क्या वाकई मेन्टलिज़्म मानसिक शक्ति है या सिर्फ एक जादूगरी का खेल

2

मेन्टलिज़्म की कलामेन्टलिज़्म यानि मानसिक शक्तियों के अभ्यास में से एक कला जिसका प्रदर्शन कर कई जादूगर लोगो को आश्चर्य में डाल देते है। मेन्टलिज़्म की कला हमारी मानसिक शक्तियों पर निर्भर करती है। इस कला में 2 चीजे होती है पहली माध्यम जिस पर मेन्टलिज़्म कला का प्रदर्शन किया जाता है और दूसरा इसे करने वाला। ये हमारी कल्पना शक्ति पर काम करती है जिसमे हमें सामने वाले के मन में चलने वाले विचारो को भांप कर समझना पड़ता है। इसे दूसरे शब्दों में हम सम्मोहन, टेलीपैथी और दिमाग को कण्ट्रोल करने की कला का मिश्रण कह सकते है।

मेन्टलिज़्म की कला कैसे की जाती है ?

How to do mentalism यानि दिमाग को कैसे पढ़ा जाए ? mental ism एक ऐसी कला है जिसमे हर उस कला को जोड़ा गया है जो हमारे मानसिक अभ्यास में आती है। ऊपर बताया जा चूका है इस अभ्यास में हमें पैनी नजर और आत्मविश्वास से भरी प्रकृति का बनना आवश्यक है तभी हम इसमें कामयाब बन सकते है। देखा जाए तो मेन्टलिज़्म की पूरी कला सिर्फ और सिर्फ व्यक्ति के आत्मविश्वास और उसके द्वारा लोगो के सामने illusion पैदा करने पर टिकी हुई है। इसमें बैकग्राउंड म्यूजिक भी शामिल है जो लोगो के दिमाग को हर पल बिजी रखता है।

मेन्टलिज़्म की कला में 3 बाते होती है पहला माध्यम की हरकतों पर गौर करते रहना। दूसरा उसे मिस-गाइड करना और उसे मन में सोचने वाली बातो से अलग ले जाना या मन की बातो को जुबान पर ले आना तीसरा और महत्वपूर्ण हिस्सा है माध्यम पर आत्मविश्वास के साथ हावी होना। इसमें medium को लगने लगता है की आप जो कह रहे है वही सही है। किसी के मन की बात को उसे पहले से बताना, ताश के पत्तो से माध्यम का सोचा हुआ पता दिखाना और भी इसी तरह की ट्रिक्स है जो इस कला के माध्यम से की जाती है। इन सबमे आपके विचार और मनोभाव पर हर पल नजर राखी जाती है जिससे की वो आपको पकड़ सके।

पढ़े  : बीते कल की घटनाओ और पुनर्जन्म को याद करने का अभ्यास

मेन्टलिज़्म की सफलता के सबसे खास राज :

3 Biggest Mental-ism Secrets जो इस अभ्यास को सफल बनाते है इनके बारे में जानने पर आपको अच्छे से समझ आ जायेगा की मेन्टलिज़्म अभ्यास कैसे काम करता है। क्या वाकई किसी के दिमाग को पढ़ा जा सकता है ? बिलकुल और ऐसा संभव है जब आप निम्न 3 बातो में से किसी 2 पर अपनी अच्छी पकड़ बना लो।

1.) माध्यम के होंटो ( Lips ) की हरकतों को पहचाने :

आपने देखा होगा की ताश के पत्तो के या फिर नंबर के चुनाव के खेल में आपसे किसी एक पत्ते या न नंबर को चुनने को बोला जाता है। जब आप ऐसा करते है तब आपसे एक बार फिर से उस नंबर को याद करने को बोलते है। लगभग 70% मामले में आप यही पर पकडे जाते है क्यों की ऐसा करने के पीछे मेंटलिस्ट की मंशा आपके जुबान पर उस नंबर को बुदबुदाने की है जो आप सोचते है। आपको यही लगता है की आप उस नंबर को फिर से अच्छे से याद कर रहे है। लेकिन वास्तव में वो आपके मन को पकड़ने की सबसे पहली चाल है। कई बार ऐसा होता है की मेटलिस्ट आपको 2 से ज्यादा बार भी ऐसा करने को कहते है।

पढ़े  : क्या आप विचारमात्र से शरीर और मन को कण्ट्रोल कर सकते है ?

2.) सोच से हटाना सबसे बड़ी उपलब्धि है :

आप अपने मन में लाख ऐसा सोच कर मेंटलिस्ट के सामने जाते है की वो आपको पकड़ नहीं पायेगा लेकिन वो आसानी से आपको अपने मायाजाल में फंसा लेता है। दरअसल लोगो की मानसिकता ये है की अगर उन्हें बार बार पुरे आत्मविश्वास के साथ कहा जाए की क्या आप अपनी बात पर कायम है तो ये जानते हुए भी की उनकी बात सही है वो दोबारा सोचने पर मजबूर हो जाते है। यही समय है जब मेंटलिस्ट आपकी सोच को हटा कर उन बातो को आपके दिमाग में बिठाता है जो उसके दिमाग में होती है। इसी वजह से वो आसानी से आपकी सोच को पकड़ लेता है।

मान लीजिये की आप कई लड़कियों के साथ चक्कर रखते है। मेन्टलिज़्म की कला के एक्सपर्ट को इसका शक हो जाता है और आप चाहते है की आप उसके जाल में ना फंसे। जब मेंटलिस्ट आपसे सवाल करता है तब वो कुछ ऐसे शब्दों पर जोर देता है जिनसे आपके मन में भ्रम की स्थिति पैदा होने लगती है। जैसे आपको पता था की आपने कल क्या देखा। लेकिन वो कहता है की क्या आपको लगता है की आपने वाकई वह सब देखा जो आप बता रहे है। एक बार जब आपके मन में शंका उत्पन हो जाती है तब वो आपके हावभाव समझ कर आपको मिस-गाइड करता है जैसे की वहा पर आपने ये देखा होगा या ये वहा पर होगा। जब वो कहता है उसी वक़्त माध्यम के मन में उस स्थिति से जुड़े विचार बनने शुरू हो जाते है जो वास्तव में मेंटलिस्ट के विचार थे।

पढ़े  : multiple personality और माता की सवारी से जुड़ी खास बाते जो आपको जाननी चाहिए

3.) शब्दों का जाल और इसके मायने

इसे गहराई से सोचने पर अगर उदहारण के जरिये समझे तो मान लीजिये आप मेंटलिस्ट के सामने जाते है वो आपसे पूछता है की आपने कल सुबह क्या खाया था सोच लीजिये जब आप सोचते है तो आपके मनोभाव को पढ़ने के साथ साथ वो ये कोशिश करता है की वो आपको मिस-गाइड कर सके या अपनी बातो में उलझा सके।

अब वो बाते करते करते ये दिखावा करता है की वो आपके दिमाग को पढ़ रहा है और साथ ही साथ ऐसे शो करता है की आपने शायद ये खाया था नहीं नहीं ये खाया होगा तब आप के मन में फिर से वही चीज घूमने लगती है जो आपने कल सुबह खाई थी और जब वो बोलता है तब आपकी आंखे उसके कण्ट्रोल में होती है उसकी नजर आपके लिप्स की हरकतों पर और वो गेस करते करते आपके मन की ही बात को आपको बता देता है। शब्दों के जाल में फंसने के बाद आपके होंठ खुद-ब-खुद वो शब्द बुदबुदाने लगते है जो आपके मन में है। ऐसा इसलिए क्यों की आपको लगता है की ऐसा कर आप अपने विश्वास को बढ़ा रहे है लेकिन वास्तव में मेंटलिस्ट को मौका दे रहे है खुद को पढ़ने का।

पढ़े  :  अनचाहे विचारो से छुटकारा पाना है तो आजमाइए इन तरीको को

top 5 mental-ism trick to do

मेन्टलिज़्म की कला पर आधारित कुछ खेल ऐसे है जिनसे आप अपने दोस्तों को आश्चर्यचकित कर सकते है। mentalism secret technique में कुछ ट्रिक्स शामिल की गई जिन्हे आप mental-ism tricks for beginner यानि मेन्टलिज़्म के शुरुआती अभ्यास के तौर पर कर सकते है।

1.) कार्ड रीडिंग ट्रिक्स :

सबसे आसान और ज्यादा से ज्यादा की जाने वाली ट्रिक्स जिसे आप दोस्तों के साथ कर सकते है। इस खेल में आपके माध्यम ताश के पातु में से एक पत्ते का चुनाव करते है और वापस उसे गड्डी के साथ मिला लिया जाता है। बाद में कुछ देर बाद जब माध्यम को पत्ते दिखाए जाते है तब संभावित कुछ पत्ते उसे दिखाते है और उस दौरान उसके हावभाव को पढ़ कर सही पत्ते को बताया जाता है। ये ऐसा खेल है जिसे आप अपने हिसाब से भी खेल सकते है।

पढ़े  : आत्मसुझाव कैसे काम करता है इसे आत्मसम्मोहन में कैसे काम में लिया जाता है

2.) मेन्टलिज़्म की कला-नंबर ट्रिक्स :

इस खेल में आप माध्यम को नंबर की लिमिट में से एक नंबर के चुनाव के लिए कहते है। जब वो ऐसा सोच लेते है तब उन्हें 2-3 बार उस नंबर को मन ही मन दोहराने के लिए कहते है। ऐसा करने के बाद आप उन्हें कुछ अन्य बातो के जाल में फंसा लेते है जो की सोचे गए वास्तविक नंबर को पकड़ने की ट्रिक में शामिल है। जब ऐसा होता है तब माध्यम के जुबान पर वो नंबर बार बार आता है और मेंटलिस्ट द्वारा समझ लिया जाता है।

3.) सोच को शब्दों पर उकेरना की ट्रिक्स :

ये ऐसी ट्रिक्स है जो शातिर दिमाग वाले के लिए बनी है। इस खेल में आपको सामने वाले पर बहुत गहरी नजर रखनी पड़ती है। आपके सामने कई नामो से भरी एक लिस्ट होती है जिसमे से किसी एक शब्द का चुनाव माध्यम करता है। इस खेल में आप उसकी नजर को लिस्ट में से पकड़ कर कुछ हद तक अंदाजा लगा सकते है। लेकिन वास्तविक शब्द को पकड़ने के लिए आपको माध्यम के मन में उस शब्द से जुड़े विचार पैदा करने पड़ते है।

पढ़े  : Tarot card reading से जुड़े रोचक fact और टैरो कार्ड रीडिंग का सही तरीका

4.) सेल फोन कार्ड ट्रिक :

क्या किसी सेल फोन से आप माध्यम के सोचे गए कार्ड को पहचान सकते है ? ज्यादा सोचिये मत ये सिर्फ ट्रिक का एक हिस्सा है जिसमे हम ताश के पत्ते में से एक मनपसंद पत्ते का चुनाव माध्यम द्वारा करवाते है। इसके बाद सेल फोन को पत्ते के पास रख कर सेल द्वारा खेल खेलते है जिसमे माध्यम के हावभाव को पढ़ने के लिए आपको समय मिल जाता है। इस खेल का राज सिर्फ इतना ही है की पत्ते के चुनाव के वक़्त माध्यम के हावभाव क्या रहते है खासतौर से तब जब वो दोबारा उसके सामने आता है।

5.) कोल्ड रीडिंग गाइड सबसे मजेदार ट्रिक्स :

इस तकनीक में हम लोगो के बिच बोलते बोलते ये शो करते है की हम उनका मस्तिष्क पढ़ रहे है। लेकिन वास्तव में हम सिर्फ शब्दों के जाल फेंक कर उनके मन में सोची गई बातो को पढ़ने की कोशिश करते है। जब आप शब्दों का जाल फेंकते है तब माध्यम अपनी सोची गयी बात को मन में दोहराने लगता है और इसी दौरान वो मेंटलिस्ट की पैनी नजर का शिकार बन जाता है। इन तकनीक खासतौर से मेन्टलिज़्म की कला को समझने के लिए आप Now you see me Hollywood मूवी देखा सकते है। जिसमे अच्छे से इस कला को दिखाया गया है।

तो दोस्तों कैसा लगा आपको आज का पोस्ट मेन्टलिज़्म की कला उम्मीद करता हूँ कुछ नया जानने को मिला होगा। ये पोस्ट ब्लॉग के रीडर की डिमांड पर लिखी गयी है और अगर आप भी चाहते है की आपको सच्ची-प्रेरणा पर आपके मनपसंद आर्टिकल मिले तो हमें मेल करना ना भूले आप कमेंट के माध्यम से भी हमें बता सकते है की आप किस तरह के आर्टिकल चाहते है। अगर आप मेन्टलिज़्म पर आधारित बुक सर्च कर रहे है तो you can download mentalism pdf book here ये आपको शुरुआती तकनीकी समझने में काफी मदद कर सकती है।

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.