Neuro-linguistic programming NLP in Hindi अवचेतन मन को active करने की सबसे आसान तकनीक

0
162

हमने अब तक Subconscious mind programing के बारे में काफी कुछ पढ़ा है. इसमें से एक Neuro-linguistic programming NLP in Hindi भी है जो एक psychological approach की तरह हमारे personal development की तरह काम करता है. इसमें हम thoughts, language, and patterns of behavior के जरिये अनुभव करते है और मनचाहे परिणाम के लिए खुद को तैयार करते है.

1970 में University of California, Santa Cruz में  इसके प्राथमिक जनक के रूप में John Grinder and Richard Bandler और Judith DeLozier and Leslie Cameron-Bandler ने सहयोग दिया था और इसे develop कर लोगो के बीच popular बनाया. इस तकनीक को तनाव दूर करने, किसी तरह के Communication issue, Posttraumatic stress, Addiction या ऐसी ही किसी दिमागी समस्या का समाधान करने के लिए मेडिकल लाइन में प्रसिद्द किया गया.

Neuro-linguistic programming

इस तकनीक के कई ऐसे फायदे है जो हमारी लाइफ को बदल सकते है इसमें हमें अपने मकसद से जोड़ना, लाइफ में सबकुछ हासिल करना और परिणाम को सुधार कर मनचाहे परिणाम हासिल करना शामिल है. ये तकनीक सीधे तौर पर हमारे अवचेतन मन को प्रभावित कर हमें अपने goal से जोड़ती है. सम्मोहन में भी इसका इस्तेमाल किया जाता है. अगर आप किसी तरह के Past life regression से गुजर रहे है या फिर अपने बीते कल की वजह से आज आगे नहीं बढ़ पा रहे है तो इस तकनीक का प्रयोग जरुर करे.

इस तकनीक के जरिये हम अपने आज को सुधार सकते है. अवचेतन मन की प्रोग्रामिंग के लिए NLP सबसे best तकनीक है जो हमारे Thought, emotion and feeling को express करने के लिए प्रोग्राम करती है. इसके जरिये मनचाहा Outcome हासिल किया जा सकता है. NLP अपने आप में पूरा एक विज्ञान है जिसे समझना काफी समय लेने वाला है इसलिए हम इस पोस्ट में सिर्फ इसके बेसिक और कुछ फायदे के बारे में बात करेंगे.

Neuro-linguistic programming NLP in Hindi

NLP एक तरह की set of language- and sensory-based interventions and behavior-modification techniques है जो awareness, confidence, communication skills, and social actions को improve करने का काम करती है. इस तकनीक में कुछ लैंग्वेज, व्यवहार और ग्रहण करने की तकनीक में बदलाव शामिल है. ये तकनीक Subconscious mind programing and Hypnosis में काम ली जाती है जो की Personal development का एक हिस्सा है.

इस तकनीक का प्रयोग Fears And Phobias, Anxiety, Poor Self-Esteem, Stress, Post-Traumatic Stress Disorder जैसी problem के solution के लिए किया जाता है. ज्यादातर psychological issues जो की mental disorder से जुड़े है उन्हें भी इसी तकनीक के जरिये सही किया जा सकता है. बात करे इस तकनीक के मुख्य टूल्स की तो इसमें visualization or image creation शामिल है.

एक therapist अपने क्लाइंट को वो दिखाते है या फिर अनुभव करवाते है जो वो चाहता है जिससे की उसे अपने टारगेट को हासिल करने में मदद मिलती है. इसमें Negative Thinking And Faulty Communication को ठीक किया जाता है जिससे की Psychological growth को improve किया जाता है. ये तकनीक Short & long term दोनों तरह से काम करती है.

हम दिन भर भागदौड़ में रहते है और रात को सो जाते है. सवाल ये है की हम अपने आप को और अपने दिमाग को समझने के लिए कितना वक़्त देते है. जब हम अपने आप को समय देना शुरू कर देते है तो धीरे धीरे सबकुछ सही होने लगता है. हमारे दिमाग में चलने वाली problem का समाधान हमारे पास ही होता है लेकिन हम ध्यान नहीं देते है क्यों की हमारा brain उसके लिए रेडी नहीं होता है.

Common benefit of NLP

ऐसे कई फायदे है जिन्हें NLP or Neuro-linguistic programming के जरिये हासिल किया जाता है. बात करे key benefits of NLP in 2021 तो इन्हें आप यहाँ देख सकते है.

  • Connecting to purpose, values and motivation ये तकनीक हमें हमारे मकसद से जोडती है, उसे हासिल करने के लिए प्रेरित करती है.
  • Successful and fulfilled life एक कामयाब लाइफ के लिए जो भी चाहिए वो सबकुछ हम इसके जरिये हासिल कर सकते है.
  • Improved results, relationships and resilience किसी भी रिजल्ट को और ज्यादा बेहतर बनाया जा सकता है, दूसरो के साथ relationship को मजबूत बनाया जा सकता है.

देखा जाए तो ये हमारे brain को program करती है जिसके जरिये हम अपने अन्दर से negative and Faulty Thoughts से छुटकारा पाते हुए वो सबकुछ डिजाईन करते है जो हमें अपने टारगेट से जोड़ता है. NLP training Benefits में कई चीजे शामिल है जिसमे communication और दूसरो के साथ हमारी influence skills को develop करने का काम करता है.

इससे हमारी emotional intelligence, mental and behavioral flexibility में विस्तार होता है और personal development में हेल्प मिलती है. Neuro-Linguistic Programming training and coaching के जरिये हम leadership, communication, and influence skills को सुधार सकते है.

एक कामयाब जिंदगी जी सकते है और वो सबकुछ हासिल कर सकते है जो हमें चाहिए. ज्यादातर इस तकनीक का प्रयोग leadership, management, sales, coaching, networking and relationship skills में होता है.

Individual benefits of NLP

कुछ common ऐसे benefits है जिन्हें हम अपनी लाइफ में इस तकनीक के जरिये देख सकते है. ऊपर जितने भी फायदे Neuro-linguistic programming तकनीक के बताये गए है उन्हें हम किस तरह प्राप्त करते है उसके लिए 12 building blocks of NLP का प्रयोग किया जाता है.

हर ब्लाक के अपने benefit है जिन्हें हम इसमें प्राप्त करते है. आइये बात करते है उन ब्लॉक के बारे में डिटेल से.

Read : Top 10 How to Improve Love Life Astrology in Hindi अपने प्यार को पहले की तरह मजबूत बनाने के टिप्स

Building our Personal Success System

हमारी सफलता इस बात पर निर्भर है की हम इसके लिए किस तरह के Success System को बना रहे है. Neuro-linguistic programming में इस सिस्टम में सबसे ज्यादा पोपुलर DUFF है जिसमे

  • D direction यानि दिशा
  • U समय का प्रयोग और energy का सही इस्तेमाल जो की हम हर रोज अपने आप को दे रहे है.
  • F यानि फीडबैक जो हमने किया है उसका अवलोकन करना और आगे काम करना
  • F यानि Feed-forward जिसमे अपने पिछले रिपोर्ट के आधार पर आगे की तैयारी शामिल है.

इसे समझते हुए आगे बढे ताकि अपने व्यक्तिगत सफलता तंत्र का सही इस्तेमाल कर सके.

Read : How Quantum Healing Hypnosis Technique work and faster Your brain ability Hindi Guide

Setting Frames

क्या आप जानते है की बिना किसी पूर्व तैयारी के किया गया काम कभी सफल नहीं होता है. जब तक आपके दिमाग में किये जाने वाले काम की रूपरेखा तैयार नहीं होती है तब तक आप सफल नहीं होंगे.

“जो व्यक्ति अपने लिए रूल्स बनाता है वही सफल होता है”

ये बात हर जगह लागू होती है और बिना किसी रूल्स के हम खुद को अनुशासन में नहीं रख सकते है. अगर आप अपने कामयाबी के लिए खुद को तैयार करना चाहते है तो जो आप चाहते है उसे लेकर मानसिक तैयारी पहले करे. Neuro-linguistic programming में भी कुछ बेसिक सेट को बनाया जाता है.

Leading and Managing our Emotional State

दिनभर दिमाग में घूमने वाले Unwanted negative thoughts हमें कभी भी स्टेबल नहीं होने देते है. अगर आप खुद को कामयाब बनाना चाहते है तो बेहतर होगा की अपने Thought and emotion पर बेहतर पकड़ बनाए.

इससे आप न सिर्फ खुद को मनचाहे समय के लिए स्थिर रख पाएंगे बल्कि किसी भी तरह के Negative thoughts and emotion से भी खुद को दूर रख पाएंगे.

Read : How Altered States Of Consciousness Experience can change our life Hindi Guide

Increasing Rapport and Trust when Appropriate

जब दो लोग मिलते है तब एक व्यक्ति दूसरे को कम या ज्यादा प्रभावित करता है. यहाँ हम बात कर रहे है अपने अन्दर की quality को better बनाने की जिसमे हम दूसरो को प्रभावित कर रहे है ना की उनसे हम हो रहे है. दूसरे लोगो को न सिर्फ हम बेहतर तरीके से प्रभावित कर पाते है बल्कि उनका भरोसा भी हासिल करते है.

इस तकनीक का प्रयोग उन लोगो के लिए काफी हद तक beneficial है जो marketing and sales management जैसे profession में है.

Neuro-linguistic programming NLP के जरिये हम अपने Communication Skill को improve करते है, कम बोलते हुए दूसरो को सुनते है जिससे की हमें दूसरो को प्रभावित करने की कला आने लगती है.

Setting our Direction, Outcomes and Goals

हम अपने लक्ष्य को लेकर काम तो कर रहे है लेकिन, क्या हमारा लक्ष्य साफ है ? हम हर रोज लगभग एक जैसी Lifestyle को ही फॉलो करते है और उम्मीद रखते है की लाइफ में कुछ अच्छा होगा. NLP हमें हमारे दिमाग की कार्य प्रणाली को समझने में मदद करती है और हमें ये क्लियर होता है की

  • हमारा लक्ष्य क्या है
  • उसका परिणाम क्या हासिल होगा
  • उसे हासिल करने के लिए किस दिशा में आगे बढ़ना है.

बगैर किसी पूर्व तैयारी और मानसिक रूप रेखा के हम कभी सफल नहीं हो सकते है. Neuro-linguistic programming NLP हमारे लिए purpose, values, and direction को लेकर एक रूप रेखा तैयार करती है. सवाल करना हमें क्लियर करता है जैसे की

  • किसी जानकारी को हासिल करना
  • प्रभावित करना
  • दूसरो की mental state को प्रभावित करना

लेकिन इसके लिए हमें ये मालूम होना चाहिए की

  • हमें क्या पूछना है?
  • पूछने का सही तरीका क्या है?
  • कब और किस मौके पर क्या पूछना है?

ये सब जानकारी जब हमारा brain समझने लगता है तब हम अपने आप को क्लियर करते है और अपने लक्ष्य को लेकर aware रहते है.

Read : How to find joy in Daily Life लाइफ के हर पल में खुशियों को कैसे तलाश करे ? आसान टिप्स

Getting to There

एक सही शुरुआत करने के लिए जो कुछ हमें चाहिए वो इस तकनीक के जरिये मिलता है.हम अपनी शुरुआत कैसे कर सकते है और उसे किस तरह navigate किया जा सकता है इन सबके बारे में सही जानकारी प्राप्त करने के लिए जरुरी है की आप अपने मन को अपने दिमाग की कार्य प्रणाली को पहले समझे.

अपने टारगेट को हासिल करने के लिए हम किस तरह की approach को लागू कर सकते है उन सबके बारे में Neuro-linguistic programming NLP के जरिये समझा जाता है.

Read : Top 5 Best Love Spell That work Immediately Get lost Love back with Vashikaran

Future Pacing

ये एक तरह की Very Powerful Form Of Mental Rehearsal है और भविष्य में हमारे टारगेट को हासिल करने के लिए Performance को बूस्ट करते है. भविष्य में आने वाली किसी भी इवेंट के लिए भी हम खुद को तैयार कर सकते है.

Beliefs

हम खुद को लेकर किस तरह की अवधारणा को फॉलो करते है, अपने आसपास के लोगो के साथ किस तरह Interact करते है और आसपास का वातावरण किस तरह का है ये सब समझना हमें आगे भी ले जा सकता है और छिपा भी सकता है.

हमारे मन में ऐसी कई अवधारणा है जो सही भी है और गलत भी इसलिए किसी भी परिणाम तक पहुँचने से पहले ये जान ले की वो आपके लिए वाकई सही भी है या नहीं.

हम कई ऐसी beliefs को फॉलो करते है जो वाकई में सही नहीं होती है. खुद को दूसरो से बेहतर समझना, काबिल समझना, best समझना ये कुछ ऐसी beliefs है जो हमारे लिए सही नहीं है. NLP के जरिये हम इन्हें समझते हुए खुद को improve करने का काम करते है.

Read : How to Building self-awareness at work top 5 guide you can follow in Hindi

Storytelling in Neuro-linguistic programming

किसी भी मामले को समझने के लिए हम एक रूप रेखा तैयार करते है. चीजे तब ज्यादा बेहतर समझ में आती है जब उन्हें एक कहानी की तरह समझा जाए. ये स्टेप में होती है और आगे बढती है. इसमें कुछ sign, vision शामिल है और इनके जरिये हम खुद को बेहतर समझ पाते है. लम्बे समय तक अपने टारगेट को दिमाग में रखते हुए आगे बढ़ते है.

Read : प्रत्यक्ष भूत सिद्धि घर बैठ कर की जाने वाली 21 दिवसीय आसान साधना

Strategies

किसी भी काम में सफलता के लिए हम कुछ Strategies बनाते है जो की Internal and external steps होते है. इनके जरिये हम खुद को अपने टारगेट के लिए तैयार करते है. जब तक ये नहीं होती है हम बिना किसी प्लान के साथ सिर्फ एक formality करते रहते है.

इन्ही Strategies पर हमारी सफलता निर्भर करती है इसलिए जब तक हम इन्हें क्लियर नहीं करते है आगे नहीं बढ़ पाते है.

इससे हमें पता चलता है की हमें जो चाहिए उसके लिए हमें करना क्या है और जो हम करने वाले है उसके परिणाम क्या होने वाले है. एक तरह से ये एक रूप रेखा का काम करता है.

Hypnosis

सम्मोहन का इसमें काफी अहम् रोल है जिसमे Self hypnosis भी शामिल है. आप इसका प्रयोग चाहे खुद पर करे या फिर दूसरो पर ये आपको मनचाहे परिणाम प्राप्त करने में मदद करता है. ये हमारे communication and influence skill को improve करता है और टारगेट को हासिल करने में मदद करता है.

सफलता के लिए अवचेतन मन में बदलाव को लेकर यही स्टेज है जिसमे हम काम करते है. कई बार Conscious brain में वो मेमोरी क्लियर नहीं होती है या फिर अनचाहे विचार हमें एक जगह फोकस नहीं होने देते है जिसकी वजह से हम अपने Subconscious mind को access करते है और उसके जरिये अपने आप को समझते है.

Modelling

Neuro-linguistic programming NLP एक ऐसी modelling discipline है जो हमें हमेशा इस बात को लेकर curios रखती है की हम चाहते क्या है और उसे प्राप्त करने के लिए क्या कर रहे है.

हम जो मॉडल बनाते है वो हमें समझने में मदद करता है की दूसरो के साथ किस तरह communicate करना है और अपने टारगेट को हासिल करना है. हमारी हर एक्टिविटी को इस ब्लाक में समझा और तैयार किया जाता है.

Read : Finger Induced Lucid Dream how it work benefit and effect simple guide Hindi

How Neuro-linguistic programming NLP works Final conclusion

ये एक ऐसी तकनीक है जो हमारे brain को reprogram करती है. हमें जो चाहिए उसके लिए हम क्या कर सकते है, अपने टारगेट को हासिल करने और लाइफ में आगे बढ़ने में जो भी problem आ रही है उसे किस तरह achieve करना है उसकी रूप रेखा किस तरह तैयार करनी है ये सब हम इस तकनीक के जरिये कर सकते है.

Subconscious mind reprograming की best technique में से एक Neuro-linguistic programming NLP है जिसे आज सबसे ज्यादा Therapy में प्रयोग किया जाता है.

इस तकनीक को ज्यादातर मानसिक तनाव या कमी से जुड़ी समस्याओ को सुलझाने के लिए प्रयोग किया जाता है. अगर आप किसी तरह के Sleeping disorder, stress, past life regression, mental disorder, Borderline personality issue से गुजर रहे है तो आपको NLP का treatment और Online session attend करने चाहिए. ये आपको आपके लाइफ में आगे बढ़ने के लिए किस तरह के स्टेप लेने है उन्हें समझने में मदद करता है.

इस पोस्ट में सिर्फ इतना ही अगर आप इस Amazing mind programing technique के बारे में और ज्यादा जानना चाहते है तो हम जल्दी ही इसके अलग अलग पार्ट ब्लॉग पर शेयर करने वाले है. ये तकनीक काफी ज्यादा विस्तृत है और पूरी तरह से समझने में आपको काफी समय लगने वाला है.

Never miss an update subscribe us

* indicates required
Previous articleTop 10 How to Improve Love Life Astrology in Hindi अपने प्यार को पहले की तरह मजबूत बनाने के टिप्स
Next article4 Stage and Powerful way to Heal Episodic Migraine Naturally माइग्रेन को रोकने के कुछ आसान टिप्स
Nobody is perfect in this world but we can try to improve our knowledge and use it for others. welcome to my blog and learn new skill about personal | psychic | spiritual development. our team always ready to help you here. You can follow me on below platform

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here