तांत्रिक इस विधि का प्रयोग कर नारियल और अनाज के दानो में पारलौकिक समस्या को देखते है – आप भी देख सकते है

तांत्रिक इस विधि का प्रयोग कर नारियल और अनाज के दानो में पारलौकिक समस्या को देखते है – आप भी देख सकते है

आपने फिल्मो और कई जगहों पर देखा ही होगा की कुछ तांत्रिक एक्सपर्ट एक नारियल द्वारा पता करते है की आपके साथ किस तरह की पारलौकिक शक्ति है जो आपके आपके घर में है. क्या ऐसा संभव है ? ये किस तरह की शक्ति का आवाहन कर ऐसा करते है और नारियल द्वारा ही ऐसा क्यों संभव होता है. अगर आपने गौर किया हो तो ऐसे प्रयोग या तो जटा वाले नारियल पर होते है या फिर अनाज के दानो पर. नारियल के प्रयोग द्वारा अपने घर में नेगेटिव एनर्जी का पता लगाना और उसका सही समाधान कैसे किया जा सकता है के बारे में आज जानते है. तांत्रिक बाबा लोग कैसे नारियल और अनाज द्वारा घर की समस्या को देखते है ये आज जानते है.

घर में नेगेटिव एनर्जी का पता लगाना

क्या आपने कभी अपने घर में किसी पारलौकिक शक्ति के अहसास को अनुभव किया है ? क्या हम अपने स्तर पर घर में नेगेटिव एनर्जी का पता लगाना जैसे तांत्रिक प्रयोग कैसे किये जाते है क्या कोई सामान्य जन इन्हें कर सकते है और अपने घर पर ही इनका पता कर सकते है. आज की पोस्ट में हम माँ शाम्भवी देवी और नारियल द्वारा अपने घर में paranormal problems का पता कैसे लगाया जा सकता है बिना उन्हें परेशान किये के बारे में बात करने वाले है.

घर में नेगेटिव एनर्जी का पता लगाना

ऐसा माना जाता है की घर में वास करने वाले लोगो की उर्जा का एक अंश उस घर में रहता है. अगर आपसे पहले कोई व्यक्ति उस घर में रहता था जिसकी अचानक मौत हो गई हो तो उसकी आत्मा / उर्जा उस घर से जुडी रहे इसके चांस बने रहते है. ज्यादातर शहरो में किराये के घर में रहने वाले लोग उस घर की पूरी जानकारी लेने की सावधानी नहीं रखते है या फिर धार्मिक कर्म कर नहीं पाते है जिसकी वजह से घर में नकारात्मक शक्तियों का वास बढ़ जाता है.

इसके अलावा किसी की बुरी नजर लगने या फिर आपसी जलन की वजह से किसी के द्वारा कुछ अनिष्ट करवा देने से हमें कई बार घर में नकारात्मक / पारलौकिक शक्तियों का प्रभाव अनुभव होने लगता है. आपने देखा भी होगा आजकल हम जिस किसी श्याने के पास घर की समस्या दिखाने जाते है वो नारियल या फिर अनाज के दाने मांगता है और उसी में समस्या को देखता है.

जिस घर में रह रहे है उस घर में नेगेटिव एनर्जी का पता लगाना बेहद जरुरी तब बन जाता है जब आपके साथ ऐसी समस्या खड़ी होने लगती है जिसका समाधान आपकी समझ से परे हो. ऐसी गतिविधि जिनका वैज्ञानिक होना असंभव होता है परलौकिक शक्तियों का अहसास कहलाता है. नकारात्मक शक्ति का घर में वास हो जाने के बाद हमें कुछ इस तरह के अनुभव हो सकते है.

घर में नकारात्मक शक्तियों का वास

वैसे तो इस पर पहले ही पोस्ट लिखी जा चुकी है लेकिन फिर भी इसके कुछ अहसास हम यहाँ शेयर कर रहे है जो बिलकुल कॉमन है और जहाँ पर भी किसी तरह की paranormal problem होती है वहां इस तरह के अनुभव होते ही रहते है.

घर के किसी न किसी सदस्य का अचानक बीमार पड़ जाना

जहाँ पर नियमित पूजा पाठ नहीं होता है या फिर घर के लोगो में धार्मिक प्रवृति का अभाव होता है वहां पर सकारात्मक शक्तिया अपना प्रभाव डालना शुरू कर देती है. अगर आपके घर में कोई भी सदस्य बीमार पड़ने लगे और बीमारी दवा से ठीक ही न हो तो समझ ले की घर में नकारात्मक शक्ति का वास है या किसी ने अनिष्ट प्रयोग कर दिया है.

घर में कुछ जगहों पर किसी के होने का अहसास

घर के कुछ कोनो में आपको अचानक ही एक अलग वातावरण का अनुभव होना, किसी के होने का अहसास होना इस ओर इशारा करता है की नकारात्मक शक्तिया घर में है और वो इन जगहों पर अपना डेरा बनाए हुए है. ऐसी जगहों में बड़े दर्पण, स्टोर, घर के पीछे के हिस्से के कोने शामिल है. घर में नेगेटिव एनर्जी का पता लगाना बाद की क्रिया है सबसे पहले तो आप अपने घर में घट रही इन खास घटनाओं पर ध्यान दे.

किसी भी काम का बिगड़ते रहना

जिस घर में नकारात्मक शक्ति का वास हो जाता है वहां पर काम बनने बंद हो जाते है, बनते बनते बिगड़ जाते है. इसके अलावा अनावश्यक खर्च बढ़ने लगते है जिसकी वजह से कर्ज की स्थिति बनने लगती है. कई बार इर्ष्या की वजह से भी अपने प्रयोग करवा देते है जिसकी वजह से अनिष्ट की आशंका हर पल बनी रहती है.

इन सबके अलावा मन का ख़राब रहना, काम न बन पाना या बनते बनते रह जाना, जिसकी वजह से घर के सदस्यों के आपसी रिश्ते ख़राब हो जाते है. कई बार नजर लग जाने की वजह से भी ऐसा हो सकता है की आपके लिए रिश्ते आते है और बात final होते होते रह जाती है.

एक दो बार नहीं लेकिन हर बार अगर ऐसा ही होने लगता है तो समझ लेना चाहिए की घर पर किसी ने अनिष्ट प्रयोग करवा दिया है या किसी की बुरी नजर लग गई है. इसके समाधान के लिए सामान्य जन कर सके ऐसा एक तांत्रिक प्रयोग है जो माँ शाम्भवी का आवाहन कर पूर्ण किया जाता है.

शाम्भवी देवी एक परिचय

माँ शाम्भवी भगवान शिव की मूल शक्ति मानी जाती है. इनका आवाहन घर में किसी नकारात्मक शक्ति का पता लगाने क लिए किया जा सकता है. शाम्भवी देवी का आवाहन प्रक्रिया अमावस की रात्रि को किया जाता है. सबसे पहले सुबह उठ कर स्नान कर और दैनिक पूजन करे, इसके बाद माँ शाम्भवी देवी के चित्र का ध्यान करे.

शाम्भवी देवी का स्वरूप : शाम्भवी देवी वृषभ पर सवार होती है जिनके मुखकमल पर तीन नेत्र सुशोभित है, इनके मस्तक पर दूज का चाँद शोभायमान है. इनके चार भुजाओं में डमरू, त्रिशूल, कमंडल और वरमुद्रा धारण किये हुए है.

माँ शाम्भवी को चेतना प्रदान करने वाली माना जाता है. माँ शाम्भवी मृत को भी जीवन प्रदान करने वाली माँ है. अगर आप भी अपने घर में नेगेटिव एनर्जी का पता लगाना चाहते है तो इनकी पूजन विधि और अवाहन पूर्ण श्रधा से करे और समस्या को जानने की कोशिश करे.

माँ शाम्भवी तांत्रिक प्रयोग

  • एक श्रीफल ( नारियल ) ले और दोनों हाथो की अंजली में हलके से पकड़ ले.
  • आँखे बंद कर ले माँ शाम्भवी का आवाहन उस नारियल में करे. ऐसा 3 बार करे और इस दौरान कल्पना के दौरान माँ का स्वरूप ध्यान करे और विचार करे की वो नारियल में प्रवेश कर रही है.
  • आँखे खोल ले और देवी से प्राथना करे की “हे माँ मेरे घर में जो भी नकारात्मक शक्ति है उसे जानने में संकेत प्रदान कर मेरी सहायता करे”.
  • अपने पुरे घर में चक्कर लगाए और एक भी कोना ऐसा न हो जो इस दौरान छूट जाए.
  • यदि आपके घर में किसी तरह की नकारात्मक शक्ति होती है तो नारियल में हलचल होना शुरू हो जाती है.
  • श्रीफल में होने वाली हलचल के आधार पर हम अंदाजा लगा सकते है की घर में कितनी बड़ी शक्ति का वास है.
  • अगर श्रीफल हलचल के साथ साथ अपनी जगह पर खड़ा हो जाए तो समझ ले की आपके घर में वास करने वाली शक्ति बहुत ज्यादा प्रचंड है और एक साथ कई शक्तियों का वास है. ( ऐसा कभी कभी ही होता है )
  • प्रयोग के दौरान घबराए नहीं और प्रयोग पूर्ण होने के बाद उस नारियल को जल में प्रवाहित कर दे.

माँ शाम्भवी का तांत्रिक प्रयोग आने वाली अमावस के लिए

इस प्रयोग में जब पता चल जाए की आपके घर में नकारात्मक शक्तियों का वास है तो उसके बाद अगली अमावस को निम्न प्रयोग कर आप खुद इसका विश्लेषण अपने स्तर पर कर सकते है. पहले प्रयोग की अगली अमावस यानि ठीक एक माह बाद इस शांति प्रयोग को करे.

  • एक सफ़ेद कपड़ा ले और उस पर सवा मुठी चावल, पानी वाला जटा नारियल और 5 सफ़ेद या पीले रंग के फूल ले.
  • पानी वाले जटा नारियल में पहली विधि प्रयोग की तरह ही आवाहन करे और सभी सामग्री की एक पोटली बना ले.
  • इसे लेकर पुरे घर में घुमे और बाद में घर के मुख्य जगह जो केंद्र हो या मंदिर हो वहां पर इस पोटली की स्थापना कर दे.
  • आने वाली पूर्णिमा तक इस पोटली को इसी तरह घर में लटके रहने दे. इसके अगले दिन पोटली को उतारे और खोल कर देखे.
  • अगर पोटली पहले की तरह ही है और कुछ भी बदलाव नहीं है तो समझ ले की आपके घर में कोई अनिष्ट प्रयोग नहीं हुआ है. सिर्फ फूल सूखे हो जाए तो कोई बात नहीं.
  • अगर चावल में बारीक़ कीड़े पड़ जाए या बदबू आने लगे और नारियल सड़ने लगे तो समझ ले की समस्या है.
  • पोटली का विश्लेषण कर उसे भी जल में प्रवाहित कर दे.

तांत्रिक प्रयोग विश्लेषण और परिणाम

घर में नेगेटिव एनर्जी का पता लगाना से जुड़े इस प्रयोग में जो विश्लेषण होता है उसके आधार पर कई परिणाम निकाले जाते है जैसे की

  • अगर कोई नकारात्मक समस्या नहीं है और प्रयोग की पोटली भी सही हालत में है तो आपके घर में कोई समस्या नहीं है.
  • घर में नकारात्मक समस्या है और पोटली भी ख़राब हो जाती है तो किसी अनुभवी paranormal problem solution expert को बुलाकर समस्या का समाधान करवाए.
  • अगर घर में आपको नकारात्मक अहसास हो रहे है लेकिन पोटली सही सलामत है तो इसका मतलब घर में शांति कर्म या वास्तु से जुड़ा कोई दोष है किसी तरह की paranormal problem नहीं है.
  • अगर समस्या नार्मल है तो समुद्री नमक को घर में रखने से वास्तु दोष का निवारण होता है साथ ही पोंछा लगाने से नकारात्मक उर्जा दूर होती है.

अगर किसी तरह का विश्लेषण नहीं निकल सके और घर में वैसे ही प्रॉब्लम महसूस हो तो कमी आपके अन्दर सात्विक उर्जा की है. बहुत कम ही ऐसा होता है सफलता नहीं मिलती है लेकिन ऐसा हो तो किसी अच्छे पंडित द्वारा इस प्रयोग को करवा सकते है.

घर में नेगेटिव एनर्जी का पता लगाना – अंतिम शब्द

हम सभी अपनी लाइफ में कई ऐसे अनुभव या चीजो को महसूस करते है जो हमारी समझ से परे होती है, ऐसी चीजो का पता लगाना और उनका निवारण करना बेहद जरुरी होता है क्यों की समय रहते ऐसा न किया जाए तो समस्या, हानि से जूझना पड़ता है. घर में नेगेटिव एनर्जी का पता लगाना आसान और सुलभ है इसलिए अगर आप भी किसी तरह की paranormal activity को experience कर रहे है और बिना उसे छेड़े पता करना चाहते है तो इस प्रयोग को करे. ये बिलकुल सेफ है और सामान्य जन भी इसे कर सकते है. इस आसान उपाय द्वारा कोई भी घर में नेगेटिव एनर्जी का पता लगाना चाहे तो कर सकता है.

Never miss an update subscribe us

* indicates required

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.