एक महिना दीपक त्राटक से वशीकरण की साधना का अभ्यास और पाइए मनचाहे परिणाम – परीक्षित विधि

एक महिना दीपक त्राटक से वशीकरण की साधना का अभ्यास और पाइए मनचाहे परिणाम – परीक्षित विधि

आज जिसे देखो उसके सामने समस्या ही समस्या है. हर किसी को वशीकरण करना और करवाना है क्यों की लोगो के बिच अवधारणा ही यही बन चुकी है की वशीकरण से सबकुछ संभव है. इसी बात का फायदा उठा कर वशीकरण के फ्रॉड बाबा आपको आसानी से लूट लेते है. अगर आप थोडा सा भी प्रयत्न करे तो दीपक त्राटक से वशीकरण करने इस प्रभावी साधना के जरिये आप आसानी से किसी पर भी अपना effect डाल सकते है. ये साधना अजमाई हुई है इसलिए इसकी पूरी जानकारी में यहा शेयर कर रहा हूँ.

दीपक त्राटक से वशीकरण

वशीकरण के लिए दुसरे भी कई तरीके है जैसे की candle and lust spell vashikaran, candle and mantra ritual for vashikaran, mohini mantra with candle trataka meditation इन सबके जरिये आप वशीकरण का प्रयास कर सकते है. जल्दी ही ये सभी विधि शेयर की जाएगी. दीपक त्राटक से वशीकरण की इस विधि को आप पूरी तरह समझ कर फिर करे तभी आप इसे आसानी से कर पाएंगे और अनुकूल परिणाम मिल सकेंगे.

मंत्र साधना भी इस त्राटक के साथ की जा सकती है जिसके बारे में मैंने अपनी कुछ saral vashikaran ki vidhi in hindi books में बताया हुआ है. दोगुने परिणाम के लिए आप उन बुक्स के साथ अभ्यास कर सकते है. ये पुस्तक 100% genuine, reliable and trustable है. किसी फ्रॉड बाबा के चक्कर में पड़कर हजारो पैसे गंवाने के बजाय एक बार इससे करके देखे फिर देखिये आपको परिणाम कसे नहीं मिलते है. लेकिन अफ़सोस बंगाली बाबा को हजारो रूपये देकर भी चुप रहने वाले लोगो को ये पुस्तक फ्री में चाहिए. खैर चलिए जानते है दीपक त्राटक से वशीकरण की साधना के अभ्यास के बारे में.

दीपक त्राटक से वशीकरण

दीपक त्राटक के बारे में हम सभी जानते है कैसे ये अन्य त्राटक में उच्च स्तर के त्राटक में से एक माना जाता है. इसकी मुख्य विशेषता है की ये

  • साधक के मन को उग्र / स्थिर / शांत / एकाग्र बनाए रखता है.
  • प्राण उर्जा को शक्तिशाली आकर्षक तरंगो में बदल देता है.
  • साधक की आँखे बहुत जल्दी ही इतनी प्रभावी बन जाती है की सभी इसके आकर्षण के जाल में फंस जाते है.

दुसरे शब्दों में कहा जाए तो deepak trataka meditation सम्मोहन या आकर्षण के उदेश्य से किया जाता है. ज्यादातर लोग इस त्राटक को बिना प्राण उर्जा के स्तर को जांचे करते है जिसकी वजह से उन्हें उचित परिणाम नहीं मिलते है. दीपक त्राटक का प्रभाव हमें साधना के 20-25 दिनों में साफ़ दिखने लगता है.

अगर आप वशीकरण के बंगाली बाबा के चक्कर काट कर थक चुके है तो इसे जरुर आजमाए. मेने अब तक कई लोगो को त्राटक की इस विधि की जानकारी दी है और जिन्होंने इसे अपनाया है उन्हें उचित परिणाम मिले है. ये बात अलग है की आप जानते सब है लेकिन करने की हिम्मत नहीं है. अगर परिणाम चाहिए तो वक़्त देना ही पड़ेगा.

दीपक त्राटक से वशीकरण किस स्थिति में काम आ सकता है

  • जब कोई आपको धोखा दे रहा है.
  • कोई आपका अपना आपको छोड़ कर चला गया हो.
  • बार बार मांगने के बावजूद आपको पैसे नहीं दे रहा हो.
  • सामने वाले माध्यम से आपको कोई काम निकलवाना हो लेकिन गलत उदेश्य न हो.
  • अगर कोई आपको बार बार परेशान कर रहा है तो भी आप इसका प्रयोग कर सकते है.
  • मार्केटिंग की लाइन में पैसा निकलवाना मुश्किल काम है ऐसे में ये प्रभावी साधना है. ( ज्यादा प्रभाव के लिए पुस्तक में दिए मंत्र का साथ में अभ्यास करे अच्छे परिणाम मिलेंगे )

इन सब कामो में इस अभ्यास को किया जा सकता है और इसके परिणाम भी 100% मिलते है. कम समय में परिणाम देने वाली साधनाओ में से एक है ये साधना.

दीपक त्राटक से शक्तिशाली वशीकरण कैसे करे

दीपक त्राटक से हम सबसे शक्तिशाली वशीकरण जैसा प्रभाव पैदा कर सकते है. इस त्राटक की खास विशेषता यही है की ये आपकी मानसिक उर्जा को बेहद प्रभावी तरीके से एकाग्र करता है. जिन लोगो को शिकायत रहती है की उनकी विचार शक्ति बिखरी हुई रहती है उन्हें बिंदु त्राटक के अभ्यास के बाद दीपक पर त्राटक करना चाहिए. इस त्राटक को करने के बाद आप खुद को एकाग्र और आकर्षण से भरा महसूस करने लगोगे. दीपक त्राटक से वशीकरण करने के लिए कुछ चीजे बेहद जरुरी है जैसे की

  • आपका अभ्यास का समय निश्चित हो.
  • साधना काल का अनुभव और अभ्यास दोनों ही गुप्त रहना चाहिए.
  • किसी और व्यक्ति को आपके अभ्यास के बारे में पता न हो.
  • जिसके लिए अभ्यास कर रहे है उसके उठने, सोने और अन्य गतिविधि के बारे में आपको पता होना चाहिए.

दीपक त्राटक से वशीकरण चरण एक का अभ्यास

सबसे पहले एक कमरे का चुनाव कर उसमे दीवार पर उस व्यक्ति की फोटो ( ये black & white होनी चाहिए ) और एक घी का दीपक जो उस फोटो के आगे लगा होना चाहिए. घी का दीपक उस फोटो के ठीक आगे हो और इस तरह हो की दीपक की लौ फोटो की आँखों के ठीक आगे हो. इसके लिए आप स्टैंड का प्रयोग कर सकते है. स्टैंड वाले दीपक इसके लिए सही रहते है. आसान शब्दों में समझे तो ये स्थिति ऐसी होनी चाहिए की दो व्यक्ति एक दुसरे के सामने बैठे है और उनका direct eye contact बन रहा है. उन दोनों के बिच जहा पर आज्ञाचक्र है उस जगह दीपक की लौ की स्थिति होनी चाहिए.

deepak tratak

दीपक त्राटक से वशीकरण शुरू करने के लिए आपको एक time फिक्स करना होगा. या तो आप उस समय करे जब सामने वाला सो जाता है. उसके सोने के आधे घंटे बाद ही अभ्यास करे. अगर इस बारे में आप कन्फर्म नहीं है की सामने वाला कब सोता है तो अभ्यास को रात के 11 बजे के बाद ही करे अगर वो 10-10:30 तक सोता है तो वर्ना आपको पता होना चाहिए की वो कब तक सो जाता है. या फिर आप ऐसा भी कर सकते है की सुबह 3-4 बजे अभ्यास करे. इस समय सभी सोये हुए रहते है और मस्तिष्क उस अवस्था में होता है जब हम आराम से कम प्रयास के माध्यम से भी किसी से जुड़ सकते है.

दूसरा चरण और अभ्यास

  • पहले चरण को अच्छे से निर्धारित करने के बाद दीपक त्राटक से वशीकरण का अभ्यास शुरू करे. ढीले और आरामदायक कपडे पहन कर एक उनी कम्बल / आसन पर बैठ जाइए और अपना ध्यान दीपक की लौ पर लगाए. कुछ देर त्राटक करते रहे. इसी दौरान आपकी आँखों के सामने माध्यम की फोटो रहती है जिसकी आँखों पर आपका ध्यान रहता है.
  • कुछ देर के अभ्यास के बाद आपके आगे उस माध्यम की साकार कल्पना बनने लगती है और इस दौरान आप शांत, स्थिर और भावशून्य होते है जिसकी वजह से जो भी आप भावना देते है वो सामने वाले माध्यम तक पहुँचती रहती है.
  • माध्यम सो रहा होता है जिसकी वजह से आपके विचार माध्यम तक पहुँचते रहते है.
  • इस दौरान जब आपको लगे की माध्यम की कल्पना आपके सामने ज्यादा समय तक टिकी रहती है तो आप फोटो पर कमांड देना शुरू कर दे.
  • आपके अन्दर जितनी ज्यादा उर्जा होगी और मन शांत होगा उतना जल्दी आपको result मिलेगा.

दीपक त्राटक से वशीकरण का सच्चा अनुभव

में पिछले कई सालो से त्राटक का अभ्यास कर रहा हूँ. ये अभ्यास सतत तो नहीं है लेकिन जब भी खुद को किसी स्थिति के लिए तैयार करना होता है में त्राटक को चुनता हूँ. ये बात 2 महीने पहले की है जब मुझे किसी व्यक्ति से अपने पैसे निकलवाने थे. सामान्य स्थिति में उसे हर तरह से समझा कर में थक चूका था लेकिन वो हर बार आनाकानी कर निकल जाता था.

जब कोई और उपाय नहीं बचा तब मैंने दीपक त्राटक से वशीकरण करने का सोचा और अपने मोबाइल से उसकी फोटो का प्रिंट आउट ले लिया. इस प्रिंट को रूम की दीवार पर चिपका दिया और उसके सामने दीपक जला कर उस पर त्राटक किया. हर रोज सुबह 3 बजे ये अभ्यास 15-20 मिनट तक चलता था और उसके बाद में सो जाता था.

कुछ ही दिन बाद मैंने देखा की जब में उस व्यक्ति के सामने आता हूँ तो वो अशांत हो जाता था. वो मुझसे कुछ कहना चाहता था और कोशिश करता था लेकिन कह नहीं पा रहा था. कुछ ही दिन बीते थे की उसका मेरे पास फोन आ गया

भाई पैसे देने है कहा मिलेगा

जब उसने मुझे पैसे दिए तो उसे एक शांति मिली जिसके बारे में उसने मुझे अभी कुछ दिन पहले बताया है. उसने कहा की पता नहीं क्यों “जब भी मेरे हाथ में पैसे आते थे” मन में बार बार आता था की पैसे वापस कर दू और बैचेनी होने लग जाती थी अब मन को शुकून मिला है.

दीपक त्राटक से वशीकरण में मिलने वाले सकारात्मक परिणाम

ज्यादातर अभ्यास में मैंने मिलने वाले positive / negative sign के बारे में जानकारी नहीं दी है क्यों की इससे अभ्यास करने वालो पर नकारात्मक प्रभाव पड़ता है. इस अभ्यास के कुछ अनुकूल प्रभाव शेयर कर रहा हूँ जो आप सामने वाले में महसूस कर सकते है.

  • जिस व्यक्ति पर आप अभ्यास करते है वो व्यक्ति जब भी आपके सामने आएगा खुद को असहज महसूस करने लगेगा.
  • आप जिस उदेश्य से उस पर दीपक त्राटक से वशीकरण कर रहे है आप उसके साथ उससे रिलेटेड बात नहीं करते है लेकिन उसके मन में ये बात बार बार गूंजती रहती है.
  • वो जब भी सोता है उसे सपने में वही अनुभव होता है जो आप भावना आप देते है. ये आप उसे अभ्यास के बाद में पूछ सकते है लेकिन बिच में नहीं. इससे उसका मन ट्रैप को समझ जाता है और उसके लिए इस प्रभाव को तोडना आसान हो जाता है.
  • अभ्यास और अनुभव दोनों गुप्त रहेंगे तो प्रभाव ज्यादा रहेगा अगर अभ्यास के साथ साथ आप उस व्यक्ति को बार बार पूछते है या नोटिस करते है तो प्रभाव नहीं बनेगा साथ ही उसे शक हो जायेगा.

दीपक त्राटक से वशीकरण में क्या सावधानी बरतनी चाहिए

इस अभ्यास को आसान समझने की भूल न करे सुनने में ये जितना आसान है उतना ही ज्यादा इसका मानसिक प्रभाव भी है. इसलिए इन सावधानियो को ध्यान में रखे

  • कभी भी गलत उदेश्य की पूर्ति के लिए इसका प्रयोग न करे.
  • अभ्यास को संयम और धेर्य के साथ करे अगर आपने मानसिक बल लगाया ( जो की ज्यादातर लोग करते है ) तो आपको मानसिक उर्जा के क्षय और बेहद ज्यादा सर दर्द का सामना करना पड़ सकता है.
  • शुरू के कुछ दिन आप ( 2-3 दिन ) आप कोशिश करे की दीपक त्राटक और माध्यम की फोटो का अक्ष आपके सामने साफ बने. इसके बाद विचार भेजने की कोशिश करे शुरू से ऐसा न करे वर्ना आप निराश हो सकते है.
  • माध्यम पर पड़ने वाले प्रभाव को देखने के बाद भी उसे जाहिर न करे की आप ऐसा कर रहे है वर्ना वो सावधान हो सकता है.
दीपक त्राटक से वशीकरण की साधना – final conclusion

दोस्तों वशीकरण के कई सारे तरीके है आप मंत्र से अभ्यास करे, तंत्र से या फिर किसी और तरीके से प्रभाव और उदेश्य अलग होने के बाद भी result एक ही मिलता है उदेश्य पूर्ति होना. अगर आप दीपक त्राटक से वशीकरण का अभ्यास करते है तो आपको इसके बारे में पूरी जानकारी होनी चाहिए. सभी निर्देश का पालन करते हुए अभ्यास करे सफलता जरुर मिलेगी. इस पोस्ट का उदेश्य उन लोगो को एक सरल जानकारी देना है जो वशीकरण बाबा के पीछे पैसे गँवा कर थक चुके है. उम्मीद करता हूँ जानकारी पसंद आई होगी.

अगर आप हमारी पोस्ट पसंद करते है तो इसे अपने सोशल मीडिया प्रोफाइल पर शेयर करे और ब्लॉग subscribe करना न भूले ताकि हम इसी तरह आपको नयी नयी जानकारिया भेजते रहे. इन पोस्ट को पढना न भूले

Never miss an update subscribe us

* indicates required

7 thoughts on “एक महिना दीपक त्राटक से वशीकरण की साधना का अभ्यास और पाइए मनचाहे परिणाम – परीक्षित विधि”

  1. मुझे लगता हैं यह पोस्ट अपने बेसिक से दूर जा रही है।आप स्पस्ट रूप से सिर्फ ज्योति त्राटक की जानकारी दे यही अच्छा है।vedeo पोस्ट करे तो और भी अच्छा है।वशिकरण पर जोर देने से तो पहले ज्योति त्राटक सिद्ध कर लेना ठीक होगा।

    • अशोक जी अक्सर हम किसी चीज को सिर्फ अपनी सोच के अनुसार ही देखते है. मैंने दीपक त्राटक / कैंडल त्राटक दोनों काफी समय पहले ही किया हुआ था. इस पोस्ट में मेने जो जानकारी शेयर की है उसका वैज्ञानिक पहलू भी बता देता हूँ.
      फोटो वशीकरण विधि में पहली आवश्यक शर्त थी माध्यम की फोटो आपके आज्ञा चक्र पटल पर साफ़ बने और आपकी एकाग्रता बढ़ी हुई हो. इस विधि में हम दीपक के माध्यम से त्राटक करते हुए सामने माध्यम पर एकाग्र होते है और इस त्राटक की वजह से हमारी मानसिक उर्जा बढती है जिसकी वजह से हम सामने वाले पर ज्यादा बेहतर तरीके से thought transfer process जिसे हम वैज्ञानिक भाषा में telepathy भी कहते है भेजते है. फर्क इतना है की इस विधि में जो विचार है वो suggestion नहीं command है. सब उर्जा के निर्माण और सम्प्रेषण पर टिका हुआ है.
      ये कोई सिद्धि नहीं बल्कि कार्य सिद्धि प्रयोग है जिसे कोई भी त्राटक करने वाला कर सकता है.

  2. ha isse sambandhit ek baat yaad aayi
    .
    mere ek guru bhai yahin aas paas ke hai unhone kaafi phle tratak kiye the. or unhe tratak sirf or sirf 20 din me sidh hua tha.
    to actually hua kuch aisa ki koi vykti unke paas aaye to unhe office me koi samasya thi boss se koi anbani thi to vo un bhai ke pass aaye to un bhai ne unki ring pr kuch bhavnaye de kr unse kha ki boss ki nazar us pr pd jaaye to next day unke boss ko jb vo ring dikhi to ek dm se unka behave change ho gya or un vykti se pyar se baat ki . to kahane ka mtlb hai ki urja sirf photo pr hi nahi blki kisi padarth pr bhi kaary krti hai or yh vigyan 10000000% satya hai . bs aapki pran urja or aaki bhavana shakti pr nirbhar krti hai .

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.