Any issue

तंत्र मंत्र यंत्र की साधनाओ से भरपूर अद्भुत और प्राचीन वृहत पुस्तक hindi pdf

indrajal book online read करने की काफी सारी कोशिश करने के बाद भी कही पर भी इंद्रजाल पुस्तक pdf में उपलब्ध नहीं है. ये एक काफी rare hindi pdf books है. अगर आप महा इंद्रजाल हिंदी पीडीऍफ़ फ्री डाउनलोड करना चाहते है तो यहाँ पर आपको मिलने वाली है. असली प्राचीन महा इंद्रजाल pdf download ये बुक्स Hindi में है और सबसे आसान मगर प्रभावी बुक्स में एक है. Asli Prachin Maha Indrajal Pdf Download.pdf पाने की सबसे आसान प्रोसेस आपको इस पोस्ट में मिल जाएगी.

दोस्तों sachhiprerna hindi blog पर आपका स्वागत है. अगर आप तंत्र मंत्र यंत्र से जुड़ी पुस्तके देख रहे है तो आपको बता दे की पिछले कुछ समय में इंद्रजाल पुस्तक pdf hindi सबसे ज्यादा खोजी जाने वाली पुस्तकों में से एक बन चूका है. लोगो को ऐसा इंद्रजाल चाहिए जो सबसे पुराना हो, सही और सम्पूर्ण हो. इसलिए हमने सबसे पुराना इंद्रजाल आप सबके लिए ब्लॉग पर जोड़ा है. अगर आप वृहत इंद्रजाल पुस्तक देख रहे है तो आपको ये यहाँ मिल सकता है.

कुछ समय पहले तक ये पुस्तक सभी के लिए ब्लॉग पर उपलब्ध थी लेकिन कुछ वजह से इसे वहा से हटाना पड़ा. इसकी सबसे बड़ी वजह थी जिसके पास से ये पुस्तक ली गयी थी उसका आपत्ति जाताना. इस वजह से हमने फैसला लिया की इसे हटा दे लेकिन रीडर की डिमांड पर इसे वापस जोड़ा गया है.

असली प्राचीन महा इंद्रजाल pdf download

इंद्रजाल की इस पुस्तक में आपको सबसे बड़ी और खास बात ये मिलने वाली है की ये pdf यानि ebook के format में है. इस वजह से इसे आपको मंगवाने की जरुरत नहीं पड़ने वाली ना ही किसी तरह के रखरखाव की जिसकी वजह से आप जब चाहे जहा चाहे इसका उपयोग कर सकते है. ये पुस्तक 60 साल से भी ज्यादा पहले की है.

असली प्राचीन महा इंद्रजाल pdf download करने की सबसे खास वजह ये है की इसमें आपको वो सबकुछ मिल सकता है जो आप चाहते है. इंद्रजाल के बारे में आप पहले ही बहुत कुछ पढ़ चुके है नहीं तो इंद्रजाल का रहस्य आप पढ़ सकते है.

इंद्रजाल की सबसे ज्यादा डिमांड इस वजह से की जाती है क्यों की इसमें आपको लगभग हर तरह के विधान, तंत्र मंत्र यंत्र के निर्माण की सही विधि मिल जाती है. अन्य किताबो की तुलना में ये सरल और आसान मगर प्रभावी होता है.

मै इस बात को पहले नहीं मानता था लेकिन जब मैंने पाया की एक अन्य ब्लॉग पर जो पुस्तके हजारो रूपए में बेचीं जा रही है वो मंत्र और विधान इंद्रजाल से ही लिए गए है. इसके बाद से ही टीम के लोगो द्वारा ये फैसला किया गया की असली प्राचीन महा इंद्रजाल pdf download को सार्वजानिक करने के बजाय एक प्रोडक्ट की तरह sell किया जाए.

असली प्राचीन महा इंद्रजाल pdf download की बजाय sell करने की वजह

इसकी 2 मुख्य वजह है पहला इस पुस्तक के ओनर को आपत्ति होना, दूसरा ब्लॉग और टीम के खर्च को कम करना. इस खर्च में ब्लॉग के संचालन, सालाना इस पर होने वाले खर्चे को कम करना और नए नए सुविधा को जोड़ना है. Hindi ब्लॉग में sachhiprerna को अपनी पहचान बनाने के लिए काफी संघर्ष करना पड़ता है. अगर आप चाहते है की ब्लॉग सुचारू रूप से आपके फायदे के लिए चलता रहे तो आप डोनेशन का विकल्प भी चुन सकते है.

असली प्राचीन महा इंद्रजाल pdf download – मुख्य विशेषता

google पर अब तक लोगो ने काफी कुछ तंत्र मंत्र साधनाओ के बारे में सर्च किया है लेकिन असली प्राचीन महा इंद्रजाल pdf download करने से जुड़ी सही जानकारी बहुत कम लोगो को मिल पायी है. sachhiprerna hindi ब्लॉग का मुख्य उदेश्य यही है की लोगो को सही मार्गदर्शन मिले. आपको इंद्रजाल की इस पुस्तक में वो सबकुछ मिल सकता है जो आप चाहते है.

मुख्य रूप से यक्षिणी साधना करने की विधि और विधान के साथ साथ सभी मुख्य यक्षिणी की जानकारी, वशीकरण, शांतिकर्म, स्तम्भन, उच्चाटन, मारण, हाजरात, भैरव सिद्धि, रक्षा कवच उपाय, shabar मंत्र और अघोरकल्प जैसे मुख्य विषय की जानकारी एक साथ आपको अन्य किसी पुस्तक में नहीं मिलेगी. यही नहीं कुछ खास टोने टोटके जिन्हें लेकर लोग अक्सर शिकायत करते है की वो इन्हें सिद्ध नहीं कर पाते है तो उनके लिए हर तरह के विधि और विधान के बारे में बताया गया है.

असली प्राचीन महा इंद्रजाल pdf download

इंद्रजाल पुस्तक hindi pdf से जुड़े खास सवाल

इससे पहले की आप असली प्राचीन महा इंद्रजाल pdf download करने की सोचे पहले बात कर लेते है इससे जुड़े कुछ महत्वपूर्ण सवाल और जवाब के बारे में. चलिए जानते है ऐसे ही कुछ खास सवाल और जवाब के बारे में.

सवाल : में तंत्र मंत्र की field में नया नया हूँ क्या में इन्हें आसानी से सीख सकता हूँ ?

जवाब : निर्भर करता है आपकी श्रधा और विश्वास पर. इसके अलावा अगर आपके पास सही और पुरानी जानकारी है तो आप कुछ भी आसानी से सीख सकते है. साधना में मुख्य होता है उसका विधान जो आपको पता होना चाहिए. इंद्रजाल की पुस्तक में आपको हर विधान की जानकारी मिल सकती है.

सवाल : इंद्रजाल की पुस्तक मार्केट में भी है वो भी कम कीमत पर फिर हम इसे ही क्यों ले ?

जवाब : समय के साथ लोगो ने अपने नाम से पुस्तक का प्रकाशन किया है जिसकी वजह से किताब में काफी बदलाव किये गए है, महत्वपूर्ण जानकारिया बदली गयी है क्यों की original जानकारी प्रकाशित नहीं कर सकते ये कॉपीराइट के तहत जुर्म है.

इस वजह से आपको मार्केट में काफी सस्ती दरो पर पुस्तके तो मिल जाएगी लेकिन सही जानकारी नहीं. तंत्र मंत्र की पुस्तके जितनी पुरानी होती है उतनी ही प्रभावशाली होती है. यहाँ जो असली प्राचीन महा इंद्रजाल pdf download करने को मिलेगी उसमे सटीक जानकारी होगी.

सवाल : क्या बिना गुरु के तंत्र मंत्र सीखना खतरनाक नहीं होता ?

जवाब : बिलकुल होता है. लेकिन आज के समय में गुरु हर किसी को मिलना भी संभव नहीं. इसकी वजह से गुरु मंत्र, spiritual गाइड और रक्षा कवच जैसे विधान आपको साधना सीखने में मददगार साबित हो सकते है.

अगर साधना से पहले रक्षा कवच हो तो साधना का दुष्प्रभाव से बचा जा सकता है जब तक की इसका समाधान ना मिल जाए. ये एक सुरक्षा विधान है स्थायी समाधान नहीं. लेकिन फिर भी निम्न स्तर से उच्च स्तर तक पहुंचा जा सकता है.

सवाल : मेरी रूचि यक्षिणी साधना में है क्या इंद्रजाल से सही जानकारी मिल सकती है ?

जवाब : हाँ ! इंद्रजाल पुस्तक hindi pdf में आपको यक्षिणी साधना का विधान, यक्षिणी के बारे में जानकारी, साधना से जुड़े नियम और अन्य आवश्यक जानकारी मिलती है.

असली प्राचीन महा इंद्रजाल pdf download से जुड़ी  कुछ खास जानकारी

दोस्तों ये पुस्तक सांकेतिक भाषा में है इसलिए इसे समझने के लिए आपको इसका अध्ययन पूरा करना पड़ता है. अगर आप इसका अध्ययन कर लेते है तो शायद ही कोई साधना होगी जिसे आप कर ना सके.

पुस्तक भाषा : हिंदी सांकेतिक,                                 पृष्ठ : 375                         सहयोग राशी : 500 रूपये मात्र

खरीदने के विकल्प :

paypal : [email protected]

paytm : +91-8432048593 ( kumar )

Direct bank transfer :

bank name : punjab national bank

Acount holder : Ramesh kumar

Acount : 6889000100092676

branch IFSC code : PUNB0688900

Comments 32

  1. Balram Chauhan says:

    This is very useful or maine is puri book ko read kiya h isme bhut kuchh sikhne ko mila mujhe

  2. Kiran Bhai patel says:

    Muje indrajal ki boock chahiye

    • kumar says:

      dear sir book se judi detail apko mail kar di h ap check kar lijiye

  3. अभिषेक says:

    सर मुझे बुक लेना है।।।

  4. Shivam Sharma says:

    Sir mujhe indrajal puri book leni h.plz sbhi details send kre.

  5. Amit shrivastava says:

    Iski poori jankari mera e-mail pe bhej djye

  6. Anonymous says:

    I want to buy indrajal book pls suggest and send details to my ID.

  7. Gaurav says:

    sir Muje indrajal book chiye. please send it to my mail address

  8. Vishal says:

    Sir mujhay inderjal chaiya please send

  9. Ashok Panchal says:

    सर मुझे प्राचीन इन्द्रजाल पुस्तक लेन है तो कैसे मिलेगी

    • kumar says:

      ये आपको पीडीऍफ़ के फॉर्मेट में मिलेगी सर जिसे आप बाद में प्रिंट कर सकते है जैसे किताब की करते है. सब जानकारी ऊपर पोस्ट में दी हुई है.

  10. Somnath Chauhan says:

    सर मुझे यह किताब लेनी है और PDF पे पढ़ना भी है कैसे डाउनलोड करें पढ़ने के लिए और इसको खरीदने के लिए क्या-क्या करना पड़ेगा

    • kumar says:

      dear sir ise kharidne ke liye apko 1200 rupee payment karna hoga. ye aap paytm ya bank transfer k jariye kar sakte h. jab ap aisa kar dete h to apko whatsap par hi pdf bhej di jayegi

  11. BHUVNESH PRATAP SINGH CHAUHAN says:

    helloo sir
    what is this just waste of time on yuor website . i seems that this si fake
    many more time i trying to download the pdf file on your site didnt it
    please lets mr explain how idownload pdf file

    • kumar says:

      please allow us some day we are upgrading our user experience. you will get all pdf after some changes

  12. Rohit singh says:

    सर मुझे भी ईनदरजाल की किताब चाहिए

  13. Ashish says:

    I wants to buy inderjaal book ….the original one ..how can i get it.please let me know

  14. Ajay says:

    Sir mughe asle prachin indrajal pustak chahiy

  15. M kumar says:

    Mujhe bhi….

  16. Sonu says:

    Mujhe bade vali inderjal chahiye us ke paise bt de or ak image bhej de book ki

  17. Vikas says:

    Hi sir mere ko sari pustak chahiye

  18. Ajay says:

    Plz send the pdf formet for this book