सम्मोहन सिखने के इन खास सीक्रेट प्रैक्टिस को किया जाए तो सफलता जरुर मिलेगी – updated

सम्मोहन सिखने के इन खास सीक्रेट प्रैक्टिस को किया जाए तो सफलता जरुर मिलेगी – updated

सम्मोहन हर कोई सीखना चाहता है मगर इसके सीक्रेट्स ना समझ पाने की वजह से हम अक्सर इसमें फ़ैल हो जाते है। सम्मोहन में अगर इन सीक्रेट्स का ध्यान रखे तो हम एक सफल सम्मोहनकर्ता बन सकते है। सभी hypnosis technique for mind control a beginner guide सीखकर खुद को बदलने के या दुसरो में बदलाव लाना चाहते है. आकर्षक व्यक्तित्व कौन नहीं चाहता है हर कोई अपने आसपास के लोगो के आकर्षण का केंद्र बनना चाहता है। कैसा रहेगा अगर आप जिससे भी मिले उसे अपना बना ले। आइये जानते है secret sammohan learning at home की इस पोस्ट में घर बैठे सम्मोहन में महारत हासिल करने के लिए किस बातो का ध्यान रखना चाहिए.

secret sammohan learning

हर कोई खुद को दुसरो के लिए खास बनाना चाहता है लेकिन इसके लिए एक दिन या एक महीने की मेहनत नहीं वर्षो का अभ्यास चाहिए। आकर्षक व्यक्तित्व के लिए हम कई तरीके अपना सकते है जैसे की बॉडी लैंग्वेज को ध्यान में रखकर, सामने वाले की पसंद की बाते कर अपना काम निकलवाना भी एक कला है जिसे कई लोग चापलूसी भी कह सकते है। सम्मोहन द्वारा भी ऐसा किया जा सकता है। आज समोहन के बारे में जरा विस्तार से बात करते है।

secret sammohan learning at home

सम्मोहन को अंग्रेजी भाषा में ‘हिप्नोटिज्म’ कहते है जिसका शाब्दिक अर्थ है निद्रा। हिप्नोटिज्म शब्द यूनानी भाषा में ‘हिप्नॉज’ से लिया है। परन्तु हिप्नोटिज्म में लायी जाने वाली निद्रा प्राकृतिक एवम स्वाभाविक निद्रा नहीं होती है। इसे विशेष प्रकार की निद्रा कह सकते है। हिप्नोटिज्म और स्वाभाविक निद्रा में सबसे बड़ा फर्क ये है की हिप्नोटिज्म निद्रा में सम्मोहित व्यक्ति सम्मोहनकर्ता के आदेश और निर्देशो के प्रति सचेत रहता है। जबकि सामान्य निद्रा में इंसान सो जाता है जो की होश की स्थिति नहीं होती है. हिप्नोटिज्म निद्रा को योगनिद्रा भी कहते है।

पढ़े : क्या वाकई वशीकरण और काला जादू सच में होता है

सम्मोहन में मन की सजगता

सम्मोहन में चूँकि इंसान प्राकृतिक निद्रा की अवस्था में नहीं होता है। इसलिए इसमें सम्मोहनकर्ता के मन की सजगता अनिवार्य है जिस पर सारा अभ्यास टिका हुआ है। इसलिए पहले मन के बारे में जानते है. मन के 2 भाग है

  1. पहला चेतन- conscious mind
  2. दूसरा अवचेतन मन – sub-conscious mind

चेतन मन जाग्रत अवस्था में सांसारिक कार्यो में हिस्सा लेता है। इसका कार्य किसी भी कार्य पर तर्क-वितर्क कर उसे अपनाना और नकारना है। इसलिए इसकी शक्ति भी सिमित होती है। इसके विपरीत अवचेतन मन किसी क्रिया को बार बार दोहराये जाने पर उसे चेतन मन द्वारा स्वीकार कर लेता है ये सही है या नहीं इसका सिर्फ चेतन मन फैसला करता है.

अवचेतन मन उसे एक बार अपना लेने के बाद चेतन मन द्वारा दुबारा उसे करने के लिए निर्देश का इंतजार नहीं करता है। इसलिए इसकी शक्ति भी असीमित है क्यों की ये विश्वास की शक्ति पर कार्य करता है।

पढ़े : आभा मंडल और रैकी का सरल अभ्यास

मन को सजग बनाना

मन को अगर ज्यादा से ज्यादा सजग बना लिया जाये तो चेतन मन ज्यादा से ज्यादा चेतन होता है जिससे अवचेतन मन चेतन मन पर हावी नहीं हो पाता है। ऐसा होता है की जब अवचेतन मन चेतन मन पर हावी होता है तब इंसान के सोचने समझने की क्षमता सुप्त हो जाती है। इसलिए चेतन मन जाग्रत होना इसके लिए आवश्यक है वही अवचेतन मन का चेतन मन के अन्तर्गत शातिशाली होना जिससे हम सम्मोहन की शक्ति का सही इस्तेमाल कर पाते है।

इसके लिए सबसे अच्छा माध्यम tratak sadhna है। जिसका अभ्यास मनुष्य को ज्यादा से ज्यादा क्रियाशील और सजग बनाता है। त्राटक की पोस्ट यहाँ पहले से ही पोस्ट की जा चुकी है कृपया ज्यादा जानकारी के लिए उन्हें जरूर पढ़े खाशतौर से त्राटक साधना, शक्ति चक्र पर त्राटक और बिंदु त्राटक सबसे महत्वपूर्ण दर्पण त्राटक की पोस्ट जरूर देखे।

सम्मोहन में इच्छाशक्ति और भावना शक्ति का महत्व

सम्मोहन में इच्छाशक्ति और भावनाशक्ति ये दोनों ऐसे आवश्यक तत्व है जो सम्मोहनकर्ता को सामान्य इंसान पर हावी होने में सहायक भी है और आवश्यक भी। इसके लिए इच्छाशक्ति को पहले समझ ले। इंसान की सेंकडो इच्छाये होती है, हर पल एक नयी इच्छा का जन्म होता है.

मानव मन में इसलिए हम किसी एक इच्छा पर एकाग्र नहीं रह सकते है जिसकी वजह से सबसे बड़ा नुकसान है कोई भी इच्छा पूरी ना हो पाना। ये बिलकुल वैसे ही है जैसे की एक साथ कई काम हाथ ले ले और एक काम पर भी फोकस नहीं रह पाए। जिससे सबसे बड़ा नुकसान हमारे आत्मबल में कमी आना है। इसके जैसे ही हमारी भावनाशक्ति है।

पढ़े : मेस्मेरिजम साधना के सरल नियम और अभ्यास

भावनाशक्ति अगर नियंत्रण में रहती है तो इंसान बड़े से बड़ा काम भी आसानी से कर सकता है। लेकिन अगर ये कमजोर हो जाये तो ? अगर इंसान ही भावनाओ के नियंत्रण में होकर रह जाये तो। हम किसी कार्य को नहीं कर पाएंगे और सिर्फ परेशान होकर रहने लगेंगे। क्यों की इच्छा और भावना अगर नियंत्रण रहे तो शक्ति है वही हम इनके नियंत्रण में हो जाए तो हम दुःखी होने लग जायेंगे। इच्छा शक्ति को शक्तिशाली और नियंत्रित करने के उपाय विस्तार से बताये गए है भावनाशक्ति के भी इन्हें यहाँ से पढ़ सकते है।

secret sammohan learning लिए आवश्यक शर्ते :

सम्मोहन में सफलता पाना कोई मुश्किल काम नहीं है बशर्ते इसे एक साधना की तरह नियमित अभ्यास के साथ किया जाये। इसके लिए हमें कुछ बातो का ध्यान रखना होता है जिन्हें ध्यान में रख कर किया जाये तो सफलता पक्की है।

सम्मोहनकर्ता के लिए ध्यान रखे जाने वाले टिप्स

  • सम्मोहन एक विज्ञान है जो मन की शक्ति पर आधारित है इसलिए मन को सजग और विश्वास से भरपूर बनाये रखे।
  • अभ्यास के लिए सुबह और शाम दोनों ही वक़्त अनुकूल है लेकिन शाम को अभ्यास सही रहता है क्यों की मन ( चेतन ) सजग रहता है।
  • इसका प्रदर्शन ना करे क्यों की दिखावा करना अहंकार की निशानी है और एक छोटी सी गलती पुरे अभ्यास पर पानी फेर सकती है।
  • जहा अभ्यास किया जाये वहाँ शांति का और सकारात्मक माहौल होना चाहिए।
  • सम्मोहन के
  • अभ्यास के दौरान ज्यादा भीड़ नहीं होनी चाहिए ये आपका ध्यान बाँट सकती है। आपके विश्वास को खंडित कर सकती है।
  • सम्मोहन के अभ्यास से किसी शक्ति उद्धव नहीं होता है ये सब विश्वास का खेल है इसलिए दिखावा न करे ना ही पहनावे में बदलाव करे जितने साधारण आप होंगे उतना ही सहज रहेंगे।
  • अपनी भाषा को साधारण, समझ आने वाली, और स्पस्ट रखे।
  • अगर शुरुआती अभ्यास में सफलता ना भी मिले तो हतोत्साहित होने से बचे और खुद के आत्मविश्वास में ज्यादा से ज्यादा वृद्धि करने की कोशिश करे।
  • जिसे सम्मोहित करना है उसे पहले अपने प्रभाव में लाने का प्रयास जरूर कर ले।

सम्मोहन के अभ्यास के वक़्त आपके मन में किसी प्रकार का विरोधाभास नहीं होना चाहिए। आपके इच्छाशक्ति और भावनाशक्ति जितनी प्रभावी होगी उतना ही जल्दी आप सामने वाले पर हावी हो पाते है। इन बातो को ध्यान में रखकर अभ्यास किया जाये तो सफलता जरूर मिलती है।

पढ़े  : भावुक होना कमजोरी नहीं ताकत है जानिए भावुक लोगो की सबसे बड़ी powers के बारे में

अंगुलियों का सम्मोहन में प्रभाव – secret sammohan learning

सम्मोहनकर्ता या जादूगर इन दोनों को अपने आँखों के इशारे के साथ अंगुलियों के इशारे करते हुए देखा तो होगा वो पहले तो अपने शरीर को ऊर्जावान बनाते है। इसके बाद वो आँखों, अंगुलियों और अपने बोलने के अंदाज से दुसरो पर अपना प्रभाव डालते है। secret sammohan learning में ये खास है इसलिए इन बातो पर भी ध्यान रखना चाहिए।

1. पहला आँखों की शक्ति- त्राटक द्वारा बढ़ाई जाती है।
2. दूसरा इशारो ( अंगुलियों ) की शक्ति : हाथो में आकर्षण शक्ति बढ़ा कर किया जाता है।
3. बोलने का अंदाज ; शांत, गंभीर मगर स्पस्ट बोलने का अंदाज।

त्राटक और हाथो में प्राणशक्ति के प्रवाह को बढाकर हम इसमें सफलता हासिल कर सकते है। ये प्राणशक्ति आपके हाथो से निकल कर सामने वाले के आज्ञाचक्र पर चुम्बकीय प्रभाव डालती है जिससे हम सामने वाले को अपने प्रभाव में लाने में सफल हो जाते है। साथ ही साथ विश्वास से भरे आपके शब्द सामने वाले को आपका प्रतिरोध करने से रोकते है। जिससे सामने वाला आपके प्रभाव में आए बगैर रह नहीं पाता है।

सम्मोहन के खास अभ्यास

एक्सपर्ट के secret sammohan learning के अनुसार एक सफल सम्मोहनकर्ता के लिए ये आवश्यक है की वो पहले छोटे छोटे अभ्यास द्वारा शुरुआत करे इससे आपका ना सिर्फ आत्मविश्वास बढ़ेगा बल्कि आप सफल सम्मोहनकर्ता भी बन पाएंगे। मेने अपने सम्मोहन के अभ्यास में 2 सबसे बड़ी गलती की थी पहली इसका इस्तेमाल लड़कियों पर दिया हालाँकि में सफल जरूर हुआ मगर सम्मोहन का कच्चा अभ्यास होने की वजह से जल्दी ही सम्मोहन ना सिर्फ टूट गया बल्कि मेरे विश्वास को, आत्मबल को भी क्षति पहुंची। क्यों की लड़कियो का आज्ञाचक्र ज्यादा चेतन्य होता है इसलिए भूल कर भी इसका प्रदर्शन शुरुआत में लड़कियों पर ना करे।

पढ़े :  मेस्मेरिस्म और सम्मोहन का उद्भव

दूसरा इसके साथ आत्मबल को और प्राण ऊर्जा को बढ़ाते रहे। दोनों का अभ्यास में भरपूर उपयोग होता रहता है और अगर आपने शुरू में ही आपसे ज्यादा मजबूत आत्मबल वाले पर अभ्यास करने की कोशिश की तो आपकी ये दोनों शक्ति बिखर सकती है। इसलिए अभ्यास शुरू में उन पर करे जिन्हें आप जानते है और आपके साथ अच्छे संबंध है। आइये अब बात करे आसान से अभ्यास की जो तेजी से सफलता की ओर ले जाते है।

बिना नजर पड़े प्रभाव डालना

  • इस अभ्यास के लिए जरुरी है की आपने शक्ति चक्र पर त्राटक का अभ्यास पहले किया हुआ हो वो भी कम से कम 3 महीने।
  • इसके बाद किसी ऐसी जगह पर खड़े हो जाये जहाँ से आपको माध्यम तो दिखे मगर आप उसे नजर नहीं आये ये स्थान आपके रूम की खिड़की हो सकती है।
  • इसके बाद खुद को शांत और विचारशून्य बनाये और खिड़की से बाहर माध्यम को ऐसे वक़्त में देखे जब वो आपकी ओर पीठ करके खड़ा हो। उस वक़्त अभ्यास शुरू करे।
  • माध्यम को घूरना शुरू करे आप सिर्फ उसे देख भी सकते है। लेकिन माध्यम को इसका आभास भी नहीं होना चाहिए।
  • आपके देखने के साथ मन में ये भावना दे की वो आपको देखे, आपकी ओर ही देखे। साथ ही माध्यम की स्थिति भी देखे.
  • आपके ऐसे भावना देने के बाद अगर कुछ ही सेकंड बाद माध्यम आपकी और देखने लगे तो समझ ले आप सफल हो चुके है।

secret sammohan learning का ये अभ्यास जाली की ऐसी खिड़की से करना चाहिए जिसके बाहर से अंदर दिखना सरल नहीं हो। अभ्यास को हम टेलीपैथी ( Read more here )के लिए भी कर सकते है। क्यों की टेलीपैथी भी मानसिक तरंगो को पकड़ती है।

मुझे अच्छे से याद है जब मेने इस अभ्यास को किया था तब में स्कूल में था। कक्षा में उस वक़्त में अकेला ही रहता था और सभी खेलने के लिए बाहर चले जाते थे तब क्लास से बेहतर शांत जगह और कोई थी ही नहीं। तब बैठे बैठे मेरे दिमाग में इस अभ्यास को आजमाने का ख्याल आ गया।

secret sammohan learning – आगे जो हुआ वो कल्पना से परे था

क्लास की खिड़की जाली वाली थी और बाहर से दिन में तब तक आसानी से देखा नहीं जा सकता जब तक की प्रकाश ना किया जाए. मेने बाहर खेलते हुए कुछ लड़के और लड़कियों पर इसका टेस्ट किया तो मुझे पहले दिन 7 में से 3 पर ही सफलता मिली। लेकिन कुछ दिन बाद मेने जिन पर अभ्यास किया उनमे 9 में से 8 में मुझे सफलता मिली एक में असफलता इसलिए क्यों की जब मेने उस पर ये अभ्यास किया तब मेरे मन में उसके लिए सकारात्मक विचार नहीं थे कारण हम लोग बोलते ही नहीं थे।

ज्यादातर ने तो भावना देते ही इस तरह देखना शुरू किया जैसे में उनके पीछे ही खड़ा हू. साथ ही हमारी नजर भी मिलने लग गई थी लेकिन में उन्हें दिखा नहीं। इस बात को यहाँ बताने का मेरा उदेश्य सिर्फ आपको अभ्यास की सफलता को दिखाना और मन की स्थिति से अवगत करवाना है। साथ ही किन पर अभ्यास करे ये भी।

पढ़े  : स्वर ज्ञान और काल विज्ञान साधना के जरिये कैसे हम अपनी मौत के दिन को जान सकते है ? top secret

शक्ति चक्र के पावर डिस्क पर सम्मोहन अभ्यास

secret sammohan learning के इस खास अभ्यास में आपको एक खाली शांत जगह वाला कमरा चाहिए और अभ्यास के लिए घूमते हुए शक्ति चक्र का पावर डिस्क। पावर डिस्क थोड़ा बड़ा होना चाहिए जो आपकी नजर को पूरी तरह ढक ले। इसके साथ ही साथ ये घूमने वाला होना चाहिए। इसके घूमते केंद्र पर अपनी नजर स्थिर रखे। जब आपका ध्यान एकाग्र हो जाये तब आपका अवचेतन मन शक्तिशाली हो जाता है। लेकिन चेतन मन सभी सजग रहता है.

  • hypnotic power disc में किसी जानकर की फोटो कल्पना करे. जब उसका चेहरा पावर डिस्क में बनने लगे। तब आप उसे अपनी और आकर्षित करने वाली कुछ भावनाये दे, भावनाये उसके व्यव्हार से संबधित हो सकती है।
  • अगर ऐसे करने के कुछ दिन बाद में माध्यम आपके साथ वैसा ही व्यवहार करे जैसा आप भावना में जाहिर करते है तो आप सफल हो जाते है।
  • अभ्यास के दौरान मन का शांत रहना और विचारशून्य होना आवश्यक है। इसके साथ अगर अभ्यास के बाद योगनिद्रा ली जाये तो सफलता जल्दी मिलती है।

ध्यान द्वारा सम्मोहन का अभ्यास – secret sammohan learning:

ध्यान द्वारा सम्मोहन उस अवस्था में संभव है जब आपके अंदर प्रचुर मात्रा में प्राणशक्ति विद्यमान हो। इसलिए पहले या साथ ही साथ योगनिद्रा और प्राणशक्ति अभ्यास जरूर करना चाहिए।

  • अभ्यास शुरू करने के लिए पहले ध्यान की अवस्था में जाने का प्रयास करे। इसके लिए एक आसन पर सुखासन की मुद्रा में बैठ जाये।
  • इसके बाद अपने नाक की नोक को पलक झपकाए बगैर तब तक देखे जब तक की आँखों से पानी ना आने लगे।
  • अब आंखे बंद कर ले और ध्यान की अवस्था में आ जाये। अब तक का अभ्यास आपके मन को शांत करने का था। अब आपकी एकाग्रता को समेट ले और माध्यम जिसे अपने प्रभाव में लाना हैं उसके चेहरे की कल्पना करे। जब चेहरा बन जाये तब उसे ऊपर के अभ्यास की तरह वो सुझाव दे जो आप उसमे अपने लिए बदलाव लाना चाहते है।

कुछ दिन बाद अगर माध्यम आपके साथ वैसा ही व्यव्हार करे जैसी आपने भावना दी है तो समझ ले की सफल हो गए अन्यथा अभ्यास को शांति और संयम से सफल होने तक करे। ध्यान रखे की आपके सुझाव सरल और दैनिक जीवन से जुड़े हो ये आपका आत्मविश्वास बढ़ने में सहायक होते है।

secret sammohan learning की अन्य पोस्ट जिन्हें आप जरूर पढ़ना चाहेंगे :

अगर आपके पास ध्यान, त्राटक या फिर किसी अन्य विषय से जुडी बढ़िया पोस्ट, जानकारी, अनुभव है तो आप हमारे ब्लॉग पर इसे शेयर कर सकते है। आपके नाम के साथ हम इसे पब्लिश करेंगे। आज की पोस्ट secret sammohan learning पर कमेंट कर अपनी राय जरूर दे।

Never miss an update subscribe us

* indicates required

3 thoughts on “सम्मोहन सिखने के इन खास सीक्रेट प्रैक्टिस को किया जाए तो सफलता जरुर मिलेगी – updated”

  1. आप की पोस्ट अच्छी लगी सर जी लेकिन सर मुझे आपसे शाक्ती चक्र का साईज मालूम करना है बताने की कृपा करे कितनी ल० व कितनी चौ0 होनी चाहिए

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.