अवचेतन मन का प्रयोग कर कैसे हम अपनी हाइट को बढ़ा सकते है – महत्वपूर्ण कदम जिनसे सफलता मिलेगी

5
1
height growth with subconscious mind

क्या अवचेतन मन के द्वारा हाइट बढाई जा सकती है ? हम सभी पढ़ते आये है की हमारा अवचेतन मन कुछ भी कर सकता है. लेकिन क्या ऐसा संभव है की height growth with subconscious mind को भी संभव बनाया जा सके. बाजार में बिकने वाले इतने सारे प्रोडक्ट जो ये दावा करते है की इससे आपकी हाइट बढ़ जाएगी या आप वजन को घटा बढ़ा सकते है लेकिन होता क्या है. क्या वाकई दवा में ही सबकुछ होता है आपको अलग से कुछ भी मेहनत नहीं करनी पड़ती. आज की पोस्ट में हम बात करेंगे अवचेतन मन का प्रयोग कर हम कैसे खुद की हाइट और वजन में फर्क ला सकते है. इसके पीछे खुद को शारीरिक और मानसिक रूप से तैयार करने को लेकर काफी सारी बाते है.  height badhane ke exercise और height badhane ke liye medicine इन सबसे हमें क्या फायदा होता है आइये जानते है.

height growth with subconscious mind

हर टीवी चैनल में height growth का advertise आता ही रहता है लेकिन इन सब दवा को लेने के बाद भी कई बार हमें मन के मुताबिक नतीजे नहीं मिलते है. आइये आज जानते है की अवचेतन मन जिसके जरिये हम कुछ भी बदलाव ला सकते है का प्रयोग कद को बढाने में कैसे करे. उम्र के हर पड़ाव में हम अपने कद को बढ़ा सकते है ये दावा कितना सही है और कितना झूठ इन बातो पर आज कुछ जानकारिया ली गई है जिन्हें यहाँ शेयर किया गया है. अगर आप अपनी हाइट को लेकर चितित रहते है तो एक बार इन टिप्स को जरुर follow करे.

height growth with subconscious mind

अवचेतन मन के जरिये किसी व्यक्ति की हाइट में बढ़ोतरी करना कैसे संभव है ? इससे भी बड़ा सवाल ये है की ये संभव है भी या नहीं. इस बारे में कोई practical experience तो नहीं है लेकिन जिस तरह से हम खुद को एक डाइट में बांध कर weight gain & loss कर सकते है, सोच बदल कर negativity to positive में convert कर सकते है तो ये संभव हो सकता है की height को भी बढाया जा सके.

इसके पीछे theory है जिसके अनुसार अगर हम subconscious mind ya lineal gland को active करे और इसके जरिये GH Hormone की मात्रा को कण्ट्रोल करे तो संभव है की उम्र के एक निश्चित दौर तक हम अपने कद में बढ़ोतरी कर सके.

आजकल जो भी TV advertisement हमें देखने को मिल रहे है सभी इस theory का ही इस्तेमाल कर रहे है. scientist इसे सही मानते है लेकिन सिर्फ दवा के जरिए हम height growth नहीं कर सकते है. कई सारी ऐसी बाते है जिनका आपको ध्यान रखना होता है. इन steps से पहले ये जानने की कोशिश करते है की आखिर इसमें subconscious mind का role क्या है ?

हमारा subconscious mind हमारे belief को reality में बदल सकता है.

हमारा अवचेतन मन एक ऐसे pen drive की तरह है जो हर जानकारी को हर information को store करता है. लेकिन इसकी information क्या है ? इसकी information हमारे daily के विचार नहीं है बल्कि हमारे belief है जो हम खुद के लिए दुसरो के लिए बनाते है.

हम उन belief को हमारे subconscious mind में तब तक भेजते है जब तक वो हमारे thought को affect करना शुरू न कर दे. negative से positive बनने में इन्ही belief का योगदान होता है. लेकिन ये इतना आसान नहीं है. हमारा अवचेतन मन एक छोटे बच्चे की तरह माना जाता है. इसकी दो वजह है.

  1. ये किसी भी विचार को accept कर लेता है बगैर किसी तर्क के. ( यानि हमारे belief )
  2. इसे ये भरोसा दिलाना की हम जो कर रहे है वो सही है इसके लिए लम्बे समय का अभ्यास चाहिए लेकिन, एक बार हम इसमें कामयाब हो जाए तो सबकुछ आसान हो जाता है.

यही वजह है की अगर आप खुद के अन्दर किसी तरह का बदलाव लाना चाहते है तो आपको सबसे पहले अपने अवचेतन मन को विश्वास में लाना होगा जिसे हम subconscious mind programming भी कहते है.

step bye step guide to height growth with subconscious mind

अवचेतन मन की प्रोग्रामिंग एक ऐसी क्रिया है जिसमे हम अवचेतन मन को निर्देशन द्वारा सही दिशा देते है. इसके लिए कुछ गाइड आपको बनने पड़ते है जो उस बदलाव से रिलेटेड होते है जो आप खुद में चाहते है. किसी आदत को बदलना है या फिर खुद को किसी स्थिति के लिए तैयार करना है इन सबके लिए आपको सबसे पहले बदलाव से जुडी आवश्यक जानकारिया पता करनी होती है. खुद के अन्दर height growth with subconscious mind को लेकर करने वाले बदलाव को आप यहाँ निचे समझ सकते है.

learn to meditate

किसी भी स्थिति में ध्यान यानि मैडिटेशन एक बेहद जरुरी क्रिया माना जाता है. अगर आपको किसी परिस्थिति के लिए खुद को तैयार करना है तो आपको पता होना चाहिए सबसे पहले आपको खुद को शांत करना होगा. इसके लिए ध्यान आपकी सहायता कर सका है. ध्यान द्वारा हम मन को शांत रख पाते है जिसकी वजह से सबसे पहला फायदा हमें किसी भी आइडियाज को समझने में मिलता है. जब हम किसी विचार को सही ढंग से समझ लेते है तब खुद को उसके लिए तैयार करना हमारे लिए आसान बन जाता है.

सिर्फ इतना ही नहीं ध्यान हमें अनुशाषित बनने में भी मदद करता है. इसकी वजह से हम खुद को उस विचार के लायक बना पाते है. इससे पहले भी हम 21-21 दिन में कैसे बनाए एक नयी आदत के बारे में जानकारी शेयर कर चुके है. कद बढाने के लिए ध्यान पहला जरिया है जिसके जरिये हम शरीर और मन के बिच सही तालमेल बनाते है और जरुरी बदलाव के लिए खुद को तैयार करते है.

keep a dream journal

हमारे मन में हर पल नए नए विचार बनते रहते है. इन सभी विचारो में हम अपने लिए जरुरी और आवश्यक विचारो पर फोकस नहीं रह पाते है. सफलता प्राप्त करने के लिए सिर्फ एक दिन सोचना काफी नहीं है. इसके लिए आपको हर रोज एक ही सपने को बार बार देखना पड़ेगा और उसे खुद पर अप्लाई करने के लिए मेहनत करनी होगी. और आपको आपका टारगेट हर रोज याद रहे इसके लिए जरुरी है की एक dream journal बनाया जाए. इसके जरिये हम खुद को हर रोज याद दिला सकते है की हमें क्या करना है. जब आप ऐसा करते है तो पहला स्टेप और दूसरा स्टेप आपस में मिल कर आपके conscious को एक जगह फोकस करने लगता है.

dream journal एक तरह से सपनो की चाबी है जिसमे हम अपने लिए महत्वपूर्ण स्टेप का चुनाव करते है और उन्हें लाइफ में अप्लाई करते है. हर रोज सुबह उठते ही अपने सपने को याद करना और ध्यान को अपनाना आपको इसके और करीब लाता है. इसकी वजह से हमारे subconscious mind में धीरे धीरे ये बात बैठने लगती है की उसे क्या करना है. जब ऐसा होने लगेगा तब वो शरीर में वो आवश्यक बदलाव लाना शुरू कर देता है जो हमें चाहिए.

Reflect yourself in every morning

खुद को हर रोज चेक करना और नए मापदंड के लायक बनाना भी एक महत्वपूर्ण स्टेप्स है. इसे हम मोटिवेशन के लिए उठाया गया कदम भी समझ सकते है. इसके लिए आपको करना सिर्फ इतना है की हर रोज सुबह उठने के बाद खुद को चेक करे की जो आप खुद के लिए कर रहे है उसकी वजह से आपके अन्दर क्या बदलाव आ रहा है ? अगर आप हर रोज खुद को height growth with subconscious mind के लिए मानसिक और शारीरिक रूप से तैयार करना चाहते है तो सबसे आसान तरीका है रोज खुद का आकलन.

एक छोटा सा उदाहरण : हम जब Gym जाना शुरू करते है तो हर रोज अपनी बॉडी को चेक भी करना शुरू कर देते है. क्यों ? क्यों की ऐसा करने से हमें मोटिवेशन मिलता है, हम खुद के अन्दर जब सकारात्मक बदलाव देखते है तो हमें इससे positive होने का अहसास मिलता है. यही वजह है की हमें ऐसा करना अच्छा लगता है. साथ ही हमारा अवचेतन इसे मानने लगता है जिसकी वजह से हम मानसिक रूप से भी वही बन जाते है जैसे शारीरिक रूप से है.

use visualization to achieve goals

visualization दो तरह से होता है. एक वो जो हम हर रोज करते है लेकिन उसे अप्लाई नहीं करते है.  इसे आम भाषा में ख्याली पुलाव कहते है. यहाँ पर visualization का मतलब है टारगेट को पूरा कैसे किया जाए इस बारे में अलग अलग planning को सोचना. किसी भी काम को पूरा करने से पहले planning & visualization करना उसे पूरा करने में हेल्प करता है.

जब हम मन में किसी काम को पूरा करने के लिए कल्पना करते है तो एक ही काम को पूरा करने के लिए 10 तरीके आपको मिलने लगते है. इन्हें आप daily life में अपना कर खुद को टारगेट के प्रति ज्यादा से ज्यादा फोकस रख सकते है. अब बात करते है की visualization हमें height growth with subconscious mind में कैसे help कर सकता है.

किसी भी कार्य के लिए हमारा positive बने रहना बेहद जरुरी है. क्यों की काम भले ही न बने लेकिन आपका positive बने रहना आपके subconscious mind को ये निर्देश देता है की आपने अभी हार नहीं मानी है और आपको अभी भी खुद पर विश्वास है. जब ऐसा होता है तब एक स्थिति आती है जिसमे अवचेतन मन खुद हमारे लिए रास्ते बनाना शुरू कर देता है.

Daily exercise that help to height growth with subconscious mind

किसी भी स्थिति या बदलाव  के लिए जब हम खुद को मानसिक स्तर पर ready कर लेते है तब बारी आती है खुद को शारीरिक रूप से इसके लिए तैयार करने की. नियमित व्यायाम न सिर्फ हमें फिट रखता है बल्कि उन हार्मोन को भी रिलीज़ करना शुरू कर देता है जिसके जरिये बदलाव संभव होता है. उदहारण के लिए ऐसे व्यायाम जिनसे हमारे पीनियल ग्लैंड पर असर पड़ता है करने से हाइट बढ़ने लगती है. खेलकूद और व्यायाम आपको इसमें पूरा हेल्प करता है.

मेरा मानना है की हाइट बढ़ाना अगर आपका पहला उदेश्य है तो आपको 14-15 साल की उम्र से ही बास्केट बॉल खेलनी शुरू कर देनी चाहिए.  ये एक ऐसा खेल है जिसमे आपकी हाइट बढ़ना शुरू हो जाती है. क्यों की खेलकूद में हम पूरी बॉडी में न सिर्फ खून के प्रवाह को बढाते है बल्कि आवश्यक हार्मोन भी रिलीज़ होने लगते है. इसके अलावा योगा इसमें हेल्प कर सकता है जैसे की ताड़ासन का अभ्यास.

Control your sexual energy

हमें हमेशा एक बात कही जाती है “भावनाओ और वेग दोनों पर नियंत्रण रखना बेहद जरुरी है” हमारी सबसे बड़ी उर्जा का स्त्रोत है काम और हमारी भावनाए. यही वजह रहती है की शादी से पहले हमें ब्रह्मचर्य का पालन करना सिखाया जाता है ताकि हम अपनी उर्जा को सही दिशा दे सके. हमारी उर्जा हमें सकारात्मकऔर नकारात्मक बनाती है. अगर आपके अन्दर उर्जा का भंडार है और आप उसे सही दिशा में ले जाने के काबिल है तो यकीनन ऐसा कोई बदलाव नहीं है जो आप खुद में ला नहीं सकते.

किसी भी कार्य में सफलता के लिए आपका सकारात्मक और उर्जा से भरपूर रहना बेहद जरुरी है. किसी भी बदलाव को सफलतापूर्वक खुद में लाने के लिए आपको उसके स्तर पर ही उर्जा चाहिए और वो सिर्फ आपको अपनी भावनाओ और काम पर नियंत्रण से ही मिलेगी. काम पर नियंत्रण बनाना सबसे बड़ी उपलब्धि मानी जाती है और जो व्यक्ति काम भावना को सफलतापूर्वक सही दिशा में ले जा सकता है  उसके लिए कुछ भी असंभव नहीं है. अब बात करते है की sexual energy & height growth with subconscious mind का आपस में क्या connection है.

हम किसी भी अंग को भावना और उर्जा के प्रवाह के द्वारा active & reactive कर सकते है. न्यास ध्यान की पोस्ट में हम इस बारे में पढ़ चुके है और जब उर्जा के वेग को एक जगह trigger करके वहा पर प्रभाव डाल सकते है तो क्या भावना और उर्जा के जरिये मस्तिष्क के पीनियल ग्लैंड को जाग्रत नहीं किया जा सकता है.

It’s all about change your belief and mentality

हमारा शरीर बदलाव तथा मस्तिष्क और बेहतर होने के लिए बना है. ध्यान द्वारा हम इसे संभव बना सकते है. सबकुछ निर्भर करता है की हमारी सोच और भावनाए कैसी है. कुछ भी ऐसा नहीं है जिसे संभव ना बनाया जा सके. अगर आप इस बात को मानते है की

[click_to_tweet tweet=”‘Dream comes true when we apply Law of attraction in our dreams'” quote=”Dream comes true when we apply Law of attraction in our dreams” theme=”style5"]

तो कुछ भी आपके लिए नामुमकिन नहीं है. आप हर कार्य को संभव कर सकते है. जो भी आप सोचे और पाने की ठान ले तो उसे ऊपर बताये गए टिप्स के साथ पूरा करने की कोशिश करे आप इसमें 100% कामयाब ही होंगे ऐसा मेरा खुद का विश्वास है. हमारी मानसिकता कैसी है ये सफलता पाने में महत्वपूर्ण रोले निभाती है.

अगर आप किसी कार्य में सफलता हासिल करना चाहते है तो आपको सबसे पहले खुद को लेकर मानसिकता बदलनी पड़ेगी. अगर आपके मन में खुद को लेकर हीन भावना है या किसी तरह की कमी को लेकर negative thoughts बने हुए है तो सबसे पहले उसे बदले क्यों की, जब तक आप ऐसा नहीं करेंगे आप चाहे लाख कोशिश कर लो कही न कही खुद को कमजोर पाओगे. हर रोज height growth with subconscious mind को लेकर अपनी मानसिकता को सकारात्मक बनाना और ऊपर बताये गए टिप्स को अपनाना आपको इसमें सफलता दिला सकता है.

height growth with subconscious mind – final word

हम खुद में वो सभी बदलाव कर सकते है जो हम करना चाहते है. इसके लिए आपको सबसे पहले खुद की मानसिकता का सीमा को समझना होगा उसे तोडना होगा और खुद को इस लिए तैयार करना होगा. जिस वक़्त हमें ये समझ आ जाता है की हम और बेहतर होने के लिए बने है हम खुद को वैसा ही बना लेते है जैसा हम चाहते है. अगर आप भी खुद पर height growth with subconscious mind जैसा experiment करना चाहते है तो tips को follow करे और सफलता हासिल करे.

पोस्ट पसंद आने पर शेयर करना न भूले. अगर अवचेतन मन का प्रयोग कद बढाने में कैसे करे को लेकर आपके मन में कोई सवाल है तो हमें कमेंट बॉक्स के माध्यम से बताना न भूले.

  1. पसीने से होने वाली बदबू से छुटकारा पाने के लिए आज ही इन उपाय को अपनाइए – Health tips
  2. सुबह की शुरुआत करे इन विचारो के साथ फिर देखिये life कैसे बदलती है – positive thinking
  3. भावुक होना कमजोरी नहीं ताकत है जानिए भावुक लोगो की सबसे बड़ी powers के बारे में
  4. घर बैठे इन घरेलु उपाय से आप भी पा सकते है चश्मे से छुटकारा – आज ही try करे
  5. किसी को भी आसानी से सेकंड में हिप्नोटाइज कर सकते है इन टिप्स को अपनाकर

Never miss an update subscribe us

* indicates required

5 COMMENTS

    • त्राटक के दौरान हम जो भावना देते है वो हमारे अवचेतन मन पर असर डालती है ये एक तरह का सम्मोहन होता है. आपको अगर अपना कद बढ़ाना है तो खुद को इससे related भावना दे जैसे की
      मेरा कद बढ़ सकता है अगर में ये व्यायाम करू तो या फिर मेरा कद और ज्यादा बढ़ सकता है
      लेकिन ये काफी नहीं है क्यों की सिर्फ भावना देने से काम नहीं चलेगा बल्कि इसके लिए आपको मेहनत भी करनी होगी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.