Kundalini Yoga and Guided Chakras meditation process in Hindi safe Guide

0

हम जानते है की हमारी बॉडी में 7 main energy centre है जिन्हें हम सप्त चक्र के नाम से जानते है. ऐसा माना जाता है की हमारे शक्ति का मुख्य आधार ये चक्र है और Chakra activation की process हमें Super human बनने में मदद करती है. वास्तव में Chakra awakening process हमारे Physical and emotional well being को affect करती है. Real fact की बात करे तो Guided chakra meditation के जरिये हम Full Body energy flow की process को आसान बना सकते है.

किसी भी तरह के Chakra Bloackage को दूर कर energy flow को simple बनाती है. Kundalini Yoga and Chakras meditation process को Psycho spiritual practice माना जाता है. ये अभ्यास हमें आन्तरिक तौर पर मजबूत बनाता है, Self awareness and knowledge को बढाता है. जब ऐसा होता है तब हम विचारो में उलझने की बजाय उन्हें समझते है.

Guided chakra meditation

मुख्य रूप से इस अभ्यास को boost concentration, beat stress, and increase energy levels के लिए किया जाता है.  चक्र को power points of energy की तरह समझा जाता है जो हमें Universal energy से जोड़ते है. इनके balance or imbalanced condition का हमारे Physical and emotional level पर काफी ज्यादा फर्क पड़ता है.

Mindfulness meditation or breathing meditation जैसे अभ्यास हमें अन्दर से stable बनाने में मदद करते है. कुछ Spiritual expert के अनुसार हमें चक्र ध्यान को चरण में करना चाहिए जबकि बाकि बताते है की हम किसी particular energy centre पर भी meditation कर सकते है. आइये जानते है Guided chakra meditation benefits के बारे में विस्तार से.

What is Guided chakra meditation?

हमारे बॉडी में 7 मुख्य चक्र होते है जिनके जरिये उर्जा पूरे शरीर में flow करती है. किसी भी तरह की Blockage की स्थिति में Chakra function में problem आती है जो Emotional and physical issue की वजह बनता है. कुछ चक्र spiritual awakening से जबकि कुछ चक्र हमारे healing or relaxation की process से जुड़े है.

Spiritual practice हमेशा किसी competent teacher की Guidence में करना चाहिए. जब भी कोई Chakra Blocked होता है तब हमारी body में physical and emotional disruptions की स्थिति पैदा होती है जिसका एक ही solution है Guided chakra meditation जो चक्र को दोबारा ओपन करने और सही तरह से function करने में help करता है.

Difference between kundalini yoga and chakra meditation?

कुण्डलिनी योग और चक्र ध्यान आपको एक ही अभ्यास लग सकता है लेकिन दोनों में अंतर है.

चक्र ध्यान Improve the balance of key chakras का काम करता है जो हमारे health and mental attitude को peaceful state में ले जाता है. वही दूसरी और Kundalini yoga को हम Yoga of Awareness के नाम से भी जान सकते है. ये एक powerful and dynamic tool है जो हमें Experience of spirit करवाता है. ये एक Spiritual practice है जो हमें खुद के अंतर में उतरने और उसे समझने में मदद करता है.

कुण्डलिनी योग physical, mental, and anxious energies of the body को space of the will से connect करने का काम करता है जो की हमारे spirit का Main mechanism है. इसके अन्दर कई चीजो का समावेश है जैसे की mudra, breath, mantra, eye-focus, body bolts, and poses और ये सब nervous system को मजबूती प्रदान करता है, खून को साफ करता है और फेफड़ो को मजबूती प्रदान करता है.

आसान शब्दों में कहे तो Body mind and soul को balance करने के लिए Kundalini yoga से बढ़कर कोई अभ्यास नहीं. Guided Chakra meditation and kundalini Yoga में और भी कई अंतर है जैसे की

  • कुण्डलिनी योग को बहुत प्राचीन माना जाता है जब की चक्र मैडिटेशन को कुण्डलिनी योग से ही लिया हुआ माना जाता है.
  • Kundalini Yoga एक तरह का Psycho-spiritual practice है जो हमारे Body mind soul को एक state में ले जाता है.

ऐसे ही कई अंतर है जो कुण्डलिनी योग और चक्र ध्यान को अलग बनाते है. चक्र ध्यान हमारे Body and emotional well being को balance बनाता है आइये जानते है इस बारे में और विस्तार से.

How to meditate chakras

Chakra meditation practice पूरी तरह से person and meditation changes with each sitting पर निर्भर है. कौनसा तरीका आपके लिए सही है ये निर्भर करता है की आपकी nature क्या है. एक उदाहरण के लिए मान लीजिये आप visual person है तो आपके लिए मैडिटेशन के दौरान हर चक्र से जुड़े कलर पर focus करना अच्छा अनुभव दिला सकता है.

वही दूसरे nature के person को बॉडी में चक्र की जगह को टच कर उन्हें फील करना चाहिए. इससे हमें अलग अलग चक्र से जुड़े अहसास का पता चलता है और इसे ध्यान के दौरान Concentrate करने help मिलती है.

हमेशा एक बात को याद रखे Meditation process के दौरान आंखे बंद हो ऐसा जरुरी नहीं है. हम आँखे बंद करते है ताकि brain को आराम मिल सके और focus होने में help मिल सके.

Trataka Gazing meditation के दौरान हम आँखे खुली रखते है और जब आँखे बंद होती है तब हमारा Visual core point चक्र को महसूस करता है. ये process जब तक की आप बंद आँखों से खुद को लम्बे समय तक Concentrate and balanced state of body and mind में ना ले जाए तब तक चलती है.

इसके अलावा अगर आप Audio के जरिये भी खुद को Focus कर सकते है. तरीका चाहे जो हो आपकी nature के according ये आपको focus होने में help करता है.

Step by step Guide to meditation

किसी भी दूसरे Meditation practice की तरह इसे किया जा सकता है और कम से कम 20 मिनट तक का समय इसमें देना चाहिए. हम two types of chakra meditation के बारे में बात करने वाले है जिसका चुनाव आप अपने सुविधा के अनुसार कर सकते है.

  1. फ्लोर पर एक आसन या योगा मेट बिछाकर उस पर बैठ जाए और अपनी सांसो पर focus करे.
  2. 7 अलग अलग चक्र अलग अलग तरह के इमोशन कलर और अनुभव से बने है तो आप अपने पसंद के अनुसार किसी Particular chakra पर खुद को focus कर सकते है.

दोनों ही तरीके आसानी से किये जा सकते है और Step Guide इनकी process को आसान बना देता है जो की आपको अच्छे अनुभव दिलाने में मदद करता है.

पढ़े : घर पर रैकी का सफलतापूर्वक अभ्यास कैसे करे ?

First type of meditation practice

इस अभ्यास को आप बैठकर या लेटकर किसी भी तरीके से कर सकते है. तरीका आसान है आपको सिर्फ अपनी सांसो पर focus करना है. आँखे बंद कर लीजिये ताकि आपका Concentration बाहरी चीजो से हटकर अंतर की तरफ जुड़ाव बढ़ सके. अभ्यास की शुरुआत Root chakra से करे.

मूलाधार चक्र को बेस चक्र कहा जाता है क्यों की ये हमें पृथ्वी तत्व से जोड़े रखता है. आपको इस चक्र के लुक, कलर और वाइब्रेशन पर खुद को focus करना है.

थोड़ी देर बाद आपको चक्र के घुमाव को अपने अंदर Visualize करना है. इसके घूमने की दिशा कौनसी है और ये किस शेप में है ये सब जब आप आंखे बंद कर Visualize करते है तो Chakra vibration को साफ तौर पर experience किया जा सकता है. जैसे जैसे आपकी सांसे हलकी होती जाती है चक्र उतना ही ज्यादा क्लियर होता जाता है.

इस process को हम Cleansing के नाम से जानते है. जितना ज्यादा bright and vivid होता है उतना ही अच्छा माना जाता है. जब ये सब experience हो तब Clockwise direction of chakra moving को Visualize करना शुरू कर दे.

चक्र जागरण का अनुभव एक ऊष्मा लिए है या शांति ये भी अनुभव करे. पूरी process आपके सांसो से जुडी है और ये जितनी लाइट होगी उतना ही अच्छा अनुभव होगा.

ये प्रक्रिया हर चक्र पर लागू होती है और हर चक्र का अनुभव अलग होगा ये आपको ध्यान रखना होगा. जब ये process आपके Crown chakra तक complete हो जाती है तब आपको एक बार फिर Full body scan करना होता है. क्या आपके सभी चक्र अलाइन है और Energy Flow हर चक्र पर सही तरह काम कर रहा है या नहीं ये आपको पक्का कर लेना चाहिए.

आपको मालूम है किस चक्र पर कितना ध्यान देना है.

Second type of mediation practice

Guided chakra meditation का दूसरा तरीका सभी चक्र की बजाय किसी एक Particular chakra पर focus होने पर जोर देता है. जैसा की हम जानते है की हर चक्र एक अलग खासियत से जुड़ा है. जिस तरह का बदलाव आप अपने अन्दर चाहते है आप उसी चक्र पर फोकस कर सकते है.

उदाहरण के लिए Concentrataion, focus and intuition power or psychic ability को बढ़ाने के लिए Complete chkara awakening process को फॉलो करने की बजाय Third eye or ajna chakra meditation करना या फिर Throat chakra meditation practice जो हमारे गले से जुड़ी है. जो लोग गायन के क्षेत्र है उन्हें इसका अभ्यास करना चाहिए.

जैसे जैसे आपका focus बढ़ता है और Light breaths की प्रक्रिया बढती जाती है हर साँस के साथ चक्र का घुमाव और साइज़ बढ़ता जाता है. ये एक sign है की आपका चक्र जागरण हो रहा है. आमतौर पर हमारा कोई एक चक्र बाकि चक्र से ज्यादा एक्टिव होता है जो हमारी nature को प्रभावित करता है या दूसरे शब्दों में समझे तो हमारी nature भी Chakra awakening को affect करती है.

Benefits of Guided Chakra Meditation

Guided Chakra meditation का सबसे बड़ा benefit तो ये है की ये हमें Full body participate के लिए active बनाता है. इसके अलावा कई अलग अलग लाभ मिलते है जैसे की

  • चक्र को healing level तक explore किया जाता है जिससे की हमारी Physical and emotional well being में सुधार होता है.
  • हमारे knowledge में वृद्धि होती है और हम अपने thoughts में उलझने की बजाय एक witness की तरह उन्हें समझने की कोशिश करते है.
  • हम जब भी किसी बुरे वक़्त से गुजरते है चक्र एक Tool kit की तरह हमें problems से बाहर निकलने में मदद करते है. जब बॉडी में energy flow पूरी तरह balanced होता है हम किसी भी स्थिति में खुद को संभाल सकते है.
  • चक्र जागरण ध्यान की प्रक्रिया हमें शांत, खुद के होने का अहसास करवाती है दूसरे शब्दों में कहे तो ये अभ्यास हमारे अंतर की उर्जा को बढाता है.

Energy centre of body पर Daily meditation practice के जरिये इन्हें active रखा जा सकता है. जब हम खुद से जुड़ाव को महसूस करना शुरू कर देते है तब हमारी Body mind soul इन तीनो का एक Strong connection buildup होता है और ये हमें आगे बढ़ने में help करता है.

How to practice chakra meditation without any risk

अगर आप चाहते है की Guided chakra meditation के दौरान आपको किसी तरह के Side effect से गुजरना ना पड़े तो इसके लिए आपको कुछ बातो का ध्यान रखना होगा जैसे की Energy centre और अपनी nature के according अभ्यास की तैयारी करना, अभ्यास में Energy work को शामिल करना, अपने Shadow work को face करना और उससे भागने की कोशिश ना करना.

आपका अभ्यास खुद के development पर focus होना चाहिए ना की अभ्यास के दौरान या बाद में Spiritual bypass की स्थिति पैदा करना. अगर आप इसका अभ्यास अपनी daily life से खुद को दूर करने के लिए कर रहे है तो अनुभव अनचाहे हो जाते है.

अभ्यास के दौरान या बाद में Chakra cleansing process को भी करना जरुरी होता है. इन सबके अभ्यास के बगैर आप चक्र ध्यान को सही तरह से नहीं कर पाएंगे.

Never miss an update subscribe us

* indicates required

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here