Past Life Regression therapy सम्मोहन के जरिये बीते कल में जाने का आसान तरीका

4

Past life regression therapy या फिर past life regression hypnosis हमारे बीते कल की यादो को access करने का वो जरिया है जिसके माध्यम से हम आज को बदल सकते है. अक्सर देखने में आता है की बीते कल की कुछ यादे हमें आज आगे बढ़ने नहीं देती है ऐसी स्थिति में Regression therapy के जरिये हम बीते कल को recall कर सकते है. Past regression therapy के जरिये series of question को continue किया जाता है. इसके कारण हम Subconscious mind को active कर पिछली बातो को याद कर किसी भी traumatic condition से बाहर निकल सकते है.

past life regression therapy

बहुत सी ancient culture के अनुसार Spiritual regression एक स्थिति है जिसमे हम Spiritual growth के दौरान अपने Reincarnation से गुजरते है. खुद को आन्तरिक रूप से साफ़ करने के लिए जरुरी है की आप अपने कर्म से रूबरू हो. medical में Past life therapy को भी इसी तरह इस्तेमाल किया जाता है. relax state  में जब हम खुद को hypnosis के जरिये पीछे की घटनाओं को दोबारा महसूस करते है तब एक बार फिर उन्ही घटनाओं को दोबारा जीते है जिनकी वजह से हमारा आज प्रभावित हो रहा है.

Past regression therapy को चमत्कार नहीं है जो आपके पुनर्जन्म की यादो को भी बाहर निकाल पाता है. ये आपके Subconscious mind की वो memory है जिन्हें recall ना करने की वजह से inactive हो गई थी. इस article में आइये जानते है की किस तरह हम बीते कम की घटनाओं को याद कर आज को बदल सकते है.

What is past life regression therapy Hindi?

हमारी Past Life हमारी बहुत सी memory और experience लिए हुए होता है। हम आज जो भी करते और करने वाले है इसमे बीते हुए कल की घटनाए महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है लेकिन हम अपने Past life के बारे में कितना जानते है? ज्यादा से ज्यादा बीते हुए कुछ काल की घटनाए। ऐसा क्यों ? क्या ऐसा नहीं हो सकता की हम अपने बीते कल की घटनाओ का स्मरण रख पाए.

हमारे हर पल की घटनाए Subconscious mind में store होती रहती है ये तो हम पहले की पोस्ट में समझ ही चुके है लेकिन How to recall past life memory अगर आपने Secret subconscious mind programming की पोस्ट पढ़ी है तो आप जान जायेंगे की कैसे अभ्यास द्वारा हम अपने मन को किसी भी परिस्थिति के अनुसार प्रोग्राम कर सकते है। अब बात करते है Past life regression therapy के बारे में.

किसी व्यक्ति को सम्मोहित करते हुए धीरे धीरे उसके past life के बारे में जानना इस therapy का basic function है. इस Therapy session में हम धीरे धीरे माध्यम के बीते कल में जाते है. उम्र को धीरे धीरे कम करते हुए माध्यम के किसी भी उम्र के पड़ाव को जाना जा सकता है. ज्यादातर इस Regression therapy की वजह होती है माध्यम के बीते कल के वो अनुभव जिनकी वजह से वो वर्तमान में आगे नहीं बढ़ पा रहा है.

राज पिछले जन्म का अगर आपने देखा हो तो आपको मालूम होगा की इसके जरिये हम पिछले जन्म के बारे में भी जान सकते है. काफी expert इसका दावा करते है और शायद ये सच भी क्यों की हमारे subconscious mind में हमारी हर याद स्टोर रहती है फिर चाहे वो हमें याद हो या ना हो.

Past Life Regression (PLR) why you should take it

ये एक gentle form of hypnotherapy है जिसके जरिये हम उन memories and experience को access करते है जो normal condition में hidden होती है लेकिन subconscious mind में कही न कही store होती है. इसके जरिये previous lives or incarnations के बारे में जाना जाता है. आज जिस condition से हम गुजर रहे है वो काफी ज्यादा busy और शोरगुल वाली है.

Past life therapy के जरिये हम इस वातावारण से खुद को दूर करते हुए उन memory location को access करती है जो जरुरी यादो को सहेजे हुए होती है. हमारा वर्तमान बीते कल से प्रभावित होता है और अगर हमें पता ही न हो की वास्तव में हमारे साथ ऐसा क्या हुआ था जिसकी वजह से हमारा आज मुश्किल बन गया है तो ?

पढ़े : अवचेतन मन की शक्तियों को समझने और मन की गहराई में उतरने के लिए करे ये आसान अभ्यास

benefit of PLR

एस कई जिसमे हम traumatic condition से गुजरते है जिसकी वजह से खुद उस problem को solve नहीं कर सकते है. ऐसी स्थिति में Past life regression therapy ( PLR ) यानि बीते कल में जाने के अभ्यास के जरिये हम उन घटनाओं को अच्छे से समझ सकते है. इसके कई फायदे या वजह है जिनकी वजह से हम लेते है जैसे की

  • Reconnect with past life experiences.
  • किसी भी स्थिति या जगह से हमारा इतना गहरा connection क्यों है इसे जानने में मदद मिलती है
  • अपने current Soul mate experiences की वजह आपके past life में क्या थी इसे जाना जा सकता है
  • आज जिस condition से आप गुजर रहे है इसकी बीते कल में क्या वजह रही होगी इसे गहराई से जाना और समझा जाता है.
  • Unresolved emotions को समझा जाता है यानि आज हम किसी स्थिति से इतना क्यों डर रहे है इसके पीछे क्या वजह रही होगी इसे अच्छे से समझा जाता है.
  • बीते कल के अनुभव का आज पर क्या असर पड़ रहा है इसे जानने के लिए PLR ली जाती है.
  • मेमोरी को याद करने के लिए भी हम इस therapy का प्रयोग कर सकते है.

इन सब वजह से हम PLR लेते है और इसके amazing result हमें life में आगे बढ़ने में मदद करते है.

कुछ महत्वपूर्ण सवाल और उनके जवाब

बीते हुए कल को जानने के लिए सम्मोहन का सहारा लेने से पहले आपको कुछ सवालों के जवाब जान लेने चाहिए. therapy session से जुड़े कुछ महत्पूर्ण सवालों का जवाब जो हर किसी के मन में रहता है उसके बारे में पहले जान ले.

Will you remember the regression?

बिलकुल आपको सबकुछ याद रहता है क्यों की ये किसी तरह का stage hypnosis नहीं है जिसमे आप वो करते है जो आपको पता नहीं होता है. इस अभ्यास में आपको awareness रखते हुए deeply relaxed state में ले जाया जाता है. आप उन सवालों के जवाब वैसे ही देते है जैसे आपको गाइड किया जाता है.

आपको सिर्फ खुद relax रखना है और दिमाग में जो आ रहा है उसे आने देना है. जिस तरह से आपको Past life regression therapy में गाइड किया जाता है आप वैसे ही अनुभव करते है.

What will you encounter during the sessions?

अलग अलग लोगो के अनुभव अलग अलग होते है. कुछ लोगो को वो लाइफ याद आती है जो वे लोगो के साथ share करते है. उनकी मेमोरी लोगो से जुड़ी हुई होती है जबकि कुछ लोगो को इसके बजाय किसी अलग जगह की Memory recall होती है जहाँ वे खुद को ज्यादा comfortable पाते है.

यादे एक सीरीज की तरह बाहर आती है जिस सीरीज में सवाल पूछे जाते है.

Am I guaranteed to go back in time?

ऐसा सबके साथ संभव नहीं है क्यों की कुछ लोग जो ये दिमाग में घर कर बैठ जाते है की ऐसा कुछ होता नहीं है उन्हें बीते कल में भेजना बेहद मुश्किल अनुभव होता है. जरुरी नहीं की Past life regression therapy में आप अनुभव करो या ना ही करो. कई बार ऐसा देखने में आया है की past life experiences में हर बार अलग अलग अनुभव हुए हो. ये सब depend करता है आपके सरेंडर करने पर.

बिना समर्पण के तो कुछ भी नहीं सिखा जा सकता है फिर अनुभव तो दूर की बात है.

Can I choose what past life to remember?

नहीं ! हमारा subconscious mind ये तय करता है की हमें क्या याद करना है क्या नहीं. हम various past life memories को recall कर पाते है जब हम इसके लिए तैयार हो जाते है.

Past life regression hypnosis यानि बीते हुए कल को लेकर हमारी कई यादे हो सकती है यहाँ तक की कई अलग अलग जन्म की यादे भी लेकिन subconscious mind ही ये तय करता है की हमें क्या recall करना क्या नहीं.

क्या ये सेफ तरीका है

हाँ बिलकुल Past life regression therapy 100% safe होती है.

 How long does a Past Life Regression session last?

ये सेशन 45 minute से 1 घंटे तक चल सकता है. ये निर्भर करता है आपके discussion and experience पर क्यों की जब तक हम सवालों को जान नहीं लेते है तब तक regression से बाहर नहीं निकला जाता है. लम्बे सेशन को कई parts में पूरा किया जाता है. अगर normal time भी ले तो 2 घंटे आपको देने ही होते है.

 Does my session have to be face to face, or can it be online?

इसे आप जैसे चाहे वैसे ले सकते है. मुलाकात कर या फिर online में आप इस सेशन को पूरा कर सकते है.

How much does a session cost?

ये सेशन काफी महंगा लग सकता है लेकिन यकीन मानिये आपकी problem के आगे ये कुछ भी नहीं है. आमतौर पर इसकी शुरुआत 6000 से लेकर 15000 तक होती है. ये निर्भर करता है आप क्या जानना चाहते है, सेशन को कितना लम्बा रखना चाहते है और इसके लिए आप कितना टाइम दे रहे है.

Background on Reincarnation and Past Life Regression

Reincarnation यानि पुनर्जन्म का idea के पीछे कई वजह रह चुकी है. ज्यादातर लोगो का मानना है की मरने के बाद जब कोई दोबारा जन्म लेता है तब उसकी कई यादे नए शरीर में जुडी हुई रहती है. आज से 3000 साल पहले से ही इसका अस्तित्व माना जा रहा है. अगर इसे spiritual belief के नजरिये से देखे तो हम पाएंगे की spiritual growth में हम एक सीरीज को अनुभव करते है.

ये बिलकुल वैसे ही है जैसे की पवित्र होने से पहले अपने अन्दर की हर बुराई को फेस करना. Reincarnation को हम कर्म से जोड़ कर देखते है. आज धरती पर एक बड़ा वर्ग पुनर्जन्म में विश्वास करता है जिसकी वजह से कर्म का चुनाव करते है.

  • सन 1950 में Past Life Regression therapy को मनोविज्ञान में शामिल किया गया.
  • अमेरिका और पश्चिमी यूरोप में 25-30% लोग पुनर्जन्म में विश्वास रखते है.
  • जानकर हैरानी होगी लेकिन philosophical and a religious concept दोनों में Reincarnation को महत्वपूर्ण माना जाता है.
  • महान Philosophers जैसे की Orpheus, Plato, Pythagoras and Socrates ये सब reincarnation में believe करते थे.
  • Indian religion जैसे की Hinduism, Jainism, Buddhism, and Sikhism दुनिया का वो बड़ा वर्ग है जो पुनर्जन्म में विश्वास रखता है.

सम्मोहन के जरिये ये therapy दी जाती है जिसकी वजह पुनर्जन्म में विश्वास है. मनोविज्ञान के अनुसार हम पिछली जिंदगी को दोबारा recall कर सकते है. ये बिलकुल उसी तरह है जिस तरह हम अपने कदमो को पीछे की और ले जाते है. ये बिलकुल उसी तरह होना चाहिए जैसे आप आगे चल रहे थे.

क्या birthmarks हमें हमारे मरने के बारे में बताते है ?

Birthmarks उन निशान को कहते है जो हमें जन्म के समय से मिलते है. जो लोग पुनर्जन्म में विश्वास रखते है उनके अनुसार इस तरह के निशान हमें ये बताते है की हमारी पिछले जन्म में मौत कैसे हुई थी. ऐसा वैज्ञानिक तरीके में अब तक साबित नहीं किया जा सका है लेकिन अवधारणा के अनुसार ये निशान हमें पिछले जन्म से मिलते है.

पढ़े : Creative visualization techniques for Law of attraction

हमारी स्मरण-शक्ति इतनी कमजोर क्यों ?

Past life regression therapy के जरिये बीते कल की घटनाओ को याद करने से पहले आप इस बात को अच्छी तरह से समझ ले की हमारा मस्तिष्क एक निर्धारित तरीके से काम करता है। लंबे समय तक आप इसे एक वे में इस्तेमाल करते आये है जिसकी वजह से हमारा मन सिर्फ उन घटनाओ को याद रख पाता है जो हमारे लिए खास हो।

कहने का मतलब है छोटी छोटी घटनाये आप हमेशा नजरअंदाज करते आये है। इस वजह से हमारा मस्तिष्क सिर्फ कुछ क्षेत्र पर ही एक्टिव है जैसे की

  • जो घटनाए आपके लिए महत्वपूर्ण है जैसे की आपका जन्मदिन या फिर कोई ऐसा दिन जब आपने कुछ बड़ी उपलब्धि हासिल की हो।
  • अगर आपमें आत्मविश्वास और मनोबल की कमी है तो आपका मस्तिष्क ऐसी घटनाओ को ज्यादा याद रखता है जिनमे आप कमजोर साबित हुए हो, आप की हार हुई हो या फिर आपने कुछ खोया हो।
  • इन सबके अलावा हमारा मस्तिष्क बीते कल की घटनाओ को इन वजह से भी याद नहीं रख पाता है क्यों की हम फोन और सोशल मीडिया पर निर्भर होते जा रहे है।

ये सब कुछ ऐसी वजह है जिनकी वजह से हमारा मस्तिष्क इस हद तक कमजोर हो गया है की हम बगैर फोन के अपने करीबी रिश्तेदारो के नंबर भी याद नहीं रख सकते है.

पढ़े : आकर्षण के लिए मोहिनी वशीकरण मंत्र साधना

बीते हुए कल की घटना को याद करने का सही तरीका

हमारा मस्तिष्क normal condition में भी पिछली यादो को दोहरा सकता है क्यों की ये घटनाओं को यादो से जोड़ता है. एक घटना को दूसरी घटना से interlink करना इसका एक function है जिसे समझकर आप बीते कल में जा सकते है. इसके लिए आपको अपने subconscious mind programming पर ध्यान देना होगा. यहाँ Past life regression therapy में भी यही होता है.

बीते कल की घटनाओ का स्मरण

आपको एक therapist की तरह नहीं करना है बल्कि सिर्फ खुद को relax state में ले जाना है. जो भी इस दौरान मस्तिष्क में आता है उसे आने देना है. Past life regression के लिए आपको इन चरण में काम करना है.

पढ़े : Spiritual healing लेने से पहले जान ले इसके पीछे छिपे हुए dark side के बारे मे

पहला चरण

शुरुआत एक छोटे स्तर से की जानी चाहिए. इसके लिए आप सुबह या शाम का समय चुने. आपको खुद को 30 minute देने है और अगर एक घंटा दे पाए तो सबसे बढ़िया है. इस दौरान एक शांत जगह का चुनाव करे और कुछ देर Relaxation music सुने. जब आपका मस्तिष्क शांत हो जाए तब आप इसकी शुरुआत करे.

आराम से बैठ जाए या लेट सकते है. आँखे बंद होनी चाहिए और अभ्यास की शुरुआत करे.

अगर आप सुबह इसका अभ्यास कर रहे है तो रात को आपने सपने में क्या देखा था उसे याद करने की कोशिश करे. आप चाहे तो पिछले दिन की घटनाओं को याद करने की कोशिश भी कर सकते है लेकिन बेहतर होगा की आप सपनो को दोबारा याद करने की कोशिश करे जो अपने बीती रात को देखा था.

शाम के समय इसका अभ्यास कर रहे है तो आपने दिनभर जो किया है उसे याद करने की कोशिश करे. घटना को घटते हुए क्रम में याद करे ना की बढ़ते हुए. किसी भी घटना को पीछे जाते हुए अनुभव करे ना की random तरीके से. ऐसा करना आपके मस्तिष्क को program करता है घटनाओं को उसी क्रम में देखनेके लिए और आप जल्दी ही इसे सही तरीके से सहज होकर करने लगते है.

Past life regression therapy at home के शुरुआती चरण में आपको इतना ही करना है. जब आप ये सहज होकर करने लगे तब आगे बढ़ सकते है.

पढ़े : क्या क्या करता है आपका चेतन मन

दूसरा चरण

पहले चरण में सफलता हासिल होने के बाद आगे बढे. अब आपको पिछले एक सप्ताह में क्या क्या घटना हुई है इन्हें याद करना है. कोशिश करे की आप किसी छोटी सी घटना को भी याद रख पा रहे हो. अक्सर हम छोटी छोटी घटनाओं को ignore कर देते है लेकिन इस अभ्यास में आपको एक एक minute को recall करना है.

जब आप ऐसा करते है तब आपका subconscious mind अपने आप आपको हर घटना को धीरे धीरे याद करवाना शुरू कर देता है. शुरू में ये घटनाए टुकड़ो में होगी लेकिन जितना ज्यादा आप relax state में होंगे उतना ही बारीकी से घटनाओं को देखने का अभ्यास करने में आप सक्षम हो पाते है.

जब आपको लगे की आपने पिछले सप्ताह की घटना को सफलतापूर्वक फिर से अनुभव किया है तब और पीछे का टाइम ले. ये टाइम क्रम में हो ना की मनचाहा क्यों की हम सिर्फ क्रम में पीछे जा सकते है.

तीसरा चरण

जब आप पिछले समय को याद कर पाने में कामयाब हो जाते है तब आप अपने अन्दर आये बदलावों को महसूस करे. आप पाएंगे की अब आप पिछली घटनाओं को जब चाहे चेतन या अवचेतन किसी भी रूप में याद कर पा रहे है. इस अभ्यास का मुख्य उदेश्य उन Inactive cells को दोबारा सक्रिय करना है जो सामान्य स्तर पर inactive रहती है.

हम चाहे जिस अभ्यास से इसकी शुरुआत करे लेकिन इससे हमारा अवचेतन मन खुद को active कर लेता है. हम घटनाओं को बिना अटके महसूस कर पाते है. इसकी वजह से ना सिर्फ हम बीते कल की घटनाओं को देख पाते है बल्कि उन वजहों को जान सकते है जिनकी वजह से हमारा आज प्रभावित होता है.

पढ़े : आत्मसुझाव कैसे काम करता है इसे आत्मसम्मोहन में कैसे काम में लिया जाता है

Past life regression therapy final conclusion

बीते कल की घटनाओं का हमारे आज पर असर पड़ता है. ऐसे कई कारण हो सकते है जिनकी वजह से आज हम खुद को normal नहीं रख पाते है. बीते कल की कोई ऐसी घटना जिसकी वजह से आज हम खुद को उस एक विचार से बाहर नहीं निकाल पाते है. ऐसे में बिना उस स्थिति को समझे बगैर हम उससे बाहर नहीं निकल सकते है. मन के छिपे हुए डर से बाहर निकलने के लिए past life regression therapy सबसे बढ़िया तरीका है.

अगर आप weak memory problem से गुजर रहे है तो इस विधि के जरिये खुद को strong बना सकते है. बिना किसी झिझक के आप खुद के personal, mental या फिर spiritual development के लिए इसका प्रयोग कर सकते है.

Never miss an update subscribe us

* indicates required

4 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here