How to Deal with cyberbullying on social media and internet

0
26

आज का जमाना internet का है और इससे हमें जितनी सुविधा मिली है उससे कही ज्यादा हमारी safety, privacy को लेकर insecure feeling पैदा हुई है. ऐसी कुछ digital technology जिसके जरिये दूसरो को harm किया जा सकता है Cyberbullying कहलाता है. कुछ लोग इसके लिए internet का इस्तेमाल करते है वही ज्यादातर लोग mobile phone के जरिये दूसरो को परेशान करते है. आज का विषय है The Psychology of Cyberbullying जिसमे हम इन्टरनेट पर किसी दूसरे व्यक्ति द्वारा परेशान करने से कैसे बचे इस बारे में कुछ safety tips जानेंगे.

ज्यादातर लोग इसके लिए social media का इस्तेमाल करते है जैसे की Facebook, Instagram, Tik Tok, Snapchat जैसी application जिसके जरिये लोगो को mentally harm किया जाता है. आज के टाइम में ये एक public health problem बन चुकी है और इसके केस 2007 to 2019 में दोगुने हो चुके है जिसमे से 60% cases सिर्फ और सिर्फ teenager के है.

Deal with cyberbullying

आज social media जैसे social media, inside of apps, in forums, during gaming जैसी जगहों पर how to cope with cyberbullying को लेकर लोगो में awareness फैलाने पर काफी काम हो रहा है अगर कोई cyberbully कर रहा है तो इससे कैसे बचे और इसके effect से mental health को कैसे improve करे.

अगर आप किसी को उसके appearance या किसी भी तरह से ऑनलाइन कमेंट करते है, धमकाते है या फिर कुछ भी ऐसा कहते है जो उसे mentally disturb करता हो तो ये साइबर बुली के अंतर्गत आता है. ये आपको जेल की हवा खिला सकता है क्यों की इसे लेकर कानून काफी strict बन चुके है इसलिए social media, internet जैसी जगह पर कुछ भी पोस्ट करते समय खास बातो का ध्यान रखे.

What Is Cyberbullying?

Cyberbullying को हम किसी को बार बार Digital technology को इस्तेमाल करते हुए धमकाना या offensive word का use करते हुए परेशान करने से समझ सकते है जिसमे threats, harassment, or public humiliation शामिल है. Digital technology जैसे की mobile devices, tablets, or computers के जरिये दूसरो को target किया जाता है.

इसे आप intention, repetition, power imbalance, anonymity, and publicity जैसे top 5 Cyberbullying criteria के जरिये समझ सकते है.

  1. Intention: Cyberbully का सबसे बड़ा intention दूसरो को harm करना है. जब लोगो को इसमें engage किया जाता है तब इसमें मकसद होता है दूसरो को निचा दिखाना या फिर उन्हें शर्मिंदा महसूस करवाना.
  2. Repetition: ये एक hallmark characteristic of cyberbullying है जिसमे victim के साथ बार बार उन्ही activity को दोहराया जाता है जो उसे परेशान करती है. इसका सबसे बड़ा example है किसी को personal information or photos को share करने के नाम पर परेशान करना जो की बार बार दोहराया जाता है ताकि victim पूरी तरह mentally disturb हो जाए.
  3. Power Imbalance: अगर bullying को public forum यानि लोगो के सामने किया जा रहा है तो ये victim को Power Imbalance बनाती है जो की उसके emotion को बिगाड़ता है.
  4. Anonymity: ज्यादातर लोग जब दूसरो को परेशान करते है तब वे अनजान बनकर bully करते है. जब ऐसा होता है तब दोनों के बीच किसी तरह के power imbalance की जरुरत नहीं रह जाती है.
  5. Publicity: कुछ लोग दूसरो को निचा दिखाने के लिए उन्हें publicly humiliate or shame feel करवाते है. इसके पीछे उनका सोचना होता है की ये उन्हें दूसरो के सामने ऊपर रखती है और victim को mentally break करेगी.

ये 5 ऐसे criteria है जिनके जरिये हम cyberbullying को समझ सकते है. अब बात करते है उन अलग अलग form की जिनमे हम Cyberbullying को देखते है.

Types of cyberbullying

आज के टाइम में ऐसी कई types of cyberbullying है जो internet पर देखी जा सकती है.

  1. Flaming को हम ऐसी language के इस्तेमाल के जरिये समझ सकते है जो आमतौर पर use नहीं करनी चाहिए. किसी दूसरे व्यक्ति को लेकर broadcasting offensive messages भी फैलाया जा रहा है तो ये cyberbullying के अंतर्गत cyber crime में आता है.
  2. Outing जो की सबसे ज्यादा इस्तेमाल होता है इसे हम किसी victim की personal or embarrassing information को social media पर viral करने से जोड़ते है. आज इस form का सबसे ज्यादा इस्तेमाल हो रहा है.
  3. Trolling का मतलब है ऐसे posting content or comments जो लोगो को किसी व्यक्ति विशेष के लिए offensive word or thinking spread करते है.
  4. Name calling में ज्यादातर offensive language शामिल है. किसी व्यक्ति को उसके नाम की जगह दुसरे किसी ऐसे नाम से पुकारना जो उसे irritate करे Name calling में आता है. किसी व्यक्ति को उसके नाम से बुलाने की हरकते युवा लोगो में सबसे ज्यादा देखी जा सकती है.
  5. Spreading False Rumors किसी व्यक्ति को victim बनाकर उसके बारे में गलत अफवाह उडाना भी एक तरह का cyberbullying ही है.
  6. अगर आप internet पर किसी known or unknown व्यक्ति को Explicit Images or Messages भेज रहे है तो ये भी क्राइम है.
  7. कुछ cyberbullies अपने victim को बार बार cyber stalking, cyber harassing, or physical threats के जरिये target करते है. आज 16% ऐसे केस है जिसमे victim को physical threats on the Internet के जरिये परेशान किया गया है.

internet पर ये सब types है जिनके जरिये victim को परेशान किया जाता है. जाने अनजाने हम सब इस तरह की activity करते है.

लोग इस तरह की हरकत क्यों करते है ?

ज्यादातर लोगो की तरह आपके मन में भी ये सवाल होगा की आखिर लोग ऐसा करते क्यों है ? इसे पूरी तरह समझने के लिए आपको सबसे पहले different factors के बारे में जानना होगा जो cyberbully की तरफ ले जाते है. इसमें ऐसी कई वजह सामने आती है जो दूसरो को परेशान करने के लिए प्रेरित करती है.

Mental Health Issues

एक्सपर्ट्स का मानना है की Cyberbullies ऐसे माहौल से आते है जो उन्हें ऐसा बनने पर मजबूर करता है. इसमें कई चीजे देखने को मिलती है जैसे की aggression, hyperactivity or impulsivity, या फिर substance abuse जो mentality पर effect डालता है. ऐसे लोगो की नजर में सहानुभूति जैसी कोई चीज नहीं होती है और वे दूसरो को परेशान करने से पीछे नहीं हटते है.

Victims of Bullying

कुछ लोग ऐसे भी है जो दूसरो को victim बनाते है क्यों की ऐसा कभी न कभी उनके साथ भी हो चूका होता है. जिस तरह से उन्हें control किया गया था वे चाहते है की वे भी किसी को कण्ट्रोल करे और इसी वजह से वे अपने से कमजोर व्यक्ति को अपना victim बनाते है जो की उन्हें mental pleasure देता है.

Result of Conflicts or Breakups

अगर Cyberbullying उन 2 लोगो के बीच हो रही है जो past में या तो अच्छे दोस्त थे या फिर relationship में तो ये उनके conflict को दर्शाता है. इसकी वजह breakdown of the relationship है जिस वजह से एक व्यक्ति दूसरे पर हावी होने की कोशिश करता है. इसका कारण आमतौर पर या तो बदला लेना होता है या फिर किसी तरह की इर्ष्या के चलते ऐसा करते है.

जब रिश्ता लगने लगे बोझ

कई बार ऐसा होता की एक रिश्ते में रहकर इन्सान बोर हो जाता है और वो नया जरिया या फिर नया पार्टनर देखने की कोशिश करता है. जब उसका पार्टनर इसका विरोध करता है तब उससे पीछा छुड़ाने के लिए cyberbullying का इस्तेमाल किया जाता है. अब या तो वो victim बनकर इसे सहता रहे या फिर इसका विरोध कर वो रिश्ता तोड़ दे.

Loneliness or Isolation

कुछ लोग जो society में दूसरो से अलग थलग पड़ जाते है या फिर notice नहीं किये जाते है तो वे Loneliness or Isolation की feeling से घिर जाते है. ऐसी कंडीशन में उनका target ऐसे लोग होते है जो दूसरो की नजर में रहते है और वे उन्हें target कर न सिर्फ अपने ईगो को पूरा करते है बल्कि दूसरो की नजर में आने की कोशिश भी करते है.

लोग इसका शिकार क्यों बन जाते है ?

कुछ लोग है जो real life and online दोनों ही जगह bullies होते है लेकिन, ज्यादातर मामले digital space के ही आते है. आखिर ऐसा क्यों ? क्यों कुछ लोग ऑनलाइन होकर दूसरो को बुली करते है जबकि रियल लाइफ में वे इस तरह का काम करते ही नही है. उनके इस तरह के व्यवहार को लेकर काफी सारी चीजे सामने आती है.

Non-Confrontational & Anonymous

आमतौर पर इसकी सबसे बड़ी वजह है पहचान का ख़तरा ना होना. आप ऑनलाइन आकर किसी को भी कुछ भी कह सकते है जबकि रियल लाइफ में आमने सामने की कंडीशन में ये संभव नही हो पाता है. मान लीजिये आपके बॉस आपको ऑफिस में सबके सामने insult कर देते है और आप कुछ नही कर पाते है क्यों की वो बॉस है लेकिन ऑनलाइन आकर आप आसानी से अनजान व्यक्ति बनकर उनका मजाक बना सकते है, पीठ पीछे उनका नाम रख सकते है और ऑनलाइन उनके खिलाफ अफवाहे उड़ा सकते है.

यही वजह है की जो लोग आम जिंदगी में साधारण बन कर रहते है वे भी ऑनलाइन दूसरो को बुली कर सकते है और इसमें हैरानी जैसा कुछ नहीं है.

पढ़े : Vashikaran by tratak meditation वशीकरण के कुछ वैज्ञानिक उपाय

No Need for Popularity or Physical Dominance

रियल लाइफ में अगर आप किसी को बुली करना चाहते है तो इसके लिए आपका background, history होनी चाहिए जो की काफी वक़्त लेता है. अगर आप किसी को परेशान करे और चाहते है की लोग आपको notice करे तो इसके लिए आपका popular होना जरुरी है लेकिन virtual world में ऐसा कुछ नहीं है. आप किसी भी अनजान व्यक्ति की तरह दूसरो को target कर सकते है और bully कर सकते है.

No Barrier to Entry

ऑनलाइन की दुनिया में आपके लिए ज्यादा कुछ रूकावटे नहीं है. अगर आप smart है या फिर internet का कैसे इस्तेमाल करना है जानते है तो आसानी से दूसरो को dominant भी कर सकते है और खुद popular बन सकते है. रियल लाइफ में आपको इसके लिए काफी संघर्ष करना पड़ता है लेकिन internet की दुनिया में ऐसा कुछ नहीं चाहिए.

No Feedback from Victim

जो लोग रियल लाइफ में किसी को परेशान नहीं करते है वे internet पर ऐसी हरकते करते है जिसकी एक वजह है उने victim की तरफ से कोई फीडबैक ना मिलना. आप किसी को परेशान कर रहे है और वो आपका तब तक कुछ नहीं बिगाड़ सकता है जब तक वो cyber police में इसकी शिकायत न करे और आप पकडे न जाए.

ऐसा जब तक नहीं होता है तब तक आप जितना चाहे सामने वाले को परेशान कर सकते है क्यों की कभी face-to-face-interaction तो होता नहीं है ना ही वो रियल लाइफ में आपको पहचानता है की आप ही उसे परेशान कर रहे है और ये सबसे बड़ा + point बन जाता है.

साइबर बुली रियल लाइफ से अलग कैसे है ?

रियल लाइफ में अगर कोई किसी को बुली करता है तो ये अकेले में होता है जिसकी वजह से वो दूसरो की नजरो में normal रहता है और अगर ये कुछ लोगो के सामने भी होता है तो भी लीग कुछ टाइम बाद इसे भुला देते है लेकिन internet के साथ ऐसा कुछ नहीं है. आप किसी की cyberbullying करते है और वो धीरे धीरे लोगो के बीच फैलती जाती है. internet में कभी shutdown नहीं होता है जिसकी वजह से ये दुनिया के हर कोने तक फैलने में टाइम नहीं लगाती है.

यही वजह है की यहाँ victim को कोई escape नहीं मिलता है जिसका सीधा असर उसके mental health पर देखा जा सकता है. एक छोटे से उदाहरण के लिए किसी लड़के या लड़की की रैगिंग करना उन्हें मानसिक यातना नहीं देता है लेकिन यही अगर internet पर viral हो जाए तो वे mentally disturb हो जाते है.

Effects of Cyberbullying

Dealing with cyberbullying का सामना करने वाले लोगो पर इसके कई सारे effect देखे जा सकते है. अगर कोई व्यक्ति Cyberbullying का victim बन रहा है तो कुछ ऐसे effect आप देख सकते है क्यों की traditional bullying के विपरीत ये effect छिपे हुए नहीं रह सकते है. इनमे कुछ effect आम है जैसे की

  • Feelings of distress
  • Feelings of depression and mood swings का बढ़ना.
  • Anxiety की feeling का बढ़ते जाना.
  • victim या तो सो नहीं पाता है या फिर अक्सर सोते हुए रहते है.
  • Suicide attempt करने की कोशिश करना.
  • हर दम डरे हुए रहना
  • खुद में low self-esteem or self-worth की भावना पैदा होना.
  • Social isolation, दोस्तों से अलग हो जाना या फिर ज्यादातर समय अकेले रहना.
  • हर उस activity से दूर रहना जो एन्जॉय करती है.
  • Poor academic performance
  • दोस्तों या घरवालो के साथ रिश्ते को लेकर problem पैदा होना.
  • Symptoms of post-traumatic stress
  • खुद को नुकसान पहुँचाने वाली activity करना.
  • Feelings of anger, irritability, or angry outbursts का अचानक बदलाव आना.

ऐसे ही कई effects है जिन्हें आप खुद में या किसी भी victim में पहचान कर हेल्प कर सकते है.

Characteristics of Victims

अगर आप notice करे तो हर कोई cyberbullying का शिकार नहीं बनता है. कुछ खास Characteristics वाले लोग ही इसका शिकार बनते है क्यों की उन्हें लेकर आम लोगो की धारणा ही कुछ ऐसी बनी होती है. आइये बात करते है उन खास लोगो के बारे में.

  • स्कूल या कॉलेज में पढने वाले Teens and young adults सबसे ज्यादा शिकार बनते है.
  • लड़कियां सबसे ज्यादा false rumors या फिर explicit images, personal information को शेयर करने के नाम पर victim बनती है.
  • इस बात से इंकार नहीं किया जा सकता है की gay, lesbian, bisexual, or transgender जैसे लोग भी cyberbullying का शिकार बन सकते है.
  • ऐसे लोग जो शर्मीले होते है या फिर अकेले रहने वाले होते है इसका शिकार बन सकते है.
  • जो लोग lower-income households से belong करते है वे भी इसका शिकार बन सकते है.
  • ज्यादातर ऐसे लोग जो constant social media active रहते है वे online bullies का शिकार बनते है.

अगर आपके आसपास इनमे से कोई है और उसमे ऊपर शेयर किये effect देखने को मिल रहे है तो उसकी हेल्प करने की कोशिश करे.

How to Deal with a Cyber Bully

ऐसे कई तरीके है जिनके जरिये आप ऑनलाइन हो रही बुली को रोक सकते है. जैसे की एक Parent की जगह पर रहते हुए आप अपने बच्चो को समझा सकते है की उन्हें इस तरह की activity पर respond करने की जरुरत नहीं है. अगर कोई उन्हें बार बार परेशान कर रहा है तो उसके भेजे गए text, photos, या कोई भी और communication का जरिया उसे save करके रखे.

अगर आप एक Adult है तो उस कंडीशन में भी ऊपर का तरीका ही apply करना है. इसके अलावा अगर आपको मालूम हो की इसका सोर्स क्या है तो उसे पहचानने की कोशिश करे और उसके खिलफ क्या किया जा सकता है ये सब देखे. आप अपने आसपास के रहने वाले लोगो से इस बारे में बता कर सकते है और उनकी हेल्प लेने की कोशिश कर सकते है.

अगर आप एक Community की जगह पर है और इससे डील करना चाहते है तो इसके लिए आप victim की हेल्प कर सकते है. आज इसे लेकर काफी कानून बनाए जा चुके है इसलिए थोड़ी सी awareness दिखाते हुए आप लोगो से इस बारे में बात कर सकते है और मिल-जुल कर हेल्प कर सकते है. हर जगह पर आप अपनी भूमिका निभा सकते है बशर्ते आपको मालूम हो की करना क्या है.

Deal with cyberbullying word from sachhiprerna

दोस्तों आज social media हमें एक दूसरे से जोड़ने में जितना अहम् रोल निभा रहा है वही कुछ लोगो को परेशानी का सामना भी करना पड़ रहा है. अगर कोई आपको cyberbullying कर रहा है तो जान ले की आप अकेले नहीं है और आपके आसपास ऐसे कई लोग मिल जायेंगे जिनके साथ ऐसा हो चूका है या फिर हो रहा है. आपस में मिलजुल कर इसका समाधान निकालने की कोशिश करे.

ज्यादातर मामले में अगर कोई ऐसा कर रहा है तो जहाँ तक हो सके उसे respond ही न करे. social media appas के इस्तेमाल के समय ये सुनिश्चित कर ले की आपने privacy and security tips को पूरी तरह follow कर लिया है क्यों की ये हमें उन लोगो से दूर रखने में मदद करेगा जो अनजान है. अगर कोई आपको बार बार ब्लैकमेल कर रहा है या troll लकर रहा है तो उसे इसका जवाब दे. खामोश रहकर जितना आप सहेंगे उतना ही आप परेशान होंगे.

Never miss an update subscribe us

* indicates required
Previous articleVashikaran by tratak meditation वशीकरण के कुछ वैज्ञानिक उपाय
Next articleकनक परी वशीकरण सिद्धि साधना एक सरल और कम समय की साधना
Nobody is perfect in this world but we can try to improve our knowledge and use it for others. welcome to my blog and learn new skill about personal | psychic | spiritual development. our team always ready to help you here. You can follow me on below platform

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here