Self hypnosis for repressed memories how to overcome from traumatic condition and fear

16
1632

Self-hypnosis कर हम खुद में काफी change ला सकते है. जैसे की अपनी बुरी आदतों को छोड़ना या फिर किसी खास क्षेत्र में आगे बढ़ना. सम्मोहन के 2 रूप है बाह्य सम्मोहन और स्व सम्मोहन. सम्मोहन का आधार हमारा subconscious mind है. अपने मन के माध्यम से हम दूसरों पर अपना प्रभाव आसानी से डाल सकते है. इसका Clinical experiment आप Self hypnosis for repressed memories के रूप में देख सकते है. हमारे बीते कल की मेमोरी जो हमें परेशान करती है या अनजाने डर की वजह बनती है उसे हम सही कर सकते है.

सम्मोहन क्रिया के पहले रूप में साधक अपनी प्राण शक्ति के माध्यम से दूसरों पर इसका प्रयोग कर उन्हें hypnotize कर सकता है. स्वय सम्मोहन के लाभ में सबसे खास बात ये है ये अभ्यास आप खुद पर करते है इसलिए किसी तरह के डर की कोई बात नहीं होती. Self hypnosis for memory recovery एक ऐसा प्रयोग है जिसे हम अपनी Past life memory को unlock करने के लिए खुद पर experiment कर सकते है.

Self hypnosis for repressed memories

आज All over India and world में कई ऐसी Hypnotherapy clinic है जहाँ पर hypnosis to remember traumatic events को एक Treatment की तरह प्रयोग किया जा रहा है. ये हमें हमारे बचपन के उस डर को सामना करने में मदद करती है जिसकी वजह से हमारा आज affect हो रहा है और हम आगे नहीं बढ़ पा रहे है. सीधे तौर पर कहे तो हम सब बचपन में किसी न किसी ऐसे Traumatic condition से गुजरते है जिसकी वजह से आगे चलकर हमें कई problem को face करना पड़ता है.

अपने डर का सामना करने में ये Self hypnosis technique काफी हद तक मदद करती है. इसे आप Clinical certified hypnotherapist से भी ले सकते है और थोड़ी सी भी how to control thought and emotion की practice से आप खुद बिना किसी गाइड के घर पर भी अभ्यास कर सकते है.

What is Self hypnosis for repressed memories

Hypnosis for Repressed Childhood Abuse Memories एक ऐसी Technique है जो हमारे बीते कल में हुए उन traumatic condition को समझने में मदद करती है जो आज भी हमारा पीछा नहीं छोड़ रही है. सीधे तौर पर कहे तो हमारा वो डर जो हमें आगे बढ़ने से रोकता है उसे समझने और छुटकारा पाने में Hypnosis Therapy हमारी मदद करता है.

Abuse in childhood या फिर बचपन की कोई ऐसी घटना जिसका डर हमारा पीछा बड़ा होने के बाद भी नहीं छोड़ता है उनसे छुटकारा पाना बेहद जरुरी हो जाता है. ये वो स्थिति है जिसकी वजह से हमारा आज प्रभावित होता है. हमारे मस्तिष्क में हर मेमोरी को रिकॉर्ड करने का फंक्शन है. आपके बीते कल की हर घटना, हर पल को स्टोर किया गया है लेकिन normal condition में इसे recall करना मुश्किल काम होता है जिसकी वजह मस्तिष्क का विचारो में उलझे रहना है.

Hypnotherapy for no thought state

hypnosis के लिए आपका मन Zero thought state होना आवश्यक है. क्यों की आपकी Pranic energy का flow सिर्फ stable state of mind ही control कर सकता है. इसके लिए हमें शवासन की विधि करनी चाहिए. सिर्फ शवासन से ही आप मन को और शरीर को control कर सकते है. शवासन आपके mind को powerful बनाता है और आप सिर्फ Psychic emotion से शरीर के किसी भी हिस्से को control कर सकते है. उसे Relax कर सकते है. अपने मन को किसी दूसरी दिशा में ले जा सकते है और जब ऐसा हो तब समझ ले की आप basic step of hypnosis learning को पार कर चुके है.

निर्विकार मन (Stable state of mind) आपके चेहरे पर तेज लाता है क्यों की विचार दिन भर चलते रहने से आपकी प्राण शक्ति दिन भर बेकार waste होती रहती थी. अब यही प्राण ऊर्जा Tratak gazing meditation के जरिये Hypnotism में काम ली जा सकती है. एक सफल Self hypnosis for repressed memories की practice के लिए आपका इसके बेसिक पर अच्छा पकड़ होना बेहद जरुरी है.

आप अपनी प्राण शक्ति को विशेष अभ्यास द्वारा निम्न ऊर्जा में बदल सकते है.

सम्मोहन में आपकी प्राण ऊर्जा इसी चुंबकीय शक्ति में है जिसे हम आकर्षण शक्ति भी कहते है. जब हम ऐसा कर लेते है तब Self hypnosis for repressed memories की practice की जा सकती है.

How to practice Self hypnosis at home

स्वय सम्मोहन के अभ्यास और कुछ नहीं है अपने आप को बार बार एक ही Suggestion देना है और वो Suggestion धीरे धीरे इतना deep हो जाता है की सीधा आपके Subconscious mind तक पहुँच जाती है. और एक बार अवचेतन मन तक कोई भावना पहुँच जाती है तो फिर वो success ही होती है. खुद को Relax करने के लिए हम Tratak meditation basic practice का सहारा भी ले सकते है.

आप चाहे तो किसी music का या फिर Meditation practice का सहारा ले सकते है. विधि चाहे जो भी हो हमारा मन उसे सीधे सीधे ग्रहण कर लेने वाला होना चाहिए. हम खुद को relax करने के लिए music सुनते है या फिर game खेलते है. ये हमारी hobby होती है जो हमने खुद stress को दूर करने के लिए अवचेतन मन को बताई होती है. स्वय सम्मोहन के लाभ उठाने के लिए सरल अभ्यास निचे दिए गए है.

Self-hypnosis basic practice

  • अभ्यास से पहले खुद को निर्विकार और विचारशून्य बनाने की कोशिश करे फिर खुद को स्वय सम्मोहन के लिए तैयार करे.
  • प्रातः काल नित्यक्रम से निपट कर कुछ मिनट तक शीर्षासन करे. इसके बाद आरामदायक आसन लगा ले और उस पर बैठ जाये.
  • मस्तिष्क को शांत करने के लिए कुछ देर ध्यान का अभ्यास करे. इसके बाद अंतर्मन से सभी विचारों को निकाल कर कल्पना करे ( भावना दे ) की आपको नींद आ रही है.
  • आपकी पलके भारी हो रही है. ध्यान दे सिवाय नींद के आपके मस्तिष्क में दूसरी भावना नहीं आनी चाहिए.
  • कुछ देर भावना देने से आपको नींद अने लगती है और आप योग निद्रा जैसी स्थिति में चले जाते है.
  • आप चाहे तो उस निद्रा को enjoy कर सकते है.

इस निद्रा के बाद आपकी बुद्धि तेज होने लगती है, आपका खुद पर नियंत्रण बढ़ने लगता है. तनाव दूर करने में ये अभ्यास काफी हद तक सहायक है.

Self-hypnosis basic practice step 2

  • दोपहर में कमरा बंद करके आराम से कुर्सी पर लेट जाये. कमरे में सामने की दीवार पर अच्छी quality का mirror लगाइए.
  • Mirror से लगभग 3 फ़ीट की दुरी पर आरामदायक कुर्सी डालकर उस पर लेट जाइये (आरामदायक मुद्रा) दर्पण की ऊंचाई इतनी रखे की आपका चेहरा उसमे दीखता रहे.
  • अब अपने मन को एकाग्र करते हुए विचारशून्य कर ले.
  • दर्पण में दिखाई देने वाले अपने प्रतिबिम्ब पर नजर को जमाते हुए प्रतिबिम्ब का ही ध्यान लगाए ( mirror Tratak ) कुछ देर देखने के बाद आँखे बंद करे और उसे अपनी आंतरिक दॄष्टि से सामने लाने का अभ्यास करे. ( अंतः त्राटक ) कुछ दिन के अभ्यास से आपको आँखे बंद करने के बाद भी प्रतिबिम्ब साफ दिखता रखता है. जब ऐसा हो जाए तो समझ ले की अब आप Self hypnosis for repressed memories की practice कर सकते है.

Self-hypnosis basic practice step 3

  • पहले के अभ्यास की तरह शौच क्रिया से निर्वृत होकर आसन लगा कर बैठ जाये.
  • मन को निर्विकार बना ले और विचारशून्य भी. अब पूर्व दिशा की और मुंह कर लेट जाये. शवासन की विधि में आ जाइये जिसमे आपके हाथ और पैर फैले हो. जिस देवी देवता को आप मानते है उनका ध्यान करे.
  • उनका अंतः त्राटक के अभ्यास द्वारा उन्हें अपने मानस पटल पर लाइए, किसी इच्छा की कामना कीजिये और सो जाइये.
  • कुछ दिन बाद आपकी इच्छा खुद-ब-खुद पूरी होने लगती है. ये और कुछ नहीं आपकी अवचेतन मन की शक्ति का खेल है.
  • ऊपर दिए गए अभ्यास को क्रम में करने से आपकी इच्छा-शक्ति और भावना शक्ति मजबूत होने लगती है. और आप खुद को सम्मोहित करने के काबिल हो जाते है.

याद रखे Self hypnosis successful practice at home के लिए निम्न अभ्यास को पूर्ण करना जरुरी है.

  • शवासन basic practice to Relax body and mind
  • विचार-शुन्य साधना और निर्विकार मन की साधना Advanced practice to get rid from unwanted thought and get stable mind.
  • योग- प्राणायाम मजबूत भावना शक्ति का अभ्यास Yoga and pranayama with strong suggestion power practice.

इन अभ्यास से आप खुद घर बैठे Self hypnosis कर सकते है.

Benefit of self hypnosis

आइये जानते है स्वय सम्मोहन के लाभ जो आपको बदल सकते है. इनमे सबसे खास तो खुद में बदलाव लाना ही है बाकि आप चाहे तो खुद की आदतों में और बीमारी में भी सुधार ला सकते है.

  • स्व सम्मोहन से आप खुद की बीमारी ठीक कर सकते है.
  • स्व सम्मोहन से आप खुद का विकास कर सकते है. जैसे की मजबूत आत्मविश्वास, इच्छाशक्ति, और भावना शक्ति से आप खुद में बेहतर बदलाव ला सकते है.
  • किसी भी तरह का PHOBIA हम खुद दूर कर सकते है, तनाव दूर कर सकते है.
  • अपने व्यक्तित्व का विकास कर सकते है.

Self hypnosis for repressed memories की मदद से हम अतीत में जा सकते है, अपनी पुरानी यादास्त पा सकते है. यहाँ तक की कमजोर पड़ने लगी आपकी यादास्त भी वापस आ सकती है. स्वय सम्मोहन के लाभ में सबसे खास है अपने बीते कल की मेमोरी को recall करना और उन्हें सुधारना.

Self hypnosis for repressed memories

Self hypnosis for repressed memories के जरिये न सिर्फ किसी इंसान के बीते कल की घटनाओ तक पहुचा जा सकता है बल्कि catharsis नाम की मनोवैज्ञानिक पद्धति के द्वारा कई mental disorder and problems से छुटकारा पाया जा सकता है. Past life regression की प्रक्रिया मे इंसान को चेतना अवस्था मे परिवर्तन किया जाता है. स्वय सम्मोहन के लाभ द्वारा आप भी अपने बीते कल को बदल सकते है

चेतना की इस अवस्था मे इंसान की सुझाव ग्रहण करने की क्षमता मे एकदम से तेजी आ जाती है और वह सुझावो पर अमल भी करने लगता है. इसमे समोहन के जरिये पिछले जन्म की घटनाओ को भी याद कराया जाता है.

इसका उदेश्य इंसान के present problems तक पहुचना होता है जैसे की कोई डर, relationships मे दिक्कत, कोई बीमारी. उस घटना तक पहुचकर catharsis के माध्यम से इंसान को उससे जुड़ी दिक्कत को वही छोड़ने की command दी जाती है. इससे इंसान उस पीड़ा, दिक्कत या डर से छुटकारा पा लेता है.

Self hypnosis for repressed memories एक बहुत ही सुरक्षित मनोचिकित्सा है. इसमे किसी भी बेहोशी की दवाई या किसी भी प्रकार के chemical का इस्तेमाल नहीं किया जाता है. स्वय सम्मोहन के लाभ हर कोई उठा सकता है बस आपकी इच्छाशक्ति मजबूत होनी चाहिए.

How Self hypnosis for repressed memories Work final thought

अपने बचपन में लोगो के साथ कुछ ऐसी घटनाए होती है जिसकी वजह से वो आगे चलकर एक normal life को survive नहीं कर पाते है. उनका छिपा हुआ डर उन्हें आगे बढ़ने से रोकता है. ऐसे लोगो के लिए hypnotherapy काफी अच्छे से हेल्प कर सकती है. Self hypnosis for repressed memories और past life regression दोनों एक जैसे मेथड है जिसमे हम अपने बीते कल की मेमोरी को recall करते है और उन Traumatic condition से बाहर निकलने की कोशिश करते है जो हमें अब तक आगे बढ़ने से रोक रही थी.

अगर आपके मन में सम्मोहन से जुड़े या मन की शक्तियों को उभारने से लेकर कोई भी सवाल है तो आप कमेंट बॉक्स में पूछ सकते है. आज की पोस्ट पर अपनी प्रतिक्रिया जरूर दे और हमें subscribe करना न भूले.

Never miss an update subscribe us

* indicates required
Previous articleमानव मस्तिष्क और ब्रह्मांड से जुड़े आश्चर्यजनक तथ्य जो हैरान कर देंगे – अमेजिंग फैक्ट
Next articlespecial lucid dream technique के जरिये sapno में अधूरी इच्छाए पूरी करने का अभ्यास
Nobody is perfect in this world but we can try to improve our knowledge and use it for others. welcome to my blog and learn new skill about personal | psychic | spiritual development. our team always ready to help you here. You can follow me on below platform

16 COMMENTS

  1. इसी जन्म की पुरानी बातें, जो भविष्य के लिए डर पैदा करती हैं

    उन्हें कैसे भुलाएं ?

  2. आत्म बोध intuition, पर जानकारी चाहता हूँ

    क्या करें जब मन दो राहे पर खड़ा हो

    • देवेंद्र जी धन्यवाद आप कुछ समय अपने आप को देकर आत्मचिंतन करे। दोनों रास्तो पर आप क्या पाते है क्या खोते है विचार कीजिये। जब आप आत्मचिन्तन करेंगे तो आपका अवचेतन मन आपको सही रास्ता दिखाना शुरू कर देता है।

  3. डिअर सर
    अपने अवचेतन मन में से किसी प्रकार के डर को कैसे बहार निकल सकते हे

    • भावनाओं के जरिये अगर आपको किसी चीज से डर लगता है तो आप उसे भावनाओ के जरिये दूर कर सकते है.

    • mujhe hamesa agar me aaur mere family memberko kisi khatrnak rog lagi to me kya karungi,kahi bahut dard to sahan karna nahi padta ye dar lagiraheti he.is darko kese dur karu

  4. Sir jb m koi wish Dil see krti hu ya kuch asa chahti hu jiske pura hone ki umeed nhi hoti mujhe kuch time bad vo mil jaata h asa kisi problem k solution dhoondne pr bhi hota h ye Kyo hota h pls.. tell me

    • ये आपकी खुद को मानसिक शक्ति है इसे आप फोकस कीजिये इसके और भी अच्छे लाभ ले पाएँगी

  5. मन मे बहुत नकरात्मक विचार आते हैं जो हम सोचना नही चाहते ध्यान में बैठते ही वो हमला कर देते हैं क्या करे मन हमेशा विराधभास के विचारों में रहता है

    • सिद्धि जी ध्यान में बैठते ही हमारे मन में अनचाहे विचार आते है इसकी वजह है हमारे focus होने की कोशिश करना या फिर विचारो को रोकना. आप ध्यान में अभ्यास के समय कुछ वक़्त सिर्फ बैठने पर दे. ध्यान के दौरान जो भी विचार आ रहे है उन्हें आने दे आपको उन्हें सिर्फ देखना है रोकने की कोशिश नहीं करना है ना ही सोचना है. धीरे धीरे ये विचार ख़त्म होने लगेंगे.

  6. Agar hame kisi person example-best friend , koe problem ho but vo hame bata nhi rha to ham kese pata lagay uski problem

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here