Changing mind with Reverse psychology किसी भी व्यक्ति से अपना काम कैसे निकलवाए

1

Reverse psychology in Hindi यानि किसी व्यक्ति को बात मनवाने के लिए इच्छा के खिलाफ जाकर चैलेंज करना। इसे हम changing mind के नाम से भी बुला सकते है क्यो की इसमे दिमाग के उन हिस्सो को trigger किया जाता है जिसमे हम वो करते है जिसके लिए हमे मना किया जाता है। सीधे तौर पर कहे तो अगर आप किसी से कुछ काम करवाना चाहते है तो उसे उस काम के बिलकुल opposite करना शुरू करे।

ज़्यादातर बच्चे वही काम क्यो करते है जिसके लिए उन्हे मना किया जाता है? आज के टाइम मे Reverse psychology in relationships के जरिये हम जाने अनजाने मे relationship को damage कर लेते है। लोगो को force करना अक्सर ऐसी opportunity को खो देता है जो influence करने के बाद direct requests मे ज्यादा better respond करते है। अगर आप हर जगह opposite psychology का प्रयोग करते है तो आप कुछ लोगो की वास्तविक क्षमता को खो देते है।

Reverse psychology

आपको जान कर हैरानी हो सकती है लेकिन अगर आप चाहे तो Reverse psychology in relationships की मदद से अपने boyfriend या girl friend को वापस पा सकते है। इसके लिए आपको अलग से article मे help मिलेगी। आपको ये technique सिर्फ वही इस्तेमाल करनी चाहिए जहां आपको किसी की काबिलियत को बढ़ाना हो या उसे motivate करना हो। सामने वाला पहले से काबिल है और आप उसे pressure देते है तो वो किसी काम को उस तरीके से नहीं कर पाएगा जिस तरीके से उसे करना चाहिए।

Changing mind with Reverse psychology

Relationship मे अक्सर इसका इस्तेमाल चतुर लोग करते है। Reverse psychology के जरिये love को फिर से नया रंग दिया जाता है। अगर आपके love relationship मे किसी तरह की problem आ रही है तो इसके जरिये उसमे सुधार किया जा सकता है। अक्सर लड़के या लड़कियां सोचते है की उनके love पर किसी तरह का love spell किया हुआ है। लेकिन वास्तव मे ये सब mind changing tactic होती है।

बिना किसी spiritual guru के आप Reverse psychology to get ex back के जरिये अपने ex love को वापस पा सकते है। इस तरह की Reverse psychology के जरिये हम माध्यम का mind change कर सकते है। अक्सर रिश्ते मे कुछ mentality की वजह से दूरियाँ आ जाती है जिन्हे सही करने के लिए आपको इसकी help लेनी चाहिए।

ये तकनीक कैसे लोगो का mind change करती है

ज़्यादातर Reverse psychology for relationships का काम लोगो को अपनी मर्जी के अनुसार काम करने के लिए ready करना है जिसमे सामने वाले को ऐसा लगता है की वो अपनी मर्जी का काम कर रहा है लेकिन असल मे वो सामने वाले की मर्जी के अनुसार काम करता है।

ज़्यादातर frustrated parents अपने kids को healthy foods जैसे की green vegetable खाते हुए देखना चाहते है या फिर उनके बच्चे अपने कमरे को साफ रखे और अपने काम खुद करे ये चाहते है। ऐसी स्थिति मे Reverse psychology एक best suitable technique की तरह उन्हे बच्चो को मनाने के लिए तैयार करती है।

आपको ये बात पता होनी चाहिए की ये हर situation मे काम नहीं करती है। 2 तरह के लोग होते है

  1. Compliant people यानि शिकायत करने वाले
  2. Resistant people वो जो दूसरों का विरोध करते रहते है

एक ओर Resistant people हमेशा किसी भी बात के दोनों पहलू के बारे मे समझते है वही दूसरी ओर compliant people बिना किसी ज्यादा समझ के direction follow करने लगते है। reverse psychology का इस्तेमाल करने से पहले आपको पता होना चाहिए की किस kind of person के साथ आप dealing कर रहे है।

आप कितनी भी कोशिश करे हर व्यक्ति की अपनी free will होती है और वो किस तरह की decision making और direction का चुनाव करता है ये उसके ऊपर निर्भर करता है। अगर आप दूसरे के फायदे के लिए कर रहे है तो ठीक है लेकिन,

अगर आप खुद का फायदा सोच रहे है तो दोबारा सोचे। हो सकता है आपको अपना फैसला सही लगे लेकिन selfish से हटकर सोचे और फिर भी सही लगे तो इस direction को follow करे।

4 step Guide to opposite psychology

क्या आपने कभी ये महसूस किया है की आपने कुछ ऐसा किया जो आप नहीं करना चाहते थे।

आपने अपनी मर्जी के खिलाफ जाकर कोई काम किया है

आपके किसी दोस्त ने या घरवालो ने आपको उस काम के लिए convince कर लिया जिसके लिए आप शुरुआत मे ही मना कर चुके थे

इन सबके पीछे the power of reverse psychology at work! काम करती है। हालांकि अफसोस इस बात का है की ये हमेशा positive नहीं रहती है। कुछ लोग इसके जरिये दूसरों को manipulate कर अपने काम को पूरा करवाते है। गलत तरीके से किया गया use आपके लिए ruin friendships and relationships का कारण बन सकता है।

अगर आप master the art of reverse psychology का इस्तेमाल सही तरीके से करना चाहते है तो आपको इन 4 step मे काम करना है।

opposite psychology

पहली स्टेप

अगर आप किसी व्यक्ति से अपनी बात मनवाना चाहते है तो आपको पहले उनके दिमाग मे planting the seed of choice को लेकर काम करना होगा। लोगो को choice दे और कोशिश करे जो choice आप चाहते है उन्हे उसके लिए मना करे। किसी भी काम को पूरा करने के लिए अलग अलग option दे और कोशिश करे की वो अंत मे वो उसी option पर आए जिस पर आप चाहते है।

आप चाहे तो सामने वाले को ये बता सकते है की वो अगर कुछ करता है तो उसका भविष्य मे क्या परिणाम होगा। ज़्यादातर लोग किसी काम को जब future sentence से जोड़ते है तो काम को पूरा करने की संभावना बढ़ जाती है।

दूसरी स्टेप

आपने जो option दिये है उनसे जुड़े Question पूछे। आपने जो विकल्प दिये उनको लेकर वो क्या सोचते है और किस विकल्प से उनपर क्या असर होता है इस बारे मे जानने की कोशिश करे। इससे आपको पता चलेगा की उनका रुझान किस विकल्प की ओर है। साथ ही आप मनचाहे विकल्प की ओर उनका रुझान बढ़ाने की कोशिश कर सकते है।

उनका mind change करने की कोशिश करे ऐसी बातों के जरिये जो उन्हे उसी एक पॉइंट पर सोचने के लिए मजबूर कर देती है फिर चाहे उन्होने इसके लिए शुरू मे मना ही क्यो न कर दिया हो।

स्टेप 3

जो choice आपने दी है उन्हे real time पर offer करना शुरू कर दे। अगर वे किसी विकल्प का चुनाव करते है तो वर्तमान मे उनके साथ क्या होगा इस बारे मे बात करे। ये बिलकुल वैसे ही है जैसे की आप किसी व्यक्ति को आम खाने के फायदे बता दे और फिर अचानक ही मना कर दे। इससे सामने वाले के मन मे रह रह कर वही बात आएगी और वे इसके प्रति attract होना शुरू हो जाते है।

अगर आप चाहते है की बच्चे हरी सब्जी खाए तो पहले उन्हे इसके फायदे बताते रहे और जब सब कुछ बता चुके है तब उन्हे कह दे की शायद हरी सब्जी तुम्हारे लिए नहीं है तुम junk food खा सकते हो। इससे होगा ये की सामने से children सोचेंगे की आखिर इतने फायदे बताने के बाद ये हमे मना क्यो कर रहे है। वो न चाहते हुए भी सब्जी को टैस्ट करने की कोशिश करेंगे।

ये सब इसलिए क्यो की उन्हे लगता है की आप उन्हे कमजोर समझते है। खुद चीजों को दूर रखना चाहते है।

पढे : Astral projection guide and hidden risk

स्टेप 4

एक बार जब बच्चे green vegetables खाने के लिए ready हो जाये तो उन्हे बार बार junk food के लिए कहे। इससे आपको ये पता करने मे आसानी हो जाती है की वाकई बच्चे हरी सब्जी खाना चाहते है या फिर सिर्फ सोच रहे है। इसे उस level तक ले जाने की कोशिश करे जब तक की सामने वाले मे इसके लिए प्रबल इच्छा न देखने को मिलने लगे।

हमेशा ध्यान रखे की इसका use कभी भी दूसरों को hurt करने के लिए ना करे। कई बार हमे इसके result मे ज्यादा टाइम लग सकता है।

How to master the art of reverse psychology

Opposite psychology दूसरे लोगो से अपनी बाते मनवाने के लिए effective method साबित होता है। आपको इसके लिए उन्हे सिर्फ exact opposite बताना है जो आपकी desired thought है। अगर आप इस technique मे master बनना चाहते है तो आपको इन top 10 tips को समझना है जैसे की

  1. ये technique उन लोगो पर ज्यादा effective है जो resistant by nature होते है और उन्हे ये पसंद नहीं की कोई उन्हे किसी काम को करने के लिए मना करे जैसे की छोटे बच्चे।
  2. ये तकनीक Emotional, over-confident, and irritable people जैसे लोगो पर भी best suitable है।
  3. किसी को challenge करने या फिर insist करने के लिए अगर आप चाहते है की वो आपके रास्ते पर चले तो option देकर उन्हे खुद इसके बारे मे सोचने के लिए छोड़ दे।
  4. अगर आप reverse psychology को children पर लागू कर रहे है तो आपको शांत होना बेहद जरूरी है।
  5. Change some one mind के दौरान आपके mind मे end goal हमेशा रहना चाहिए।
  6. आप क्या चाहते है आपको इसके ठीक opposite thing करनी है और अपने tone को एक जैसा बनाए रखना है।
  7. अगर आप किसी को relationship के लिए attract करना चाहते है और सामने वाला सिर्फ friendship रखना चाहता है तो उन्हे बताए की आप agree है सिर्फ friendship के लिए।
  8. अगर किसी व्यक्ति से किसी काम को करवाना है तो उसे challenge करे की ये तुम्हारे बस का नहीं है या तुम इसे तो कर ही नहीं सकते।
  9. हमेशा कोशिश ये रखे की जो भी technique आप लागू करना चाहते है वो सामने वाले को convince करने लायक हो।
  10. इस्तेमाल के टाइम सावधान रहे और इसका प्रयोग serious situations मे ना करे तो ही अच्छा है।

दूसरों को motivate करने के लिए काम मे ले ना की अपने स्वार्थ को पूरा करने के लिए।

Reverse psychology final thought why you shouldn’t use it

किसी से कुछ काम करवाना है तो बस अपने काम से जुड़े option दे और फिर जब पूरी तरह से अपनी बाते उन्हे बता चुके हो तब अचानक ही मना कर दे। इसे हम reverse psychology या फिर opposite psychology के नाम से जानते है। इसमे mind changing tactics का इस्तेमाल कर हम सामने वाले के interest न होने के बावजूद वो काम करने के लिए मनाते है।

अपनी बात को मनवाने का ये तरीका हमेशा सही नहीं रहता है। Reverse psychology to get your ex back का इस्तेमाल कर हम अपने खोये हुए प्यार को वापस ला सकते है। अगर आप Reverse psychology for relationships कर रहे है तो ये आपके रिश्ते को खराब कर सकता है। अगर इसका इस्तेमाल दूसरे के लिए सही वजह से कर रहे है तो अच्छी बात है वर्ना इसके नुकसान आपको दूसरों से अलग कर सकते है।

Never miss an update subscribe us

* indicates required

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here