mental illness कही आपके आसपास कोई व्यक्ति किसी तरह की मानसिक बीमारी का शिकार तो नहीं ?

0

एक सर्वे में पाया गया है की आज स्कूल के बच्चे जितना तनाव झेल रहे है उतना ही तनाव 1980 के दशक के समय psychology के पेशेंट झेलते थे. आपकी नजर में Definition of Mental Illness क्या हो सकती है ? एक व्यक्ति जो दिखने में काफी healthy है लेकिन हमेशा विचारो के तनाव में घिरा रहता है या फिर कुछ और ? खैर इसका जवाब आपको popular perception से काफी अलग लग सकता है लेकिन कुछ नया आपको यहाँ जानने को मिलेगा.

mental illness

सबसे पहले बात करते है mental illness के बारे में तो ये हमारी mental health conditions पर पड़ने वाले negative effect को लेकर है जिससे हमारी individual thinks, feels, and behaves में changes आता है. ये बिलकुल वैसे ही है जैसे बुखार होने पर हमारे सर में दर्द होना.

what is mental illness

मानसिक बीमारी किसी भी व्यक्ति के व्यवहार और बर्ताव में आये कुछ ऐसे बदलाव है जो उसके दिमाग में चलने वाले negative effect का परिणाम होते है. दिमाग पर जब किसी तरह का नकारात्मक प्रभाव पड़ता है तब व्यक्ति के सोचने समझने, व्यवहार और कार्य करने के तरीके में बदलाव आता है जो की दुसरो और खुद के लिए अच्छा नहीं होता है.

जैसे जैसे हम दिमाग पर ज्यादा से ज्यादा निर्भर होते जा रहे है वैसे ही इसके उभरने के चांस भी बढ़ते जा रहे है. एक समय था जब एक मानसिक रोगी जितना तनाव झेलता उतना तो आज हम नॉर्मली स्कूल में तनाव से सामना करते है. इसकी वजह कई है जो की खुद के लिए समय न निकाल पाने की वजह से होती है. मानसिक बीमारी को और ज्यादा अच्छे से जानने के लिए सबसे पहले कुछ आंकड़ो को देखते है.

मानसिक बीमारी के आंकड़े

The National Institute of Mental Health ने अपने एक सर्वे में बताया की उन्होंने 5 में से 1 व्यक्ति के अन्दर इस तरह के mental illness symptom पाए गए है. इस हिसाब से उनकी टोटल पापुलेशन में से 20% लोग मानसिक बीमारी के शिकार थे. इसे आगे चलकर 2 ग्रुप में बाँट दिया गया पहला Any Mental Illness (AMI) और दूसरा Serious Mental Illness (SMI), एक छोटा मगर विस्तृत ग्रुप.

इस रिसर्च में एक बात और सामने आई की हर 25 में से 1 अमेरिकन व्यक्ति Serious Mental Illness को experience कर रहा था. ये वाकई बेहद सीरियस प्रॉब्लम थी जिसका solution जल्द से जल्द ढूँढना बेहद जरुरी था क्यों इसका असर उनकी daily life activity पर साफ देखा जा सकता था. कुछ खास तरह की mental illnesses जैसे की ADHD जो की बचपन से देखी जा सकती थी वही दूसरी और schizophrenia जैसी बीमारी के लक्षण युवा होने के समय देखे गए.

certain anxiety सबसे ज्यादा पाया जाने वाला रोग था जो की अक्सर लोगो में देखा जा सकता था और ये वजह बेवजह कभी भी लोगो में उभर सकता था. इसके अलावा लोगो में एक ही समय में एक से ज्यादा बीमारी भी देखी जा सकती थी जैसे की  generalized anxiety के साथ ADHD. या फिर anorexia nervosa से पीड़ित व्यक्ति जो की उसी वक़्त depression को भी फेस कर रहा था.

Types of mental illness

अमेरिकन एसोसिएट The American Psychiatric Association’s Diagnostic and Statistical Manual of Mental Disorders (DSM) ने ऐसी सेंकडो तरह की specific mental illnesses or disorders को भागो में बाँट रखा है जिन्हें हम क्लास टाइप के जरिये समझ सकते है. जैसे की

  • Neuro-developmental disorder – खास तरह की बीमारी जिसमे शरीर कम्पन करने लगता है.
  • Schizophrenia spectrum and other psychotic disorders
  • Bipolar and related disorders –
  • Depressive disorders – तनाव की वजह से होने वाली मानसिक समस्या
  • Anxiety disorders – बेचैनी
  • Obsessive-compulsive and related disorders – किसी खास हरकत को बार बार दोहराना
  • Trauma and stress-related disorders – बीमारी से ठीक होने के बाद होने वाला तनाव
  • Associative disorders
  • Somatic symptom and related disorders
  • Feeding and eating disorders – खाने पिने को लेकर सामान्य न रह पाना
  • Elimination disorders
  • Sleep-wake disorders – सोने और जागने को लेकर होने वाला मानसिक भ्रम
  • Sexual dysfunction
  • Gender dysphoria – ऐसे लोग जिस जेंडर में जन्म लेते है उसमे फिट नहीं बैठते है.
  • Disruptive, impulse-control and conduct disorders
  • Substance-related and addictive disorders
  • Neuro-cognitive disorders
  • Personality disorders – एक व्यक्ति की पर्सनालिटी में बदलाव आ जाना
  • Paraphilic disorders
  • Other mental disorders

Signs and Symptoms

इसके लक्षण व्यक्ति में कंडीशन के आधार पर पता लगते है जैसे की depression जैसी बीमारी में व्यक्ति को खुद में energy की कमी और सोने में तकलीफ महसूस होती है वही जिन लोगो में eating disorder से पीड़ित व्यक्ति जरुरत से ज्यादा खाना तो खा लेते है लेकिन मोटे या वजन बढ़ने के डर से उसे वापस उलटी कर देते है.

दुसरे शब्दों में कहे तो मानसिक बीमारियाँ सामान्य तौर पर नजर नहीं आती है ये तब सामने आती है जब व्यक्ति किसी खास कंडीशन में होता है. कुछ लोगो को प्यार में किसी को खो देने से डर भी लगता है लेकिन इसका मतलब ये नहीं की वो mentally ill है बल्कि इसके लक्षण समय के आधार पर एक दिन, एक सप्ताह या फिर एक महिना भी हो सकते है.

कुछ लोगो को पता होता है की उन्हें किसी तरह की समस्या है जिसकी वजह से उनकी daily life routine पर असर भी पड़ रहा है. कुछ लोग इसे पहचान तो लेते है लेकिन मानने से इंकार करते रहते है जैसे की

हर mental illness में हमें different set of symptoms देखने को मिल सकते है लेकिन व्यव्हार, सोच में बदलाव लाकर वो इसे accept कर लेते है. अगर आपको लगता है की आप इस तरह के symptom से फेस कर रहे है तो psychologist or physician से जल्द consult कर ले.

मानसिक बीमारियों की असली वजह

वैसे तो इसकी असली वजह का पता आज तक नहीं चल सका है लेकिन जब भी किसी तरह की मानसिक बीमारी डेवेलोप होती है उसके symptom के आधार पर हम इसे जान सकते है. आइये जानते है कुछ ऐसे ही वजहों के बारे में

  • genetics : सबसे पहली वजह है परिवार में अनुवांशिक बीमारियाँ यानि ऐसी बीमारी जो आपको अपने पूर्वजो से मिली हो. कुछ खास बीमारी जैसे की schizophrenia इसके लक्षण आपके परिवार में अगर बड़ो को है तो आपमें भी इसके symptom मिलने के चांस बढ़ जाते है.
  • Biology: हमारे दिमाग की रासायनिक प्रक्रिया भी इसमें अहम् रोल निभाती है. इसमें Changes in neurotransmitters शामिल है जिसमे हमारे दिमाग तक भेजे जाने वाले संकेत प्रभावित होते है.
  • Environmental exposures before birth: अगर आपके जन्म से पहले आपकी माता ऐसे माहौल के संपर्क में आती है जो सही नहीं होता है जैसे की नशा करना, धुम्रपान करना तो pregnancy के time आप अनजाने में ही इससे प्रभावित हो जाते है और कमजोर होते है.
  • Life experiences: stress-full life event भी आपके अन्दर development of a mental illness में खास भूमिका निभाती है. ऐसे लाइफ में हम अपने आसपास ऐसी मानसिक चीजो का निर्माण करते है जिनसे हमें आंशिक संतुष्टि मिलती है. जिंदगी से भागते हुए हम ऐसी लाइफ में जीने लगते है और असलियत से भागने लगते है.
मानसिक बीमारी की वजह से लाइफ में आने वाली समस्या

अगर किसी व्यक्ति को mental illness है तो इसकी वजह से उसकी लाइफ में काफी सारे बदलाव और समस्या उत्पन होती है. कुछ common complications निचे आप पढ़ सकते है

  • परिवार के साथ रिश्तो में परेशानी
  • उन गतिविधि में रूचि ख़त्म हो जाना जिसमे पहले आपका मन था.
  • Sexual dysfunction
  • कार्य क्षेत्र में लगातार अनुपस्थिति
  • Decreased performance at school or work
  • समस्याओं की वजह से wealth level में गिरावट – Poverty
  • सबसे दूर हो जाना – Homelessness
  • कुछ खास तरह के सामाजिक Legal issues
  • नशे की लत का बढ़ जाना Drug or alcohol problems
  • शारीरिक समस्या जैसे शरीर में कम्पन – Physical health problems
  • दिमाग में इस तरह टेंशन बढ़ जाना की आत्महत्या करने जैसे ख्याल आना – Increased risk of suicide
  • व्यवहार में बदलाव आ जाना – Behavioral issues

Diagnosis – पहचान कैसे की जाए?

इसके लिए  Diagnostic and Statistical Manual (DSM-5) जैसी एक guideline इस्तेमाल की जाती है जिसके जरिये professionals expert अपने पेशेंट में diagnose mental illness की पहचान करते है. ये एक ऐसी Guideline है जो हर mental illness के लिए responsible संभव criteria and symptoms की पहचान करती है.

इसकी पहचान physician or mental health expert जैसे की psychologist or psychiatrist के द्वारा की जाती है. इसे समझने के लिए एक्सपर्ट आपका इंटरव्यू लेते है जिसमे वो आपकी बीमारी उसकी पीछे का रिकॉर्ड और उस बीमारी की वजह से आपकी लाइफ में क्या क्या प्रॉब्लम आ रही है इन सबको समझने की कोशिश करता है. कोई करीबी व्यक्ति भी इसके लिए चुना जा सकता है ताकि वो खुद उन experience को शेयर कर सके जो उसने देखे है.

mental illness treatment

मानसिक बीमारियों को पूरी तरह ठीक नहीं किया जा सकता है ये बात हम सब जानते है लेकिन अगर सही तरीके से इन्हें ट्रीट किया जाए तो इन्हें उभरने से रोका जा सकता है और साथ ही लाइफ में इनकी वजह से आने वाली किसी भी प्रॉब्लम को भी रोका जा सकता है.

इसके ट्रीटमेंट बीमारी के आधार पर अलग अलग होते है जैसे की psychotic disorders को spiritual meditation practice के जरिये ट्रीट किया जा सकता है. अगर किसी व्यक्ति को personality disorders है तो वो व्यक्ति talk therapy में बेहतर respond कर सकता है.

अगर आपको लगता है की आप या आपका कोई करीबी इस तरह की मानसिक बीमारी से परेशान है तो उसे किसी अच्छे physician or mental health expert से consult करवाना न भूले.

Never miss an update subscribe us

* indicates required

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here