5 way Intuitive Healing Therapy Work and How this Magic can Transform Life 2022 Hindi Guide

0
57
Intuitive Healing

healing यानि किसी खास स्थिति से बाहर निकलने की क्षमता और अलग अलग व्यक्ति में ये अलग अलग स्तर में देखने को मिलती है. कुछ लोग छू कर आपको अच्छा और बेहतर फील करवा सकते है वही कुछ लोग दूर से भी सिर्फ आपके बारे में सोचते हुए आपको अपनी energy से ठीक कर सकते है. Intuitive Healing ऐसी healing में से एक है जो spiritual practice से जुड़ी हुई है.

हमारी बॉडी की natural energy को किसी दूसरे व्यक्ति पर shift कर हम उसे heal करते है. इसमें किसी बीमारी को ठीक करना, तकलीफ को दूर करना या फिर energy blockage को ठीक करना शामिल है.

हमारा intuition और कुछ नहीं बल्कि inner wisdom की आवाज है, एक developed inner wisdom जिसे rational mindset के साथ कभी develop नहीं किया जा सकता है.

Intuitive Healing

इसे महसूस करने के कई तरीके है जैसे की snap-shot-like flash अचानक महसूस किया जाने वाला अनुभव, a gut feeling जैसा की आमतौर पर पेट में गुड़गुड़ जैसा महसूस होता है, a hunch, a physical sensation बॉडी में अचानक कम्पन, a dream सपनो के माध्यम से या फिर किसी और माध्यम से हमें इसका अनुभव होता है.

हमारा subconscious brain and inner wisdom हमें इसे समझने में मदद करता है.

आमतौर पर इसका अनुभव उन्हें ज्यादा होता है जो inner voice को सुन सकते है जैसे की introvert personality वाले व्यक्ति, अंतर से जुड़े अभ्यास करने वाले या फिर चीजो को सूक्ष्म स्तर पर समझने वाले व्यक्ति.

जब हम खुद पर ज्यादा से ज्यादा ध्यान देना शुरू कर देते है तब हम इस तरह के अनुभव करना शुरू करते है. आइये Intuitive energy healing के बारे में जानते है और भी डिटेल से.

what is Intuitive healing therapy in Hindi?

Intuitive energy healing एक ऐसी healing है जिसका प्रयोग Physical, Emotional, and intimate Wellness के लिए किया जाता है. समय के साथ हम दवा के साथ energy healing में भी काफी आगे प्रगति कर रहे है जिसमे किसी तकलीफ को दूर करने के लिए दवाओं का नहीं बल्कि व्यक्ति के अंतर के विश्वास को जगाना होता है.

ऐसा माना जाता है की व्यक्ति का विश्वास एक ऐसी energy को develop करता है जो किसी भी परेशानी या तकलीफ को दूर कर सकती है.

इसे alternative healing methods के तौर पर इस्तेमाल किया जाता है जब व्यक्ति पर दवाओं का प्रयोग करना संभव न हो या फिर ये उसके लिए ठीक ना हो. कई बार हमें सिर्फ हमारा belief system strong करना होता है और बाकि का सारा काम अपने आप होने लगता है. ये तरीका ठीक इसी तरह काम करता है.

दरअसल हम खुद किसी भी तकलीफ या परेशानी से बाहर निकल सकते है क्यों की हमारा belief system एक antibiotic की तरह काम करता है जो किसी भी energy blockage को ठीक कर सकता है.

जो व्यक्ति इस process को करता है उसे हीलर कहा जाता है.

healing के लिए हम Higher Power, God/Goddess, Source, or Life force Energy में से किसी एक जरिये का सहारा लेते है. जो healing करते है उन्हें body’s natural energetic fields के बारे में ज्यादा गहराई से पता होता है और वे इसे ठीक से समझते है.

इस process को emotional, physical, mental, and spiritual level पर पूरा किया जाता है और व्यक्ति के अपने बिलीफ सिस्टम को फिर से restore किया जाता है.

How Intuitive energy healing work

बात करते है की Intuitive Healing therapy कैसे काम करती है तो हमें इसके पीछे का विज्ञान समझ लेना चाहिए. आमतौर पर Intuitive energy को visual, audial, or deep knowing and feeling को समझते हुए पूरा किया जाता है. जिस व्यक्ति के साथ वे काम कर रहे है उसके बारे में जानकारी उन्हें spiritual guidance से मिलती है और उसी के आधार पर वे काम करते है.

जब उन्हें व्यक्ति विशेष से जुड़ी जानकारी मिल जाती है तब वे उसके अन्दर की energetic system में आ रही problem को दूर करने पर काम करना शुरू कर देते है. व्यक्ति विशेष के उर्जा में आ रहे किसी भी तरह के समस्या को unlock करने पर उन्हें एक aligned, balanced, joyous life समझ आने लगती है और वे समझ जाते है की अब तक वे कहाँ उलझ रहे थे.

हम सब जानते है की समस्या तब होती है जब हमारे kundalini and 7 chakra में किसी तरह का blockage आना शुरू होता है. शारीरिक और मानसिक समस्याओ की वजह यही blockage होता है जब उर्जा हमारे शरीर में सही तरह से flow नहीं कर पाती है.

इसकी वजह blocks, traumas, stuck or stagnant energy, and imbalances होता है जब हमारा शारीरिक उर्जा तंत्र सही से काम नहीं कर पाता है.

What happen during Intuitive Healing session in Hindi

उर्जा के बहाव में आ रहे किसी भी तरह के समस्या को दूर करने के लिए Intuitive Healing session का सहारा लिया जाता है जहाँ हम इसे स्टेप में सही करते है.

ये और कुछ नहीं बल्कि blockage की समस्या से गुजर रहे व्यक्ति के energetic system में एक shift create करने का काम करता है. ये process subtle energetic bodies पर होती है लेकिन इसका असर हम Physical body पर महसूस करते है.

कोई भी blockage तभी बनता है जब हम spiritual guidance and intuition से हट जाते है. ये पूरी प्रक्रिया हमें वापस उन्ही से जोड़ती है. आमतौर पर जो कुछ हम देखते है उसका एक conscious reason होता है लेकिन क्या होगा जब हमें भविष्य से जुड़ी जानकारी मिलना शुरू हो ?

ऐसी स्थिति में हम intuition को फील करते है जिन्हें समझने के लिए या होने के लिए किसी तरह के conscious reason की कोई जरुरत नहीं होती है. अपने awareness को समझते हुए dis-ease, stress, pain, anxiety or discomfort का समाधान किया जाता है. इस दौरान हम

  • Self-care
  • Journaling prompts
  • Mantras and affirmations
  • Dietary changes
  • Exercise or yoga
  • Sound healing
  • Herbal supplements
  • Acupuncture for chronic pain
  • Rest and meditation
  • Increased hydration
  • Electronic curfews
  • Energy healing services

जैसी अलग अलग थेरेपी process को अपनाते है जो व्यक्ति विशेष के लिए अलग अलग होती है. पूरे Intuitive Healing session के दौरान हमें ऊपर दिए गए तरीको में से गुजरना होता है.

एक सेशन कितना लम्बा चलता है ये व्यक्ति विशेष के खुद के belief system पर निर्भर करता है. जब तक अन्दर से विश्वास दोबारा विकसित नहीं होता है तब तक ये सही तरीके से काम नहीं कर पाता है.

5 most effective energy healing techniques

वैसे तो Intuitive Healing के लिए कई अलग अलग तरीके है और हर एक तरीके का अपना अलग असर है लेकिन, सबसे ज्यादा हम प्राण उर्जा के जरिये healing करने का तरीका अपनाते है क्यों की ये ना सिर्फ आसान और बेसिक तरीका है बल्कि इसके अलग अलग फायदे भी है.

Energy Intuitive Healing एक Traditional Healing System है जो हमारे बॉडी में उर्जा के प्रवाह को Balance, Stable and Restore करने का काम करता है. उर्जा के प्रवाह को समझना और उसे ठीक करना हमारे शारीरिक मानसिक और आध्यात्मिक स्वास्थ्य को ठीक करता है.

अगर इसके बेसिक और आसान तरीके जो सबसे ज्यादा प्रयोग किये जाते है की बात करे तो हम 5 ऐसे तरीके है जिनका चुनाव कर सकते है जैसे की

  • Reiki Healing: इस तकनीक के बारे में सब जानते है और काफी कुछ पढ़ चुके है. हीलर खुद को एक खाली vessel की तरह इस्तेमाल करते है और universal energy का इस्तेमाल करते हुए किसी भी तरह की energy blockage को heal करते है.
  • Pranic Healing: बॉडी में प्राण उर्जा का प्रवाह अगर ठीक से ना हो तो ये कई बीमारियों और तनाव की वजह बनता है. हम ठीक से सोच नहीं पाते है ना ही बॉडी और माइंड को कण्ट्रोल कर पाते है. इसे ठीक करने के लिए Aura energy field को समझा जाता है और उसे cleanse करने पर काम किया जाता है.
  • Crystal Healing हम कई तरह की physical, emotional and spiritual problems को स्टोन की मदद से भी ठीक कर सकते है क्यों की अलग अलग स्टोन अपने खास गुण की वजह से हमसे connected होते है और खास किस्म की उर्जा को कण्ट्रोल करते है.
  • Quantum healing ये एक तरह की Spiritual healing practice है जिसका आधार breathing and visualization of energy flow है. अपने कल्पना शक्ति का इस्तेमाल करते हुए हम immune system को strong करते है.
  • Qigong भी एक Intuitive Healing technique है जिसमे बॉडी को खास तरह की हरकत के साथ जोड़ कर healing की जाती है. जब हम बॉडी को माइंड के साथ अलाइन करते है तब energy balance बनना शुरू हो जाता है और जल्दी ही हम खास तरह के लय को develop करते है जो बॉडी और माइंड से जुड़ी परेशानियों को दूर करना शुरू कर देता है.

ये सभी आम तकनीक है जो सबसे ज्यादा Intuitive energy healing session के दौरान प्रयोग की जाती है. बेसिक और आसान होने की वजह से ये सबसे ज्यादा popular healing technique मानी जाती है.

Intuitive healing therapy step by step Guide

Intuition कोई बाहरी ability नहीं है बल्कि हमारे अंतर का ही एक पार्ट है जिसे हम अलग अलग तरीको से develop कर सकते है. ये हमें बिना किसी उम्मीद के वर्तमान में रहना सिखाता है जो हर किसी के लिए हमेशा उपलब्ध रहता है.

आप खुद इसे access कर सकते है जिसके लिए step guide को फॉलो करना चाहिए. स्टेप गाइड धीरे धीरे किसी भी blockage को ठीक करते हुए हमें अपने अंतर की आवाज को समझने में मदद करता है.

यहाँ हम 5 steps to intuitive healing के बारे में बात करेंगे जो किसी भी तरह के energy blockage को heal करते हुए Physical, mental and spiritual well being पर वर्क करती है.

Read : 1 Powerful Hanuman Vashikaran mantra in Hindi for love vashikaran सबसे आसान और घरेलू उपाय

अपने विश्वास की शक्ति पर ध्यान दे

आप अपने विश्वास को किस तरह विकसित करते है ये मायने रखता है. Positive attitudes हमेशा आपके विश्वास की शक्ति को विकसित करता है वही Negative attitudes इसे दुर्बल करता है.

खुद को counterproductive attitudes से दूर रखे जिनके बारे में ज्यादातर लोगो को अहसास भी नहीं होता है. हम जाने अनजाने इस तरह का mindset विकसित कर लेते है की चाह कर भी खुद को अच्छे विचारो पर फोकस नहीं रख पाते है.

खुद के लिए वक़्त निकाले और अपने आप को examine करे. आप किस तरह के विचारो पर खुद को आगे ले जा रहे है और वे आपके लिए किस तरह सही है इसका विश्लेषण करना बेहद जरुरी है.

Optimal wellness के लिए आपको अपने thought पर ध्यान देना चाहिए. जब आप इसे समझना शुरू कर देते है तो ये Unconscious Negative Beliefs को ठीक करना शुरू कर देता है. Intuitive Healing से ठीक पहले इस स्टेज से गुजरना बेहद जरुरी होता है क्यों की हमारे लिए healing तभी काम कर सकती है जब हम इसे लेकर अपने अन्दर के belief system पर काम करे.

Healing कोई चमत्कार नहीं है बल्कि आपके विश्वास की शक्ति से होने वाले बदलाव है. जब हम इसे समझना शुरू कर देते है और खुद के लिए वक़्त निकालते है तब हम खुद ऐसे thought को आगे रखना शुरू कर देते है जो हमारे लिए सही है.

Be In Your Body

हमारी बॉडी Complex And Sensitive Intuitive Receptor है. खुद को Intuitive Healing के लिए commitment करे ताकि आप पूरी तरह इसका फायदा ले सके. आमतौर पर देखा जाए तो ज्यादातर लोग कभी भी पूरी तरह चैतन्य नहीं होते है. वे सिर्फ उन्ही चीजो पर जागरूक होते है जो उनके लिए सही होती है या उन्हें justify करती हो. बाकि सब को वे ignore करते है.

हमारे लिए क्या जरुरी है क्या नहीं इसके बारे में हमारा Intuition and Subconscious Mind ज्यादा बेहतर तरीके से जानता है. हमें अपने perspective में shift लाना बेहद जरुरी है.

लाइफ को सिर्फ एक नजरिये से देखना हमेशा फायदेमंद नहीं होता है. हम अपने बॉडी को लेकर जितना ज्यादा sensuousness होंगे उतना ही ज्यादा हमारा intuition बेहतर काम कर सकता है.

ऐसा होना ना सिर्फ बीमारियों को रोकता है बल्कि दूसरो के साथ healthy relationships को भी develop करता है. हम खुद को ऐसी हर परिस्थिति से दूर रख सकते है जो हमारे लिए वास्तव में सही नहीं है.

Read : 5 strange fact about Witching Hour in Hindi सुबह 3 से 4 बजे के बीच वास्तव में क्या होता है ?

Sense Your Body’s Subtle Energy

Intuitive Healing के इस स्टेज में हम अपने Astral form को समझना शुरू कर देते है. हमारा शरीर सिर्फ मांस और खून से नहीं बना है बल्कि प्राण शक्ति भी इसमें एक अहम् रोल निभाती है. प्राण शक्ति हमारे जीवन का आधार है जो अंत तक जुड़ी रहती है.

जब हम अलग अलग इमोशन में होते है तब यही प्राण शक्ति Aura energy field के रूप में अलग अलग कलर के रूप में experience की जाती है.

हमारे बॉडी के उर्जा केंद्र में flow कर रही उर्जा जब पूरी तरह बॉडी में हर जगह flow नहीं कर पाती है तब कई तरह की परेशानी से गुजरना पड़ता है. अगर आप इसके बारे में और ज्यादा डिटेल से जानना चाहते है तो हमारे Aura electromagnetic field से जुड़ी पोस्ट को पढना ना भूले.

शरीर में कब किस तरह की उर्जा का प्रवाह बढ़ रहा है ये समझना बेहद जरुरी है. हर इमोशन को अलग अलग कलर से जोड़ कर देखा जाता है. एक हीलर इन्हें समझते हुए बॉडी में blockage का पता करता है और उसे ठीक करने पर काम करता है. Intuitive Healing वास्तव में और कुछ नहीं बॉडी में उर्जा को समझना ही है.

Read : 10 myth and Risks of lucid dreaming in Hindi मनचाहे सपने देखने के अनजाने नुकसान

Ask for Inner Guidance

हमारी बॉडी हमसे हर पल बात करती है फिर चाहे हम सो रहे हो, ट्रेवल कर रहे हो या कही जा रहे हो. इस तरह की intuitive voice को जब हम समझना शुरू कर देते है तब हमें किस समस्या से कैसे बाहर निकलना है ये समझ आना शुरू हो जाता है.

Normal condition में हम unwanted thought में फंसकर हमारी बॉडी और अंतर्मन क्या कहना चाहता है इसे ignore करना शुरू कर देते है.

इसका परिणाम ये होता है की धीरे धीरे वक़्त के साथ ये ability काम करना कम कर देती है और हम Intuitive Healing के बजाय बाहरी सोर्स पर निर्भर हो जाते है.

क्या कभी ऐसा हुआ है की आपके सामने आपका पसंदीदा खाना या चीज हो लेकिन फिर भी आपका मन उसे खाने का नहीं करता है और आप उसे नकार देते है. दरअसल ऐसा इसलिए होता है क्यों की आपका अंतर्मन जानता है की इस समय इसे खाना आपके लिए सही नहीं है.

हमारा Inner Guidance हमें हर स्थिति के अनुसार गाइड करता है लेकिन, हम बाहरी चीजो में इतना ज्यादा फंस जाते है की इस आवाज पर ध्यान ही नहीं देते है. जब हम Intuitive healing therapy से गुजरते है तब हम इसे एक बार फिर से develop करना सीखते है.

हर रोज कुछ वक़्त खुद के लिए निकाले और आँखे बंद कर अपने अन्दर झाँकने की कोशिश करे. आपकी बॉडी आपसे क्या कहना चाह रही है इसे समझने की कोशिश करे. आप इस दौरान कैसा महसूस कर रहे है और क्या आन्तरिक और बाहरी इमोशन एक जैसे है इसे भी समझने की कोशिश करे.

आमतौर पर किसी भी समस्या की सबसे बड़ी वजह हमारे अन्तर और बाहर की स्थिति एक जैसी ना होना है.

हमारी बॉडी हमें कुछ और कहती है जब की हम कुछ और ही कर रहे होते है. यही अंतर और विरोधाभास किसी भी समस्या की जड़ है. खुद की आवाज पर ध्यान दे और आपका मन आपसे क्या कहने की कोशिश कर रहा है इसे समझने की कोशिश करे.

Read : Creative visualization techniques for Law of attraction सही कल्पना कैसे करे

Listen To Your Dreams

Intuitive Healing का सबसे अंतिम पड़ाव सपनो को समझने का होता है. इस स्टेज में हम जब पूरी तरह रिलैक्स होते है तब हमारे सपने हमें क्या कहने की कोशिश कर रहे इसे समझने की कोशिश करते है. सपनो की भाषा और कुछ नहीं Intuition ही है जो हमें सपनो के जरिये आने वाले समय की झलक दिखाते है.

जब हम हर रात 90 minute REM stage of sleep में होते है तब हम health, relationships, career choices, new direction के बारे में अंतर की आवाज को अनुभव करते है.

अगर आप बार बार एक जैसे सपने देखते है तो समझ जाए की आने वाले समय में जल्दी ही एक नया बदलाव आपकी जिंदगी में आने वाला है.

ज्यादातर हम उठने के बाद सपनो को भूल जाते है और जब समय आता है तभी हमें याद आता है की हम ये सब पहले ही महसूस कर चुके है. अगर आपके साथ ऐसा ही हो रहा है तो dream journal यानि उठने के तुरंत बाद सपनो को एक डायरी में लिखना शुरू कर दे.

जब हमारा शरीर खुद को रिलैक्स करना शुरू कर देता है तभी हमारे लिए अंतर की आवाज को सुनना संभव होता है.

मान लीजिये आपको आपके आने वाले relationship को लेकर काफी सारे सवाल बन रहे है और तय नही कर पा रहे है की आने वाला रिश्ता आपके लिए कैसा होगा तो आप सपनो का सहारा ले सकते है.

सोने से ठीक 10 मिनट पहले जब आप नींद के लिए पूरी तरह तैयार हो चुके है अपने सवाल को दोहराए. सपने के जरिये आपको 100% इसका जवाब मिलना शुरू हो जायेगा.

Read : Top 5 Reason why men want a Trophy woman in Hindi क्या आप भी अपने पार्टनर को दिखावे की वस्तु मान रहे है ?

Intuitive Healing benefit and effect

जब हम Intuitive Healing से गुजरते है तब हमारी बॉडी और माइंड के साथ साथ spirit एक alignment को develop करती है. यही alignment हमें खुद को restore करने में हेल्प करता है जिसकी वजह से किसी भी तरह के blockage को दूर करते हुए हम physical, mental and spiritual well being को प्राप्त करते है.

Empath intuitive healing की पूरी process को स्टेप में करने के बारे में हम ऊपर पढ़ चुके है. इसके कुछ फायदे के बारे में जान लेते है जैसे की

  • restore and balance energy of body and mind
  • develop a better consciousness and unconsciousness
  • Intuitive Healing किसी भी तरह के Blockage को ठीक कर देता है जिसकी वजह से energy center ठीक से काम करना शुरू कर देते है और हम बीमारी तनाव से खुद को दूर रख पाते है.
  • body mind and spirit एक alignment में आते है जिसकी वजह से बेहतर सोच विकसित होती है.
  • हमारे नजरिये में बदलाव आता है जिसकी वजह से अब हम चीजो को और भी ज्यादा बेहतर समझना शुरू कर देते है.
  • अपने अंतर से जुडाव आपको और भी ज्यादा creative बनाता है साथ ही आप बाहरी सोर्स पर निर्भर होना कम कर देते है.

ये सभी फायदे आपको शारीरिक और मानसिक के साथ साथ आध्यात्मिक स्तर पर मिलते है जिसकी वजह से लाइफ में आप उन चीजो पर ज्यादा फोकस होते है जो आपके लिए सही है.

Read : Friends with Benefits Dating and Relationship Must remember these 11 rule for mutual bonding

Intuitive healing therapy final conclusion

हम सब जानते है की किसी भी व्यक्ति के लिए उसकी energy field कितना मायने रखती है. जब हम किसी व्यक्ति के energy field को समझते हुए उसे affect करना शुरू करते है तो ये उसके Physical and Mental Well Being को affect करना शुरू कर देती है.

Intuitive healing therapy के दौरान हीलर व्यक्ति विशेष की spiritual energy को समझते है और उसके अन्दर आ रहे किसी भी तरह के Misalignment को ठीक करने पर काम करते है.

ये एक तरह की Reprograming process है जैसे हम अवचेतन मन को किसी भी कार्य के लिए प्रोग्राम करते है. दवा की जगह हमारा विश्वास इसमें काम करता है और शरीर में उर्जा के प्रवाह में आ रहे किसी भी तरह के blockage को heal करते हुए पुराने सिस्टम को restore करना शुरू कर देता है. हम बाहरी सोर्स पर निर्भर होने की बजाय अपने अंतर से ज्यादा जुड़ाव अनुभव करते है.

Intuitive Healing एक तरह से हमें किसी भी समस्या से खुद निपटने के लिए तैयार करता है और फिर अगली बार जब भी हम किसी तरह की समस्या से गुजरने वाले होते है हमारा सिस्टम हमें पहले ही इसके बारे में आगाह कर देता है और समय पर इसका समाधान कर हम खुद को समस्या से दूर रख सकते है.

Previous articleHow to heal from 7 Common Aura Problems and safe from Psychic Vampire Attack
Next articleHow to Practice 7 Stage of Spiritual Alchemy and Experience Powerful Spiritual Enlightenment
Nobody is perfect in this world but we can try to improve our knowledge and use it for others. welcome to my blog and learn new skill about personal | psychic | spiritual development. our team always ready to help you here. You can follow me on below platform

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here