जिसने अपनी जिंदगी रहस्यों को सुलझाने में लगा दी उसकी खुद की मौत ही रहस्य बन गई – Gaurav tiwari

1

दिल्ली में आज भी ऐसी कई घटनाए घटती रहती है जो विज्ञान के लिए पहेली है. ये जितनी आधुनिक है उतनी ही paranormal activity के main center में से एक है. ऐसा माना जाता है की यहाँ पर आपको काफी जगहे ऐसी मिल जाएगी जो paranormal है. यहाँ घुमने वाले लोगो ने काफी सारे किस्से भी शेयर किये है. दिल्ली की बात हो और एक famous Indian paranormal researcher की बात न हो ऐसा हो ही नहीं सकता. पिछले सालो में सुर्खियों में रहा एक मामला Gaurav tiwari mysterious death हो सकता है आपने भी पढ़ा होगा. कौन थे gaurav tiwari और Indian paranormal society से उनका क्या रिश्ता था, उनकी मौत कैसे हुई और कैसे उन्होंने लोगो के बिच अपनी पहचान एक paranormal researcher and investigator के तौर पर बनाई.

Gaurav tiwari mysterious death

आज हम बात करने वाले है the Indian paranormal society और उसके expert gaurav tiwari mysterious death के बारे में. साथ ही हम बताने वाले है भारत की राजधानी दिल्ली और उसके अन्दर जनकपुरी जैसी जगह जो सबसे ज्यादा भूतिया मानी जाती है. दिल्ली जितनी आधुनिक है रहस्यमयी घटनाओ के लिए भी उतना ही चर्चा में रहती है. दिल्ली के कई विश्व-विद्यालय और जगहों में ऐसी कई paranormal activity होती रहती है जिनका जवाब वैज्ञानिको के पास भी नहीं. ये घटनाए किसी भी तरह से वैज्ञानिक नजरिये से संभव नहीं लगती है. यही वजह है की गौरव तिवारी जी ने भी अपना संगठन और ज्यादातर रिसर्च यही पर की है. आइये जानते है आज उनके बारे में और भी ज्यादा.

pic credit : Indian times

secret behind Gaurav tiwari mysterious death

आज का टॉपिक एक ऐसी हस्ती के बारे में है जिसने अपनी जिंदगी रहस्यमयी घटनाओ के रिसर्च पर गुजार दी लेकिन अंत में उसकी खुद की मौत ही रहस्य बन गई. जी हाँ गौरव तिवारी जी ने अपनी लाइफ में 6000 से भी ज्यादा paranormal activity case in India solve किये लेकिन जब उनकी मौत हुई तब वो खुद लोगो के लिए पहेली बन गए. गौरव तिवारी शुरू से ऐसे नहीं थे वो अपने carrier में एक पायलट बनना चाहते थे लेकिन, अचानक उनकी लाइफ में एक ऐसा वाकया हुआ की वो अपना profession बदल कर एक paranormal activity investigator बन गए.

उन्होंने अपनी लाइफ में काफी सारे paranormal activity से जुड़े केस हैंडल किये, टीवी सीरियल में भी काम किया और जब वो लोगो के बिच अपनी पहचान बना पाने में कामयाब हो गए तब उन्होंने अपना संगठन बनाया जिसका नाम था “the Indian paranormal society” आइये जानते है एक pilot के paranormal researcher बनने की कहानी और Gaurav tiwari mysterious death के बारे में.

The Indian paranormal society

गौरव तिवारी the Indian paranormal society के founder and CEO थे. इसके अलावा वो ज्यादातर haunting serial में as a paranormal researcher काम कर चुके है. ये एक संगठन था जो उन लोगो की मदद करता था जो paranormal activity problem से परेशान रहते थे. विदेश में हुए अपने साथ एक paranormal activity के बाद गौरव तिवारी ने इस पर काफी रिसर्च की और finally at Delhi उन्होंने अपना NGO / संगठन open किया जिसमे वो परानोर्मल एक्टिविटी पर रिसर्च करते है.

उनके पास आने वाले 100 में से 99 केस ऐसे होते थे जिसमे व्यक्ति अपनी ही मानसिकता को paranormal activity मान लेता था जिसकी वजह से वो इस तरह के केस पर अपना समय बर्बाद नहीं करते थे. जो लोग वाकई में किसी पारलौकिक शक्ति से पीड़ित थे गौरव जी सिर्फ उनकी ही मदद करते थे.

gaurav tiwari short biography

The Indian paranormal society संगठन से पहले गौरव तिवारी फ्लोरिडा में 2007 में वे एक commercial piolot बनने की training ले रहे थे. एक दिन जब वे अपने 4 दोस्तों के साथ अपने apartment में थे तभी उन्हें कुछ unusual paranormal activity experience हुआ. वहा उन लोगो ने एक छोटी बच्ची की आत्मा को देखने का दावा किया था. इस घटना की वजह से उनकी लाइफ में एक रोमांचक मोड़ आ गया था जिसने उनका profession ही बदल दिया. शायद यही पहली घटना थी जो उनकी लाइफ में बड़ा बदलाव बनी और शायद Gaurav tiwari mysterious death की एक वजह भी.

बताया जाता है की गौरव तिवारी ने अपनी लाइफ में 6000 से भी ज्यादा paranormal location study की थी. यही नहीं उन्होंने राजस्थान के भानगढ़ के किले के बारे में भी लोगो को बताया था. उनके अनुसार ये प्लेस haunted नहीं था. उनकी शादी भी हुई थी लेकिन उनकी पत्नी को उनका paranormal activity को study and research करना पसंद नहीं था.

mysterious death of gaurav tiwari

ये बात 7 July 2016 की है जब गौरव तिवारी अपने नार्मल दिनों की तरह सुबह का न्यूज़ पेपर पढ़ कर नहाने के लिए. जब बाथरूम से काफी देर बाद भी गौरव बाहर नहीं आने पर घरवालो को शक हुआ की कुछ गलत ना हुआ हो. तभी अचानक उन्हें किसी के निचे गिरने की आवाज आई और दरवाजा खोलते ही घरवालो ने गौरव को निचे गिरा हुआ पाया. कोई नहीं जानता था की Gaurav tiwari mysterious death के पीछे आखिर क्या वजह होगी.

गौरव तिवारी की मौत अस्पताल ले जाते हुए रास्ते में ही हो गई थी. डॉक्टर के अनुसार उनकी बॉडी पर कही भी किसी चोट के निशान नहीं थे, ऐसे में लोगो द्वारा कहा जाने लगा की ये काम आत्माओ का है. उनका ऐसा मानना था की आत्माओ को गौरव का इस तरह उनके काम में दखल देना पसंद नहीं आया होगा और उन्होंने उन्हें कमजोर पाते ही उन पर अटैक कर दिया. एक अन्य विश्वास के अनुसार भी इस बात को माना गया क्यों की इसका जिक्र गौरव तिवारी जी ने खुद किया था.

आत्माओ का अटैक और गर्दन पर काला निशान

Gaurav tiwari ji ने अपने research में एक बात जाहिर की थी की आत्माए जब भी किसी से अपना बदला लेती है तो उसकी गर्दन पर काला निशान छोडती है. उनकी सबसे पहली paranormal activity जिसमे उन्हें एक छोटी बच्ची की आत्मा दिखी थी उसकी गर्दन पर भी एक काला निशान था. यही वजह थी गौरव की गर्दन पर भी वही काला निशान मिलने के बाद लोगो द्वारा इस कयास को मजबूत समर्थन मिला. हालाँकि आज भी उनकी मौत mysterious है क्यों की अभी तक कोई पुख्ता सबूत नहीं मिला है. उनकी मौत से ठीक 2 दिन पहले ही गौरव दिल्ली के जनकपुरी में किसी घर में अपनी research कर रात के 1:30 बजे घर लौटे थे.

उन्होंने घरवालो को बताया की उस जगह पर उन्हें काफी negative energy महसूस हो रही थी जो बार बार उन्हें अपनी ओर खिंच रही थी. ये सब उनके कण्ट्रोल से बाहर था. इस बात को लेकर उनकी अपनी पत्नी से बहस हो गई. तब तक कोई नहीं जानता था की Gaurav tiwari mysterious death की शुरुआत हो चुकी है.

रिपोर्ट के अनुसार गौरव की मौत साँस रुकने की वजह से हुए थी, यही वजह रही की पुलिस ने इस केस को suicide करार दिया और केस क्लोज कर दिया. उनके अनुसार गौरव ने आत्महत्या की कोशिश की होगी और इसी वजह से उनकी जान चली गई. लेकिन गौरव के अनुसार अगर कोई powerful evil आपसे बदला लेने की कोशिश करती है तो वो आपको गला दबा कर मारने की कोशिश करता है. इसी वजह से उनकी गर्दन पर काले रंग की लाइन बन जाती है.

special thanks : haunting tube

Gaurav tiwari mysterious death – final word

हम अक्सर सुनते रहते है की जो इन्सान जैसा शौक पालता है वो अक्सर अंत में उसी की वजह से मारा जाता है, तो क्या आप भी मानते है की Gaurav tiwari mysterious death के पीछे वास्तव में आत्माओ का हाथ था. डॉक्टर चाहे लाख इस बात से इंकार करते रहे लेकिन वास्तव में उनकी मौत एक paranormal accident था. इसकी कई वजह रह सकती है जो ऊपर शेयर की जा चुकी है. आप इस बात को लेकर क्या मानते है और क्या आप इसी तरह खास जानकारियों को अपने ब्राउज़र पर पढना चाहते है. हमें कमेंट में जरुर बताये.

इन पोस्ट को पढना ना भूले.

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.