top 10 working method for remove black magic and negative energy from home

0

क्या आपने कभी bhoot bhagane wale mantra के बारे में सुना है ज्यादातर लोग जिन्हें लगता है की घर में कोई बुरा साया है तो bhoot pret nivaran mantra in hindi या फिर bhoot pret badha nivaran yantra के जरिये उन्हें दूर करने की कोशिश करते है. लेकिन bhoot mantra mp3 भी तभी काम करते है जब घर में सही सही problem का पता चले आज हम बात करने वाले है कुछ आसान bhoot pret badha nivaran ke upay in hindi  की जिनके जरिये हम bhoot pret vashikaran mantra in hindi को घर की समस्या दूर करने में काम ला सकते है. आज हम top 10 simple but effective negative energy removal working method शेयर करने जा रहे है जो काफी मददगार होंगे.

pret badha symptomsअक्सर भूत प्रेत बाधा से जुड़े कई मामले हमारे सामने आते है जिन पर विश्वास करना भी मुश्किल होता है मगर सामने देखी गई बातो को इग्नोर नहीं किया जा सकता है।

bhoot pret badha nivaranभूत बाधा के उपाय करने वाले तांत्रिक अक्सर लोगो को बहला फुसला कर पैसे हड़प लेते है। आप अपने घर में नेगेटिव ऊर्जा महसूस करते है तो इसका मतलब भूत बाधा या वास्तु की गलत बनावट हो सकता है। सुरक्षा से अच्छा होता है बचाव। आइए जाने कुछ ऐसे उपाय जिन्हें अपना कर आप भी भूत बाधा से बचाव कर सकते है।

हिन्दू शास्त्रो में है bhoot pret badha nivaran का उपाय

हिन्दू धर्म में भूतों से बचने के अनेक उपाय बताए गए हैं। चरक संहिता में प्रेत बाधा से पीड़ित रोगी के लक्षण और निदान के उपाय विस्तार से मिलते हैं। ज्योतिष साहित्य के मूल ग्रंथों- प्रश्नमार्ग, वृहत्पराषर, होरा सार, फलदीपिका, मानसागरी आदि में ज्योतिषीय योग हैं जो भूत बाधा से बचाव  प्रेत पीड़ा, पितृ दोष आदि बाधाओं से मुक्ति का उपाय बताते हैं। अथर्ववेद में भूत बाधा से बचाव और दुष्ट आत्माओं को भगाने से संबंधित अनेक उपायों का वर्णन मिलता है। यहां प्रस्तुत है

bhoot pret badha nivaran के 10 सरल उपाय

1. ॐ या रुद्राक्ष का अभिमंत्रित लॉकेट गले में पहने और घर के बाहर एक त्रिशूल में जड़ा ॐ का प्रतीक दरवाजे के ऊपर लगाएं। सिर पर चंदन, केसर या भभूति का तिलक लगाएं। हाथ में मौली (नाड़ा) अवश्य बांध कर रखें।

2. दीपावली के दिन सरसों के तेल का या शुद्ध घी का दिया जलाकर काजल बना लें। यह काजल लगाने से भूत, प्रेत, पिशाच, डाकिनी आदि से रक्षा होती है और बुरी नजर से भी रक्षा होती है।

पढ़े  :  पिरामिड से जुड़े तथ्य और इनके आश्चर्यजनक लाभ

3. घर में रात्रि को भोजन पश्चात सोने से पूर्व चांदी की कटोरी में देवस्थान या किसी अन्य पवित्र स्थल पर कपूर तथा लौंग जला दें। इससे आकस्मिक, दैहिक, दैविक एवं भौतिक संकटों से मुक्त मिलती है।

4. bhoot pret badha nivaran करने के लिए पुष्य नक्षत्र में चिड़चिटे अथवा धतूरे का पौधा जड़सहित उखाड़ कर उसे धरती में ऐसा दबाएं कि जड़ वाला भाग ऊपर रहे और पूरा पौधा धरती में समा जाएं। इस उपाय से घर में प्रेतबाधा नहीं रहती और व्यक्ति सुख-शांति का अनुभव करता है।

पढ़े  : तंत्र मंत्र से जुडी पुस्तके डाउनलोड करे

5. bhoot pret badha nivaran हनुमत मंत्र – ऊँ ऐं ह्रीं श्रीं ह्रां ह्रीं ह्रूं ह्रैं ऊँ नमो भगवते महाबल पराक्रमाय भूत-प्रेत पिशाच-शाकिनी-डाकिनी-यक्षणी-पूतना-मारी-महामारी, यक्ष राक्षस भैरव बेताल ग्रह राक्षसादिकम्‌ क्षणेन हन हन भंजय भंजय मारय मारय शिक्षय शिक्षय महामारेश्वर रुद्रावतार हुं फट् स्वाहा। इस हनुमान मंत्र का पांच बार जाप करने से भूत कभी भी निकट नहीं आ सकते।

6. अशोक वृक्ष के सात पत्ते मंदिर में रख कर पूजा करें। उनके सूखने पर नए पत्ते रखें और पुराने पत्ते पीपल के पेड़ के नीचे रख दें। यह क्रिया नियमित रूप से करें, आपका घर भूत-प्रेत बाधा, नजर दोष आदि से मुक्त रहेगा।

पढ़े  : सप्त चक्र का महत्व और हमारा व्यक्तित्व

7. गणेश भगवान को एक पूरी सुपारी रोज चढ़ाएं और एक कटोरी चावल दान करें। यह क्रिया एक वर्ष तक करें, नजर दोष व भूत-प्रेत बाधा आदि के कारण बाधित सभी कार्य पूरे होंगे।

8. मां काली के लिए उनके नाम से प्रतिदिन अच्छी तरह से पवित्र ‍की हुई दो अगरबत्ती सुबह और दो दिन ढलने से पूर्व लगाएं और उनसे घर और शरीर की रक्षा करने की प्रार्थना करें।

पढ़े  : ब्रह्मराक्षस इससे जुड़ी कहानी और रहस्य

9. हनुमान चालीसा और गजेंद्र मोक्ष का पाठ करें और हनुमान मंदिर में हनुमान जी का श्रृंगार करें व चोला चढ़ाएं।

10. मंगलवार या शनिवार के दिन बजरंग बाण का पाठ शुरू करें। यह डर और भय को भगाने का सबसे अच्छा उपाय है।

इस तरह यह कुछ bhoot pret badha nivaran के लिए सरल और प्रभावशाली टोटके हैं, जिनका कोई प्रतिकूल प्रभाव नहीं होता। ध्यान रहें, नजर दोष, भूत-प्रेत बाधा आदि से मुक्ति हेतु उपाय ही करने चाहिए टोना या टोटके नहीं।

bhoot pret badha nivaran के लिए इन बातों का भी सदा रखे ध्यान

  • सदा हनुमानजी का स्मरण करें। चतुर्थी, तेरस, चौदस और अमावस्या को पवि‍त्रता का पालन करें। शराब न पीएं और न ही मांस का सेवन करें।
  • नदी, पूल या सड़क पार करते समय भगवान का स्मरण जरूर करें। एकांत में शयन या यात्रा करते समय पवित्रता का ध्यान रखें। पेशाब करने के बाद धेला अवश्य लें और जगह देखकर ही पेशाब करें। रात्रि में सोने से पूर्व भूत-प्रेत पर चर्चा न करें। किसी भी प्रकार के टोने-टोटकों से बच कर रहें।
  • ऐसे स्थान पर न जाएं, जहां पर तांत्रिक अनुष्ठान होता हो। जहां पर किसी पशु की बलि दी जाती हो या जहां भी लोभान आदि के धुएं से भूत भगाने का दावा किया जाता हो। भूत भागाने वाले सभी स्थानों से बच कर रहें, क्योंकि यह धर्म और पवित्रता के विरुद्ध है।
  • जो लोग भूत, प्रेत या पितरों की उपासना करते हैं, वह राक्षसी कर्म के होते हैं। ऐसे लोगों का संपूर्ण जीवन ही भूतों के अधीन रहता है। भूत-प्रेत से बचने के लिए ऐसे कोई भी टोने-टोटके न करें जो धर्म विरुद्ध हो।

हो सकता है आपको इससे तात्कालिक लाभ मिल जाए, लेकिन अंतत: जीवन भर आपको परेशान ही रहना पड़ेगा। दोस्तों हमारा उद्देश्य किसी अंध-विश्वास को बढ़ावा देना नहीं है। हम सिर्फ आपके जानकारी के लिए कुछ बाते जो शायद आप महसूस करते है को यहाँ शेयर करते है। अगर आप ने भी ऐसा कुछ अनुभव किया है तो हमारे साथ शेयर जरूर करे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.