घर बैठे इन घरेलु उपाय से आप भी पा सकते है चश्मे से छुटकारा – आज ही try करे

4

चश्मा हटाने के उपाय आप कई बार आजमा चुके है जिनमे आँखों की ड्रॉप्स, योग और हरी सब्जिया वगेरह है और इनसे कोई असर नहीं पड़ता है लेकिन आज हम बात करेंगे चश्मा हटाने के उपाय जिनसे हम घर बैठे बिना किसी साइड इफेक्ट और परेशानी के चश्मे से छुटकारा पा सकते है। अकसर देखने में आता है की खानपान के कमी और ज्यादा पढ़ने के कारण के कम उम्र में चश्मा लग जाता है या फिर वृद्धावस्था में धीरे धीरे नजर कमजोर होने लगती है.इसकी वजह युवावस्था में सबसे ज्यादा है. प्रकाश की उचित व्यवस्था न होना और लगातार पढ़ते रहना क्यों की हमारे आँखे अलग अलग दुरी पर अपने आप व्यवस्थित होती रहती है.

चश्मा हटाने के उपाय
ऐसे में अगर लगातार आप कई देर तक पढ़ते है तब आँखे ज्यादा समय तक उसी अवस्था में रहती है और फिर उसे दुरी के हिसाब से समायोजित होने में वक़्त लगता है इस वजह से हमें कुछ देर तक साफ न देख पाना या फिर आँखों में अचानक पानी आने लगने जैसे समस्या होती है. पढाई में अंतराल और प्रकाश की व्यवस्था पर ध्यान देकर हम इस समस्या से बच सकते है।

चश्मा हटाने में सहायक है गार्डन में घूमना

ज्यादा वक़्त तक पढ़ने वाले और जिन्हे शुरुआती चश्मा लग गया है वो सुबह सुबह बगीचे में फिर हरे भरे वातावरण जैसे दुब वाले जगह पर आराम से बैठ कर अपने दाये हाथ के अंगूठे को (मुठी बंद और अंगूठा ऊपर की और सीधा तना हुआ) अपने आँखों की सीध में लए और उसे देखे इस तरह से जब हाथ में दर्द हो शांत होकर बैठे और फिर कुछ देर बाद फिर से अभ्यास करे ये अभ्यास शुरू में कुछ समय के लिए या 3 से 4 बार करे

इसे करते हुए जब कुछ दिन बीत जाये तो आप अपने हाथ के अंगूठे को दाये बाये करे और उस अंगूठे के साथ आँखों की गति करे देखना सिर्फ अंगूठे को है अंगूठा जहा गति करे आँखे वही देखे. इस तरह का अभ्यास आँखों की मासपेशियों को मजबूत बनता है।

Note : ये अभ्यास सुबह सूर्योदय के वक़्त या फिर शाम सूर्यास्त के वक़्त करना चाहिए।

इस अभ्यास से आँखों में पानी आने की समस्या दूर हो जाती है। शुरुआती चढ़े हुए चश्मे को इस अभ्यास द्वारा कुछ ही दिनों में दूर कर सकते है। जिन सज्जन को वक़्त के साथ साथ नम्बर बढ़ने की समस्या है.वो इसे और बढ़ने से रोक सकते है और वक़्त के साथ कम भी कर सकते है। ये अभ्यास आँखों के लिए फायदेमंद है जिनको कंप्यूटर और पढाई में लम्बे समय तक रहना पड़ता है वो इस अभ्यास द्वारा नजर बरक़रार रख सकते है।

त्राटक और चश्मा हटाने के उपाय

आँखों पर जब चश्मा चढ़ जाता है तो वक़्त के साथ इसका असर बढ़ता जाता है और आँखे कमजोर होती जाती है. शुरू में अगर प्रयास करे तो इस से छुटकारा मिल सकता है पर ऐसा न हो तो भी एक हद तक हम इससे बच सकते है. सुबह नंगे पैर दूब पर चलने से आँखों की रौशनी पर सुधार होता है। इसके आलावा योग और प्राणायाम में अपने आँखों से एक निश्चित दूर पर किसी माध्यम को देखने से भी आँखों में सुधार किया जा सकता है।

त्राटक किसी भी माध्यम पर किया जा सकता है ( जब सिर्फ मन को एक जगह स्थिर करना हो). ऐसे में दूब पर नंगे पैर चलना और हरे पेड़ो को देखना चाहिए हरियाली भरे माहौल में आँखों पर जल्दी असर होता है और ठीक होने में कम समय लगता है।

अध्यात्म में आगे बढ़ना है या फिर मन को और ज्यादा स्थिर कर मन की गहराई में उतरने के लिए हम कई तरह के त्राटक कर सकते है. पर संयम और वक़्त के साथ हर कार्य अगर चरणबद्ध हो तो सफल होते है.इसलिए कोई भी कार्य करने से पहले अपने आप को जाँचे और फिर शुरुआत करे. अगर त्राटक को चरणबद्ध करे तो हम स्थायी तौर पर सफल हो सकते है।

छोटी सी उम्र में चश्मा लगना

कम उम्र में चश्मा लग जाना आजकल एक सामान्य सी बात है। इस समस्या से जूझ रहे लोग इसे मजबूरी मानकर हमेशा के लिए अपना लेते हैं, लेकिन ऐसा नहीं है कि अगर किसी कारण से एक बार चश्मा लग जाए तो वह उतर नहीं सकता। चश्मा लगने का सबसे प्रमुख कारण आंखों की ठीक से देखभाल न करना, पोषक तत्वों की कमी या अनुवांशिक हो सकते हैं। इनमें से अनुवांशिक कारण को छोड़कर अन्य कारणों से लगा चश्मा सही देखभाल व खानपान का ध्यान रखने के साथ ही देसी नुस्खे अपनाकर उतारा जा सकता है।

नजर तेज करने और चश्मा हटाने के उपाय :-

1. पैर के तलवों पर सरसों के तेल की मालिश करके सोएं। सुबह के समय नंगे पैर हरी घास पर चलें व नियमित रूप से अनुलोम-विलोम प्राणायाम करें। आंखों की कमजोरी दूर हो जाएगी।

2. एक चने के दाने जितनी फिटकरी को सेंककर सौ ग्राम गुलाबजल में डालकर रख लें। रोजाना रात को सोते समय इस गुलाबजल की चार-पांच बूंद आंखों में डाले। साथ ही,पैर के तलवों पर घी की मालिश करें इससे चश्में के नंबर कम हो जाते हैं।

चश्मा हटाने में आंवले का महत्व

3. आंवले के पानी से आंखें धोने से या गुलाबजल डालने से आंखें स्वस्थ रहती है।

4. बादाम की गिरी, बड़ी सौंफ व मिश्री तीनों को समान मात्रा में मिला लें। रोज इस मिश्रण को एक चम्मच मात्रा में एक गिलास दूध के साथ रात को सोते समय लें।

5. बेलपत्र का 20 से 50 मि.ली. रस पीने और 3 से 5 बूंद आंखों में काजल की तरह लगाने से रतौंधी रोग में आराम होता है।

पढ़े : काले जादू का रहस्य और कैसे बचे इसके दुष्प्रभाव से

6. आंखों के हर प्रकार के रोग जैसे पानी गिरना , आंखें आना, आंखों की दुर्बलता, आदि होने पर रात को आठ बादाम भिगोकर सुबह पीस कर पानी में मिलाकर पी जाएं।

7. केला, गन्ना खाना आंखों के लिए लाभकारी है। गन्ने का रस पिएं। एक नींबू एक गिलास पानी में पीते रहने से जीवन भर नेत्र ज्योति बनी रहती है।

चश्मा हटाने के उपाय आपकी रसोई में

8. हल्दी की गांठ को तुअर की दाल में उबालकर, छाया में सुखाकर, पानी में घिसकर सूर्यास्त से पूर्व दिन में दो बार आंख में काजल की तरह लगाने से आंखों की लालिमा दूर होती है व आंखें स्वस्थ रहती हैं।

9. सुबह के समय उठकर बिना कुल्ला किए मुंह की लार (Saliva) अपनी आंखों में काजल की तरह लगाएंं।लगातार 6 महीने करते रहने पर चश्मे का नंबर कम हो जाता है।

पढ़े : त्राटक आज्ञाचक्र और सम्मोहन का आपसी संबंध

10. कनपटी पर गाय के घी की हल्के हाथ से रोजाना कुछ देर मसाज करने पर आंखों की रोशनी बढ़ती है।

11. रात्रि में सोते समय अरण्डी का तेल या शहद आंखों में डालने से आंखों की सफेदी बढ़ती है।

12. नींबू एवं गुलाबजल का समान मात्रा में मिलाकर बनाया गया मिश्रण एक-एक घंटे के अंतर से आंखों में डालने से आखों को ठंडक मिलती है।

13. त्रिफला चूर्ण को रात्रि में पानी में भिगोकर, सुबह छानकर उस पानी से आंखें धोने से नेत्रज्योति बढ़ती है।

14. बादाम की गिरी, बड़ी सौंफ व मिश्री तीनों को समान मात्रा में मिला लें। रोज इस मिश्रण को एक चम्मच मात्रा में एक गिलास दूध के साथ रात को सोते समय लें।

इन घरेलु चश्मा हटाने के उपाय को आप आजमा सकते है। क्यों की हर समस्या का समाधान आयुर्वेद में छुपा हुआ है। त्राटक और घरेलु उपाय प्राकृतिक रूप से आपके लिए नजर तेज करने में लाभदायी साबित होते है। इसलिए इन उपाय को ध्यान रखे और चश्मे से छुटकारा पाए।

घरेलु उपाय है कारगर – आपने कौनसा try किया ?

आज का चश्मा हटाने के उपाय आर्टिकल आपको कैसा लगा कृपया हमें जरूर बताए आपके सुझाव हमारे लिए आवश्यक है। किसी पोस्ट की अगर आपको कमी लगे तो हमें जरूर बताये हम उसे यहाँ जरूर जोड़ना पसंद करेंगे। हमें subscribe करना ना भूले। ज्यादा जानकारी के लिए इन पोस्ट को पढना न भूले.

  1. ब्रेकअप होने के बाद क्या करे क्या नहीं ताकि इसके दर्द से बाहर निकल सके – love guru tips 2018
  2. सिर्फ एक महीना अंगूठे का अभ्यास और हैरान रह जाओगे खुद में इन बदलाव को देखकर
  3. मासिक धर्म में होने वाले दर्द में आराम के लिए घरेलु नुस्खे
  4. छिपे हुए तनाव के 6 मुख्य लक्षण जिन्हे आपको समझना चाहिए
  5. अगर आप भी दोहराते है इन आदतों को बार बार तो हो जाइये सावधान !

4 COMMENTS

  1. आपने अपने लेख में आंख से जुडी जिन समस्याओं को बताया हैं आजकल सही ध्यान न दे पाने के कारण यह समस्या बहुत से लोगो की है पर आपने इस समस्या को दूर करने के जो उपाय बताएं है वह बहुत अच्छा है । इस अच्छी और उपयोगी जानकारी के लिए धन्यवाद।

  2. आखिर घासा पर नंगे चलने से कैसे आँखों की रौशनी बढ़ती है?कोई तो साइंस होगा ना या फिर कोई कारण।

    • घास पर नंगे पाव चलने के पीछे माना गया है की हरे रंग को ज्यादा देखने से हमारी आँखों की कोशिकाएं मजबूत होती है. इसके अलावा ये स्वास्थ्य की दृस्टि से अच्छा माना गया है. नंगे पाव चलना मतलब पैरो की उन कोशिकाओं की व्यायाम जो आँखों से जुडी है या फिर आँखों की कोशिकाओं तक सन्देश पहुंचाती है. हमारे पैर के पोरू शरीर के हर अंग की कोशिका तक सिग्नल ट्रांसमिट करते है .

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.