Hatha yoga breathing techniques को पसंद किये जाने के पीछे की Top 5 reason

0

आपने हठयोग का नाम तो सुना ही होगा. योग और प्राणायाम की बात हो और hatha yoga के बारे में बात ना हो ऐसा तो सम्भव नहीं है. आज हम आपके साथ Hatha yoga breathing techniques के बारे में कुछ नया शेयर करने वाले है. ये पुरातन भारतीय हठयोग का एक उन्नत स्वरूप है जिसकी वजह से ये आज के मॉडर्न लाइफस्टाइल में आने वाले तनाव को दूर करने के लिए न सिर्फ प्रभाविक तकनीक बन कर उभरा है बल्कि काफी बड़े स्तर पर पसंद किया जाने वाला योग भी बना है.

Hatha yoga breathing techniques

इसकी वजह है इसका Versatile होना. हम इसे अपने अनुसार बना सकते है जिसकी वजह से अभ्यास को आसान से मुश्किल अभ्यास में ले जाया जा सकता है और काफी अच्छे अनुभव प्राप्त किये जा सकते है. योग की कई सारी स्टाइल होने के बाद भी इसे सबसे ज्यादा पसंद किया जाता है खासकर western country में. स्वामी विवेकानंद इसे अमेरिका में एक Spiritual practice के तौर पर ले गए थे. समय के साथ इसमें योगी महर्षि ने काफी सारे बदलाव किए और ये पाया की इसका नियमित अभ्यास हमारे डेली लाइफ में सकारात्मक बदलाव ला सकता है.

काम का प्रेशर और फिर उसकी थकावट को अगर सही तरह से रिलीज़ न किया जाए तो तनाव बढ़ते देर नहीं लगती है. सीधे शब्दों में अगर योग को परिभाषित किया जाए तो इसका एक ही अर्थ निकलता है

शरीर को पहले उच्चतम स्तर पर stretch करो की थक कर चूर होने लगो और फिर खुद को शांत और शिथिल कर लो. आपके अन्दर का सारा तनाव दूर हो जाएगा.

आइये जानते है की आखिर क्यों आजकल हर जगह Yoga and meditation classes में Hatha yoga breathing techniques को Stress management के लिए इतना ज्यादा पसंद किया जा रहा है.

What is Hatha yoga breathing techniques?

हठ योग का नाम सुनते ही आपके मन में सबसे पहले क्या ख्याल आता है ? योग की एक ऐसी ब्रांच जिसमे हम हठपूर्वक योग और प्राणायाम करते है. इसमें breath, body, and mind के बिच एक perfect combination बनाने के लिए प्रयास किया जाता है. लगभग 45 to 90 minute के इस session में आपको हर हाल में पूरा करना होता है.

योग का जन्म भारत में आज से  2000 साल पहले हुआ था और ये spiritual breathing exercises का एक हिस्सा माना जाता था. हालाँकि 11 वी शताब्दी में ही हठ योग का उद्भव हो गया था लेकिन इसे पहली बार 19 वी शताब्दी में पहचान मिली जहाँ 1960 के समय में अमेरिका में ये काफी पोपुलर हुआ और वहां से सब में फैलता चला गया.

भारत में भी हठ योग का काफी पुराना इतिहास है लेकिन यहाँ ये इतना प्रचलन में नहीं रहा है. आज के बढ़ते तनाव में जहाँ stress management classes में बढ़ोतरी हुई है जैसे की Yoga meditation classes इन सब में अब हठ योग को काफी ज्यादा पसंद किया जा रहा है.

आज मुश्किल से 7 में से 1 व्यक्ति mind-body wellness and health benefit के लिए योग का सहारा ले रहा है. अब तक की रिसर्च की माने तो relieve stress ( तनाव से बचाव ), support healthy habits, improve emotional health ( भावनात्मक सुधार ), ease back and arthritis pain ( रीढ़ के लिए फायदेमंद ), and even help people quit smoking ( नशे की लत छोड़ने में सबसे ज्यादा मददगार ) इन सब में हठ योग काफी ज्यादा हेल्प कर रहा है. यही वजह है की आज हम इसे अपने ब्लॉग पर शेयर कर रहे है ताकि आप इसके फायदे ले सके.

हठयोग का इतिहास

हठ शब्द संस्कृत से लिया गया है जिसका मतलब है जबरदस्ती अभ्यास में समय देना. 1st century में Hatha yoga breathing techniques को Buddhist and Hindu texts दोनों में देखा गया है लेकिन इससे भी 1000 साल पहले yoga postures, or asana, and breath control इन सब को vital energy को बढाने का एक माध्यम माना जाता था.

Classical Hatha yoga का विकास 15 वी शताब्दी में हुआ और इस बार इसमें कुछ अलग चीजो को समावेश किया जैसे की

इन सब को हठयोग में शामिल किया गया और इसके बाद एक योग को एक नया रूप मिला. 1950 में हठयोग को अमेरिका में Richard Hit leman’s के popular TV program Yoga For Health के जरिये लाखो लोगो को हठयोग को पहचान मिली. इसके कुछ साल बाद ही Maharishi Mahesh Yogi जो की एक Spiritual adviser थे उन्होंने एक नए आयाम की तरह पेश किया. उन्होंने हठयोग को transcendental meditation and yoga के कॉम्बिनेशन के रूप में पेश किया और देखते ही देखते ये लोगो के बिच पोपुलर हो गया.

Swami Vivekananda ने 1893 में हठयोग को अमेरिका में spiritual practice की तरह अभ्यास करवाना शुरू किया था. 1920 में आगे चलकर योगी महर्षि ने इसमें कुछ नई प्रैक्टिस का समावेश किया और लोगो को इसमें इंटरेस्ट आने लगा और देखते ही देखते ये लोगो में काफी ज्यादा पसंद किया जाने लगा.

आज के समय में हठयोग को physical and spiritual practice के रूप में जाना जाता है जो की mind-body health इन तीनो के लिए काफी ज्यादा फायदेमंद है बजाय किसी और spiritual practice के.

हठयोग के फायदे

योगी महर्षि ने काफी लम्बे समय तक practicing yoga के calming and wellness benefits को लेकर अभ्यास किया और आज की रिसर्च भी इस बात को साबित कर चुकी है. The National Institutes of Health’s National Center जिसमे Complementary and Integrative Health पर analysis होता है यहाँ पर की गई रिसर्च में काफी सारी बाते सामने आई है. आइये जानते है इसके कुछ फायदों के बारे में.

  • Stress management: योग से physical or psychological बदलाव देखने को मिलते है खासकर तनाव में. अब तक की गई 17 में से 12 रिसर्च में ये बात सामने आई है की तनाव को दूर करने में Hatha yoga breathing techniques बाकि दूसरी तकनीक के मामले में ज्यादा कामयाब रही है.
  • Emotional health: हठयोग से Emotional health में काफी इजाफा देखा गया है. इसके Positive impact के चलते कम समय में mental health में सकारात्मक बदलाव हुआ है. अब तक के 14 रिसर्च में से 10 में ये बदलाव सकारात्मक रहे है.
  • Anxiety and depression: हठयोग everyday anxiety and depressive symptoms associated with life situations को दूर करने में हेल्पफुल साबित हुआ है. दिनभर की एक्टिविटी के बाद जो तनाव हम झेलते है उसे हठयोग के जरिये ही दूर किया जाता है.
  • Sleep: अब तक की गई NCCIH की रिसर्च में ये सामने आया है की sleep quality and duration को improve करने में भी इसका काफी योगदान है. Cancer patients, older adults, people with arthritis, pregnant women, and women with menopause symptoms जिन्हें सोने में तकलीफ होती है उन्हें इसमें बेनिफिट देखने को मिलता है.
  • Menopause: हठयोग के जरिये Menopause के physical and psychological symptoms को दूर किया जा सकता है जिसमे hot flashes शामिल है. अब तक इस रिसर्च को 1300 लोगो पर स्टडी किया जा चूका है और परिणाम सकारात्मक रहे है.
कुछ और फायदे जो हठयोग से मिलते है

Regular yoga practice का सीधा असर हमारे eating and physical activity habits पर देखा जा सकता है. नियमित रूप से किया गया अभ्यास हमें बैलेंस करता है. इसके अलावा लोगो में short-term benefits on mood and fatigue को लेकर Improvement भी देखा जा सकता है.

अगर आपको chronic low-back pain की शिकायत है तो बिना किसी दवा के हटयोग इसका समाधान साबित हो सकता है. Journal Medicine में 2019 में एक Meta-analysis पब्लिश हुआ जिसमे neck pain intensity and disability को लेकर मिलने वाले फायदे देखने को मिले. इसके अलावा range of motion in the neck को लेकर भी improvement देखने को मिलता है.

योग क्लास से क्या उम्मीद की जानी चाहिए

आज के समय में योग की बहुत सारी अलग अलग स्टाइल देखने को मिल जाएगी लेकिन, अगर एक क्लास में सिर्फ योग ही लिखा है तो समझ ले की ये हठयोग की वैरायटी है. हठयोग को Gentle yoga की तरह माना जाता है जिसमे static poses पर ज्यादा फोकस किया जाता है और इसी वजह से ये शुरुआती अभ्यास करने वालो के लिए बेस्ट माना जाता है.

hath yoga all poses

Hatha yoga breathing techniques का समय इसके Instructor पर निर्भर करता है. ज्यादातर इसका एक सेशन 45 से 90 मिनट तक चल सकता है. इसकी क्लास एक gentle warm-up के साथ शरू होती है जो की आगे चलकर advance Physical poses यानि योगा में बदल जाती है. सबसे अंत में कुछ समय के लिए मैडिटेशन के बाद इसकी क्लास पूरी की जाती है.

Hatha yoga practice के 3 चरण

आइये इसे डिटेल से जान लेते है.

  1. Breathing हठयोग की शुरुआत breath or pranayama से की जाती है. अगर अभ्यास के दौरान आपका ध्यान आपका instructor आपको बार बार इसके लिए remind करवाता है. अगर आप एक अभ्यास में सफल नहीं हो पाते है तो वो आपको different breathing exercising के लिए मोटीवेट करता है.
  2. अलग अलग तरह के पोज़: योग में balance, flexibility, and strength को improve करने के लिए काफी सारे postures or asana का अभ्यास किया जाता है. हर तरह के लोगो के लिए अलग अलग पोज़ का अभ्यास किया जाता है जिसमे शवासन भी शामिल है. अगर कोई आसन आपको मुश्किल लगता है तो आपका instructor आपके लिए Modified posture भी सुझा सकते है.
  3. मैडिटेशन यानि ध्यान : ज्यादातर क्लास short period of meditation के साथ पूरी होती है. आपका गाइड आपको इसके लिए कुछ समय तक सबकुछ भूल कर सोने के लिए भी बोल सकते है वही कुछ guided meditation या फिर Tibetan singing bowls के जरिये भी भी stress management कर सकते है.

आज के traditional Hatha yoga class में सेशन को लोगो के एक दुसरे के हाथ को पकड़कर अभिवादन करते हुए पूरा किया जाता है. इसमें वे एक दूसरे का शुक्रिया अदा करते है जिन्होंने इस सेशन में उनका सहयोग दिया.

Hatha yoga breathing techniques final word

हठयोग एक ऐसा योग अभ्यास है जिसमे हम अपने daily routine के दौरान होने वाली tension को दूर कर सकते है. अगर आप कोई Hath yoga classes join करते है और अपने आप को आगे बढ़ता हुआ महसूस नहीं कर पा रहे है तो घबराइये नहीं. आप इसके कई और option को try कर सकते है. आप इसके कई दूसरे विकल्प जैसे की flow, vinyasa, or power yoga class पर अभ्यास जारी रख सकते है.

Hatha yoga breathing techniques पुरातन भारतीय हठयोग का ही सुधरा हुआ या फिर यूं कहे की मॉडर्न तरीका है. मेरे शब्दों में Hatha yoga definition की बात करे तो इसमें हम खुद को कई ऐसे आसन के जरिये उभारते है जिनकी वजह से तनाव तो दूर होता है साथ ही हम खुद को रिलैक्स फील भी करवा पाते है. अगर आप अपने दैनिक लाइफस्टाइल में तनाव से भर जाते है तो आपको हठयोग की प्रैक्टिस करनी चाहिए या फिर किसी अच्छी क्लास को ज्वाइन करना चाहिए.

Never miss an update subscribe us

* indicates required

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here