Diwali Tantra Mantra Sadhna इस दिवाली कैसे पाए माँ लक्ष्मी की कृपा

0
323

क्या आप जानते है की दिवाली के पर्व पर की जाने वाली तंत्र साधना इतनी जल्दी असर कैसे करती है. दरअसल दिवाली का पर्व काल रात्रि का समय होता है. इस दौरान सात्विक शक्तियां और नकारात्मक शक्ति दोनों जाग्रत होती है. इस समय पर की जाने वाली Diwali Tantra Mantra Sadhna आपको बेहद कम समय में रिजल्ट देती है जिसकी वजह है गृह नक्षत्र की स्थिति. इस दौरान अभिचार कर्म बड़ी आसानी से अपना प्रभाव दिखाते है.

अगर आप इस दिवाली पर माँ लक्ष्मी की कृपा पाना चाहते है तो इस समय कुछ उपाय आप घर पर ही कर सकते है. अभिचार कर्म जैसे की उच्चाटन और मारण जैसे प्रयोग बड़ी आसानी से अपना रिजल्ट देते है क्यों की ये सब अमावस के समय पर ही किये जाते है और दिवाली का पर्व काल रात्रि का समय होता है. इस समय नकारात्मक शक्तियां अपने चरम पर होती है और बड़ी आसानी से उन्हें साधा जा सकता है.

Diwali Tantra Mantra Sadhna

दिवाली पर किये जाने वाले तंत्र मंत्र के प्रयोग दूसरे किसी भी समय से जल्दी असर दिखाते है लेकिन, इस समय आप कुछ सात्विक साधनाए भी कर सकते है. माँ लक्ष्मी की कृपा बनाए रखने के लिए हर दिवाली कुछ उपाय करने चाहिए. लक्ष्मी पूजन की सही विधि से माँ लक्ष्मी की कृपा बनी रहती है. ऐसा माना जाता है की इस समय Shree Yantra की स्थापना करना शुभ माना जाता है और इन्हें आसानी से जाग्रत किया जा सकता है.

श्री यन्त्र की घर पर स्थापना करना और प्राण प्रतिष्ठा करना आपके घर में सकारात्मक शक्तियों का संचार करता है और नकारात्मक शक्तियां दूर रहती है. इस दीप माला की रात्रि ऐसे कई उपाय है जिन्हें घर पर कर बेहद कम समय में रिजल्ट पा सकते है. आइये जानते है इसके बारे में डिटेल से.

Diwali Tantra Mantra Sadhna in Hindi

हर साल दिवाली का पर्व बड़े ही धूमधाम से मनाया जाता है. ये पर्व खुशियों के अलावा तंत्र मंत्र साधना के लिए भी महत्वपूर्ण है. हर साल साधनाओ में सिद्धि के लिए इस काल रात्रि का इन्तजार किया जाता है. कई बार कोशिश के बावजूद भी अगर आपको साधनाओ में सफलता नहीं मिल रही है तो आपको Diwali Tantra Mantra Sadhna के उपाय करने चाहिए.

यह वो समय है जब हर समस्या का समाधान आसानी से और कम से कम समय में किया जा सकता है. इस समय ज्यादातर अभिचार की साधना सफल होती है क्यों की अमावस के समय जहाँ चंद्रमा का प्रभाव ना के बराबर हो जाता है. वशीकरण, उच्चाटन, स्तम्भन या मारण जैसी साधनाओ में आसानी से सफलता हासिल की जा सकती है. कुछ लोग माँ लक्ष्मी की साधना करते है ताकि आगे भविष्य में उन्हें धन से जुड़ी समस्या ना रहे.

हम पिछली पोस्ट में दिवाली पर वशीकरण, मोहन, चोरी की गई वस्तु का पता करने की साधना के बारे में जानकारी शेयर कर चुके है. अगर आप इनके बारे में पढना चाहते है उन्हें पढ़ सकते है. ग्रहों की स्थिति और प्रभाव की वजह से दिवाली पर जो भी प्रयोग किया जाता है उसका असर जल्दी दिखाई देने लगता है. आइये जानते है इस दिवाली पर की जाने वाली तंत्र मंत्र साधना के बारे में.

पढ़े : दिवाली पर की जाने वाली तंत्र मंत्र साधना और उपाय

दिवाली पर रखे सावधानी

Diwali Tantra Mantra Sadhna के दौरान हमें कुछ सावधानियां रखनी चाहिए. हालाँकि दिवाली का पर्व खुशियों से भरा है और इस दौरान हर जगह पॉजिटिव माहौल होता है लेकिन, आपको ये मालूम हो की इस दौरान तंत्र मंत्र के अलावा Evil eye, Negative energy भी आपके चारो तरफ विचरण करती है. आपकी छोटी सी गलती नकारात्मक शक्तियों को आप पर हावी होने दे सकती है.

अक्सर देखा जाता है की शाम के समय चौराहे पर हम टोने-टोटके और तंत्र से जुड़ी चीजे दिखाई देती है. अगर गलती से भी आपका पैर या फिर कोई हिस्सा टच हो जाता है तो ये शक्तियां आप पर हावी होने लगती है. कुछ सावधानियां है जो आपको इस दौरान रखनी चाहिए जैसे की

  • शाम के समय चौराहे को लांघने के दौरान सावधान रहे. सुनसान जगह पर दिन ढलने के समय पर नहीं जाना चाहिए क्यों की ये समय तंत्र मंत्र और अभिचार कर्म के लिए होता है.
  • छोटे बच्चो और गर्भवती स्त्री को इस दिन सुनसान जगह पर जाने से बचना चाहिए.
  • किसी अनजान व्यक्ति से मिठाई खासकर सफ़ेद और मावे से बनी मिठाई ना तो लेनी चाहिए और ना ही खाकर बाहर निकलना चाहिए.
  • अमावस की रात्रि में पूजन के बाद भूलकर भी बाहर ना निकले.

दिवाली के पर्व पर नकारात्मक शक्तियों से बचना है तो ये सावधानियां रखनी चाहिए. ये सभी सावधानियां आपको आने वाले भविष्य में सेफ रखने में हेल्प करेगी. अमावस की रात्रि में अभिचार कर्म अपने चरम पर होती है और आपकी छोटी सी गलती बड़े नुकसान की वजह बन सकती है. आइये अब जानते है की इस दौरान हम साधना कर कैसे अपने भविष्य को सुधार कर सकते है.

श्री यन्त्र सिद्धि साधना

श्री यंत्र सिद्धि साधना के लिए दिवाली की रात काफी महत्वपूर्ण है और सिर्फ एक रात्रि में हम आसानी से यंत्र की सिद्धि कर सकते है. इसके लिए लक्ष्मी पूजन के बाद “ऊं ह्रीं श्रीं कमले कमलालये प्रसीद प्रसीद श्री ह्रीं श्रीं ऊं महालक्ष्म्ये नम:” मंत्र की 11 माला का जप करे. मंत्र जप के साथ ही Shree Yantra की स्थापना करे इससे ये जाग्रत हो जायेगा. इसके अलावा दूसरे उपाय भी किये जा सकते है. अगर काल रात्रि के दौरान आप माँ लक्ष्मी के बीज मंत्र का जाप किया जाता है तो भी ये काम करता है.

ऊं श्रीं ह्रीं महालक्ष्म्ये नम: Diwali Tantra Mantra Sadhna के पर्व पर इस बीज मंत्र का 21 माला जाप कमलगंट्टे अथवा स्फटिक की माला पर जप करे और दशांश हवन करे. ऐसा करने से यंत्र उर्जा से भर जायेगा. हवन में कमल गट्टे या फिर कमल पुष्प की आहुति देनी चाहिए.

ध्यान दे : अगर आप तंत्र मंत्र साधना में रूचि रखते है और साधना से जुड़ी खास बुक्स देख रहे है तो ब्लॉग पर असली प्राचीन इंद्रजाल देख सकते है. इसकी कीमत 500 रूपये है और ये सिर्फ PDF Format में ही मिल सकता है. इसकी वजह इसका काफी पुराना होना है और इसके उपाय प्रमाणिक है. आप घर पर इनका अभ्यास कर सकते है. अगर आप वशीकरण, मोहन, यक्षिणी साधना, यन्त्र साधना को सीखना, समझना चाहते है तो आपको एक बार ये पुस्तक जरुर देखनी चाहिए.

पुस्तक के बारे में ज्यादा जानने के लिए आप इस लिंक पर क्लिक कर असली प्राचीन महा इंद्रजाल के बारे में पढ़ सकते है.

दिवाली की रात करें ये टोने-टोटके और उपाय

किसी भी बड़े पर्व पर अगर आप साधना कर रहे है तो इसके लिए 5 दिन होते है Diwali Tantra Mantra Sadhna का मुख्य समय और इसके 2 दिन पहले और 2 दिन बाद का समय. कुछ ऐसे टोने-टोटके है जिन्हें आप कर सकते है.

  • अगर आपके घर में Negativity अक्सर फील होती है तो पूजा के बाद घर के हर कोने में शंख और घंटी बजाए.
  • दीपावली की रात्रि में लक्ष्मी पूजन के अलावा एक तेल का दीपक जलाकर उसमे एक लौंग डाले और हनुमान जी की पूजा करना ना भूले.
  • अगर आप धन से जुड़ी समस्या से गुजर रहे है तो पूजन में पिली कौड़ियाँ जरुर रखे.
  • लक्ष्मी पूजन के दौरान हल्दी की गांठ रखे और पूजा के बाद इसे तिजोरी में रख दे.
  • दीपावली पर नयी झाड़ू जरुर ख़रीदे. घर की सफाई करे और बाद में इसे छिपाकर रख दे. आप चाहे तो किसी मंदिर में नयी झाडू का दान भी दे सकते है.
  • अगर आप शनि दोष या कालसर्प दोष से गुजर रहे है तो दिवाली की शाम को पीपल के निचे दीपक जलाए और जड़ में जल दे.
  • दिवाली पूजन में लक्ष्मी यंत्र, कुबेर यंत्र और श्रीयंत्र की स्थापना करना ना भूले. स्फटिक का श्रीयंत्र सबसे बेहतर होता है.
  • दीपावली की रात्रि श्रीसूक्त एवं कनकधारा स्तोत्र का पाठ करना चाहिए या फिर श्रीसूक्त एवं कनकधारा स्तोत्र का पाठ जरुर करना चाहिए.

माँ लक्ष्मी के महा-मंत्र ऊँ श्रीं ह्रीं श्रीं कमले कमलालये प्रसीद प्रसीद् श्रीं ह्रीं श्रीं ऊँ महालक्ष्मयै नम: का कमलगट्टे की माला पर 108 जप करना आपके धन से जुड़ी समस्या को दूर करता है.

दिवाली पर किये जाने वाले तंत्र प्रयोग

लक्ष्मी पूजन के समय चांदी के पुराने सिक्के ले और इन्हें दूसरे पैसो और पिली कौड़ियो के साथ पूजन में रखे. हल्दी और केसर से पूजन की विधि करे और बाद में तिजौरी में रख दे. माना जाता है की ऐसा करने से धन की कमी नहीं रहती है. Diwali Tantra Mantra Sadhna के दौरान इसका बहुत बड़ा महत्त्व है.

धनतेरस के दिन सुबह सुबह लक्ष्मी मंदिर जाए और कमल फूल के साथ सफ़ेद मिठाई अर्पित करे. पूजा के समय पीले कपड़े पहने और उत्तर दिशा की तरफ मुह कर बैठ जाए और  महा लक्ष्मी यंत्र/ श्री कनकधारा यंत्र/ कुबेर यंत्र/ श्री मंगल यंत्र/ श्री यंत्र की विधि विधान से पूजा करे. दूसरे दिन इसे अपने पूजा कक्ष में स्थापित कर दे. ऐसा करने से यन्त्र सिद्धि होती है और भविष्य में धन की कमी नहीं रहती है.

छोटे आकार का श्री फल लेकर दिवाली के समय विधि विधान से पूजन करे. अब इसे एक लाल रंग के कपड़े में बांधकर रख दे. इसे ऐसी जगह रखे जहाँ किसी की नजर ना पड़े. माना जाता है की ऐसा करने से माँ लक्ष्मी की सदा कृपा बनी रहती है.

अगर आपके घर में धन की कमी है और परिवार के लोगो की आपस में नहीं बनती है तो Diwali Tantra Mantra Sadhna  के समय आपको मोती शंख या दक्षिणावर्ती शंख की दिवाली की शाम के समय पूजन करने के बाद स्थापना करनी चाहिए. यह टोटका धन में वृद्धि करता है और परिवार के लोगो के बीच प्रेम बढाता है.

दिवाली को शाम समय पीपल के पेड़ के निचे तेल का दीपक जलाए. इसके बाद पीछे मुड़कर ना देखे और ऐसा हर शनिवार को लगातार एक साल तक करे. ऐसा करना गरीबी दूर करता है.

दीप माला की रात्रि पर की जाने वाली मंत्र साधना

दिवाली वाली रात मंत्र साधना के लिए काफी महत्वपूर्ण है. माँ लक्ष्मी की साधना कमलगट्टे की माला से 11 या 21 हजार जप करने और दशांश हवन करने के बाद बाल कन्याओ को भोजन करवाए, इससे मंत्र सिद्धि होती है. निचे दिए गए किसी एक मंत्र का जप कर सकते है जैसे की

  • “ओम् ह्नीं श्रीं घण्टाकर्णी नमोस्तुते ठ: ठ: ठ: स्वाहा।” ( प्रतिदिन 11 माला )
  • “ओम् श्री ह्नीं कमले कमलालये प्रसीद प्रसीद श्रीं ह्रीं श्रीं महालक्ष्म्यै नमः।” ( 11 माला )
  • “ह्नीं महालक्ष्मी ह्नीं “ ( 5 माला )

ये सभी माँ लक्ष्मी के मंत्र है और इनकी सिद्धि साधक या गृहस्थ को धन की कमी नहीं होने देती है.

दिवाली की रात्रि क्या नहीं करना चाहिए

दीप माला की रात्रि में एक ओर जहाँ लोग खुशियाँ शेयर करने में बिजी रहते है वही कुछ लोग इस समय खासकर रात्रि में नशा करने और जुआ खेलने में गर्व महसूस करते है. ऐसा माना जाता है की दिवाली की रात्रि में जुआ खेलना चाहिए. एक तरह से ये लक को आजमाना होता है जो आपको अमीर बना सकता है. Diwali Tantra Mantra Sadhna  के जरिये सफलता पाने के लिए कुछ लोग Lotto and lottery number winning yantra का सहारा लेते है.

इस तरह सट्टे जीतने के ताबीज और यंत्र का सहारा लेकर जुआ जीतने की कोशिश की जाती है. हालाँकि अगर ये सिर्फ मनोरंजन के तौर पर हो तो गलत नहीं है लेकिन अपना सबकुछ या बड़ी कीमत को दांव पर लगाकर जुआ खेलना सही नहीं है. काफी सारे घर सिर्फ इसी वजह से टूट जाते है इसलिए भूलकर भी दिवाली की रात्रि को ऐसा काम नहीं करना चाहिए.

दिवाली का समय खुशियाँ बाँटने का होता है इसलिए इस समय को गलत काम में बर्बाद ना करे बल्कि खुश रहने में बिताये.

Diwali Tantra Mantra Sadhna Final Word

दीपावली की रात किये जाने वाले उपाय, टोने-टोटके और तंत्र मंत्र साधना के बारे में काफी कुछ यहाँ शेयर किया जा चूका है. ज्यादातर लोग तंत्र मंत्र की साधना के जरिये मंत्र और यन्त्र की सिद्धि करते है क्यों की ये काल रात्रि का समय होता है और इस दौरान की गई साधना 100 गुना फल देती है. इसके अलावा दिवाली पर वशीकरण की साधना सिद्धि का उपाय भी हम पहले ही शेयर कर चुके है.

दिवाली का पर्व काफी खास होता है और इस दौरान किया गया कोई भी उपाय बाकि किसी भी समय से ज्यादा जल्दी रिजल्ट देता है. इस दौरान किये जाने वाले उपाय में वशीकरण की साधना सिद्धि, उच्चाटन, स्तम्भन और मारण जैसे उपाय शामिल है. शत्रु शमन के लिए कुछ लोग इसी समय मूठकरणी या फिर हंडिया या निशिदाग का प्रयोग करते है.

Never miss an update subscribe us

* indicates required
Previous articleHow to Manage Financial Stress in Hindi कोरोना के बाद से अपने बजट को प्लान कैसे करे ?
Next articleNavarna Mohini Mantra for Love Marriage and Vashikaran Kriya in Hindi
Nobody is perfect in this world but we can try to improve our knowledge and use it for others. welcome to my blog and learn new skill about personal | psychic | spiritual development. our team always ready to help you here. You can follow me on below platform

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here