किसी भी तंत्र कर्म में सफलता दिलाने वाली ग्रहण में की जाने वाली महाकाली शाबर मंत्र साधना

0

साल 2020 में 5 june को चन्द्र ग्रहण ( moon eclipse ) लगेगा. इस समय का बहुत से साधको को बेसब्री से इंतजार रहता है क्यों की ग्रहण काल में की गई साधना का प्रभाव बढ़ जाता है और सिद्धि में सफलता मिलती है. इस अवसर पर आप महाकाली शाबर साधना की सिद्धि कर सकते है जो की बेहद आसान उपाय है और कम समय में की जाने वाली साधना है जिसके लाभ बहुत ज्यादा है. महाकाली की सौम्य साधना का ये अभ्यास साधक की लाइफ में किसी भी तरह की बाधा को दूर कर तंत्र के किसी भी कर्म को करने की शक्ति प्रदान करता है.

महाकाली शाबर साधना

इस साधना में गुरु की अनिवार्यता है इसके बगैर अभ्यास कर रहे है तो शरीर सुरक्षा कवच और गणेश पूजन का पता होना चाहिए. साधना से पहले ये उपाय जरुर करना है. साधना में सिद्धि प्राप्त करने के बाद साधक इसका प्रयोग कर सकता है जिसके लिए पूजन सामग्री, यंत्र और आवश्यक जानकारी इस पोस्ट में share की है. इस शाबर मंत्र साधना के प्रभाव से साधक का पूरा जीवन बदल सकता है.

5 जून की रात्रि को 11 बजकर 15 मिनट से  6 जून को 2 बजकर 34 मिनट तक ये ग्रहण लागू रहेगा और ये भारत, यूरोप, अफ्रीक, एशिया और आस्ट्रेलिया जैसी जगहों पर दिखाई देगा. इस दौरान की गई साधना का फल 100 गुना बढ़ जाता है इसलिए आप अपने घर पर mahakali shabar mantra sadhna का अभ्यास करे. इस साधना की पूरी विधि यहाँ share की गई है.

महाकाली शाबर साधना

किसी भी तरह की सफलता और तंत्र कार्य में सफलता के लिए आप इस महाकाली शाबर साधना को कर सकते है. ये mahakali tantra sadhana in hindi किसी भी शुभ समय के अनुसार की जा सकती है और सिद्ध कर लेने के बाद तंत्र मंत्र के कार्य को किया जा सकता है.

सात पूनम काल का, बारह बरस कवार

एको देवी जानिए, चौदह भुवन द्वार

द्वि पक्षे निर्मलिए, तेरह देवन देव

अष्ट-भुजी परमेश्वरी, ग्यारह रूद्र देव

सोलह कला सम्पूर्ण, तीन नयन भरपूर

दसो द्वारी तू ही माँ, पांचो बाजे नूर

नव निधि षड-दर्शनी, पंद्रह तिथि जान

चारो युग में काल का, कर काली कल्याण

इस mahakali mantra sadhana में आपको किसी भी तरह की तंत्र सामग्री की आवश्यकता नहीं होती है. जो भी सामग्री का जिक्र किया गया है उन्हें आप आसानी से किसी भी पंसारी की दुकान से हासिल कर सकते है.

सामग्री

  1. काली चित्र
  2. काली यंत्र
  3. 7 भट कटैया का फूल
  4. 5 पीला कनेर का फूल
  5. 5 लौंग
  6. 5 इलायची
  7. पांच मेवा
  8. 3 निम्बू
  9. 1 ग्राम सिन्दूर
  10. 108 काले केवाच के बीज
  11. दीपक
  12. अगरबत्ती या फिर धूप
  13. एक नारियल

महाकाली तंत्र साधना की विधि के लिए आप किसी भी खास समय का चुनाव कर सकते है. इस महाकाली शाबर साधना में आपको ज्यादा जप की आवश्यकता नहीं है बल्कि सिर्फ एक माला का जप मंत्र सिद्धि के लिए काफी है.

दिन : होली, दीपावली, ग्रहण, अमावस या फिर पूर्णिमा

जप : 108 बार

समय : रात के 10 बजे बाद का समय

ये mahakal siddhi sadhana पूर्ण रूप से सात्विक है और साधक के लिए साधना के बाद किसी भी तरह के तंत्र प्रयोग के लिए आवश्यक सामग्री मिल जाती है. पूजन के दौरान जो सामग्री काम में ली जाती है उन्हें हम अलग अलग तंत्र कर्म में काम में लेते है.

महाकाली साधना से पहले की तैयारी

mahakali siddhi sadhna में आपको पहले गुरु स्थापना मंत्र का उपाय करना चाहिए. किसी भी तांत्रिक साधना से पहले आपको 5 बत्ती वाला दीपक लेना है और निम्न मंत्र का जप करना है.

गुरु दिन गुरु बाती गुरु सहे सारी राती

वासतीक दीवना बार के गुरु के उतारो आरती

5 बत्ती वाले दीपक को अपने सामने जला ले और इस मंत्र का 7 बार जप करना है. इस गुरु स्थापना की क्रिया पूर्ण होती है और माना जाता है की जो लोग बिना गुरु के साधना कर रहे है उन्हें इससे फायदा होता है.

शरीर सुरक्षा कवच मंत्र का जप करना भी साधना में आवश्यक है. बिना किसी सुरक्षा कवच के साधना करना साधक को भयभीत करता है इसलिए महाकाली शाबर साधना के अभ्यास से पहले आपको शरीर सुरक्षा कवच मंत्र body protection shield spell का उपाय भी कर लेना चाहिए.

ॐ नमो आदेश गुरु का

 जय हनुमान वीर हनुमान

मै करथ हौ तोला प्रनाम भूत प्रेत मरी मसान

भाग जाय तोर सुन के नाम

मोर शरीर के रक्ष्या करिबे नहीं तो सीता मैया के सैयां पर पग ला धरबे ! मोर फूंके

मोर गुरु के फूंके गुरु कौन ? गौरा महा-देव के फूंके

जा रे शरीर बंधा जा

इस मंत्र का 11 बार जप कर अपने शरीर के चारो और एक गोल घेरा बना ले. इससे किसी भी तरह के बाधा से साधक की रक्षा होती है.

पढ़े : इस पूर्ण चंद्रग्रहण की रात्री का एक प्रयोग और कर पाओगे powerful vashikaran

महाकाली साधना की विधि

ये साधना भगवती देवी के मंदिर में की जाए तो उत्तम है लेकिन ऐसा ना हो तो एकांत या फिर घर पर भी की जा सकती है. सबसे पहले तो गणेश, गुरु और आत्म-रक्षा मंत्र का पूजन और जप करे. सबसे पहले साफ़ जगह पर एक बजोट के ऊपर लाल कपड़ा रखे और उस पर महाकाली यंत्र और फोटो की स्थापना करे. घी का चार मुखी दिया जलाए और पंचोपचार पूजन से पूजन करे.

kaali yantra
                                        महाकाली शाबर साधना यंत्र

अष्ट गंध से उक्त चोंतिसा यंत्र का भी इसी विधि से पूजन करे. पूजन के दौरान भट कटैया के फूल का अर्पण करे. तीन निम्बू ले और उनपर सिन्दूर का टिका या बिंदी लगाए और अर्पित करे. अब नारियल, पांच मेवा और लौंग इलायची का भोग लगाए. काली मंत्र जप करते समय हर मंत्र जप के बाद केवाच के बीज को फोटो के सामने रखते जाए.

जब मंत्र जप पूर्ण हो जाए तब 11 मंत्र आहुति घी और गुग्गल की दे. इसके बाद एक निम्बू काट ले और अपनी अनामिका अंगुली के रक्त को मिलाकर हवन में निचोड़ दे. हवन की राख, मेवा, केवाच के बीज, फूल और निम्बू को संभाल कर रखे. नारियल और अगरबत्ती को भगवती मंदिर में चढ़ा दे. एक ब्राह्मण को भोजन करवाए. महाकाली साधना पूर्ण हो जाएगी.

पढ़े : बेताल साधना से जुडी महत्वपूर्ण जानकारी और अगिया बेताल की मुख्य 2 विधि

मंत्र साधना प्रयोग विधि

जब भी mahakal siddhi sadhana का प्रयोग करना हो 21 बार मंत्र का जप करे और आपकी मनचाही मनोकामना पूर्ण होती है. महाकाली शाबर साधना के प्रभाव से साधक की मनोकामना पूर्ण होती है और उसका घर धन धान्य से परिपूर्ण रहता है. हर तरह की बाधा अपने आप दूर हो जाती है और साधक की उम्र में वृद्धि होती है. इस महाकाली शाबर साधना के कई प्रयोग है जिन्हें साधक कर सकते है जैसे की

वशीकरण या मोहन का उपाय महाकाली मंत्र का 11 बार जप कर सिंदूर और हवन की भस्म को मिलाकर अभिमंत्रित कर माथे पर लगा ले. जो भी आपको देखेगा आप पर मोहित हो जाएगा. अगर आप लम्बे समय से easy love spell का इन्तजार कर रहे थे तो आपको ये उपाय जरुर करना चाहिए.

खिला पिलाकर वशीकरण का उपाय पूजा में लिए गए पांच मेवे में से थोड़ा सा मेवा ले और 21 बार मंत्र का जप कर अभिमंत्रित कर ले. इस मेवे को जिस स्त्री या पुरुष को खिलाएंगे वो वशीकरण के प्रभाव में आ जायेगा.

उच्चाटन का उपाय भट-कटैया के फूल में से एक फूल ले, केवाच का बीज और सिंदूर को 11 बार मंत्र पढ़ कर अभिमंत्रित कर ले. सिंदूर लगे इस फूल और बीज को जिसके घर पर भी फेकेंगे उसका उच्चाटन हो जायेगा.

महाकाली साधना के जरिये स्तम्भन का उपाय हवन की भस्म, चिता की राख और 3 लौंग को 21 बार मंत्र जप पढ़कर अभिमंत्रित कर ले. जिसके घर में गाड़ देंगे उसका स्तम्भन हो जायेगा.

2 लोगो या परिवार के बिच झगडा करवाने का उपाय शमशान की राख, कलिहारी का फूल और केवाच के 3 बीज पर 21 बार मंत्र जप कर अभिमंत्रित कर ले. इसे काले कपड़े में बांध कर पोटली बना ले और इसे दुश्मन के आने जाने के रास्ते या घर के जगह पर गाड़ दे. इससे वहा रहने वाले लोगो के बिच मतभेद और झगड़ा होना शुरू हो जायेगा.

पारलौकिक समस्याओ का समाधान

शत्रु बाधा का निवारण अमावस के दिन निम्बू पर सिंदूर से दुश्मन का नाम लिखे. 7 सुई ले और इन्हें 21 बार निम्बू में मंत्र से अभिमंत्रित कर चुभो दे. इस निम्बू को शमशान में गाड़ दे और मघ की धार दे. आने वाले 3 दिन में शत्रु बाधा दूर होती है.

भूत प्रेत बाधा का उपाय भूत प्रेत की बाधा होने की स्थिति में हवन की राख को 7 बार अभिमंत्रित कर माथे पर टिका लगा दे. चोतिंसा यंत्र को भोजपत्र पर बना ले और ताम्बे के ताबीज में भरकर पहना दे. हमेशा हमेशा के लिए भूत प्रेत बाधा दूर हो जाएगी.

आर्थिक बाधा का निवारण महाकाली यंत्र को घर में स्थापित कर ले और इसके सामने घी का दीपक जलाकर 21 दिन तक 21 बार मंत्र का जप करे. इससे महाकाली की कृपा बढती है और आर्थिक तंगी दूर होती है.

शारीरिक पीड़ा और रोग नाशक हवन की भस्म को 7 बार अभिमंत्रित कर ले. रोगी पर फूंक मारे और चौसठ के यंत्र को अष्ट गंध से भोजपत्र पर लिख ले. इसे धारण करने से रोगी को रोग और शारीरिक पीड़ा से मुक्ति मिलती है.

विशेष : अगर महाकाली मंत्र के साथ साथ निचे दिए गए मंत्र का भी जाप होता है तो मंत्र का प्रभाव एयर भी ज्यादा बढ़ जाता है और ये उग्र होकर काम करता है.

ॐ कंकाली महाकाली केलि कलाभ्यां स्वाहा

इस मंत्र का एक माला जप हर रोज करने से आपको इसके दोगुने लाभ मिलना शुरू हो जाते है.

पढ़े : आकर्षण के लिए मोहिनी वशीकरण मंत्र साधना

Mahakali shabar mantra sadhna benefit

महाकाली शाबर मंत्र साधना के कई फायदे है जिन्हें सिद्धि प्रयोग के बाद साधक की लाइफ में देखने को मिलते है जैसे की

  • किसी भी तरह की आर्थिक तंगी को दूर किया जा सकता है.
  • बड़े से बड़े तंत्र कर्म के प्रभाव को दूर किया जा सकता है.
  • तंत्र कर्म के किसी भी कर्म को किया जा सकता है जैसे की वशीकरण, मोहन, मारण, स्तम्भन और उच्चाटन
  • पारलौकिक समस्याओ यानि Paranormal activity को दूर किया जा सकता है.
  • बड़े से बड़े शत्रु का शमन किया जा सकता है.

Mahakali tantra sadhna siddhi in Hindi की ये साधना साधक के जीवन में कई बदलाव लाती है और साधक के लाइफ में आ रही किसी भी बाधा का निवारण करना आसान बन जाता है.

महाकाली शाबर सिद्धि मंत्र पर मेरे अंतिम विचार

साल 2020 में 5 जून को जो ग्रहण लग रहा है वो तंत्र साधना के लिए सही समय माना जा रहा है. ऐसा माना जा रहा है की ग्रहण में की गई साधना का प्रभाव 100 गुना बढ़ जाता है इसलिए इस दौरान आप पीर की साधना, वशीकरण की साधना या फिर तंत्र सिद्धि साधना कर सकते है.

इस article में share की गई महाकाली शाबर साधना का विधान सरल शाबर साधनाओ में से एक है जिन्हें आप किसी मंदिर, एकांत जगह या फिर घर में कर सकते है. ये साधना आसान है लेकिन इसके लाभ साधक की लाइफ बदलने वाले है.

अगर आप ये साधना करना चाहते है तो विधान से पहले गुरु, गणेश और देह सुरक्षा कवच का विधान जरुर कर ले. किसी भी शाबर मंत्र की साधना को सिद्ध करने के लिए असावरी देवी की साधना करना जरुरी माना जाता है. जल्दी ही हम इनके बारे में जानकारी आपके साथ share करेंगे.

Never miss an update subscribe us

* indicates required

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here