psychic power यानि telekinesis घर बैठे सिखने का सबसे सरल अभ्यास hindi में

18

मानसिक शक्तिया हमारे अवचेतन मन की शक्तिया है जो निर्भर करती है हमारे मनोबल पर। आज हम आसान अभ्यास द्वारा psychic powers development करने के बारे में जानेंगे। telekinesis ka aral abhyas ghar par जो आसानी से ना सिर्फ आपका मनोबल बढ़ाएंगे बल्कि जल्दी ही छोटे छोटे रूप में आपकी मानसिक शक्तिया जिन्हें आप telekinesis in hindi कहते है को बढ़ाएगा। is telekinesis real क्या वाकई telekinesis sach में होती है. telekinesis superpower को हम अपने अन्दर कैसे develop कर सकते है. जानिए telekinesis superpower easy practice at home in hindi.

telekinesis in hindiटेलिकिनेसिस यानि chijo ko bina chuye sirf isharo se hilana. अगर आप गौर करेंगे तो इसमें सिर्फ 2 माध्यम द्वारा ही टेलिकिनेसिस होती है पहला आपकी आंखे दूसरा आपके हाथ। ऐसा क्यों ? अगर आप ये जान जायेंगे तो आप telekinesis करने का basic principle समझ जायेंगे।

basic principle of telekinesis :

टेलिकिनेसिस के लिए हमें प्रचुर मात्रा में प्राण ऊर्जा की जरुरत होती है। अन्य भाषा में इसे ची शक्ति कहते है। त्राटक, सम्मोहन और अन्य अभ्यास में प्राण को एक ऊर्जा में बदला जाता है। हमारा शरीर एक इंजन की तरह कार्य करता है जिसमे प्राण ईंधन का कार्य करते है। टेलिकिनेसिस के सरल अभ्यास के लिए सबसे पहले जब हम स्वांस को गहरा अंदर खिंच कर कुछ देर रोकते है तो वो ऊर्जा में बदल जाता है। अगर हम स्वांस को ग्रहण करने की गति को नियंत्रित कर ले तो काफी मात्रा में प्राण को स्टोर कर सकते है और मन के भाव भी।

पढ़े  : कॉलेज और स्कूल में आप भी गुजरते है इन पलो से

telekinesis in hindi के अभ्यास की शुरुआत :

टेलिकिनेसिस के अभ्यास की शुरुआत करने से पहले हमें शरीर को और मन को टेलिकिनेसिस के लिए पूरी तरह तैयार करना पड़ता है। जरुरी है की आप अपने मन की सभी शंकाओ का पहले ही समाधान कर ले। इसके बाद कल्पना शक्ति का इस्तेमाल कर खुद को टेलिकिनेसिस के लिए तैयार करे। कल्पना शक्ति हमें मनोबल प्रदान करती है ताकि बगैर किसी नकारात्मक प्रभाव के हम खुद को आगे बढ़ा सके।

पढ़े  : त्राटक में सफलता के लिए जरुरी है प्राण का प्रचुर मात्रा में होना

मानसिक स्तर की तैयारी

जब हम खुद को शारीरिक स्तर पर तैयार कर लेते है तो ध्यान द्वारा हमें मानसिक स्तर पर भी तैयार होना चाहिए। telekinesis in hindi के saral abhyas के लिए मन से फालतू विचार और शारीरिक गतिविधि को विराम देने का सबसे अच्छा माध्यम है ध्यान। साथ ही अगर आपके मन में शंकाए उत्पन होती है तो बार बार खुद को “में कर सकता हूँ” जैसे शब्दो द्वारा मजबूत कर ले क्यों की अभ्यास के बिच में इस तरह का व्यवधान आपके पुरे अभ्यास पर पानी फेर सकता है।

telekinesis in hindi यानि psychic powers जिन्हें develop करना काफी धैर्य का काम है इसलिए बेहतर होगा जल्दबाजी या कुछ ही दिनों में एक्सपर्ट बनने का सपना ना देखे। लगातार धैर्य के साथ अभ्यास करते रहे ये आपके अंदर विकसित होती है इसलिए संयम का बहुत ज्यादा ध्यान रखना पड़ता है।

पढ़े  : तंत्र मंत्र अगर आपको खेल लगता है तो इसे एक बार जरूर पढ़े

telekinesis in hindi के सरल अभ्यास की शुरुआत :

telekinesis in hindi ka saral abhyas शुरू में ऐसे object पर करना चाहिए जो बिलकुल हल्के हो। आप कागज से इसकी शुरुआत कर सकते है। या फिर अपने बालो पर। आपके बाल में भी कुछ हद तक चार्ज रहता है और विज्ञान में आप पढ़ चुके है की कंघा बालो पर फिराने से उसमे चार्ज उत्पन हो जाता है।

मनोबल और इच्छाशक्ति को मजबूत करे :

self-confidence strong करने के लिए सबसे सरल अभ्यास से शुरुआत करे। आप कागज ची व्हील बना सकते है जिसे हम Psi wheel भी कहते है। कागज का पिरामिड शेप का ये माध्यम आप आसानी से घर पर बना सकते है। साथ ही साथ किसी बड़े कांच के जार के अंदर इसे रख कर अभ्यास करे ताकि हवा का प्रभाव बिल्कुल न पड़े क्यों की ये इशारे से ही हिलने लगता है।

  • अपने दोनों हाथ को अच्छे से साफ कर ले और जार के दोनों तरफ स्थित कर आँखे बन्द करे।  भावना दे की आपकी ऊर्जा का प्रवाह अब पुरे शरीर से हाथो में हो रहा है। कुछ देर बाद आपके हाथ थोड़े उष्ण महसूस होंगे। आंखे बंद रहने पर कल्पना शक्ति से हाथो में ऊर्जा को निकलता हुआ महसूस करे।
  • आंखे खोल ले और शांत स्थिर मन से खुद को व्हील पर फोकस करे। कुछ ही देर में आपकी ऊर्जा से वो व्हील घूमने लगता है। यहाँ घूमने में सफलता मिलने के बाद आप कल्पना द्वारा भावना दे की ऊर्जा इसे आपकी तय की गई दिशा में घूमा रही है। सब आपकी कल्पना शक्ति और भावना का खेल है जितना मजबूत पकड़ होगा उतना ही जल्दी अभ्यास में सफलता मिलेगी।

पढ़े  : मंत्रो द्वारा सम्मोहन का प्रभाव डालने की प्रभावी सम्मोहन साधना

छोटे छोटे चीजो पर एकाग्रता ही सफलता :

टेलिकिनेसिस के सरल अभ्यास में सफलता के लिए जरुरी है की छोटे छोटे ऑब्जेक्ट पर खुद को एकाग्र किया जाये। इसके लिए आप माचिस की तिल्लियां इस्तेमाल कर सकते है या फिर सुई जैसे माध्यम पर अभ्यास हो सकता है। ऐसे ऑब्जेक्ट कम ऊर्जा द्वारा आसानी से गतिशील हो सकते है और आपका मनोबल बढ़ाने के लिए ये बेहद जरुरी है।

telekinesis in hindi – ऊर्जा गोले का निर्माण :

आपने कई फिल्मो में हाथो से ऊर्जा गोले को पैदा करते हुए देखा होगा। असल में ये आपकी प्राण ऊर्जा ही है। इसलिए आप अंदाज लगा सकते है की टेलिकिनेसिस के लिए ऊर्जा का कितना महत्व है। आप अगर आसानी से प्राण ऊर्जा को अपने हाथो में प्रवाहित करना चाहते है तो एकांत के वक़्त जब आपका मन शांत हो तकिये पर अपनी हथेलियों को बिल्कुल वैसे ही घुमाए जैसे एक लोहे को घुमाते है चुम्बक पर और उसमे चुम्बकीय गुण पैदा हो जाता है।

ये अभ्यास आपकी हथेलियों में प्राण के प्रवाह को बढ़ा देता है पर याद रहे की हाथ साफ धुले हुए हो।

पढ़े  : क्या आप जानते है सोने और स्वपन के पीछे का मनोवैज्ञानिक सच

त्राटक फायदेमंद है टेलिकिनेसिस में

दीपक त्राटक करते वक़्त एक अवस्था ऐसी आती है जब दीपक की लौ हमारे इशारे यानि आँखों की पुतली के गति के साथ ही घूमने लगती है। ये अवस्था त्राटक से टेलिकिनेसिस के विकास को दर्शाती है जिसमे हमारे अंदर वस्तुओ को इशारो द्वारा गति प्रदान करने की शक्ति मिल जाती है। टेलिकिनेसिस के सरल अभ्यास में भी यही होता है।

दैनिक गतिविधियों में शामिल करे टेलिकिनेसिस को :

दैनिक गतिविधि में हम कुछ ऐसे काम कर सकते है जो टेलिकिनेसिस को आसानी से डेवलॉप करते है। जैसे बैठे बैठे पेन या पेन्सिल पर पकड़ बनाना फिर उन्हें इशारो द्वारा घुमाना। कांच की गोली सबसे अच्छा माध्यम साबित हो सकती है जो इशारो से बिना किसी अवरोध के गतिशील हो सके।

दिशासूचक पर अभ्यास करे जब आप आसानी से वस्तुओ को मूव कर सके। इसे इसकी डिफ़ॉल्ट दिशा के अलावा स्थिर करने का प्रयास करे।

पढ़े  : फोटो से वशीकरण कैसे किया जाए सरल अभ्यास द्वारा समझे

समझे telekinesis in hindi के science को :

टेलिकिनेसिस प्राण ऊर्जा, कल्पना शक्ति और भावना शक्ति पर निर्भर है। इसलिए अगर टेलिकिनेसिस के सरल अभ्यास में सफल होना है तो इन सभी पर अपनी मजबूत पकड़ बनाए। किसी भी अभ्यास के लिए छोटे छोटे अभ्यास को मजबूत करना बड़ी सफलता दिलाता है। इसलिए भूल कर भी इन्हें नजरअंदाज ना करे।

पढ़े  :  मानसिक शक्तियों को विकसित करने के सरल अभ्यास

टेलिकिनेसिस के बाद क्या करे :

telekinesis in hindi का abhyas मानसिक थकावट लाता है इसलिए कुछ देर के लिए योगनिद्रा आपके शरीर में ऊर्जा को वापस बढ़ाने में मदद कर सकती है। योगनिद्रा इसलिए बेहद जरुरी है क्यों की एक तरह का ल्युसिड ड्रीम बनाती है जो हमारे कल्पनाशक्ति को मजबूत करता है।

दोस्तों मानसिक शक्तिया कोई जादू नहीं है। ये हमारी क्षमता ही है जो वस्तुओ को गतिशील बनाती है। इसलिए हमेशा धैर्य से अभ्यास में विश्वास बनाये रखे सफलता आपको ही मिलेगी। आज की पोस्ट आपको कैसी लगी हमें जरूर बताये साथ ही ब्लॉग से जुड़े विडियो के लिए हमें यूट्यूब पर सब्सक्राइब जरूर करे।

18 COMMENTS

  1. Hello kumar,
    This is anup, as you said about telekinesis, is there any possibility that those powers can be generated by any other sources. Are those limited to moving stuff or if any once can produce electricity then…

    I know a person who started getting sine weired experience from past few days like he is unable to move any articles but yes strange stuff..

    If you have any advice please reply me…

    • there are variation in experience and power sources in telekinesis. you can produce electric current only when your body have life force power out of control. in this condition any metal you touch or human behave like they have electric shock from you.
      you can explain your problem with more detail so we can provide a better solution and suggestion for it

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.