क्या आपका Life partner आपके लिए soulmate relationship बन सकता है ?

0

क्या वाकई सोल-मेट जैसा कुछ होता है ? हमारी लाइफ में एक व्यक्ति ऐसा आता है जिसका मिलना पहले से निर्धारित होता है. इन सबके बारे में जब हम कल्पना करते है तो सबसे पहले दिमाग में कुछ Romantic relationship वाले लोगो की तस्वीरे घूमती है. काल्पनिक दुनिया में रोमांस को जितना फंतासी रूप दिया गया है रियल लाइफ में ये उतना आसान नहीं है. आज हम बात करने वाले है Soulmate relationship and life partner relationship के बारे में. हालाँकि देखने में ये दोनों शब्द एक जैसे लगते है लेकिन इनके बिच काफी सारे अंतर और समानताए हो सकती है.

प्यार को आज के टाइम में Tissue paper की तरह समझा जाता है जिसे जब चाहा इस्तेमाल किया और फेंक दिया लेकिन, बावजूद इसके कुछ लोग होते है जो एक ही रिश्ते को लम्बे समय तक निभाते है. हम इसे True soulmate connection का नाम दे सकते है. वास्तव में एक सोल-मेट रियल लाइफ में क्या होता है आइये इसके बारे में जान लेते है.

soulmate relationship

इसके लिए आपको अपने आप से सवाल करना होगा. कुछ देर के लिए शांत हो जाइये और खुद से पूछे की आपके लिए एक सोल-मेट क्या है ? आपको क्या महसूस हुआ ?

आपके लिए एक soul mate ऐसा व्यक्ति हो सकता है जो आपको सुनता है, आपके साथ रहता है या फिर आपके पक्ष में ही बाते करता है. एक ऐसा व्यक्ति जो हमेशा आपको आगे ले जाने की सोचता है. ये सब कुछ मायने में सही हो सकता है लेकिन हमेशा सही हो ये जरुरी नहीं.

एक सोल-मेट को हम निचे बताये गए मानक से निर्धारित कर सकते है.

What is soulmate relationship in real life

वैसे तो इसके लिए कई मानक निर्धारित किये जाते है लेकिन हम अपनी लाइफ में ऐसे कई रिश्तो से हो कर गुजरते है की ये तय नहीं कर पाते है की हमारे लिए soulmate relationship कौनसा है कौनसा नहीं. अगर आप इसी तरह की कशमकश में है तो निचे दिए गये कुछ मानक को आजमा सकते है.

आपका सोल मेट आपका सबसे अच्छा दोस्त है

आपका सोल-मेट आपका romantic and sexual partners हो सकता है. आपका करीबी रिश्तेदार या फिर एक अच्छा दोस्त कोई भी यहाँ तक की आपका पालतू जानवर भी आपके लिए एक अच्छा soul friends हो सकता है जिसे कुछ लोग सोल-मेट ही बुलाते है.

पढ़े : आखिर क्यों आज हठ योग दुनिया की पहली पसंद बन गया है ?

सोल-मेट आपके पूरक या दर्पण होते है

आपके सोल-फ्रेंड आपके लिए एक पूरक या दर्पण की तरह काम करते है. किसी तरह की कमी को छिपाने की बजाय वे flaws, insecurities, dreams and strengths को बताते है ताकि आप आप उनसे ऊपर उठकर खुद को मजबूत बना सके. आप उनपर भरोसा कर सकते है क्यों की वे आपकी कमजोरी का फायदा नहीं उठाते है बल्कि आपके साथ हमेशा ईमानदार रहते है.

वो आपके साथ इसलिए रहते है क्यों की उन्हें आपकी फ़िक्र रहती है और वे आपकी केयर करते है.

सोल-मेट आपकी कमियों को पूरा करते है

वे आपको पूर्ण तो नहीं बनाते है लेकिन, वे हमेशा कोशिश करते है की आप खुद के लिए सबसे बेहतर बन सके. अब सवाल ये है की वे आपको पूर्ण क्यों नहीं बनाते है ? वो इसलिए क्यों की अन्दर से आप हमेशा से ही पूर्ण होते है.

आप अपनी लाइफ के हर पड़ाव पर खुद की तलाश करते जाते है और खुद को पूरा करते जाते है.

सोल-मेट आपके भरोसेमंद गाइड होते है

कई बार ऐसा होता है की हमारे सोल-मेट की सलाह हमें गलत लगती है. हमें लगता है की उन्हें हमारा बेहतर बनना पसंद नहीं है इसीलिए वो हमें निचा दिखा रहे है या फिर कमजोर दिखा रहे है.

इन सबके पीछे की वजह है उनका केयर करना. वे जानते है की आपके लिए सही क्या है और आपको कैसे आगे ले जाया जा सकता है.

Soulmate relationship में आपको अपनापन महसूस होता है

ऐसा इसलिए क्यों की आप दोनों एक दूसरे के साथ बीते समय में ज्यादा से ज्यादा यादे बनाते है. आप एक दूसरे को बेहतर जानते है बजाय किसी और के और यही वजह है की आप दोनों एक दूसरे के साथ आरामजनक महसूस करते है. आपकी यादे ही आपके जुड़ाव को और ज्यादा मजबूत बनाती है.

इसके अलावा एक वजह ये भी हो सकती है की वे आपको आपसे भी ज्यादा जानते है. आपके लिए क्या सही है क्या नहीं ये भले ही आप समझ ना पाए लेकिन वे समझ जाते है.

आप दोनों के विचार और सोचने का तरीका एक ही होता है

दो लोगो के बिच कनेक्शन तब और भी ज्यादा मजबूत बन जाता है जब दो लोग एक जैसी सोच रखते है. एक जैसी सोच के अलावा नजरिया और किसी चीज को लेकर deeper life values, beliefs and dreams में भी समानता पाना दोनों के बिच के बोन्डिंग को दर्शाता है.

पढ़े : माइग्रेन की समस्या से छुटकारा पाने के लिए कारगर tips

वे आपको बिना किसी कंडीशन के लव करते है

हालाँकि आपके सोल-मेट के लिए हमेशा आपके साथ रहना संभव नहीं होता है बावजूद इसके वे आपके साथ हमेशा जुड़े रहते है. इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता है की आपका रिश्ता आज किस मोड़ पर है या फिर आज आप दोनों कहाँ है इसके बावजूद आप दोनों एक दूसरे के साथ बिना किसी कंडीशन के जुड़ाव को महसूस करते है.

क्या हम सबके लिए सोल-मेट बने है ?

इस सवाल का जवाब देना आसान नहीं है क्यों की ये हमारे soulful maturity level पर निर्भर करता है. क्या किसी ऐसे व्यक्ति को उसका सोल-मेट मिल सकता है जो अन्दर से टूटा हुआ हो, पुराने विचारो में फंसा हुआ हो. नहीं क्यों की किसी दूसरे व्यक्ति से आप प्यार तभी पा सकते है जब आप खुद से प्यार करे.

किसी भी दूसरे व्यक्ति का आपको प्यार करना तभी संभव है जब आप अपने ईगो को दूर कर दूसरे लोगो से जुड़ाव को महसूस करे. इसके लिए आपको open-minded, receptive, and trusting place की जरुरत होगी.

हम सबकी लाइफ में कम से कम एक soul friend तो होता है वही बहुत सारे soul teachers हो सकते है. लेकिन क्या कोई Soulmate भी हमारी लाइफ में आ सकता है जो कमियों को दूर कर सके. Soulmate relationship की तलाश करने से पहले आपको सबसे पहले खुद की तलाश करना बेहद जरुरी है.

यही एक वजह रहती की ज्यादातर लोग अपने सोल-मेट से नहीं मिल पाते है. इसकी वजह self-knowledge, understanding and love की कमी होना है. हम में से ज्यादातर लोग ये सोचते है की कोई ऐसा व्यक्ति हमारी लाइफ में होता है जो हमें पूर्ण बना सकता है लेकिन, हकीकत में हम पहले से ही पूर्ण होते है.

सोल-मेट सिर्फ इसमें हमारी हेल्प करते है जो की power of love की वजह से हमें इसका अहसास करवाते है. अंत में हम समझ पाते है की हम सब के पास अपने Soulmate से मिलने की Opportunity तो होती है लेकिन capacity बहुत कम लोगो में होती है.

एक अच्छे सोल-मेट की पहचान

Soul mates को हम एक व्यक्ति का दूसरे व्यक्ति की लाइफ में connection के रूप में जानते है. इसे हम दो लोगो के बिच similarity, love, romance, platonic relationships, comfort, intimacy, sexuality, sexual activity, spirituality, compatibility and trust के तौर पर देखते है. जरुरी नहीं दो लोगो के बिच शादी जैसा रिश्ता हो, एक लड़का और लड़की जो की एक दूसरे को अच्छे से समझते है जितना की उनके घरवाले भी नहीं समझ सके वे एक perfect Soul mates साबित होते है.

जरुरी नहीं की एक Life Partners ही सबसे अच्छा Soul mates हो सकता है, आपके दोस्त भी या कोई सहयोगी आपके लिए सबसे परफेक्ट सोल-मेट बन सकता है. आज के समय में सोल-मेट की परिभाषा को romantic or platonic partner के रूप में दिखाने की कोशिश करते है. दो लोगो के बिच strongest bond का कनेक्शन बनना सोल-मेट की प्रक्रिया का हिस्सा है जिसमे एक व्यक्ति जब दूसरे व्यक्ति से मिलता है तब खुद को पूर्ण महसूस करता है.

ज्यादातर इस शब्द का प्रयोग उन लोगो के लिए होता है जो Spiritual practice से जुड़े हुए होते है. एक दूसरे को मोटीवेट करते हुए आगे बढ़ना इसका निशानी है और आप आध्यात्मिक पथ पर आगे बढ़ते है. इसमें रोमांस हो सकता है लेकिन वासना नहीं. आइये सोल-मेट और लाइफ पार्टनर के बीच के फर्क को जान लेते है.

The Difference between Soul mates and Life Partners

सामान्य भाषा में एक सोल-मेट वो है जो आपके सोल से जुड़ा हुआ होता है. आत्मा से जुड़ाव की वजह से वो हमें higher level of consciousness and awareness तक पहुँचने के लिए हर संभव प्रयास करता है. एक बार जब हम अपने लक्ष्य तक पहुँच जाते है इसके बाद भौतिक अलगाव पैदा होना स्वाभाविक है क्यों की तब रिश्ता आत्मिक बन जाता है. वही दूसरी और,

Life Partner एक ऐसा साथी होता है जिस पर आप भरोसा कर सकते है, लाइफ में आने वाली किसी भी समस्या से जूझने में आपकी मदद करता है. इस रिश्ते में mutual feeling of love and respect पाई जाती है और एक दूसरे की जरुरत और जुड़ाव में दोनों दो नहीं एक होने की भावना का अहसास करते है.

हर कोई अपने Soul mates के साथ जुड़ाव करना चाहता है लेकिन spiritual line से जुड़े हर व्यक्ति के मन में ये सवाल आता ही है

आखिर कब में अपने Soul mates में मिलूँगा ?

हमारी लाइफ में हम ऐसे बहुत से सोल-मेट से मिलते है जिनका उदेश्य हमें challenge and awaken करना होता है ताकि हम higher state of consciousness को हासिल कर सके. सोल-मेट हमारी लाइफ में तब आते है जब हम इसके लिए पूरी तरह तैयार होते है.

Soulmate relationships हमेशा के लिए नहीं रहती है. ऐसा तब होता है जब किसी के साथ हमारा रिश्ता बहुत ज्यादा करीब हो जाता है या फिर किसी तरह की karmic energy की वजह से आप दोनों दूर हो जाते है क्यों की इस वजह से आप अपने लक्ष्य से भटक जाते है. जिस उदेश्य से आपका सोल-मेट आपकी लाइफ में आता है वो पूर्ण हो जाने के बाद वे चले जाते है.

बेहतर soulmate relationship के लायक कौन है ?

एक बेहतर सोल-मेट आपका दोस्त या फिर रिश्तेदार कोई भी हो सकता है. एक लाइफ-पार्टनर की बजाय ये रिश्ता हमेशा रोमांटिक हो ऐसा जरुरी नहीं, बावजूद इसके आप दोनों के बिच strong, energetic connection or a past life history together हमेशा महसूस किया जा सकता है.

हम लाइफ का ज्यादातर हिस्सा इसकी तलाश में बीता देते है और जब फ़ैल हो जाते है तब हम नोटिस करते है की हम वास्तव में क्या चाहते थे. जब भी हमने खुद से एक सोल-मेट की जरूरत महसूस की इसका सीधा कनेक्शन grow and develop in consciousness था न की साथ रहना. इसकी सही समझ न हो पाने की वजह से कई बार हम आ रही Universal Energy को block कर लेते है.

अगर आप वास्तव में किसी Soulmate relationship की तलाश कर रहे है तो इसके लिए सबसे पहले आपको खुद से जुड़ना होगा. आप कौन है इसकी तलाश करनी होगी. खुद के प्रति ईमानदार बने और दिल की सुने. जब आप ऐसा करते है तो आप खुद को अपने Soulmates के साथ Vibrational connection में पाते है.

अगर ऐसा नहीं होता है साथ ही आपकी तलाश पूरी हो चूकी है और आप अपनी बाकि की जिंदगी किसी साथी के साथ गुजारना चाहते है तो आपका Life Partner सबसे बेहतर रहेगा क्यों की वो जानता है आपको क्या चाहिए और क्या आपके लिए सही है.

लाइफ पार्टनर कैसा होता है ?

एक लाइफ पार्टनर आपके लिए एक दोस्त और साथी से बढ़कर होता है जिसके साथ आप खुद का एक Strong connection महसूस करते है. हालाँकि ये deep, soul connection की तरह तो नहीं होता है लेकिन फिर भी आप दोनों के बीच एक mutual feeling of trust, understanding and respect देखा जा सकता है.

दोनों के बिच आपसी जरुरत और सहयोग की एक मजबूत बोन्डिंग देखी जा सकती है साथ ही दोनों एक दूसरे की केयर और लव को लेकर आकर्षण होता है. एक जीवन साथी का लाइफ में आना spiritually or energetically उस तरह का नहीं होता है जैसा की एक Soulmate के साथ रहना होता है.

इस रिश्ते में आपको emotional and mental preparation की आवश्यकता होती है और भौतिक रूप से आपको इसमें जुड़े रहना होता है.

आपका Life partner आपके साथ एक Perfect soulmate साबित हो सकता है थी वैसे ही Soulmate आपके लिए बढ़िया लाइफ पार्टनर साबित हो सकता है, सबकुछ निर्भर करता है आपके चुनाव पर आप किस ओर जाना चाहते है. आइये इसके different characteristics के बारे में बात कर लेते है.

पढ़े : क्या आप सुबह उठते ही Morning stiffness arthritis से परेशान है ?

Soulmate Relationship

एक Soulmate Relationship में क्या क्या निशानी हो सकती है आइये लाइफ के उदाहरण से जान लेते है.

  • आप किसी व्यक्ति के साथ deep, spiritual connection महसूस करते है मानो आप एक दूसरे को सालो से जानते हो.
  • आपको किसी तरह के flashbacks or deja vu moments अनुभव होते है जहाँ आपको लगता है की आप दोनों एक दूसरे के साथ समय बिता रहे है.
  • आप दोनों एक दूसरे को अच्छे से समझते है और दोनों के विचारो में समानता देखने को मिलती है.
  • दोनों के शौक एक जैसे हो सकते है या फिर बीती लाइफ की परिस्थिति में कुछ न कुछ एक जैसा हुआ होगा.
  • एक दूसरे के बिच का रिश्ता बहुत ज्यादा गहरा हो सकता है जिसकी वजह से रिश्तो का प्रवाह extreme highs to extreme lows हो सकता है.
  • भौतिक रूप से एक दूसरे के साथ न हो पाने के बावजूद एक दूसरे को महसूस करना मानो दोनों एक ही हो.
  • आपको पता चल जाए की दूसरे व्यक्ति की thinking or feeling क्या है साथ ही आपको उनके thoughts and actions के साथ एक जुड़ाव सा महसूस होने लगे.
  • आप दोनों का रिश्ता emotional, challenging हो जिसकी वजह से आपकी वो Quality बाहर आने लगे जिसकी आपकी कल्पना भी न की हो.
  • किसी से मिलने के बाद अपनी लाइफ में बहुत ज्यादा बदलाव महसूस करना शुरू कर देना

ये सब निशानी है की आप किसी ऐसे व्यक्ति से मिले है जो आपका Soulmate है और आप उसकी वजह से खुद को बदलाव की सीढियों पर बढ़ता हुआ महसूस करने लगे है.

Life Partner Relationship

हम बात कर रहे है ऐसे व्यक्ति की जो हमारी लाइफ से जुड़ा हुआ होता है. ऐसे व्यक्ति की खास विशेषताए निम्न हो सकती है जैसे की

  • आप एक दूसरे के प्रति Physical attraction महसूस करने लगे है.
  • दोनों एक दूसरे के बारे में जानने लगते है जैसे की समानताए और दोनों में अंतर क्या क्या है इसके बारे में. कुछ भी नया जो आप दोनों के बिच एक रोमांच पैदा करे आप जानने की कोशिश करते है.
  • आप दोनों एक दूसरे के best friends की तरह रहते है साथ ही आपका रिश्ता किसी बाहरी वजह से प्रभावित नहीं होता है.
  • दोनों का रिश्ता logical or intellectual decisions पर बनता है जो दोनों के Mutual relationship को दर्शाता है.
  • दो अलग अलग लोग एक दूसरे के beliefs, ideas or religion/philosophy के बारे में जानते है और उनसे जुड़ाव करते है.
  • दोनों को ही एक दूसरे के साथ financial and emotional stability का अहसास होता है.
  • आप दोनों ही एक दूसरे के साथ भौतिक रूप से साथ रहते है और भविष्य के लिए नई यादे बनाने के लिए रेडी रहते है.
  • दोनों के रिश्ते को ओर मजबूत बनाने के लिए आपको शादी कर लेनी चाहिये ताकि आप अपना परिवार बना सके इस तरह की जरूरत महसूस होने लगना.

ये सभी आपके और आपके साथी के बिच Life Partner Relationship के गुण को दर्शाती है.

इसके अलावा भी कोई रिश्ता हो सकता है

जरुरी नहीं की आप दोनों के बिच इन दो रिश्ते में से एक ही हो. लाइफ के अलग अलग दौर पर हम अलग अलग तरह की रिलेशनशिप से गुजरते है. ये हमारा personal decision होता है जो हमें समय समय पर guided फील करवाता है. Soulmate का मतलब सिर्फ कोई romantic partner नहीं होता है. ये तो हमारे soul से जुड़ा वो person होता है जो हमें Physically नहीं बल्कि mentally and emotionally जानता है.

पूरी जिंदगी में हम अनेको लोगो से मिलते है और एक फैक्ट के अनुसार हम सिर्फ 150 रिश्तो को ही निभा पाते है. इसका मतलब ये है की लाइफ में आना जाना तो रहता है हम इससे कितना सीखते है ये महत्वपूर्ण है. Soulmate का काम हमें अपनी लाइफ के महत्वपूर्ण रोल से अवगत करवाना होता है ना की साथ निभाना.

पढ़े : वशीकरण जैसी शक्ति कितने समय में असर दिखाती है ?

soulmate relationship final world

अब तक आप एक Life partner and soulmate relationship इन दोनों के बारे में जान चुके है. ऊपर जितने भी तथ्यों से आपको अवगत करवाया गया है इनके आधार पर आप खुद ये अंदाजा लगा सकते है की कौन आपकी लाइफ में एक Life partner है और कौन एक Soulmate की तरह है. लाइफ हमें काफी Opportunity देती है हमारे सोल-मेट से मिलने का लेकिन ये हम पर है की हमारे अन्दर वो capacity है या नहीं.

अगर आपको अब भी किसी तरह का डाउट है तो आने वाली पोस्ट जिसमे Soulmate love myth के बारे में बताने वाले है उसे पढना ना भूले. हमसे जुड़े रहे और सोशल मीडिया पर हमे follow करना न भूले.

 

Never miss an update subscribe us

* indicates required

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here