी त्राटक के अलावा Third eye opening की साधना अभ्यास करना चाहते है तो ये विधि कारगर साबित होगी.

क्या आपने भी कभी इस तरह के symptom महसूस किये है ? अगर आपका जवाब हाँ है तो हमें जरुर बताए ताकि दुसरो को आपसे प्रेरणा मिल सके. पोस्ट अच्छी लगने पर शेयर करना न भूले.

9 COMMENTS

  1. Namaste
    Sir me shakti chakra tratak kar raha hu. Abhi kuch dino se mere sir me dard ho rahi h right side eye ke paas aur agya chakra me gudgudi hoti h jisese pareshan ho kar maine kuch din tratak nahi kiya.
    Par apk post pad kar sab clear ho gaya
    Thank u sir
    Mujhe tratak ke liye aur kiya karna chahiye .aur mujhe kaise pata chale ki me Sahi hu aur ab tratak nahi karna chahiye.

    • जब अनुभव होने लगेंगे तब सब समझ जाओगे sir, रही बात त्राटक में सही गलत की तो आप पोस्ट को पढ़े सब कुछ यहाँ शेयर कर चूका हूँ

  2. क्या 3rd eye हमेशा खुले ही रहती है एक बार एक्टिवेशन के बाद

    • जरुरी नही है सर, अगर आप एक बार अभ्यास कर इसे छोड़ देते है तो बाद में ये सुप्त होने लगती है.

  3. मेरी दोनो भौऐं के मध्य टिंगलिंग, गहरा दबाव महसूस होता रहता है हल्का हल्का सिर मीठा दर्द का अनुभव रहता है, ध्यान के वक्त टिंगलिंग/दबाव का असर कुछ ज्यादा प्रतीत होता है,
    एकान्त अवस्था में कहीं भी हमेशा दोनों भौऐं के मध्य लगातार इसकी अनुभूति रहती है।

    • इस दौरान आपका मन ज्यादातर स्थिर अवस्था में होता होगा, या फिर किसी एक विचार पर एकाग्र. ऐसा होना आपके ध्यान के अनुभव को दर्शाता है. वैसे तो इससे परेशान होने की कोई बात नहीं है फिर भी अगर ज्यादा तकलीफ हो तो आप म्यूजिक, घुमने और लोगो से बात करके खुद को नोर्मल बना सकते है.

  4. Mene gyatri recitation shuru kia jiske kuch months baad mere forhead per subah uthne per gaddha dikhta tha jo 4-5 ghante me apne aap chala jata tha per ye dono eyebrows k middle me na hokar uper ko hota tha aisa 3-4 baar hua ..aap bata sakte hai ye kya tha?

    • माथे के ऊपर पड़ने वाला गड्ढा ध्यान की वजह से दिखता है. जब हम अपना पूरा ध्यान आज्ञा चक्र पर लगाते है तब इस तरह का अनुभव दिख सकता है. ये एक लाइन की तरह होती है. ऐसा क्यों होता है और इसका महत्व क्या है इस बारे में मुझे ज्यादा जानकारी नहीं है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.