5 dangerous Physical symptoms of lovesickness how it affect your Relationship in Hindi

1
18

प्यार करने वाले एक दूसरे की खुशियों में अपनी ख़ुशी की तलाश करते है. ये आपकी लाइफ को एक रास्ता देता है और उसे रोमांचक बनाता है लेकिन, क्या होगा अगर आपका पार्टर आपसे एक हद से ज्यादा से प्यार करने लगे. Deeply Love में डूबे पार्टनर अक्सर एक दूसरे को लेकर possessive रहते है. उन्हें कभी कभी डर लगने लगता है की अगर उन्हें अपने पार्टनर से दूर होना पड़ा या उसकी लाइफ में कोई आ गया तो ? आज हम Physical symptoms of lovesickness के बारे में बात करने वाले है.

इस तरह की स्थिति तब देखने को मिलती है जब आप हद से ज्यादा किसी को लेकर insecure feel करने लगते है. ये स्थिति उन लोगो के साथ बनती है जो ऐसे प्यार में पड़ जाते है जो One sided love होता है. आप ऐसे व्यक्ति से प्यार करते है जिसके साथ आप रह नहीं सकते है, वो आपसे ज्यादा पावरफुल होता है जिसकी वजह से आप उसे अपनी feeling express नहीं कर पाते है, कोई ऐसा व्यक्ति जिससे आप प्यार करते है लेकिन उसका आपको पता नहीं होता है.

Physical symptoms of lovesickness

ज्यादातर One side love के मामले में परिणाम बहुत खतरनाक निकलते है क्यों की ये हमें Depression or stress देते है. इस कंडीशन में हम ऐसा कुछ कर बैठते है जो हमें नहीं करना चाहिए. अगर Unexpected and Unwanted Breakup की वजह से आप emotional turmoil and physical distress का सामना कर रहे है तो ये भी आपकी Physical and Mental health के लिए सही नहीं रहता है.

अगर आपके साथ ऐसा कुछ होता है तो आप कई mental unwell का सामना करते है. आप सही से सो नहीं पाते है, आपके इमोशन सही तरह से दूसरो के सामने नहीं आते है या फिर Unusual way में express होते है. सबसे बड़ी problem तब आती है जब हम किसी टास्क पर होते है लेकिन अपने लव के बारे में सोचने से खुद को रोक नहीं पाते है. हमारे दिमाग में सिर्फ एक ही ख्याल घूमता रहता है.

What are Physical symptoms of lovesickness in Hindi

Lovesick को लेकर अलग अलग लोगो की अलग अलग definition है. ये वो स्थिति है जिसे हम real love से पहले की स्टेज मानते है. जब 2 लोग कांटेक्ट में आते है तब कुछ अलग तरह feeling उनके मन में पैदा होती है जैसे की

  • excitement
  • Lu*t
  • euphoria
  • jealousy
  • attachment
  • irrational or impulsive urges

Physical symptoms of lovesickness के Effect of love शुरुआती स्टेज पर देखने को मिलते है. वैसे देखा जाए तो Lovesickness को Unpleasant aspects of love के तौर पर देखा जाता है. जब आप अपने पार्टनर को लेकर कुछ feeling प्लान करते है लेकिन सब-कुछ वैसा नहीं होता है जैसा आप सोचते है तब हम unwanted feelings को experience करते है. जरुरत से ज्यादा attachment भी हमें insecure बना देता है.

हम सब के साथ ऐसा होता है की जब हमें वो नहीं मिलता है जो हम प्लान करते है तो हमारा मन घबरा जाता है. The pain and frustration of heartbreak or unrequited love जैसा फील होना Natural है. हर कोई जो coping with rejection जैसी स्थिति से गुजरता है उसे lovesick से गुजरना पड़े ये जरुरी नहीं है.

The effects of lovesickness हमारे Day-Life-Routine को प्रभावित करता है. आपके health and wellness पर समय के साथ बहुत बड़ा इफ़ेक्ट देखने को मिलता है.

Read : Top 5 Secret of Numerology Numbers in Hindi? How they Reveal our life’s Secret Identity

Lovesickness and limerence

अक्सर लोग Physical symptoms of lovesickness को limerence से compare करते है. ये एक Phenomena है जिसमे हम romantic or non-romantic feelings में फंस जाते है. ये Obsessive Thoughts And Fantasies And A Desire परेशान कर देने वाली feeling होती है. Psychologist and Professor Dorothy Tennov ने इस पर काफी समय रिसर्च की और कुछ परिणाम सामने रखे.

उनकी बुक “Love and Limerence: The Experience of Being in Love.” में आप इसके बारे में ज्यादा डिटेल से पढ़ सकते है. उनके अनुसार Lovesickness को Involuntary Fixation On Another Person के तौर पर दिखाया है. ये एक ऐसी feeling है जहाँ A lot of love है और उसके साथ ही साथ obsessive component की feeling भी है.

State of limerence के दौरान हम जिससे प्यार करते है उनसे बदले में वही feeling चाहते है जो हम उनके लिए रखते है. इसके साथ ही हमारे मन में रिजेक्शन का डर भी होता है. अगर सामने वाला आपको देखकर स्माइल करे तो आप बेहद खुश होते है वही उनके ignore करने पर आप बेहद दुखी हो जाते है. आप key symptoms of limerence को नोटिस कर सकते है जैसे की

  • intrusive or obsessive thoughts
  • shyness around the person
  • a tendency to focus only on their positive traits
  • physical symptoms like sweating, dizziness, a pounding heart, insomnia, and appetite changes

ये सभी लक्षण बताते है की आप State of limerence को experience कर रहे है.

Read : Top 5 Best Love Spell That work Immediately Get lost Love back with Vashikaran

इस आईडिया का जन्म कैसे हुआ

Lovesickness कोई नया Phenomena नहीं है बल्कि ये काफी पुराने समय से ही लोगो के Unwanted thoughts की तरह स्थिति बनाता आ रहा है. Physical symptoms of lovesickness के बारे में ancient medical texts and classical literature में Greek philosophy to Shakespeare to Jane Austen ने इसके बारे में काफी कुछ शेयर किया है.

रिसर्च में concept of lovesickness to Hippocrates को लेकर काफी सारी मान्यताए है जैसे की ये एक बीमारी की तरह है जिसमे हम अपने व्यवहार को कण्ट्रोल नहीं कर पाते है.

ये एक ऐसी स्थिति है जहाँ mental condition की वजह से हम Physical symptom से गुजरते है. ये हमारे emotional cause की वजह से होता है.

Read : How to Cope with split personality disorder symptom, cause and treatment Guide in Hindi

हम किस तरह की feeling का सामना करते है

समय के साथ हम अलग अलग Physical symptoms of lovesickness का सामना करते आये है. कुछ general symptoms of lovesickness को आप यहाँ देख सकते है जो हर समय की स्थिति में देखने को मिले है जैसे की

  • insomnia
  • loss of appetite
  • restlessness
  • flushed or feverish skin
  • racing pulse, pounding heart, or unusually rapid breathing when thinking about the person
  • dizziness, shakiness, or weak knees when encountering them
  • pain or tension in your head or chest
  • nausea or stomach distress
  • increased tearfulness, or the sense you’re constantly on the verge of tears

ये सभी Physical symptoms of lovesickness लगभग हर समयकाल में देखने को मिले है. जब भी आप अपने लव के बारे में सोचते है आपका मूड change हो जाता है. इमोशन में इस तरह का बदलाव जल्दी ही आपको Frustration, Anger, Nervousness, And Anxiety की स्थिति में ले जाता है. आप उनके साथ रहते हुए भी खुद को hopelessness and despair महसूस करने लगते है जो और कुछ नहीं Lovesickness का ही एक लक्षण है.

क्या वास्तव में आप बीमार हो सकते है

अपने प्यार से अलग होना आपको बुरी तरह तोड़ कर रख देता है खासकर तब जब आपकी feeling बहुत ज्यादा हो. इस स्थिति में Hormone Fluctuations जो की Love And Heartbreak से जुड़े होते है एक stress hormone cortisol को बनाते है जो Long term health impact छोड़ जाते है. आप खुद को ऐसी स्थिति में बीमार महसूस कर सकते है.

A lack of sleep, good nutrition, or adequate hydration की कमी वास्तव में आपको बीमार जैसा फील करवा सकती है. आपके मूड में भी आ रहा बदलाव आपके दूसरो के साथ Relationship, Work Performance को भी प्रभावित करता है. अगर आप Physical symptoms of lovesickness से गुजर रहे है तो समय रहते हुए इसका solution निकालने की कोशिश करे.

इसके कुछ अलग तरह के sign को भी आप नोटिस कर सकते है जैसे की

  • आप खुद को एक जगह पर Concentrate नहीं कर पाते है.
  • आप खुद को responsibilities पूरा करने में असमर्थ पाते है.
  • जरुरी मीटिंग को आप भूल जाते है या फिर अक्सर महत्वपूर्ण कार्यो को पूरा नहीं कर पाते है.
  • Anxious फील करवा सकता है.

Physical symptoms of lovesickness की वजह से after effect of breakup का सामना करना पड़ सकता है जिसकी वजह से आप दोबारा किसी को अपनाने में कठिनाई महसूस करते है क्यों की आपको रिजेक्शन का डर रहता है.

ऐसी स्थिति कई बार Depression की तरफ धकेलना शुरू करती है आप खुद को Thoughts of suicided जैसी स्थिति में पाते है. अनचाहे विचारो की लगातार बढती बाढ़ आपको तनाव में रखती है और खुद को चाह कर भी आप इससे मुक्त नहीं कर पाते है.

Is this the same thing as being lovestruck?

Lovestruck and lovesickness ये दोनों पूरी तरह एक दूसरे से अलग स्थिति नहीं है लेकिन, ये दोनों ही अलग अलग स्टेट को दर्शाती है. प्यार में पड़ना आपको एक अलग तरह की feeling देता है जो dopamine, oxytocin, and norepinephrine की वजह से बनता है. इस दौरान आप अपने इमोशन और मूड में कुछ बदलावों को नोटिस कर सकते है.

इस तरह की हरकते करना Lovestruck का सबसे बड़ा उदाहरण है.

दूसरी और Physical symptoms of lovesickness में heartbreak, rejection, or unrequited love शामिल है जो negative connotation से जोड़ते है. इसमें mental health symptoms भी शामिल है जैसे की anxiety and depression या फिर इससे मिलते जुलते लक्षण.

जरुरी नहीं की हर वो व्यक्ति जो प्यार में पड़ जाता है lovesickness को experience करे. यहाँ तक की अगर उसे रिजेक्शन का सामना भी करना पड़ता है तब भी इस तरह की स्थिति हर किसी के साथ बने ये जरुरी नहीं है.

इसकी वजह हर किसी का अलग अलग emotion and mental level होता है. हम सब जानते है की अपने इमोशन पर हमारी पकड़ हमें दूसरो से अलग करती है.

The honeymoon phase in a relationship

The Early Stages of a Relationship में Degree of Infatuation को अलग अलग देखा जाता है जैसे की

  • आप अपने पार्टनर के बारे में लगातार सोचते जा रहे है और जितना ज्यादा आप सोचते है उतना ही रोमांचित होते जाते है.
  • आपको वो इस दुनिया में सबसे खास और अलग ही लगते है जिसकी वजह से आप उनकी दूसरी कमियों को नजरंदाज कर देते है.
  • अगर आपको अपनी दूसरी जिम्मेदारियों को पूरा करने के लिए उनसे अलग भी होना पड़े तब भी आप सिर्फ उनके बारे में ही सोचते है और यही वजह है की आप काम पर फोकस नहीं कर पाते है.
  • प्यार का परवान आप पर इतना चढ़ जाता है की आप forgetfulness, increased energy, and less of a need for sleep or food जैसे symptom को अनुभव करने लगते है.
  • बात यहाँ तक बढ़ जाती है की आपके दिमाग में बस सिर्फ उनके ही ख्याल चलने लगते है और आपके दोस्त या आसपास के लोग आपसे कहना शुरू कर देते है “बस करो सिर्फ 10 मिनट के लिए उनका ख्याल मन से निकाल दो”

आप अगर कुछ काम भी करते है या फिर अपने workplace पर होते है तब भी आपके मन में सिर्फ अपनी लास्ट मुलाकात ही चलती रहती है. ये वो समय होता है जब आपका मन Romantic moments को लेकर तरह तरह के ख्याल बनाना शुरू कर देता है. समय के साथ ये ठीक होने लगता है क्यों की तब हम खुद को reality के साथ रखना शुरू कर देते है.

समय के साथ साथ इस तरह की गतिविधि बढती जाती है और आप पाते है की ये कुछ ज्यादा ही हो रहा है. आप चाह कर भी अपने लास्ट मुलाकात को दिल से नहीं निकाल पाते है और दोबारा उनसे मिलने की कोशिश में लग जाते है. ज्यादातर मामले में ऐसा अनुभव आपको अच्छा महसूस करवा सकता है लेकिन, हद से ज्यादा अति किसी भी मामले में बुरी होती है.

Read : Top 5 way to Dealing with emotional vampires at work Hindi Guide

Physical symptoms of lovesickness and its after effect

टाइम के साथ हमारा लगाव बढ़ता जाता है और अगर प्यार सच्चा हो तो ये हमें बदल कर रख देता है जो कई मामले में अच्छा साबित होता है. जब भी आप किसी को पसंद करने लगते है आपका मन हर बार अपने desire को पूरा करने के लिए नए नए connection तलाशना शुरू कर देता है. किसी के प्यार को पाना और उसका आपको रिजेक्ट कर देना ये दोनों Possibility एक साथ चलती रहती है.

Lovesickness की स्थिति तब बनती है जब आपका अपने पार्टनर की तरफ attraction बढ़ता जाता है लेकिन आप उनके प्रति अपने आकर्षण को जाहिर नहीं करते है. एक तरफ़ा feeling आपके मन में अनचाहे विचारो को भारती जाती है. इसका perfect example आप सनी देओल और शाहरुख़ खान की मूवी डर देख सकते है. इस तरह की feeling तब बनती है जब आपका मन परस्पर विरोधी विचारो से भरने लगता है.

आपका क्रश या पार्टनर आपको आपकी feeling जाहिर करने में मदद कर सकता है और आपको नए दोस्त बनाने में भी मदद कर सकता है. जब तक आप अपनी feeling को जाहिर नहीं करेंगे तब तक आप खुद को बेहतर नहीं बना सकते है.

Read : How Most powerful Maran mantra Works simple Guide and pryog

How to Cure Lovesickness Symptom and Effect

वास्तविक तौर पर देखा जाए तो Physical symptoms of lovesickness का medical line में कोई ऐसा cure नहीं है की बाहरी स्तर पर आप किसी की मदद कर पाए. ये आपकी खुद की feeling है और बगैर आपकी मर्जी के आप इसे ठीक नहीं कर सकते है. healing, fixing and cure जैसी process तब तक काम नहीं करेगी जब तक आप इसे accept नहीं कर लेंगे. अगर आप खुद Lovesickness को लेकर परेशान है तो कुछ टिप्स को फॉलो कर सकते है.

  • अपनी feeling को Creative side of ideas की तरफ मोड़ दे और उन्हें उकेरना शुरू कर दे. आप इसे लिख सकते है, पेंटिंग कर सकते है या फिर कोई और Creative work जिससे आप अपनी skill और आईडिया को खुद समझने के साथ साथ दूसरो को भी समझा सके.
  • म्यूजिक सुनना भी एक बेहतरीन विकल्प है. अगर आप Physical symptoms of lovesickness से परेशान है और बार बार आ रहे अनचाहे विचार आपको workplace, Daily life routine में परेशान कर रहे है तो इसे अपने पसंद के म्यूजिक सुनने के साथ ही कण्ट्रोल कर सकते है.
  • आप अनचाहे विचारो से और feeling से परेशान इसलिए होते है क्यों की आपने खुद को लेकर कोई सीमा तैयार नहीं की होती है. खुद के लिए कुछ Boundaries बना लेना अच्छा रहता है जब आप दूसरो से मिलते है या फिर अपने schedule को सही करना चाहते है.
  • अपनी जरुरत को समझना और सोच समझ कर पूरा करना शुरू कर दीजिये. ये आपको बिजी रखेगा.
  • खुद का ध्यान भटकाने की कोशिश करे लेकिन, Positive way में ना की अनचाहे विचारो में. जब भी आपका मन परेशान हो तब खुद को creative activity में बिजी कर लीजिये.

अगर आप इन टिप्स को फॉलो करते है तो जल्दी ही आप अपनी feeling को सही से express करना शुरू कर देते है. सही शुरुआत के लिए आप नियम भी बना सकते है जैसे की किसी भी आदत को अपनाने के लिए हम 21 दिन का नियम बनाते है.

Read : How to activate Pyrokinesis psychic ability simple effective guide in Hindi

अगर फिर भी लक्षण दिख रहे है तो क्या करे ?

हम जानते है की अनचाहे विचार, रिजेक्शन और दिल का टूटना काफी लम्बे समय तक अपना असर दिखाता है. ये हफ्तों या महीनो तक रह सकता है लेकिन, समय के साथ healing आपको सही करती है. अगर लम्बे समय बाद भी और टिप्स को फॉलो करने के बावजूद आप खुद को unwanted physical or emotional symptoms से अलग नहीं पा रहे है तो बेहतर होगा की professional support लेने की कोशिश करे.

Therapist’s आपकी इसमें मदद कर सकते है क्यों की वे आपको इस स्थिति से बाहर निकलने के लिए बेहतर गाइड और हेल्प दे सकते है. आपके मन में क्या चल रहा है आप उनके साथ शेयर कर सकते है. वे आपको इस स्थिति से बाहर निकलने में मदद करेंगे.

एक professional support आपको निम्न बातो को समझने में मदद करता है जैसे की

  • कौनसी बाते है जो Physical symptoms of lovesickness को trigger कर रही है और आप उन्हें कैसे डील कर सकते है.
  • इस स्थिति से बाहर निकलने में आप किस तरह के टिप्स को फॉलो करने वाले है जो ऐसी किसी स्थिति में भी आपको strong and stable बने रहने में मदद करेंगे.
  • ऐसी skill को develop करना जो healthy, fulfilling relationships में मदद करे.
  • ऐसी किसी भी mental health symptoms की पहचान करना जो heartbreak की वजह बन रही हो.

normal कंडीशन में आप खुद को सही कर सकते है लेकिन, अगर इसके साथ साथ आप obsessive or intrusive thoughts, compulsions, or thoughts of suicide जैसे लक्षण को भी महसूस कर रहे है तब आपको professional support लेने की जरुरत पड़ती है.

Read : Waking up at 3am every night top 5 Remarkable spiritual reason and Sign Hindi Guide

How to stop Physical symptoms of lovesickness final conclusion

अब तो अप समझ ही गए होंगे की Adverse effect of love के परिणाम काफी खतरनाक हो सकते है खासकर इन्हें अगर सही तरीके से express न किया जाए. अगर आप अपने क्रश के सामने feeling को सही तरीके से जाहिर नहीं कर पा रहे है तो समय रहते हुए नजदीकी लोगो की मदद ले सकते है. feeling को जाहिर न करना और बाद में परेशान रहना आपके मन में अनचाहे विचार को जन्म देता है जो आपके लिए सही नहीं है.

Romantic love का लाइफ में होना बेहद जरुरी है लेकिन, अगर आप अपनी feeling को समय समय पर जाहिर नहीं करेंगे तो ये आपके मन में विरोधी भावनाओ को जन्म देती है. अगर आप किसी व्यक्ति विशेष को लेकर अपने मन में अलग तरह की feeling रखते है तो बेहतर होगा की उसे जाहिर भी करे. खुद को ऐसे विचारो से दूर रखने के लिए आप Positive distraction की मदद ले सकते है.

Professional support की जरुरत तब पड़ती है जब आप खुद से इसे ठीक नहीं कर पाते है. ऐसी स्थिति में कोई ऐसा व्यक्ति जो आपके मन को समझकर उसे गाइड करे आपकी मदद कर सकता है. उम्मीद करता हूँ आपको इससे कुछ हेल्प मिली होगी. आपने अपने आसपास किसी ऐसे व्यक्ति को जरुर देखा होगा जो अपनी feeling को जाहिर नहीं कर पाता है और अक्सर mental depression से परेशान रहता है. Physical symptoms of lovesickness को समझे और सही समाधान की तलाश करे.

Never miss an update subscribe us

* indicates required
Previous articleTop 5 Secret of Numerology Numbers in Hindi? How they Reveal our life’s Secret Identity
Next article4 Smart Ways to Earn Money from Website 2022 में पैसे कमाने के 4 पोपुलर तरीके
Nobody is perfect in this world but we can try to improve our knowledge and use it for others. welcome to my blog and learn new skill about personal | psychic | spiritual development. our team always ready to help you here. You can follow me on below platform

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here