आत्मविश्वास बढाने के लिए त्राटक के सबसे बेहतरीन अभ्यास जिन्हें आपको करना चाहिए

0

त्राटक की शक्ति से हम अपने आत्मविश्वास को निखार सकते है. हम अपनी क्षमता का बेहतर इस्तेमाल कर सकते है. कल्पना करे अपने अंदर ऐसे बदलाव की अपने कुछ सोचा और आप वही कर रहे है बिना तर्क वितर्क ( ध्यान दे मेरे कहने का ये मतलब है की महत्वपूर्ण निर्णय जिसमे हम झिझकने लगते है क्यों की हमें अपने ऊपर विश्वास नहीं होता है.) त्राटक से आत्मविश्वास बढ़ाने के कई सरल और कारगर अभ्यास है जिनसे हम खुद को और अपनी भावनाओ को कण्ट्रोल कर सबकुछ संभव कर सकते है। how to improve self-confidence by trataka in hindi. tratak के जरिये हम willpower, intuition power इनको भी बढ़ा सकते है.

त्राटक से आत्मविश्वास

उदाहरण के लिए हम स्टेज पर जाते है कुछ बोलने के लिए तब हमारा शरीर और मन हमारा साथ क्यों छोड़ देता है. क्यों हमारा मन तर्क करने लगता है. हमारे अंदर प्रश्न उठने लगता है मेने अच्छा नहीं किया तो ? अगर मुझसे गलती हो गई तो ? ये सब हमारे आत्मविश्वास की कमी के कारण होता है। त्राटक द्वारा हम अपने मन और शरीर में इस हद तक तालमेल बैठा लेते है की हमारा शरीर हमारे मन की सिर्फ कमांड पर काम करने लगता है। जैसे की बिना तर्क वितर्क किये काम करना।

त्राटक से आत्मविश्वास बढ़ाने प्रयोग

हम अपने व्यक्तित्व में निखार लाने के लिए कर सकते है कैसे आइये जाने : भावना शक्ति हमारे मस्तिष्क को इस तरह program करती है की तर्क वितर्क नहीं चलता है.( आपका फैसला सही होना चाहिए ये तभी काम करता है जब आप सही हो और आपको अपने फैसले पर पूरा भरोसा हो) त्राटक करते वक़्त अगर आप भावना को जोड़ दे तो त्राटक सरलता से सफल होने लगता है. जैसे की अपने कुछ समय तक भावना दी की आपका मन शांत हो रहा है.

कुछ देर बाद आपका मन शांत हो जाता है. बिंदु त्राटक के 1 माह के अभ्यास के बाद भावना शक्ति को मजबूत बना सकते है. भावना शक्ति कितनी मजबूत है इसका पता आसानी से लगा सकते है. आप बस कुछ काम करते वक़्त जब मन में शंका होने लगे तो भावना दे की आप ये काम करने लगे है ! आप ये काम कर रहे है ! अगर कुछ देर अब्द ही आप अपने आप खुद-ब-खुद वो काम करने लगे बिना मन में शंका के तो समझ ले की आप सफल हो गए आप भावना शक्ति पर पकड़ बना चुके है.

पढ़े : त्राटक- क्या है और कैसे काम करता है

त्राटक से आत्मविश्वास बढ़ाने की शुरुआत

त्राटक के अभ्यास में सबसे पहले हमारा आत्मविश्वास ही मजबूत बनता है जब मन शांत होता है तब ज्यादा स्थिर निर्णय लेने लगते है. मेरे खुद के अनुभव को देखे तो मेने पहली बार स्टेज प्रोग्राम किया था तब मन में शंका उठी थी मन घबराने लग गया था, सोचने लग रहा था की कर पाउँगा या नहीं (उस वक़्त में अकेला रहना पसंद करता था अगर भीड़ मुझे देखती तो में नजर निचे करने लगता था आत्मविश्वास नहीं था.)

मेने उसी वक़्त भावना दी की कुछ भी हो मुझे ये करना है सिर्फ एक बार मन में दोहराने मात्र से मेने वो स्टेज प्रोग्राम इतने बढ़िया से पूरा किया की मुझे पहली बार भावना शक्ति का अहसास हुआ फिर मेने हर जगह उसका प्रयोग कर सफलता हासिल की.

पढ़े : ध्यान की अलौकिक साधना सहज ध्यान

त्राटक से आत्मविश्वास कैसे बढ़ता है :

जब हम त्राटक का अभ्यास करते है तो इसका पहला काम होता है हमारे अंदर उमड़ने वाले अनावश्यक विचारो को रोकना जब ऐसा होना लगता है तब हम खुद-ब-खुद खुद को समझने लगते है। सोच कर देखे जब आप खुद विचारो में उलझे हुए रहते है तो खुद को समझ कैसे सकते है। इसीलिए हम चाहे किसी भी माध्यम चाहे वो बाह्य हो या आंतरिक सबसे पहले अपने विचारो को नियंत्रित करते है।

जब ये हो जाता है तब विचार सही तरह से चेतन और फिर अवचेतन मस्तिष्क तक पहुँचने लगते है। इसका सबसे बड़ा फायदा यह होता है की हम जो सोचते है वो हम सोच समझ कर अपनाते है। जब विचार कम होंगे तो जो काम सोचेंगे वो होने लगता है और हमारा आत्मविश्वास खुद पर अपने आप बढ़ने लगता है।

आत्मविश्वास बना रहने के लिए सबसे ज्यादा जरुरी क्या है :

आत्मविश्वास बनाए रखना सबसे बड़ी चुनौती है क्यों की जिंदगी है तो उतार चढाव तो होंगे ही और अगर ऐसा होगा तो खुद पर नियंत्रण बनाये रखना सबके बस की बात नहीं। यही पर शुरू होता है हमारा आत्मविश्वास गिरना इसलिए सबसे ज्यादा ध्यान रखे कुछ बातो का और किसी भी स्थिति में इसे बनाये रखे.

अगर आत्मविश्वास को ज्यादा से ज्यादा बढ़ाना है तो निम्न छोटी छोटी बातो का ध्यान रखे आपका आत्मविश्वास हमेशा सकारात्मक रहेगा और आप कभी भी निराश नही होंगे। त्राटक से आत्मविश्वास लम्बे समय तक बना रहे इसके लिए हमेशा ध्यान रखे

कुछ आसान और सरल टिप्स

  1. काम को सरल से कठिन की तरफ करे यानि उन कामो को पहले करे जो आसान हो.
  2. हमेशा ऐसे लोगो से दोस्ती और नजदीकियां रखे जो आपके साथ हर स्थिति में रहने को तैयार रहे।
  3. हमेशा जब भी आपको लगे की आप निराश होने लगे है तो मन में कुछ देर ऐसे वाक्य दोहराए जो आपको सकारात्मक बनाये रखते है जैसे की में ये कर सकता हूँ या फिर ये आसान सा है थोड़ी मेहनत और. देखने में ये भले ही आपको सामान्य से शब्द लगे मगर आपको सकारात्मकता से भर देंगे।
  4. जब भी आप कुछ अच्छा करे उसे दोहराये या फिर लिखे डायरी में ये आपको हमेशा सकारात्मक रखने में मदद करते है जिससे आप अच्छे काम के लिए प्रेरित होते रहते है।
  5. आप अपनी खूबियों को उभार सकते है क्यों की आप यूनिक है यानि की आपके अंदर कुछ ऐसा जरूर है जो आपको सबसे अलग बनाता है। अगर आप इस खूबी को पहचान ले तो आप सबकुछ कर सकते है। दुसरो से अलग अपनी पहचान बना सकते है।
  6. अगर आप बहुत जल्दी किसी छोटी सी बात को लेकर परेशान होने लगते है तो संभल जाये ये आपको बहुत जल्दी तनाव में लाती है इससे बचाव कर आप खुशहाल जिंदगी जी सकते है। बशर्ते आपके अंदर परेशानी को बातो से टालने की कला हो। यानि की दिल दिमाग से ऐसी बाते निकाल दे।

त्राटक से जुडी सभी पोस्ट यहाँ पढ़े :

  1. बिंदु त्राटक साधना-आसान अभ्यास और लाभ
  2. अलौकिक मूर्ति त्राटक साधना
  3. त्राटक के लिए खुद को कैसे तैयार करे
  4. औरा क्षेत्र का निर्माण और उसको संतुलित रखने के उपाय
  5. जानिए क्यों इतना खास है शक्ति चक्र पर त्राटक

“याद रखिये आप किताबो से पढ़ कर अभ्यास कर तो सकते है लेकिन अभ्यास करते वक़्त होने वाले अनुभव सही है गलत इसे आपके निर्देशक ही समझा सकते है इसलिए हमेशा अपने ऊपर भरोसा रखे और किसी भी समस्या या अनुभव को लेकर अपने सवालो के जवाब पाना चाहे तो ईमेल कर सकते है” त्राटक से आत्मविश्वास बढाने की ये पोस्ट आपको कैसी लगी हमे जरुर बताए. पोस्ट पसंद आने पर शेयर करना ना भूले.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.