आसान मगर प्रभावी Chandra Grahan 2020 Sadhana जो बिना किसी निर्देशन की जा सकती है

6

इस साल का पहला ग्रहण लगने वाला है जिसका प्रभाव 4 घंटे तक दिखाई देगा. ऐसे में कुछ खास बाते हमें Chandra Grahan 2020 Sadhana के बारे में जान लेनी चाहिए. इस बार हम maha vashikaran ritual in Lunar eclipse के बारे में तो बात करेंगे ही साथ कुछ ऐसे प्रयोग के बारे में भी बात करेंगे जो मुसीबत के समय आपके काम आ सकते है. Lunar Eclipse में Love spell सबसे ज्यादा काम करती है जिसकी वजह से इसका प्रभाव हम जल्दी ही महसूस कर सकते है.

Chandra Grahan 2020 Sadhana

सिर्फ इतना ही नहीं अगर आप साधक है तो ग्रहण के समय आपके पास सबसे अनुकूल समय होता है जब कम समय में साधना का फल प्राप्त किया जा सकता है. ऐसा माना जाता है की अगर साधना ग्रहण काल में की जाए तो उसका फल कई गुना बढ़ जाता है. मारण और वशीकरण ये दोनों ही साधना सबसे ज्यादा की जाती है जब ग्रहण का समय होता है. इस पोस्ट में शेयर किये गए अलग अलग मंत्र ग्रहण काल में सिद्ध किये जाते है जिन्हें बाद में मनचाहे तरीके से प्रयोग किया जा सकता है. आइये जानते की इस बार खास क्या है.

Chandra Grahan 2020 Sadhana

साल 2020 में कई चन्द्र और सूर्य ग्रहण होने है. साल के पहले ग्रहण पर हम Chandra Grahan 2020 Sadhana के बारे में बताने वाले है. ग्रहण काल के दौरान सबसे ज्यादा मारण या वशीकरण की साधना की जाती है. हालाँकि हमारी पिछली पोस्ट चंद्रग्रहण पर वशीकरण की साधना में इसके बारे में हम पहले ही शेयर कर चुके है लेकिन, इस पोस्ट में वशीकरण के साथ साथ मोहन और दमनकारी साधना के बारे में भी बताने वाले है.

ये सब साधना जो यहाँ शेयर की जा रही है इंद्रजाल पुस्तक से ली गई है जो की साधना क्षेत्र में अनुपम ग्रन्थ है. किसी भी तरह की साधना में इंद्रजाल के जरिये आप हेल्प ले सकते है. बेहतर होगा की आप साधना को विवेक या फिर गुरु के सानिध्य में रहते हुए करे. सबसे पहले तो इस ग्रहण के बारे में कुछ खास बातो के बारे में जान लेते है.

Lunar Eclipse January 2020

साल 2020 की शुरुआत में लग रहा पहला चंद्रग्रहण बेहद खास है. ये ग्रहण Europe, Africa, Asia and Australia में साफ़ तौर से देखा जा सकेगा. Lunar Eclipse की शुरुआत रात के 10 बजकर 37 मिनट पर होगी और ये 2 बजकर 42 मिनट पर समाप्त होगा.

Lunar eclipse 2020 की पूरी जानकारी आप यहाँ देख सकते है.

  • उपच्छाया से पहला स्पर्श – 10:39 पी एम, जनवरी 10
  • परमग्रास चन्द्र ग्रहण – 12:39 ए एम
  • अन्तिम स्पर्श – 02:40 ए एम
  • अवधि – 04 घण्टे 01 मिनट 47 सेकण्ड्स
  • उपच्छाया चन्द्र ग्रहण का परिमाण – 0.89

अब चूँकि Chandra Grahan 2020 Sadhana  का ये एक एक उपच्छाया चन्द्र ग्रहण है इसलिए इसका ना तो कोई Spiritual importance है ना ही इसका सूतक मान्य होगा. पंचांग के अनुसार अगर कोई ग्रहण नंगी आँखों से दिखाई नहीं देता है तो उसका कोई महत्त्व नहीं होता है. ऐसे में अगर आप कोई साधना कर रहे है तो पंचाग के अनुसार उसका महत्त्व नहीं माना जा सकता है.

लेकिन इसका ये मतलब नहीं की आप साधना नहीं कर सकते है. साधना के लिए ये टाइम भी ठीक है क्यों की इस दौरान हमें normal day की तुलना में ज्यादा फायदा होता है.

आइये ऐसी कुछ साधना के बारे में बात करते है जिन्हें ग्रहण के दौरान आप कर सकते है. इनका सिद्ध होना साधक के विवेक और उसकी उर्जा के ऊपर निर्भर है. बिना किसी शंका को मन में रखे आप इसका अभ्यास कर सकते है.

उपच्छाया ग्रहण क्या और कब लगता है ?

ऐसा तब होता है जब चन्द्रमा धरती की वास्तविक छाया में ना आकर उपच्छाया से ही वापस लौट जाता है. ऐसी स्थिति में चाँद पर एक पतली सी परत नजर आती है. एक और जहाँ वास्तविक चंद्रग्रहण में ग्रहण का असर चन्द्र के आकार पर पड़ता है इसमें ऐसा कुछ नहीं होता है.

इस ग्रहण में आपको eclipse का कोई प्रभाव दिखाई नहीं देगा जैसा की अक्सर ग्रस्त चाँद दिखाई देता है. इस ग्रहण में lunar बस धुंधला दिखाई देगा मानो उसकी कांति मलिन हो गई हो. इससे चन्द्र हमें धूसर कलर का दिखाई दे सकता है. चंद्रमा का 90% हिस्सा धूमिल नजर आएगा. विशेष प्रकार के उपकरण की मदद से हम इस ग्रहण को आसानी से समझ सकते है.

1.  Vashikaran with supari and kleem beej mantra

वशीकरण के खास मंत्रो में से एक है सुपारी से वशीकरण. ये एक Simple but effective vashikaran mantra experiment है जो की सुपारी यानि betals और Kleem beej mantra जिसे वशीकरण और मोहन में सबसे प्रभावशाली मंत्र माना जाता है के जरिये किया जाता है.

The most powerful kleem beej mantra ritual का पर्योग Attraction ritual जैसे की आकर्षण, वशीकरण और मोहन इन सब मे किया जाता है. माना जाता है की ये एक Strong attraction spell है जिसे आसानी से किया जा सकता है.

सुपारी से वशीकरण साधना विधि : Chandra Grahan 2020 Sadhana  में की जा सकने वाली कई साधना है जिसमे से सुपारी से वशीकरण एक आसान साधना है. इस साधना में आपको एक छोटी सी साबुत सुपारी लेनी है. इसे अपने सामने रखे और 108 बार निचे दिए गए मंत्र का जाप करते हुए त्राटक साधना करनी है.

आपका पूरा फोकस इस दौरान सुपारी और मंत्रो के उच्चारण पर होना चाहिए. मंत्र जप के लिए आप किसी भी माला का प्रयोग कर सकते है और इसे जितना कर सके उतना मन से जप कर सकते है.

ॐ क्लीं स: [ अमुक ] वंश कुरु कुरु स्वाहा:

om kleem sah [ name ] vasham kuru kuru svaha

मंत्र जप के दौरान किया गया त्राटक यानि सुपारी पर ध्यान बीज मंत्र की आकर्षण शक्ति को सुपारी में transfer करता है. जब साधना पूरी हो जाये तो इस सुपारी के छोटे छोटे टुकड़े कर ले और कई बार करके इस सुपारी को मनचाहे व्यक्ति के खाने पिने की चीज में डाल कर दे.

इसका पाउडर बनाकर भी दिया जा सकता है. इस साधना को आप ग्रहण के 4 घंटे के समय में पूरा कर सकते है.

2. Most powerful attraction mantra ritual in lunar eclipse

ये कोई वशीकरण मंत्र नहीं है लेकिन इसके जरिये आप अपने कामो को आसान बना सकते है. ग्रहण के दौरान अगर इसे सिद्ध कर लिया जाए तो आप किसी पर भी कुछ समय के लिए एक सम्मोहन का प्रभाव छोड़ सकते है. ज्यादातर इसका प्रयोग Commercial work में होता है जहाँ हमें अनजाने लोगो को Convenience करना होता है.

बहुत से vashikaran tantra sadhak इसे आजमा चुके है जिसकी वजह से आज इसे यहाँ शेयर किया जा रहा है.

इस मंत्र का जप शुक्ल पक्ष की शनिवार को या फिर चमकीले चाँद के बिच में करे. ऐसा नहीं कर सकते है तो ग्रहण के समय में भी किया जा सकता है.

आकर्षण का अमल

या रहमानो या रहीमो

 इस अमल का 1000 बार जप करे और इसके बाद में बिस्मिल्लाह ही रहेमनिर रहीम बोलना न भूले. अगर ग्रहण या शनिवार से कर रहे है तो इसके बाद हर शनिवार को इसका जप करते रहे. साथ ही Chandra Grahan 2020 Sadhana  के साथ साथ पुन्य कर्म करना न भूले.

इसके प्रभाव से बेहद जल्द आपके अन्दर आकर्षण शक्ति का प्रभाव बढ़ना शुरू हो जाता है.

3. चन्द्र ग्रहण पर शत्रु नाशक मंत्र साधना

अगर आपका शत्रु या Competitor आपसे ज्यादा शक्तिशाली है तो उसे हराने के लिए आप शत्रु नाशक ग्रहण साधना कर सकते है. किसी विशिष्ठ व्यक्ति से दुश्मनी होने पर उसके दमन के लिए की जानी वाली कई साधनाओ में से एक शत्रु को हराने का शाबर मंत्र साधना.

ये एक काम में आने वाली Revenge Spell है जिसके प्रयोग से आप अपने शत्रु का दमन आसानी से कर सकते है. इस मंत्र को किसी भी शुभ महूर्त पर सिद्ध किया जा सकता है लेकिन अगर ग्रहण काल हो तो सबसे अच्छा रहता है. इस मंत्र की सिद्धि में रुद्राक्ष की माला होना जरुरी है.

शत्रु दमन साधना मंत्र

ॐ नमो विश्वरूपाय अमुकस्य अमुकेन विजयं कुरु कुरु स्वाहा:

Om Namo Vishwaroopaya Amukasya Amukena Vijayam Kuru Kuru Swaha

यहाँ पर अमुकस्य की जगह करने वाले का नाम और अमुकेन की जगह करवाने वाले का नाम होगा. उदाहरण के लिए रजत को महेश को हराना है तो अमुकस्य की जगह रजत का नाम आयेगा. मंत्र जाप 1008 बार होगा या फिर 10 माला का जप.

इस मंत्र को सिद्ध करने के बाद आप इसका प्रयोग दो तरीके से कर सकते है.

शत्रु दमन के लिए प्रयोग : अपने Right Hand में सुदर्शन के पेड़ की जड़ ले और इस मंत्र का 108 बार जप करे. इसके बाद उसे एक लॉकेट में धारण कर बाजू में पहन ले. इसके बाद जिस किसी से आपकी लड़ाई होती है आप उसमे जीत जाते है.

किसी से दावे में या मुकदमे में जीतना : मार्गशीर्ष की पूर्णिमा के समय चित्रक नाम के पौधे की जड़ को ऊपर बताई है विधि के अनुसार ही अभिमंत्रित कर धारण कर ले. इसके बाद किसी के साथ मुकदमा होगा तो विजय आपकी होगी.

4. Powerful mantra to attract all

इस मंत्र को त्रिलोकी मोहन मंत्र के नाम से भी जाना जाता है. इस मंत्र के जाप के लिए अलग अलग धारणा है जैसे की

1,000 बार का जप निचले लोक के जीवो को आकर्षित करता है.

10,000 बार किया गया जाप उच्च स्तर के देवी देवताओ को मोहित करता है.

अगर 100,000 बार किया गया जप त्रिलोकी मोहन की तरह काम करता है. इसके बाद आप तीनो लोक में मोहन कर सकते है*.

सर्वलोक मोहन मंत्र

क्लं क्लौ ह्रीं नम:

klam klau hreem namh

इस बीज मंत्र के प्रभाव से शरीर में उर्जा का बहाव बढ़ जाता है. आपको ज्यादा उर्जा का दबाव महसूस हो सकता है इसलिए संकल्प के साथ करे और धीरे धीरे पूरा करे.

पढ़े : क्या होगा अगर आध्यात्मिक यात्रा में अनुभव सुखद की बजाय भयावह बन जाए ?

Chandra Grahan 2020 Sadhana Final Thought

दोस्तों इस बार ग्रहण पूरे चार घंटे का होगा. अगर इस समय आप कोई साधना करते है तो उसका बढ़िया फल आप ले सकते है. इस दौरान वैसे तो ज्यादातर लोग शुभ-कर्म करते है लेकिन अगर साधना की जाए तो उनका परिणाम अच्छा मिलता है. यहाँ शेयर की गई सभी साधना इंद्रजाल और दूसरे स्त्रोत से ली गई जानकारी है. इनका फलित होना या न होना इसके लिए sachhiprerna कही भी जिम्मेदार नहीं है.

आप अपने विवेक से साधना करे और अनुकूलित फल प्राप्त करे. ग्रहण काल में की जाने वाली वशीकरण की साधना के बारे में हम पहले ही लिख चुके है. ज्यादा जानकारी और दूसरी जरुरी बातो के लिए आप उन पोस्ट को पढ़ सकते है.

 

Never miss an update subscribe us

* indicates required

6 COMMENTS

  1. सर मुझे कर्ण पिशाचिनी साधना सीखनी है। क्या आप उसके लिए मार्गदर्शन कर सकते हैं।

    • जी नहीं सिर्फ इस तरह का साधना का सिर्फ पता है की नहीं है आप चाहे तो कोई गुरु आपके लिए ढूंढा जा सकता है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here