Positive and long life के लिए Fitness and mental health क्यों बेहद जरुरी है ?

0

अगर आप चीजो को अचानक ही भूलते जा रहे है तो इसका मतलब है की आप मानसिक तौर पर कमजोर चुके है. Mental fitness का मतलब है psycho-social well-being ये एक state है जिसमे हम मानसिक तौर पर मजबूत होते है. हम क्या कर रहे है, कैसे कर रहे है और क्या सोच रहे है ये सब positive होना mental health को show करता है. कुछ ऐसे Mental fitness components है इसे निर्धारित करते है.

अगर Self-determination theory की माने तो Fitness and mental health दोनों हमारे लिए बेहद जरुरी है. आज play store पर ऐसी कई Mental fitness app है जो ये दावा करती है की ये आपके दिमाग को मजबूत बनाती है. आज की पोस्ट में 10 healthy habits for mental fitness के बारे में कुछ नया जानेंगे जिससे की mental illness की problem से छुटकारा पाया जा सके.

Mental fitness

चीजो को अचानक भूल जाना, याद आते आते रह जाना ये कुछ ऐसी शुरुआती लक्षण है जो बताती है की हमें अब अपने brain को creative बनाने की जरुरत है. समय रहते सुधार करने से हम चीजो को सही कर सकते है इसलिए mental fitness के बारे में जान लीजिये.

What is Mental fitness

Physical and mental fitness निर्भर करती है की हम इन्हें कितना काम में लेते है. जितना हम Physical exercise करते है उतना ही हमारा body fit रहता है ठीक उसी तरह जितना हम mental exercise करते है उतना ही हमारा brain अच्छे से काम करता है.

जब भी हम कोई नया काम करते है एक नया neural pathways बनता है जो की हमारी brain health को निर्धारित करता है, इसीलिए कहा गया है दिमाग को जितना घिसा जाता है ये उतना ही निखरता है.

मेंटल फिटनेस की पहचान

अगर कोई व्यक्ति high levels of mental fitness रखता है तो उसमे कुछ खास बाते होगी जैसे की

  • अपनी strengths, limitation and interests के बारे में अच्छे से पता होना.
  • Creativity
  • Problem solving and conflict resolution
  • Actions and decisions को लेकर सही पूर्वानुमान लगा पाना.
  • Seek help when needed
  • Ideas and actions को follow करना ना की difficulty or opposition के नाम पर रोना.

ये खास बाते जिसमे होती है वे mentally healthy होते है.

क्या मेंटल फिटनेस मायने रखती है

ये इसलिए मायने रखती है क्यों की positive lifestyle इसी पर निर्भर करती है. इसके अलावा हमारी Physical health भी इसी पर निर्भर होती है. mental fitness ही है जो हमें अच्छा खाने, positive lifestyle and tobacco or alcohol free living के लिए motivate करती है.

इसके ठीक विपरीत जब हम 3 basic psychological needs को पूरा नहीं कर पाते है तो emotional, social, and physical wellness को लेकर बहुत बड़े रिस्क से गुजरने का खतरा रहता है. research से ये बात प्रूफ हो चुकी है की जो लोग फिट होते है वे ज्यादा लम्बी लाइफ तो जीते ही है बल्कि लाइफ में हर जगह सफलता भी हासिल करते है.

10 healthy habits for mental fitness

दिनभर के कामो में अगर थोडा थोडा वक़्त निकाल कर हम brain workout पर फोकस कर सके तो कई problem solve हो सकती है. गुस्सा आना, चीजे भूल जाना, थका हुआ महसूस करना ये सब इसलिए होता है क्यों की हम लम्बे समय से एक ही routine को follow करते है.

अगर कुछ नया किया जाए तो ये हमें Creative बनाता है साथ ही काम में मन लगा रहता है और हम बोरियत महसूस नहीं करते है. आइये जानते है कुछ ऐसी mental fitness से जुड़ी healthy habits के बारे में.

विपरीत हाथ से काम करना

आप में से कितने लोग हर रोज कुछ नया try करते है ? हमेशा हम कुछ चीजे एक ही तरीके से करते रहते है जैसे की उठकर एक ही activity को रोज करना, एक ही हाथ से लिखना या फिर एक ही तरीके से दैनिक कार्यो को करते रहना. कभी non-dominant hand से लिखने की कोशिश की है ?

Non-dominant hand यानि वो हठ जिसे हम लिखने, खाना खाने या किसी और कार्य में इस्तेमाल नहीं करते है. ज्यादातर लोग right hand से काम करते है. आपको कुछ नया करना है तो उलटे हाथ से लिखने की कोशिश करके देखे. ये आपके दिमाग को busy और active बनाता है.

उलटे हाथ में घड़ी पहनने की कोशिश करे ताकि आपका दिमाग ज्यादा active रह सके.

Only Use Lists as Backup

हमारी आदत होती है की हम किसी भी काम की लिस्ट बनाकर रखते है. To do list, grocery list ये कुछ ऐसी आदत है जिन्हें हम daily routine life में काम में लेते है. लिस्ट बनाकर रखना अच्छी बात है लेकिन इन्हें सिर्फ एक backup के तौर पर रखे. इन पर निर्भर होना आपके दिमाग को बाहरी चीजो पर निर्भर बनाता है.

कोशिश रखे की आपको जो लेना है आप उसे दिमागी तौर पर याद रखे. mental exercise करने के लिए आप जाने से पहले चीजो को दिमागी स्तर पर दोहरा सकते है ताकि आपको याद रहे की आपको क्या क्या लेना है.

अगर आपको इनका इस्तेमाल करना भी पड़े तो कोशिश रखे की सिर्फ एक बार इन्हें चेक करना पड़े. एक बार में ही सब चीजे देखे और फिर उन्हें उसी तरीके से लेने और करने की कोशिश करे. ऐसा करने से आपका दिमाग ज्यादा से ज्यादा सक्रिय होगा.

फ़ोन नंबर को याद रखना सीखे

एक टाइम था जब बहुत कम घरो में Landline होते थे और खास लोगो के नंबर को याद रखते थे. धीरे धीरे इसका स्थान smartphones ने ले लिया. अब तो किसी contact को याद रखने की जरुरत नहीं है क्यों की मोबाइल में ही नंबर को save किया जा सकता है. हुआ ये की हम इस पर जरूरत से ज्यादा निर्भर होते गए. कितने लोगो के नंबर आपको मुख जबानी याद है ?

शायद एक या दो ! लेकिन बड़े बुजुर्ग आज भी किसी नंबर को save ही नहीं करते है बल्कि उन्हें याद रखने की भी कोशिश करते है. हर रोज एक नंबर को याद करने की कोशिश करे तो हम दिमाग को mental fitness के लिए तैयार कर सकते है. ये एक अच्छी exercise है जो दिमाग को active रखने में मदद करती है.

पढ़े : corona virus symptom and Precaution

हर रोज एक नई कहानी बनाए

हर रोज सुबह जब उठे तो लोगो के साथ कुछ नया करने के बारे में सोचे. आज की इस लाइफ में हमारा schedule fix हो चूका है. हम एक ही तरीके से खाते पीते और काम करते है. अगर खुद को active रखना है तो हमेशा कुछ नया करने के बारे में सोचे. लाइफ से जुडी ये घटना आपके वर्तमान या past की हो सकती है. अगर आप इसे दूसरो के सामने most entertaining way में रख सकते है तो और भी अच्छा है.

दूसरे आप में interest तभी show कर सकते है जब आपके पास कुछ अलग और नया हो. किसी बात को दूसरो के सामने कैसे पेश करना है ये एक art है और इसका सही प्रयोग करना न सिर्फ आपको physical and mental fitness के लिए ready करता है बल्कि attractive personality बनाने में भी मदद करता है.

पढ़े : Sama Vritti Pranayama for stress management

घटनाओं को देखने और समझने की कोशिश करना

हर रोज एक specific thing को observe करने की कोशिश करे. एक जगह पर बैठ कर लोगो ने क्या पहना है इसे observe करना, एक घटना किस तरीके से घट रही है इसे देखना और समझना ये सब कुछ ऐसी activity है जो आपको दिमागी स्तर पर active बना सकती है. किसी भी घटना को बिना किसी participate या interfere के सिर्फ observe करना Mindfulness meditation की तरह है.

एक घटना किस तरीके से घट रही है इसे पूरी तरह से observe करना और फिर ये सोचना की इसे किस तरह हम और भी better बना सकते है ये एक ऐसी प्रक्रिया है जो आपके दिमाग को creative बनाती है.

अपने activity को अलग तरीके से करने की कोशिश करे

सुबह घूमने जाते समय, ऑफिस जाते समय क्या आप भी एक ही लाइन को follow करते ? अगर हाँ तो इसे बदलने की कोशिश करे. जब भी घूमने जाए तो रास्ते में, चलने के तरीके में इन सब में बदलाव की कोशिश करे. ऐसा करने से दिमाग नया सीखता है और मेमोरी में special neural pathway बनना शुरू हो जाता है.

करने के लिए कुछ नया ना हो तो अपने काम करने के तरीके में बदलाव किया जा सकता है. कुछ भी ऐसा करे जो आपके तरीके में कुछ नया ला सकता है.

पढ़े : Sigil magic जिसके जरिये हम अपने उदेश्य को जल्दी प्राप्त कर सकते है – 2020 Easy Ritual Guide

Break the Routine

daily routine की activity में बदलाव कर हम क्या feel करते है ये एक ऐसी task है जिसे करना बेहद मजेदार अनुभव होता है. सुबह उठकर कॉफ़ी पिने की बजाय खाना खाना, शाम को घूमने जाने की बजाय कुछ और नई गतिविधि करे. हम रोज जो काम करते है उन्हें उसी क्रम में ना कर अलग अलग तरीके से करना हमें ज्यादा active बना सकता है.

ऐसा करना आपको mental fitness के लिए न सिर्फ तैयार करवाता है बल्कि आपको ये भी पता चलता है की आप चीजो को कब और कैसे बेहतर तरीके से कर सकते है. एक ही गतिविधि को दिन के अलग अलग टाइम करने से हम ये जान पाते है की किस काम को कब सही तरीके से कर सकते है.

समस्या को सुलझाने की कोशिश करे

किसी भी काम को करने से पहले अगर उसकी mental preparation की जाए तो उस काम को करना बेहद आसान हो जाता है. पिछली पोस्ट How to solve problem like a pro में हम बता चुके है की किसी भी नये काम को शुरू करने से पहले उसे दिमागी स्तर पर समझने की कोशिश करनी चाहिए.

नए काम को कैसे शुरू करना है, कब और किस तरह करना है और उसमे क्या क्या problem आ सकती है इन सबका विश्लेषण करना आपको न सिर्फ creative बनाता है बल्कि आप किसी भी काम को नए तरीके से कर पाते है.

लिस्ट बनाए

चीजो को आपस में जोड़ने के लिए आप नई नई लिस्ट बना सकते है. आपने अब तक कहा कहा ट्रेवल की है, क्या अलग आपने खाया है या फिर कुछ ऐसा नया जो आपने किया हो इन सबकी एक लिस्ट बनाना आपको चीजो से जोड़ता है और आपकी मेमोरी को बूस्ट करता है.

बीते कल की यादो को ताजा करना आपके दिमाग को पुरानी यादो से जोड़ता है जो की आपके subconscious mind को active बनाना शुरू कर देता है. ये आपके mental fitness के लिए एक best exercise है.

किताबे पढना

ज्यादातर लोगो ने स्कूल के बाद किताबो को पढना जरुरी नहीं समझा है. किताबे सिर्फ शिक्षा के उदेश्य से नही पढ़ी जाती है जो इन्हें उम्र के दायरे में रखा जाए. हम lifetime कुछ न कुछ सीखते रहते है. अगर आप अपने दिमाग को active रखना चाहते है तो आपको हमेशा कुछ नया पढना चाहिए.

सीखने की कोई उम्र नहीं होती है इसलिए आप चाहे उम्र के जिस पड़ाव में हो पढना कभी न छोड़े. कुछ नया पढने से आपका दिमाग न सिर्फ तेज होगा बल्कि चीजो को याद रखने में भी help मिलेगी. उम्र के साथ भूलने की बीमारी से छुटकारा भी मिलेगा जो की एक बहुत बड़ा plus point है.

पढ़े : दिव्य अंजन और शक्तियां पाने के लिए Nati yakshini mantra sadhana के अभ्यास की गुप्त विधियाँ

Physical and mental fitness final word

आज के टाइम में सुख सुविधा के साधन इतने हो गए है की हम ज्यादातर बाहरी चीजो पर निर्भर हो चुके है. कुछ भी काम करना है तो मशीन है, छोटी से छोटी calculation के लिए calculator है और लोगो से बात करनी है तो smartphone है ही. आपके जानने वाले भले ही एक मकान छोड़कर रहते हो लेकिन बात करनी है तो आपको बस मोबाइल से कॉल लगानी है.

आज हमारी आदते इतनी बिगड़ चुकी है की हम memory loss, physical and mental illness से कब परेशान होने लगते है हमें कोई आईडिया नहीं रहता है. मशीन हमारी हेल्प कर सकती है लेकिन अगर वे हमारे दिमाग को replace कर रही है तो हमें कुछ आवश्यक कदम उठा लेने चाहिए.

Mental fitness बेहद जरुरी है क्यों की इसके बगैर हम कुछ भी नहीं कर सकते है. जरुरत से ज्यादा बाहरी चीजो पर निर्भर होने की बजाय खुद पर भरोसा रखे. जो काम हम कर सकते है उन्हें करने के लिए भौतिक उपकरण की हेल्प न ले. बाहरी चीजो पर उतना ही निर्भर बने जितने की आवश्यकता है.

अगर आप अपने conscious and subconscious mind को सक्रिय रखना चाहते है तो दिमाग से जुडी exercise जैसे की पहेली हल करना, पैदल चलना और उस समय अपने चलने के तरीके को नोटिस करना और सबसे खास घटनाओं को बिना Involve हुए समझने की कोशिश करना ये सब कुछ ऐसी गतिविधि है जो हमें मानसिक और शारीरिक रूप से फिट बना सकती है.

Never miss an update subscribe us

* indicates required

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here