Top 5 Powerful Third eye activation symptoms you will experience How to safe Practice

0
54

हम सभी जानते है की हमारी बॉडी अलग अलग चक्र से जुड़े Energy system पर काम करती है. ये ना सिर्फ आपके Concentration and focus को बढ़ाती है बल्कि आपकी intuitive abilities को भी strong करती है.

अगर आपका spiritual practice में interest है तो awakening third eye chakra and their experiences के बारे में काफी बार कहते हुआ सुना होगा. आज हम Third eye activation के बारे में बात करने वाले है.

हम जब भी बहुत ज्यादा फोकस होते है तब हमें आज्ञा चक्र जागरण के अनुभव होते है. हम जब अपने काम में बहुत ज्यादा फोकस हो जाते है तब एक intuitive sense develop करते है. इस sense हम ये जान पाते है की आगे क्या होने वाला है.

Third eye activation

अगर आप आज्ञा चक्र या तीसरे नेत्र के जागरण के बारे में और ज्यादा जानना चाहते है तो आपको Phenomenon And The Science Behind Third Eye Awakening Or Activation के बारे में डिटेल से जानना चाहिए.

तीसरे नेत्र का जागरण हमें कई अलौकिक रहस्य से अवगत करवाता है. इसमें हमारी Psychic ability, Astral travel, spiritual and paranormal experience शामिल है.

ऐसा माना जाता है की हमारी बॉडी में 5 Physical sense and 1 Psychic sense है. Physical sense के जरिये हम भौतिक संसार की गतिविधि से जुड़े रहते है और Sixth sense से Spiritual world and experience से जुड़ते है.

ज्यादातर लोग आज्ञा चक्र जागरण करना चाहते है क्यों की इसके जागरण के बाद हमें मानसिक शक्तियां हासिल होना शुरू हो जाती है. हम आध्यात्मिक रहस्यों को समझना शुरू कर देते है और दुनिया को देखने के हमारे नजरिये में विस्तार और बदलाव होता है.

आज्ञा चारा भी सप्त चक्र का एक हिस्सा है जिसके बारे में हम सब पढ़ चुके है. हमारी बॉडी में 7 मुख्य चक्र है जो उर्जा से बने है और बॉडी के अलग अलग काम को पूरा करने का काम करते है.

Third eye activation visual exercise in Hindi

आज्ञा चक्र के कई नाम है और हम इसे ज्यादातर Sixth sense के नाम से ही जानते है. इस भौतिक संसार से जुड़े रहने के लिए आपको आँखों की जरुरत है लेकिन, Spiritual world, Astral plane and other dimension को महसूस करने के लिए आपको अपने अंतर चक्षु खोलने होंगे.

इसके लिए कई Spiritual practice है जो third eye activation का काम करती है.

इसके कई फायदे है जैसे की तीसरे नेत्र के जागरण के बाद कोई भी व्यक्ति मानसिक शक्ति का मालिक बन सकता है. दूसरो का मन पढ़ सकता है और वो देख सकता है जिसे हम भौतिक चक्षु से नहीं देख पाते है.

हम ज्यादातर आज्ञा चक्र जागरण के बारे में कुण्डलिनी योग, त्राटक और मैडिटेशन में सुनते है. बचपन में हर किसी का आज्ञा चक्र जाग्रत अवस्था में होता है जो की उम्र बढ़ने के साथ सुप्त होने लगता है. इसकी कई वजह है जैसे की

  • उम्र के साथ तर्क वितर्क का बढ़ना और मस्तिष्क का अनचाहे विचारो में फंसा रहना.
  • फ्लुरोइड से युक्त चीजो का सेवन ( टूथ पेस्ट का इस्तेमाल आपके पीनियल ग्लैंड को प्रभावित करता है )
  • संकल्प शक्ति का कमजोर होना हम कुछ भी करने के सोचते है उसे नहीं करना पाना.
  • अपने अवचेतन मन के साथ connection का कमजोर होना.

How to activate your third eye basic practice

Third eye activation को अगर spiritual perspective से देखा जाए तो हमारी बॉडी में टोटल 7 चक्र है और ये चक्र की शेप में और कुछ नहीं Energy center ही है. ये सभी चक्र मेरुदंड से जुड़ा हुआ है. Agya Chakra की स्थिति हमारी बॉडी में दोनों आँखों के बीच है और विज्ञान में इस जगह को Pineal gland के नाम से जानते है. इस उर्जा केंद्र को intuition से जोड़कर देखा जाता है.

ऐसा माना जाता है की ये हमें वो दिखाता है जिसे हम 5 भौतिक इंद्री के जरिये भी महसूस नहीं कर पाते है.

इस चक्र का सीधा संबध बॉडी में pituitary and hypothalamus glands से है. हम सब जानते है की हमारे brain से thought एक brain wave की तरह ट्रांसमिट होते है. अलग अलग स्थिति में हम अलग वेव को ट्रांसमिट करते है जैसे की

  • जब हम sadness, loss, stress or anguish जैसी स्थिति का अनुभव करते है तब Beta waves को एमिट करते है.
  • इसके ठीक विपरीत जब हम calmness, relaxation, and deep joy जैसी स्थिति में होते है तब brain से Alpha wave emit होती है.
  • सबसे ज्यादा पावरफुल Gamma waves होती है जो सिर्फ Deep meditation and trance like state के दौरान ही experience होती है.

अल्फा वेव हमारे Third eye activation के लिए बेहद जरुरी है. जब हम शांत मन से बैठते है या शांत अवस्था में होते है तब हमारा brain एक सोनार की तरह काम करना शुरू कर देता है. डॉलफिन इसके जरिये समुन्द्र में अपना रास्ता और नेविगेशन तय करती है.

छोटी उम्र के बच्चो में pituitary and hypothalamus glands काफी हद तक सक्रिय होते है. उम्र बढ़ने के साथ इस ग्लैंड पर calculus की परत चढ़ने लगती है जो इसकी सक्रियता को कम करना शुरू कर देती है.

How to open your third eye?

तीसरे नेत्र के जागरण के लिए अल्फा वेव और गामा वेव का सक्रिय होना जरुरी है. ऐसी कई practice है जो बेहद कम समय में इन दोनों वेव को सक्रिय कर सकती है लेकिन, अभ्यास को चरणबद्ध तरीके से किया जाए तो उसका लम्बे समय तक फायदा मिलता है. इस प्रक्रिया में कई अभ्यास का नाम सबसे पहले आता है जैसे की

  • Meditation
  • Nadi Shodhan Pranayama
  • Padma Sadhna

ये सभी अभ्यास हमारे दिमाग को शांत करने का काम करते है और हमें nature से अलाइन करते है. यही वजह है की इस अवस्था में जब हम काम करते है तो ज्यादा फोकस और aware महसूस करते है. लम्बे समय तक ऐसी अवस्था में रहना प्राकृतिक तरीके से Third eye activation करता है.

किसी भी कार्य को अधिक मात्रा में करना या महत्त्व देना फिर चाहे वो खाना हो, सोना हो या काम करना आपके जागरण की प्रक्रिया में बाधा बनता है.

जिन लोगो को आज्ञा चक्र जागरण का अनुभव होता है वे अपने सांसो की लय, गति, काम करने की क्षमता और फोकस के साथ साथ मन की हलचल में सकारात्मक बदलाव महसूस करते है.

Third eye chakra activation experience

Alpha wave emissions की process हमें ज्यादा से ज्यादा शांत बनाती है और हम काम के दौरान better focus experience करते है. आमतौर पर हम इसका अभ्यास Psychic abilities development के लिए किया जाता है लेकिन, हम अपने Daily life routine में कुछ और Third eye activation symptoms भी महसूस करते है जैसे की

  • किसी काम को करने की क्षमता में बदलाव आना. हम पहले की तुलना में अब और ज्यादा बेहतर बन जाते है.
  • हमारी skill में एक Sharpness आने लगता है जिसकी वजह से हम और भी ज्यादा creative बन जाते है.
  • आज्ञा चक्र जागरण के शुरुआती समय के दौरान irritability and anger issues का सामना करना पड़ सकता है. ये बिलकुल वैसा ही है जैसे की एक कारपेट को साफ करना. शुरुआत में धूल से समस्या होती है लेकिन बाद में अच्छा लगने लगता है.
  • Third eye activation के बाद एक बदलाव जो हम सब देखते है वो आध्यात्मिक नजरिये में आने वाला बदलाव है. हम दिमाग के साथ साथ अपने अनुभव को दिल से समझना शुरू कर देते है क्यों की अब हमारे देखने के नजरिये में विस्तार होना शुरू हो जाता है.
  • mental clarity
  • improved concentration
  • clear self-expression
  • strengthened intuition
  • a sense of bliss
  • decisiveness
  • insight

ये कुछ बेसिक अनुभव है जो हमें आज्ञा चक्र जागरण के दौरान और बाद में होते है. इसके अलावा काफी सारे अनुभव है जैसे की दूसरो के मन की बात को समझना और जानने लगना, किसी भी कंडीशन में खुद को शांत रखना और Creative visualization की क्षमता में सुधार होना.

Simple and effective way of third eye awakening

Third eye activation के लिए Alpha and Gama wave emission जरुरी है. ये दोनों तरफ काम करती है. मान लीजिये आपका मन परेशान है तो आप aplha wave binaural beats सुने इससे आपका मन शांत होने लगेगा. या फिर जब आपका मन शांत होता है तब ये अपने आप अल्फा वेव को एमिट करना शुरू कर देता है. दोनों तरीके से काम होता है.

इन सबका एक ही काम होता है आपके brain को एक खास अवस्था में रखना. आप चाहे तो आन्तरिक चुनाव करे या बाहरी मदद ले दोनों ही स्थिति में आपका मन शांत होना जरुरी है.

Tratak gazing meditation की क्रिया आपके मन में चल रहे अनचाहे विचारो को रोकती है या फिर कुछ समय के लिए आपको उनसे दूर करती है. जब आप बार बार खुद को एक केंद्र पर फोकस रखते भावना देते है तो वो आपके बॉडी और माइंड को उसी तरह से बनाना शुरू कर देती है जिस तरह की आप भावना देते है.

जब आप अनचाहे विचारो से दूर होते है तब आपका मन शांत और फोकस होना शुरू हो जाता है जिसकी वजह से जल्दी ही त्राटक के दौरान हमें माथे में खिंचाव का अनुभव होने लगता है. शुरू शुरू में आपको ये परेशान करता है लेकिन, धीरे धीरे ये normal होने लगता है और आप अभ्यास में आगे बढ़ने लगते है.

इसके अलावा mindfulness meditation practice, focus meditation and shambhavi mahamudra का अभ्यास करना आपको बेहद कम समय में बेहतर अनुभव हासिल करने में मदद करता है.

Side effect of third eye activation

आमतौर पर किसी भी अभ्यास के दौरान बरती जाने वाली लापरवाही हमें उसके अनचाहे परिणाम की ओर ले जाती है. हालाँकि तीसरे नेत्र जागरण की प्रक्रिया काफी सेफ है लेकिन, जल्दबाजी की वजह से हम बॉडी और माइंड को उन अनुभव के लिए तैयार नहीं कर पाते है.

यही वजह है की हम इसके अभ्यास को चरण में पूरा करते है ताकि हमारे बॉडी और माइंड पर इसका negative effect ना पड़े.

अगर आप Third eye activation को बेहद कम समय जैसे की एक हफ्ता और एक महीने जैसे टाइम में पूरा करना चाहते है तो उस स्तर के लिए आपको physical and mental रेडी होना होगा. ऐसा न होने की वजह से हम अपने ही अभ्यास में आने वाली परेशानी में उलझ कर रह जाते है.

  • माथे में हो रहे खिंचाव को कण्ट्रोल ना कर पाना
  • दिनभर खुद को शांत महसूस करना और किसी से जुडाव न बना पाना
  • अकेले रहने और आध्यात्मिक उदासीनता को महसूस करना
  • Spiritual activity में interest बढ़ना और इसकी वजह से हमारे दिन भर की गतिविधि पर प्रभाव पड़ना.

ये कुछ ऐसे प्रभाव है जिन्हें हम सिर्फ लम्बे समय के अभ्यास के बाद ही handle कर पाते है. बहुत से Third eye and subconscious mind activation course कम से कम समय में जागरण का दावा करते है लेकिन इसके दुष्प्रभाव के बारे में बात नहीं करते है.

अगर आप dangerous of Third eye activation से बचना चाहते है तो हमारे 3 महीने के अवचेतन मन और आज्ञा चक्र जागरण के कोर्स को ले सकते है. ये कोर्स आपको पूरी तरह प्राकृतिक तरीके से जागरण में मदद करेगा साथ ही इसके अनुभव को समझने में भी मदद करेगा.

How to activate third eye final conclusion

third eye activation or awakening process को step by step guide के साथ पूरा करना चाहिए. किसी भी तरह की जल्दबाजी आपके अनुभव में न सिर्फ परेशानियाँ खड़ी करती है बल्कि अनचाहे परिणाम की वजह भी बन जाती है.

अगर आप कुण्डलिनी योग के बारे में जानते है तो आपको मालूम है की ये पूरी process काफी सारे स्टेप को पूरा करती है. हर चक्र के लिए भरपूर समय दिया जाता है.

यहाँ पर आपको यही अभ्यास समय के साथ पूरा करने की जरुरत है. जब आप इसे चरण में पूरा करते है तो इसके फायदे आपको लम्बे समय तक मिलते है और आप इसके लिए शारीरिक और मानसिक तौर पर रेडी रहते है.

तीसरे नेत्र के जागरण के लिए ध्यान में हजारो विधियाँ है जिसमे त्राटक को मानसिक शक्तियों के विकास में सबसे ज्यादा हेल्पफुल माना जाता है. किसी भी शंका के समाधान के लिए कमेंट में सवाल जवाब कर सकते है.

Never miss an update subscribe us

* indicates required
Previous articleSimple but Powerful Protection Magic 10 tips to Safe from Black Magic Effect in Hindi
Next articleEverything about Spell jar and How to create 3 Powerful Spell Jars at home in Hindi
Nobody is perfect in this world but we can try to improve our knowledge and use it for others. welcome to my blog and learn new skill about personal | psychic | spiritual development. our team always ready to help you here. You can follow me on below platform

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here