Mani bhadra veer sadhna to get answer in dream सपने में आने वाले कल को जानने की तंत्र साधना

0

क्या आपने कभी सच होने वाले सपनो को अनुभव किया है ? सपनो के माध्यम से भविष्य की घटना को जान लेना एक मानसिक शक्ति का प्रयोग है जिसे वैज्ञानिक तौर पर अवचेतन मन की प्रोग्रामिंग के जरिये किया जाता है. कुछ लोग जो की lottery and lotto number के बारे में prediction देते है वो अपने सपनों के माध्यम से इसे जानते है. आज की पोस्ट में हम बात करेंगे The most powerful mantra ritual to knowing future के बारे में और इसमें हम Mani bhadra veer sadhna to get answer in dream Hindi विधान के जरिये कैसे किया जाए इससे जुड़ा विधान और प्रयोग जानेंगे.

Mani bhadra veer sadhna

मैंने कुछ समय पहले एक साधना ब्लॉग पर शेयर की थी सपने के माध्यम से lottery and lotto number का पता करना जिस पर लोगो ने कुछ और ऐसी ही साधना शेयर करने के बारे में कहा था. आज में Mantra pryog invoking the Mani Bhadra yaksha to know the future in precognitive dream के बारे में शेयर करने जा रहा हूँ.

इस पुरे विधान को future knowing tantra के नाम से जाना जाता है. मणि भद्र यक्ष को जाग्रत करने के बहुत सारे प्रयोग और उदेश्य है जिन्हें हम किसी और पोस्ट में डिस्कस करेंगे. अगर आपका interest ऐसी साधना में है जिसके जरिये हम आने वाले कल के बारे में पता कर सके तो इस पोस्ट को ज़रुर पढ़े.

Mani bhadra veer sadhna to get answer In Hindi

ऐसे साधक जो सपने के माध्यम से अपने आने वाले कल के बारे में जानने की इच्छा रखते है उन्हें ज्यादातर तलाश रहती है किसी ऐसी साधना की जिसके जरिये वो lottery and lotto number के बारे में जान सके. इसके लिए वै कई तरह की शक्तियों का सहारा लेते है जिसमे हमारे मंडल के सबसे पास विचरण कर रही पारलौकिक शक्तियां शामिल है.

ये पारलौकिक शक्तियां हमें कम समय में फायदा देती है इसमें कोई शक नहीं लेकिन आगे चलकर जितना हमने लाभ कमाया है उससे कही ज्यादा नुकसान हमें अपने लालच की वजह से भरना पड़ता है. यही एक वजह है की सभी सात्विक और कम समय में result देने वाली साधना करना चाहते है. आइये जानते है ऐसी एक साधना के बारे में जो की साधक को सपने के माध्यम से आने वाले कल की जानकारी देती है. साधक के मन में जो सवाल होता है उसका जवाब उसे सपने के माध्यम से मिलता है.

मणि भद्र वीर साधना विधि

ये साधना किसी भी शुभ महूर्त में की जा सकती है. इस मंत्र का प्रयोग करने से पहले इसे सिद्ध किया जाना आवश्यक है. जितना हो सके कम समय ले और 10,000 जप से इसे सिद्ध कर ले.

किसी भी माला से जप करे, कोई भी आसन ले इससे कोई प्रॉब्लम नहीं है आपको सिर्फ ध्यान रखना है की सिद्धि केलिए किया जाने वाला जप पूरी तरह concentrate हो कर किया गया हो.

वीर मणि भद्र साधना मंत्र निम्न है

ॐ नमो मणि भद्राय चेटकाय, सर्व कार्य सिद्धि कुरु कुरु मम स्वप्न दर्शनं कुरु कुरु स्वाहा:  

In english

om namo mani bhadraay chetkaay, sarv kary siddhi kuru kuru mam svapna darshanm kuru kuru svaha

इस मंत्र का दस हजार बार किया गया जप इसमें सिद्धि देता है जिसके बाद आप जब चाहे इस मंत्र का प्रयोग कर सकते है..

lottery and lotto number जानने का प्रयोग

इसके बाद साधक जब चाहे अपने इच्छा अनुसार साधना के जरिये भविष्य के बारे में जान सकता है. इसके लिए एक छोटा सा प्रयोग उसे करना होगा. कुछ लाल कनेर के फूल लेने है और उन्हें अपने आगे रखना है. Mani bhadra veer sadhna mantra का 100 बार जाप करना है और इस दौरान उसका पूरा focus इन लाल कनेर पर होना चाहिए.

पूरी एकाग्रता के साथ किया गया जप साधक के मंत्र प्रभाव को कनेर में प्रवाहित करता है. जब ऐसा हो जाए तब आपको सोते समय अपने सर के पास इन कनेर के फूल को रखना है और सो जाना है. आने वाले 3, 5 or 7 दिन के अन्दर ही वीर मणि भद्र यक्ष साधक को उसके सवाल का जवाब देने लगता है.

ज्यादातर लोगो को लगता है की यक्ष या वीर वेताल जैसी साधनाए कठिन होती है या फिर किसी यक्ष का प्रत्यक्षीकरण भयानक होता है लेकिन ऐसा नहीं है. ये साधना इंद्रजाल से ली हुई है इसलिए sachhiprerna blog इसे सही मंत्र साधना में से एक मानता है, ये साधक के विवेक, विचार और एकाग्रता पर निर्भर है की उसे अनुभव कैसे होते है.

यक्ष और वीर का परिचय

यक्ष शब्द का अर्थ है “जादू की शक्ति” इन्हें भगवान् शिव के सेवक के नाम से जाना जाता है. ऐसा माना जाता है की पुरातन काल से इनमे हम इंसानों से कुछ हटकर शक्तियां होती थी जिसके बल पर वै दूसरो की मदद भी करते थे. अगर बात करे किसी भी दैवीय शक्ति की तो देवताओं के बाद इनका ही नंबर आता है.

कुबेर देवता एक यक्ष ही है जो की देवताओ में उच्च स्तर के देवो में से एक माने जाते है. अगर आप ये मानते है की ये एक negative entity है तो आप गलत है क्यों की यक्ष एक सकारात्मक शक्ति है जबकि पिशाच नकारात्मक. कुछ मान्यता के अनुसार ऐसा भी सुनने में आता है की ये शक्तियां वास्तव में देव शक्ति ही है जिन्हें किसी श्राप की वजह से धरती के निकट के वायुमंडल में अपना समय बिताना पड़ता है.

श्राप को ख़त्म करने के लिए ये किसी अदृश्य शक्ति के रूप में इंसानों की मदद करते है. जब वै ऐसा करते है तो इससे उन्हें भक्ति की शक्ति मिलती है और वै वापस अपने दैवीय स्वरूप में आते है.

यक्ष साधना से जुड़ी सावधानियां और निर्देश

हमारे वायुमंडल में ऐसी कई शक्तियां विचरण करती है जो अदृश्य रूप में हमारे आसपास रहती है. जो लोग इनमे विश्वास करते है वो कुछ प्रयोग के जरिये इनका आवाहन अपने कार्य की सिद्धि के लिए करते है लेकिन ऐसी हर शक्ति positive हो ऐसा जरुरी नहीं. अक्सर देखने में आता है की हमारा उदेश्य गलत होता है लेकिन हम चाहते है की सकारात्मक शक्ति इसमें हमारी मदद करे.

इस चक्कर में हम कुछ ऐसी शक्तियों का आवाहन कर देते है जो सकारात्मक होने का दिखावा करती है और हमें कम समय में लाभ देने का लालच देती है ताकि हम उनकी पूजा करते रहे. शुरू में हमें इसके अच्छे और अनुकूलित परिणाम मिलते है लेकिन आगे चलकर इससे कही ज्यादा दुःख झेलना पड़ता है. इसलिए कम समय में फायदा देने वाली पारलौकिक शक्ति को पूजने से पहले इससे जुड़े विधान को किसी अच्छे गुरु से जरुर जान ले ताकि बाद में पछताना न पड़े.

यक्ष साधना से जुड़ी ज्यादातर साधना में बातो का ध्यान रखना चाहिए जैसे की

  • इन्हें फूलो की महक पसंद होती है खासकर कनेर की ऐसा माना जाता है की कनेर के पौधे में यक्ष जैसी शक्तियां वास करती है.
  • अगर आप इनकी साधना कर रहे है तो नियम से इस शक्ति को पूजन अर्पण दे नहीं तो फायदा कम नुकसान ज्यादा होने का चांस बन सकते है.
  • सिर्फ पूजन या कार्य सिद्धि के समय ही नहीं बल्कि किसी भी कार्य से पहले इनका आहवान कर अपने कार्य को सफल होने के लिए आशीर्वाद ले इससे कार्य सिद्धि के योग बढ़ जाते है.
  • ये कोई negative entity नहीं है इसलिए इनसे डरे नहीं भक्ति भाव रखे. इन्हें नज़रअंदाज़ करना आपको नुकसान पहुंचा सकता है क्यों की ये पित्तर योनी की तरह ही बेहद जल्द खुश और नाराज हो जाते है.
  • आप अपने कार्य की सिद्धि या lottery and lotto number के लिए इस साधना को कर सकते है लेकिन जैसा की ज्यादातर लोग करते है किसी भी गलत कार्य के लिए इसका प्रयोग न करे.
  • बेहतर होगा की आप यक्ष साधना से जुड़े तंत्र और यंत्र की स्थापना भी कर ले ताकि मंत्र साधना का प्रभाव बढ़ सके.

इन सावधानियो को ध्यान में रखते हुए आप यक्ष और यक्षिणी साधना को सफलतापूर्वक कर सकते है.

Mani bhadra veer sadhna – final thought

दोस्तों यक्ष और यक्षिणी साधना किसी भी तरह से बुरी शक्ति का आवाहन करना जैसा नहीं है. अगर भक्ति भाव और सच्चे मन से सिर्फ सही कार्य प्रयोग उदेश्यों से इनका आहवान किया जाए तो ये साधक की सहायक की भूमिका भी निभाते है. Mani bhadra veer sadhna mantra विधान जो की most powerful mantra ritual for knowing future में से एक है. जिन लोगो की रूचि लाटरी नंबर में है वो इसका प्रयोग कर सकते है. चूँकि ये साधना बिना किसी खास विधान के भी की जा सकती है इसलिए इसे किया जा सकता है.

अगर कोई भी spiritual mantra ritual सही मन से की जाए तो वो बुरी नहीं होती है. अगर साधक का उदेश्य सही है तो साधना का प्रभाव अनुकूल होता है और सिर्फ वही शक्तियां प्रकट होती है जो साधक की मदद करना चाहती है. अगर आपका उदेश्य गलत है तो आप spiritual bypass में फंस सकते है. negative entity आसानी से साधक की ओर आकर्षित होने लगती है और जिसे साधक अपनी साधना का सफल चरण समझता है वास्तव में वो उसका नकारात्मक पारलौकिक शक्ति के जाल में फंसने की शुरुआत होती है.

अंत में सिर्फ इतना कहना चाहूँगा की साधना के दौरान मन को साफ रखे और उदेश्य पवित्र रखे साधना जरुर सफल होगी. ये साधना अलग अलग स्त्रोत से ली गई है इसलिए विवेक से प्रयोग करे. इसका कोई negative effect नहीं इसलिए प्रयोग किया जा सकता है लेकिन सफलता साधक के विवेक पर निर्भर करती है.

Credit : Original Rare spiritual Indrajaal Book, Wikipedia

Never miss an update subscribe us

* indicates required

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here