psychometric analysis सिर्फ छू कर किसी के बारे जानकारी देना कैसे संभव है – दिव्य दृष्टी या आज्ञा चक्र शक्ति

0

psychometry जिसे हम token-object reading या फिर psycho-copy के नाम से भी जानते है एक तरह की psychic ability है जिसमे हम किसी व्यक्ति से जुडी चीजो के माध्यम से उसके बारे में पता लगाते है. आपने कभी Tarot Card Reading, crustal ball and fortune teller के जरिये अपने बारे में जानने की कोशिश की होगी. इंडिया में एस्ट्रोलॉजी का सबसे ज्यादा चलन है ये सभी एक तरह की psychic ability है. किसी चीज को छूकर उसके past life से जुड़ी घटनाओं को बताना psychometric analysis कहलाता है.

अगर आप जानना चाहते है की आप किस स्तर तक accurate psychometric analysis कर सकते है इसके लिए online Psychometric tests देख सकते है. ये टेस्ट आपके aptitude को चेक कर ये पता लगाते है की आप किस हद तक मानसिक शक्तियों में माहिर है. जिन लोगो को subconscious mind reprogramming में भरोसा है वो मानते है की इसका संबध आज्ञा चक्र से है यानि अगर हमारा आज्ञा चक्र जाग्रत हो तो हम इस तरह की शक्तियों को activate कर काम में ला सकते है.

psychometry

इंडिया में जिसे दिव्य दृष्टी का नाम दिया गया है वास्तव में वो एक तरह की psychometry ही है. आंखे बंद कर फोकस होकर किसी के बारे में सोचे, किसी के टच होने पर उसके बारे में कुछ इमेज दिमाग में बनने लगे इस तरह के लक्षण उन लोगो में होते है जो introvert होते है. ऐसे लोग अपनी कला को निखार कर इसे और बेहतर बना सकते है. चलिए जानते है psychometric analysis and psychic ability के बारे में सबकुछ जिसे समझा जा सकता है.

what is psychometry

ये एक ऐसी psychic ability है जिसमे एक व्यक्ति किसी चीज को छू कर उसके past, present and future को सेंस कर सकता है. ऐसी स्थिति में चीजो को या तो हाथो में रखा जाता है या फिर माथे से लगाया जाता है. psychometric reading अलग अलग तरीको से sense की जा सकती है जैसे की इमेज देखना, आवाजे सुनना, स्मेल या टेस्ट के जरिये. ये सभी तरीके psychometric analysis के नाम से जाने जाते है.

सरल शब्दों में कहे तो Psychic Reading बिलकुल Fortune Teller की तरह है जैसे की Tarot Card Reading जिसमे एक व्यक्ति आपके बताये गए आंकड़े के आधार पर वो महसूस करता है जो सामान्य इन्सान नाह कर सकता है. कुछ लोग Psychic Reading Online के नाम पर crystal ball या black glass में आपके भविष्य से जुडी घटनाओं को देखने का दावा करते है.

एक psychometric abilities–a psychometrist ability वाला व्यक्ति चीजो को छू कर उसके बारे में बता सकता है जैसे की एक कंघी को छू कर उसके बारे में बताना या फिर उस व्यक्ति के बारे में जो उसे ज्यादातर इस्तेमाल कर रहा था. Hollywood movie में आप इसे और बेहतर तरीके से समझ सकते है. ये एक ऐसी शक्ति है जिसे इंडिया में लोग दिव्य दृष्टी के नाम से जानते है.

जिस तरह से इन्सान के fingerprint में उसकी सभी जानकारी छिपी होती है वैसे ही ऑब्जेक्ट भी आपके वाइब्रेशन को होलोग्राफ में सेव करते है. इन्हें हासिल किया जा सकता है और इसके लिए जो रीडिंग की जाती है वही psychometry reading कहलाती है.

Psychometric reading history

psychometry शब्द को Joseph R. Buchanan in 1842 (from the Greek words psyche, meaning “soul,” and metron, meaning “measure.”) से लिया गया है. ये एक प्रोफेसर थे जो अपने स्टूडेंट को physiology पढ़ाते थे. पहली बार उन्होंने इसे अपने स्टूडेंट पर experiment किया. उन्होंने अलग अलग तरह की Drugs को glass vials में भरा और अपने स्टूडेंट को सिर्फ छू कर इसके बारे में बताने को कहा. नतीजे उनके सोच से भी बढ़िया मिले जिन्हें उन्होंने Journal of Man नाम की बुक में पब्लिश किया.

उनके काम से मोटीवेट होकर ही American professor of geology William F. Denton ने भी अपनी फील्ड में इसे अजमाने की सोची. उन्होंने इसके बारे में experiment किये और ये देखने की कोशिश की क्या उनकी फिल्ड में भी Accurate Psychic Readings यानि psychometric reading काम करती है या नहीं. उन्होंने इस काम के लिए अपनी बहन की मदद ली और geology specimen को एक कागज में लपेट कर अपनी बहन के माथे पर लगाया.

उन्होंने पाया की उनकी बहन एक accurate Psychometric Analysis कर पाने में कामयाब हुई जो की वो इमेज की तरह महसूस कर रही थी. इसके बाद 1919 to 1922, Gustav Pagenstecher, a German doctor and psychical researcher ने यह psychometric ability अपने एक patients, Maria Reyes de Zierold में भी महसूस की.

उनके अनुसार वो इस दौरान एक trance state में पहुँच जाती है जहाँ पर किसी चीज को छू कर, स्मेल या टच कर उसके भूत, वर्तमान और भविष्य के बारे में जान लेती थी. Pagenstecher theory के अनुसार a psychometrist किसी चीज के वाइब्रेशन को tune कर सकते है.

How do psychometry work

इसे समझने के लिए आपको पहले Pagenstecher vibration theory को समझना होगा जिसे हर researcher काफी seriously लेते है. Harper’s Encyclopedia of Mystical & Paranormal Experience के अनुसार किसी चीज से निकले वाइब्रेशन उसके बारे में काफी कुछ बताते है.

The Holographic Universe की बुक के अनुसार एक इन्सान का past कभी नहीं खोता है. ये किसी न किसी फॉर्म में हमेशा सेव रहता है. ये आपके unconscious mind की यादे हो सकती है या फिर आपकी बॉडी से निकले vibration या फिर उस घटना क्रम से जुडी कुछ खास चीजे उन जानकारी को अपने अन्दर समेटे हुए हमेशा रहती है.

विज्ञान खुद हर चीज के एक subatomic level यानि vibration state पर exist होने का दावा करता है. उनके अनुसार चेतना और वास्तविकता कभी ख़त्म नहीं होती है वो होलोग्राम ( जिसमे सभी जानकारी रहती है ) के रूप में कही न कही सुरक्षित हो जाती है. psychometric reading के जरिये हम उन्ही वाइब्रेशन को महसूस करते हुए उन चीजो को जानते है.

ये बिलकुल वैसे ही जैसे की हमारे कंप्यूटर से कुछ भी डिलीट करने के बाद एक निश्चित समय तक वो डाटा कही और रहता है. समय रहते हुए उसे वापस स्टोर किया जा सकता है लेकिन हमारे जीवन की सभी यादे जो हमें याद हो या ना हो सब एक जगह आज भी सुरक्षित है और वापस एक्सेस की जा सकती है. past life regression के जरिये हम उन यादो को बाहर निकालते है जो हमें आज तकलीफ दे रही है और उनका solution कर अपने आज में बदलाव करते है.

micro study in Psychometric Analysis

human aura energy field और psychometry के बिच का connection एक थ्योरी पर आधारित है. इसके अनुसार human brain हर डायरेक्शन में aura radiate करता है. ये औरा क्षेत्र उसके बॉडी के चारो ओर फैला हुआ होता है जो हर उस व्यक्ति को प्रभावित करता है जो उसके प्रभाव क्षेत्र में आता है.

हम हर उस चीज को महसूस कर पाते है जो हमारे औरा क्षेत्र के प्रभाव में आती है या फिर हम किसी और के प्रभाव क्षेत्र में आते है. उदाहरण के लिए हमारे पीठ पीछे अचानक किसी के आने का अहसास होता है. अचानक ही हमें लगता है जैसे कोई है क्या आपने कभी सोचा आपको ऐसा क्यों महसूस हुआ ?

इसकी वजह है आपका औरा क्षेत्र जो हर उस ऑब्जेक्ट को सेंस करता है जो आपके आसपास के प्रभाव क्षेत्र में आती है. सेंस करने के बाद ये आपके ब्रेन तक सिग्नल भेजता है और आप पीछे पलट कर देखने लगते है. एक psychometric expert जिसमे psychic ability होती है बिना पीछे देखे सिर्फ aura energy field को महसूस करते हुए बता सकता है की उसके पीछे कौन है, बशर्ते वो उस शख्स के साथ पहले भी मुलाकात कर चूका हो.

Mario Varvoglis, Ph.D. at “PSI Explorer” के अनुसार psychometry is a special form of clairvoyance. हम इसमें डायरेक्ट उस माध्यम से जुड़ सकते है जिसकी चीज इस वक़्त हमारे टच में है. जैसे की एक पेन के आधार पर उसके मालिक के साथ जुड़ना. ये बिलकुल एक telepathy – strong psychic practice की तरह काम करता है. ऐसे हालात में वो ऑब्जेक्ट आपके फोकस होने का माध्यम बन जाता है जिस पर आप पता करना चाहते है.

sign you have psychometric ability

वैसे तो हर इन्सान में कुछ हद तक मानसिक शक्तियां होती है लेकिन कुछ खास लोगो में ये बहुत हद तक विकसित होती है. अगर आपके अन्दर निचे बताए गए पॉइंट्स में से एक भी मैच कर रहा है तो आप अपने अन्दर की psychometry psychic ability को समझ सके है.

  • आप किसी के पहने हुए कपड़े और गहने पहन नहीं सकते है.
  • किसी antique store में जाते ही आपको अजीब feel होने लगता है.
  • आपके पास ऐसी कोई चीज नहीं होती है जो किसी की इस्तेमाल की हुई हो जैसे की फर्नीचर, सेकंड हैण्ड आइटम्स.
  • किसी चीज को छूने के बाद आपको अपने हाथ धोने की इच्छा होने लगती है.

अगर आपके अन्दर इसमें से एक भी psychometry signs देखने को मिल रहे है तो आप अपनी एबिलिटी को बढ़ा सकते है और सही दिशा में काम में ला सकते है. चलिए बात करते है Accurate psychometric analysis practice के बारे में.

How to Perform Accurate Psychometric Analysis Practice

जिन लोगो ने Tarot Card Reading, crustal ball and fortune teller के बारे नेट से सर्च किया है या फिर अपने आसपास देखा है उन्हें लगता है की ये spiritual practice है. हमें लगता है की ये एक कुदरत का तोहफा है जो सिर्फ स्पेशल लोगो में ही देखा जा सकता है लेकिन अगर आप भी psychometric reading जैसी psychic ability अपने अन्दर जगाना चाहते है तो निचे बताई गई प्रैक्टिस कर सकते है.

  • ऐसी जगह का चुनाव करे जो शांत हो, सुनसान हो और अभ्यास के दौरान आपको किसी तरह से डिस्टर्ब न कर सके.
  • शांत होकर बैठ जाइये और अपने हाथो को अपनी गोद में रख ले.
  • हाथो को साफ पानी से धो ले और सुखाकर अच्छे से रगड़े ताकि उनमे उर्जा का प्रवाह बढ़ जाए.
  • अपने पास से किसी व्यक्ति को आपके हाथो में किसी ऐसी चीज को देने को बोले जो मेटल की बनी हो और उस व्यक्ति ने उसे लम्बे समय तक अपने पास रखा हो. ध्यान रहे इस दौरान आपकी आँखे बंद रहनी चाहिए.
  • आपको क्या महसूस होता है जब कोई चीज आपके हाथो में रखी जाती है ? आपके दिमाग में काफी सारी इमेज आना शुरू हो जाती है उनसे प्रभावित होने बजाय उन पर ध्यान दे जो आप उस चीज को महसूस कर अनुभव करते है.
  • अपने दिमाग में आने वाले हर विचार को ध्यान से गौर करो. ये विचार अनजाने भी हो सकते है लेकिन अपने analysis के आधार पर Accurate Psychic Readings करने की कोशिश करे.

इस अभ्यास के दौरान आप Psychic Touch के माध्यम से ऑब्जेक्ट को समझते है और उसके owner या जिस व्यक्ति ने उसे अपने पास रखा है उसके बारे में prediction करते है. बॉलीवुड की मूवी राज रिबूट में भी एक psychometric expert इसी का इस्तेमाल कर अनजानी घटनाओं का पता लगाता है.

किस तरह के सवाल करने चाहिए

ऑब्जेक्ट को छूने के बाद आपके मन में काफी सारे ख्याल आने लगते है ये ज्यादातर image के रूप में आते है इसके अलावा, अहसास, आवाज और स्मेल की तरह भी हो सकते है. ऐसे में आपके मन में इस तरह के सवाल खुद से पूछने चाहिए जैसे की

  • ये ऑब्जेक्ट किसका है ?
  • इसके मालिक का व्यक्तित्व क्या है ?
  • जितने समय तक ये ऑब्जेक्ट इसके मालिक के पास रहा उसे किस तरह के अनुभव मिले ?
  • ऑब्जेक्ट का मालिक जिन्दा है या गुजर चूका है ?

Read an object with psychometry steps by step

ऐसे ऑब्जेक्ट का चुनाव करे जो मेटल का बना हो ( ये शुरुआती अभ्यास में कामयाब है ) और आपके परिवार के किसी सदस्य का खास हो. अगर इस ऑब्जेक्ट का मालिक इसके साथ इमोशनली जुड़ा हुआ होता है तभी हम इसकी accurate psychic reading कर पाने में कामयाब हो सकते है. किसी ऑब्जेक्ट को रीड करने की 5 स्टेप होती है.

  1. सबसे पहला कदम है आपका फोकस होना. psychometry किसी नार्मल स्थिति में नहीं होती है इसके लिए आपको trance state में जाना होता है जो की एकाग्रता की एक स्थिति है जैसे की आज्ञा चक्र पर ध्यान लगाना.
  2. अपने हाथो को साफ़ कर रगड़ ले इससे आपके हाथो में उर्जा का प्रवाह बढ़ जाता है जिससे की रीडिंग में आपको वाइब्रेशन मिलना शुरू हो जाते है.
  3. आपके हाथो में उर्जा का प्रवाह बढ़ने के बाद ऑब्जेक्ट को हाथो में होल्ड करे और imagine करे की आपके हाथो की उर्जा और ऑब्जेक्ट की उर्जा के बिच psychic energy connection बन रहा है.
  4. चेतना को खुद से हटा कर ऑब्जेक्ट में शिफ्ट करना इसकी अगली स्टेप है. अभी तक आपका ध्यान खुद को फोकस करने में था अब उस ध्यान को खुद से हटाकर ऑब्जेक्ट में ले जाए. ऐसा करने पर आपके दिमाग में छवि उभरना शुरू हो जाती है. आपकी conscious shift हुई है या नहीं ये आप आसानी से पता लगा सकते है क्यों की जब ऐसा होता है तब आपको विज़न दिखना शुरू हो जाते है. जितना ज्यादा आपका ध्यान ऑब्जेक्ट पर होगा विज़न उतने ही क्लियर होंगे.
  5. अब जब की आपकी चेतना पूरी तरह ऑब्जेक्ट में शिफ्ट हो चुकी है आप कुछ खास सवाल पूछ सकते है. ऊपर क्लियर किया जा चूका है की जो विचार आपके मन में आये उन्हें वैसे ही आने दे, अपने तरीके से उन्हें manipulate करने की कोशिश ना करे. आप सवालों द्वारा ज्यादा स्टिक जानकारी का चुनाव कर सकते है.

किस तरह के हो सकते है ऑब्जेक्ट ?

सबसे ज्यादा अगर किसी की pschometry reading की जाती है तो वो है फोटो. ये फोटो पेपर, फ्रेम की बनी हो सकती है. माना जाता है की इनमे लोगो के ज्यादातर emotion जुड़े होते है जिसकी वजह से इसके वाइब्रेशन को रीड करना आसान रहता है.

दीवार भी अपने अन्दर काफी सारी जानकारियां रखती है. आप किसी दीवार को छू कर भी उसके बारे में जानकारी प्राप्त कर सकते है जैसे की वहां पर क्या हुआ था. माना जाता है की अतीत में होने वाली घटनाए दीवारों में अपनी energy छोड़ जाती है.

किसी जगह पर रखे फर्नीचर भी रीडिंग के अच्छे माध्यम बन सकते है. इनके जरिये हम उस जगह पर रहने वाले लोग जो उसका ज्यादा इस्तेमाल करते आये है के बारे में जानकारी जुटा सकते है.

अगर आपको किसी छोटे बच्चे की रीडिंग करनी है तो उसके खिलौने को पढने की कोशिश करे क्यों की खिलौने उनके ज्यादातर emotion से जुड़े होते है. ये सभी ऑब्जेक्ट ज्यादातर अच्छे माध्यम बनते है इसके अलावा कपडे, कंघी ये भी माध्यम बन सकते है बशर्ते इन्हें इस्तेमाल किसी एक व्यक्ति द्वारा किया गया हो. अगर इस दौरान आपको अलग तरह के वाइब्रेशन का अवरोध मिलता है तो समझ सकते है की वो किसी एक व्यक्ति की बजाय ज्यादा लोगो द्वारा इस्तेमाल की गई ऑब्जेक्ट है.

practice more and more to perfect in psychometric reading

ये एक ऐसा अभ्यास है जिसे आप जितना ज्यादा करोगे उतना ही इसे बेहतर ढंग से कर पाओगे. आपको सिर्फ अपने brain को trance state में ले जाना है और ऑब्जेक्ट को छू कर उसके बारे में महसूस करना है. हो सकता है की पहली बार में ही आप अच्छा कर पाओ लेकिन अगले ही पल आपके दिमाग में चलने वाले इमेज आपको distract कर दे लेकिन, जितना ज्यादा शांत रहते हुए आप अभ्यास को समय देते है उतना ही अच्छा कर पाने में आप सक्षम हो जाते है.

आपका दिमाग हर उस चीज के बारे में ज्यादा से ज्यादा information collection करने की कोशिश करता है जिसे आप छूते है. अगर आप कुछ गलत अनुभव भी करते है तो घबराए नहीं क्यों की हर psychometrist शुरू में 80-90% सही प्रेडिक्ट करता है और 10-20% गलत भी हो सकता है. महत्वपूर्ण ये है की आपको ऐसे हालात में भी confident रहना चाहिए की जो ऑब्जेक्ट आपने पकड़ा है उसके बारे में आपको accurate psychic impressions मिल रहे है.

कई लोग इस दौरान Psychometric Analysis करने की कोशिश करते है और उस ऑब्जेक्ट को अपने impression से प्रभावित करने की कोशिश करते है. आपको ऐसा कुछ नहीं करना है. जब भी आप किसी ऑब्जेक्ट को छूते है और उससे जुड़े impression आपके दिमाग में आना शुरू हो जाते है उन्हें वैसे ही प्रेडिक्ट करे ना की अपने विचारो में. कई बार धुंधली तस्वीर भी ज्यादा सही अनुमान निकाल सकती है.

Psychometric Evaluation

इस कला को निखारने के लिए ऐसे काफी सारे Psychometric tests है जो आपके mental capabilities and behavioral style का सही आंकलन करने में काम आते है. इसके लिए कुछ मेथड निर्धारित किये गए जो personality characteristics and aptitude को चेक करते है और आपको psychometrist बनने में हेल्प करते है.

इस तरह के टेस्ट में Psychometric Analysis होते है जिनके आधार पर Psychologist का निर्धारण किया जाता है. human psychology यानि मानव व्यवहार विज्ञान जिसमे हम विचारो और इम्प्रैशन को पढ़कर मनोभाव का पता लगाते है. ऑनलाइन में आप काफी सारे Psychic Reading या फिर Free Psychic Reading के बारे में सर्च कर सकते है जो Psychic Reading यानि Online Fortune Teller का दावा करते है.

psychometry के बारे में आप इस बुक में और भी ज्यादा जानकारी और रिसर्च पढ़ सकते है.

psychometry and psychic ability – final thought

ज्यादातर लोगो को इस तरह की बाते कल्पना लगती है. तर्क करते है की इसे साबित करके दिखाओ तो माने. ये कमी उन लोगो की है जो इसमें विश्वास नहीं रखते है क्यों की उन्हें खुद पर confidence नही होता है. मेरा मानना है की अवचेतन मन की काफी सारी शक्तियां है जिन्हें हमें समझने में वक़्त लगेगा.

पुराने समय में ऐसे लोग थे जो इन्हें जानते थे और psychometry का अभ्यास करते रहते थे. समय के साथ लोगो ने इस अभ्यास को समय देना बंद कर दिया जिसके परिणामस्वरूप ये शक्ति सुप्त होती चली गई. अगर आप आज ही इसका अभ्यास करे तो जल्दी ही इसे दोबारा develop कर सकते है.

आप क्या सोचते है क्या ऐसा होना संभव है ? अपने विचार कमेंट में रखे. अगर आपके अनुभव रहे तो हमारे साथ जरुर शेयर करे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.