Top 9 Spiritual Transformation Experience everybody have in Spiritual Journey

0

Spiritual Journey के दौरान हम कई तरह के बदलाव को experience करते है. कुछ अनुभव धीरे धीरे और समय के साथ होते है जो normal होते है जबकि कुछ अनुभव बेहद तेज, अचानक और बिना उम्मीद के होते है जिन्हें समझ पाना मुश्किल बन जाता है. आध्यात्मिक अभ्यास के बाद हमारी लाइफ में जो fundamental change आते है उन्हें Spiritual Transformation के नाम से जाना जाता है.

ये वो बदलाव है जो हमारी लाइफ में तब आते है जब हम आध्यात्मिक बनते है. spiritual experience खासकर kundalini awakening or chakra opening जैसे अनुभव इसी तरह के बदलाव से जुड़े है. इसमें होने वाले अनुभव दोनों ही तरह से हो सकते है या तो धीरे धीरे हम आगे बढ़ते है या फिर हमारी यात्रा इतनी fast होती है की हमें समझ पाना बेहद मुश्किल होता है.

Spiritual Transformation

ये तब होता है जब हम अनुभव को Judge, compare, control करना शुरू करते है. अगर अनुभव के साथ साथ चला जाए तो इन्हें समझ पाना न सिर्फ आसान हो जाता है बल्कि आगे बढ़ना भी. normal life में जहाँ हम ईगो से भरे हुए होते है और चीजो को अपने तरीके से control करने की कोशिश करते है वही आध्यात्मिक यात्रा के बाद हमारे point of view, perspective इन सब में बदलाव आते है.

आध्यात्मिक अनुभव एक तरीके से हमारी लाइफ को पूरी तरह से बदल सकते है. अगर इन्हें control करने की कोशिश ना की जाए और इसके flow के साथ चलते जाए बिना किसी रिएक्शन के तो ऐसे कई अनुभव होना शुरू हो जाते है जो normal life में किसी मैजिक की तरह लगते है. हमारा कनेक्शन universe and being से बनना शुरू हो जाता है और हम Spiritual being में से एक बन जाते है. आइये आज की पोस्ट में जानते है ऐसे कुछ बदलाव के बारे में जो हमारे आध्यात्मिक बदलाव को दर्शाते है.

What is Spiritual Transformation?

जब हम Spiritual Journey पर आगे बढ़ते है तब हम body से soul की तरफ evolve होना शुरू होते है. ये पूरी process एक कमल की पंखुड़ी को खोलने की तरह है. seven chakras and kundalini awakening को कमल के खिलने की तरह represent किया जाता है. जिस तरह कीचड़ में कमल होता है उसी तरह हम भी Ego, self जैसे mud से भरे हुए होते है. Spiritual journey के जरिये हम खुद को उसी तरह explore करते है जिस तरह कमल खिलता है.

Spiritual transformation में अनुभव दोनों ही तरह से हो सकते है या तो समय के साथ धीरे धीरे या फिर अचानक ऐसे होने वाले experience जो unexpected होते है. यहाँ कुछ ऐसे common experiences of spiritual transformation है जिन्हें आप समझ सकते है जैसे की

  • हम अपने old toxic pattern or behavior को छोड़ देते है
  • खुद को limit में बंधा हुआ महसूस ना करना
  • पहले से ज्यादा authentic and soul-centered हो जाना
  • खुद को एक जगह पर रखने की बजाय और ज्यादा explore करने की इच्छा होना.

ये सब ऐसे अनुभव है जो हमें आध्यात्मिक अभ्यास की यात्रा के दौरान होते है. जब हम अभ्यास करते है तो अपने लिए endless possibilities के रास्ते खोलते है.

Spiritual Transformation vs. Spiritual Awakening

सुनने में भले ही spiritual awakening and spiritual transformation ये दोनों एक जैसे और आपस में connected लगते है लेकिन, ये दोनों ही अनुभव एक दूसरे से अलग है. इन्हें आप ऐसे समझ सकते है

Spiritual awakening वास्तव में एक ऐसी टर्म है जिसके अन्दर हमारी पूरी यात्रा होती है. दूसरी और spiritual transformation में spiritual journey के दौरान क्या होता है ये शामिल है. इसमें awakening हमारी यात्रा के शुरुआत में आने वाला वो force है जो बदलाव लाता है जबकि Transformation हमारी यात्रा के अंत में अनुभव किये जाने वाला बदलाव है.

साफ साफ शब्दों में समझे तो

banner-1

“Spiritual awakening हमें पथ पर आगे बढ़ने के लिए प्रेरित करता है और transformation में वो सब बदलाव होते है जो यात्रा के अंत में जागरण की प्रक्रिया की वजह से हमारे अन्दर विकसित होते है.”

9 ऐसे संकेत जो बदलाव को दर्शाते है

वास्तव में देखा जाए तो spiritual transformation हमें बाहर से अन्दर की ओर की यात्रा करवाता है. इस यात्रा के दौरान आने वाला हर बदलाव इसे दर्शाता है. हालाँकि अंतिम परिणाम हमेशा वैसे नहीं होते है जैसे हम सोचते और चाहते है. ये परिणाम हमारी जरुरत के अनुसार होते है ना की हम क्या चाहते है.

ये एक ऐसी cyclical process है जो बार बार होती रहती है इसलिए कभी ये न सोचे की ये बदलाव सिर्फ एक बार अनुभव किया जा सकता है. हम पूरी तरह खुद को explore कर सके ऐसी समझ बहुत कम लोगो में होती है. हर बार इसका एक ही परिणाम होता है हमें हमारी true nature के और भी पास ले जाना.

चलिए कुछ ऐसे key signs of spiritual transformation के बारे में जान लेते है जो हम अपनी यात्रा के दौरान experience करते है.

Old ways of being disintegrate

शुरुआत में ही हम अपने thought patterns, habits, beliefs में आने वाले बदलाव को notice कर सकते है. उनकी आपके ऊपर अब वैसी पकड नहीं है जैसी पहले थी. इसकी वजह से कुछ लोग relief and gratitude जैसी feeling को experience करते है वही कुछ nervous and on-edge जैसी feeling को महसूस करते है.

अनुभव चाहे जैसे भी हो हम सब जानते है की ये सब spiritual transformation का एक भाग है और इस तरह के अनुभव हो सकते है इसलिए कई बार इनका हम पर ज्यादा प्रभाव नहीं पड़ता है.

नए रास्तो का खुलना

ये आपको थोड़ा हैरान कर सकता है क्यों की जब हम बदलाव की प्रक्रिया से गुजरते है तब new and unexpected opportunities for growth हमारे सामने आना शुरू हो जाती है. कई बार तो ये अवसर हमें एक meaningful coincidences की तरह लगते है मानो हम काफी समय से यही चाहते थे और देखो वैसा हो गया.

आपने देखा होगा की कई बार हम कुछ सोचते है और कुछ समय बाद ही वैसे अवसर हमारे लिए खुल जाते है. ये सब हमें एक coincidences की तरह लगता है लेकिन जब हम बाहर से अंतर की ओर बढ़ते है तब Subconscious mind programing की वजह से हमारा अवचेतन मन नए नए opportunities को create करता है.

Letting go and surrendering

normal life में हम खुद को और दूसरो को कण्ट्रोल करने वाली सोच रखते है. हमारे साथ क्या हो रहा है और क्यों हो रहा है इसके पीछे के reason को समझे बगैर हमें लगता है की हम जो हो रहा है उसे कण्ट्रोल कर सकते है. आध्यात्मिक यात्रा के दौरान हम हर घटना को बारीकी से देखना और समझना शुरू करते है. जो हो रहा है उस पर react करने की बजाय अच्छे से समझना और फिर उसके अनुसार स्टेप लेना ये बेहद जरुरी है.

Spiritual journey के दौरान यही होता है. जो हो रहा है उसे समझने के बाद हम लाइफ के flow के साथ खुद को आगे ले जाने लगते है जिस वजह से खुद को relax feel करना आसान हो जाता है. बीते कल में भले ही हमने काफी तकलीफ और दुःख देखे हो लेकिन अब हम शांत है और संतुष्ट है जो किसी भी इन्सान का सबसे बड़ी wish होती है.

पढ़े : Blackouts medical condition causes and treatment in Hindi

Self-identity loosens

जैसे जैसे हम process of spiritual transformation से गुजरते है वैसे वैसे हमारा Ego attachment और ज्यादा Transparent होता जाता है जिसकी वजह से खुद को किसी भी तरह की limited and rigid ways में फंसने से बचा पाते है. जब Body-mind-soul-heart-spirit ये सब आपस में interconnected होते है तब freshness and lightness को महसूस करना आसान हो जाता है.

इस बदलाव का सीधा असर हमारी नेचर पर पड़ता है जिस वजह से हम प्रवाह के साथ चलना शुरू कर देते है और किसी भी कंडीशन में खुद को adopt कर पाते है. अब हम दूसरो पर reaction देने से पहले उसे समझने की कोशिश करते है जिस वजह से ज्यादातर मामलो में हमें किसी तरह की reaction देने की जरुरत ही नहीं पड़ती है.

Some people in your life leave

हालाँकि ऐसा हमेशा नहीं होता है लेकिन जब हम बाहर से अंतर की तरफ मूव करते है तो ऐसे लोग जो हमारी लाइफ का हिस्सा नहीं होना चाहिए वो हमसे दूर हो जाते है. इसमें ज्यादातर ऐसे लोग होते है जो भटकाने वाले, टाइम waste करने वाले होते है. जब उन्हें लगता है की अब आप उनके मतलब के नहीं रहे है तो वो धीरे धीरे आपसे दूर होने लगते है.

आध्यात्मिक बदलाव की वजह से अब हमें महसूस होना शुरू हो जाता है की हमें क्या चाहिए और आगे बढ़ने के लिए बाहरी तत्वों पर निर्भर रहना है या फिर अंतर पर. जो लोग Introvert होते है उनके भले ही दोस्त कम होते है लेकिन आगे बढ़ने वाले होते है जिसकी वजह से परेशान करने वाली सभी चीजे उनसे दूर ही रहती है और ज्यादा focus रहने में मदद करती है.

पढ़े : top 5 reason you must follow Digital Detox in everyday life

Profound insights into the nature of reality

Spiritual transformation के दौरान होने वाले अनुभव में ये एक common experience है जिसमे हम खुद और यूनिवर्स के बारे में deep understanding को experience करते है. इस ब्रह्माण्ड के अनुसलझे राज को भी हमारा मस्तिष्क समझने लगता है और जो चीजे पहले हमें मैजिक की तरह लगती थी वो अब लाइफ का normal हिस्सा बन चुकी है.

हमारा मस्तिष्क एक खुले दरवाजे की तरह है जो इस universe के उन रहस्यों को समझने लगा है जिनसे बाहर भटकने की वजह से हम अनजान थे. हमारी अपनी लाइफ में जिन चीजो को लेकर हम अक्सर परेशान रहते थे अब वो सुलझती जा रही है और ये सब संभव हुआ है क्यों की अब हम अंतर की यात्रा कर रहे है.

Energetic purging and detoxification

Energetic purging and detoxification ये कुछ ऐसी term है जिनसे हम गुजरते है और ये कम सुखद अनुभव में से एक है. वैसे तो ये purification process normal रहती है लेकिन कई बार बैलेंस न बने रहने की वजह से kundalini awakening जैसा अनुभव हमें परेशान कर सकता है. कुण्डलिनी जागरण वास्तव में हमारे बॉडी के सभी सेंटर के मध्य बहने वाली उर्जा के प्रवाह का दूसरा नाम है.

ये process हमारे अन्दर की Pranic energy को बढ़ा देती है जिस वजह से energetic blockages को दूर किया जा सकता है और जल्दी ही हम खुद को उर्जावान महसूस करना शुरू कर देते है.

More inner security and trust in Life

हम अपनी ज्यादातर लाइफ का हिस्सा state of near-constant anxiety में गुजार देते है जहाँ पर किसी भी काम के बिगड़ने और तनाव का सीधा संबध होता है. ज्यादातर लोगो को तो पता ही नहीं होता है की वे इस डर के साथ जी रहे है क्यों की ये हमारे deeper subconscious level पर exist करता है.

Spiritual transformation के दौरान हम इस बात को समझ जाते है की जो हो रहा है वो हमारे लिए हो रहा है न की हमारे विपरीत जिसकी वजह से feelings of greater inner security को develop किया जाता है और हम खुद को और ज्यादा secure feel करना शुरू कर देते है.

हम जान जाते है की जो कुछ हुआ है और जो कुछ हो रहा है वो हमारे लिए है और उससे हमारा कोई नुकसान नहीं होगा ना ही हमें कोई रोक सकता है. इस तरह की भावना से हम खुद को तनाव से न सिर्फ दूर रख पाते है बल्कि खुद को ज्यादा सुरक्षित महसूस करने लगते है.

Deepening love and compassion

जैसे जैसे हम आगे बढ़ते है अंत में beautiful aspects of spiritual transformation तक पहुँच जाते है. अब हम अपने आप को heart से connected feel करना शुरू कर देते है. इस तरह का अनुभव हमें बताता है की सब एक है और हम उनके साथ वैसे ही बर्ताव करते है जैसे हम खुद के साथ करते है. ये आपसी भेदभाव को मिटाता है. दूसरो के दुःख और दर्द को समझने से हम आसानी से दूसरो तक connection को महसूस कर सकते है.

इस तरह का अनुभव Christ Consciousness (or Oneness) की Deep understanding को develop करता है. एक बार heart-centered understanding जैसा बदलाव आने के बाद हम unconditional cosmic love को experience करना शुरू कर देते है. हम खुद महसूस करते है की पहले हम क्या थे और अब क्या बन गए है. हम कितना अनुभव करते है ये महत्वपूर्ण नहीं है, हमारा अनुभव कितना गहरा है ये मायने रखता है.

Spiritual transformation कोई ऐसा बदलाव नहीं है जिसे control किया जा सकता है. ये तो हमारे अंतर की यात्रा का परिणाम है जो हर घाव को heal कर देता है और हमें Spiritual freedom के लिए motivate करता है. हर कोई long or short period of transformation को experience कर सकता है लेकिन, अनुभव हमेशा एक जैसे नहीं रहते है ये समय के साथ बदलते रहते है.

How Spiritual transformation Change our life – final conclusion

आध्यात्मिक यात्रा में बदलाव हर कोई महसूस करता है. Spiritual transformationकिसी भी इन्सान की लाइफ में होने वाले वो fundamental change है जो उसकी Spiritual life को दर्शाते है. सबसे पहला बदलाव जो हम महसूस करते है वो बाहरी चीजो में फंसे रहने की बजाय अपने अंतर में डूबना है. हम ज्यादातर समय अपने अंतर की गहराई में रहते है जिसकी वजह से हमारे thoughts, behave and emotion pattern में बदलाव आता है. ये सब हमें creative and skillful बनाते है जिसकी वजह से नए नए रास्ते खुलते जाते है.

इसका दूसरा सबसे बड़ा बदलाव हमारे Subconscious mind or level of consciousness पर देखा जा सकता है. हम अपने सोचने समझने के तरीको में वो बदलाव और सोच को महसूस करते है जो सामान्य तौर पर थी ही नहीं. सीधे तौर पर कहे तो लाइफ मुश्किल नहीं आसान बन जाती है जब हम इसके flow के साथ चलना शुरू कर देते है बजाय इसे control करने के.

आप क्या सोचते है आध्यात्मिक यात्रा के दौरान होने वाले बदलाव हम पर क्या क्या असर डालते है और हमारी लाइफ को किस तरह बदलते है ? हमें कमेंट में बताना ना भूले. अगर आपने कभी ऐसे बदलाव को experience किया है तो उन्हें यहाँ शेयर करे.

Never miss an update subscribe us

* indicates required

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here