क्या आप जानते है इन संकेतो को जो बताते है की आप Law of attraction में एक्सपर्ट बन रहे है

0

Law of attraction में मास्टर कैसे बनेजब आपने पहली बार Law of attraction को समझा था तब आपके मन में ये सवाल तो आया ही होगा की कैसे हम भी Law of attraction में मास्टर बने। Law of attraction है क्या ? आपने पहली बार अपने मन की शक्ति को जाना होगा की आपका भाग्य आपके अपने हाथो में है, आपके अंदर भी वो काबिलियत है की आप उसे हकीकत में बदल सको जो आप सोचते है। Law of attraction में मास्टर कैसे बने जानिए कुछ इससे जुड़े अनछुए पहलु।

अगर आप मन की असीम शक्तियों पर विश्वास करते है तो आप एक तरह से Law of attraction में मास्टर बन चुके है क्यों की आपने मन की शक्तियों पर विश्वास रख कर खुद की रियलिटी की रचना ही तो की है। हम सबमे विचारो पर फोकस होने, विश्वास रखने और पूर्वानुमान करने की क्षमता है। फोकस होने की आपकी क्षमता ही तो वास्तविकता को आपके ओर नजदीक कर देती है। ये ऐसी प्रक्रिया है जिसमे आप जन्मजात एक्सपर्ट है।

Law of attraction एक्सपर्ट होने के मायने क्या है :

ज्यादातर लोग Law of attraction के बारे में सोचते है की वो क्या प्राप्त करते है ये एक्सपर्ट होना तय करता है। जबकि हकीकत में

Law of attraction में एक्सपर्ट होना रिजल्ट पर कम और रिजल्ट के लिए क्या तरीका अपनाया उस पर ज्यादा निर्भर करता है। 

ज्यादातर हम दुसरो के पास चीजो को देखकर ही खुद के पास उन चीजो के होने की कल्पना करते है। जबकि हमारी खुद की इच्छाये इन सबसे भी ज्यादा उलझी हुई और मुश्किल है। चेतन रूप से इच्छाओ के घटने की कोई लिमिट नहीं है। ऐसा होता है सिर्फ हमारे भौतिक सुविधा में वृद्धि करने के लिए।

Law of attraction में मास्टर कैसे बने-एक्सपर्ट का नजरिया

चेतन रूप से जीवन में Law of attraction को अपनाने के रिजल्ट सामान्य उम्मीदों से कही ज्यादा है। ये आपके जीवन में विकास के हर पहलु पर गौर करना है फिर चाहे वो किसी बात को समझना हो या फिर उनके अनुसार व्यव्हार करना। अगर आप भी अपने जीवन में Law of attraction में मास्टर बनना चाहते है तो निम्न बातो को जरूर समझे।

Law of attraction में मास्टर कैसे बने- समझे इन बदलाव को:

1.) आपकी उम्मीदे ऊँची है :

अगर आप चेतन रूप से Law of attraction का इस्तेमाल करना सीख जाते है तो आपके विचार और उनमे विश्वास के नजरिये में बदलाव आते है जिसके परिणामस्वरूप आप ऊँची सोच रखते है और आपकी उम्मीदे सामान्य विश्वास से परे होती है। आजकल की युवा पीढ़ी गुजरते वक़्त के साथ अपनी सोच और उम्मीद के दायरे में लगातार बढ़ोतरी कर रही है।

2.) आप सकारात्मक अभिव्यक्ति रखने लगते है :

जब आपका विश्वास और व्यव्हार Law of attraction के प्रति मजबूत हो जाता है तब आप सकारात्मक बोलचाल की भाषा का प्रयोग करने लगते है। आप सबसे पहले तो नकारात्मक विचारो को खुद से दूर करते है। ऐसा इसलिए क्यों की आपका विश्वास आपकी सोच के नाकाम या कामयाब होने पर सवाल ही नहीं उठाएगा। आप हर पल ज्यादा से ज्यादा चेतन तो बनते है साथ ही फालतू के तर्क वितर्क से बचने लगते। है अब चूँकि आपका मन आकर्षण के सिद्धान्त के प्रति मजबूत हो रहा है तो आप किसी से शिकायत भी नहीं करते क्यों की अब आप विचलित नहीं होते है और इसकी वजह सिर्फ आपका आत्मविश्वास है।

3.) आप ज्यादा से ज्यादा लोगो से जुड़ने लगते है :

अगर आप फालतू के gossip  को Avoid करने लगते है तो खुद-ब-खुद आप ज्यादा लोगो से जुड़ने लगते है। क्यों की पहले आप सिर्फ उस टाइप के लोगो से जुड़े थे जो gossip करना पसन्द करते थे। अगर बात की जाए human psychology की तो इंसान अपना ज्यादा time उन लोगो के साथ गुजारता है जो उसके अनुसार या उसकी पसंद का व्यव्हार करे। अगर आप भी सोच रहे है की Law of attraction में मास्टर कैसे बने तो फालतू gossip से बचना शुरू कर दे।

पढ़े : तो क्या अकबर के पास जिन्नातो की फ़ौज थी ?

4.) आप बाह्य संसार से अलग हो सकते है :

2 बाते है पहली आप क्या चाहते है उस पर फोकस होना और दूसरा आप क्या प्राप्त कर रहे है उसे लेकर परेशान रहना। एक्सपर्ट लोग ऐसे में परेशान होने की बजाय किसी दूसरी जगह फोकस होना पसंद करते है। अगर आप ये सोच कर परेशान हो रहे है की अपने लक्ष्य से हटने से आप उसमे कामयाबी हासिल नहीं कर पाएंगे तो आप गलत है क्यों की एक मास्टर ऐसे हालात में लक्ष्य से हटने को सिर्फ एक सपना समझता है ना की बलपूर्वक उस लक्ष्य से ही दूर हो जाना।

5.) आपका प्रथम लक्ष्य ही फोकस होना है :

दिनभर हमारे अंदर सेंकडो इच्छाये जन्म लेती है। ऐसे में Law of attraction में मास्टर कैसे बने। इसके लिए आपका सबसे पहला मकसद किसी एक इच्छा पर फोकस होना है। ये आपको आपके लक्ष्य के पूर्ण होने में मदद करता है क्यों की आप अपने लक्ष्य को लेकर क्लियर है। सोच समझ कर अपनी इच्छा को निर्धारित करना उसे पूरा करने में मदद करता है।

पढ़े : बीते कल की घटनाओ और पुनर्जन्म को याद करने का अभ्यास

6.) आपका दूसरी चीजो को देखने का नजरिया :

हमारी सोच का नजरिया ही हमारी लिमिट को निर्धारित करता है। जब हम किसी चीज ( अपने इच्छा में ) को लिमिट से जोड़ते है तो वो सिर्फ हमारे मस्तिष्क की सोच होती है। अगर हम विश्वास करे की सबकुछ संभव है और फिर हम किसी लिमिटेशन का सामना करते है तो इसका मतलब वो सिर्फ हमारे मस्तिष्क की लिमिट है। Law of attraction में मास्टर कैसे बने के लिए सबसे पहले तो आपको  खुद पर आत्मविश्वास मजबूत करना होता है और सबकुछ संभव है जैसी मानसिक सोच बनानी पड़ती है।

7.) जीवन में कुछ भी कभी एक जैसा नहीं होता है

एक Law of attraction के मास्टर की life में वक़्त के साथ बहुत सारे बदलाव आते है। ये सब उसकी उस लिमिट को धुंधला कर देते है जो उसने कभी बीते कल में महसूस की थी। जैसे की आप अगर सोच ले की आपको फ्री माइंड रहना है तो फिर चाहे कितना भी काम आपके पास हो आप आसानी से उसे पूरा कर लेते है। इसका मतलब ये नहीं है की आपने सोचा और हो गया Law of attraction में इस पर हम किस तरह से मेहनत करते है ये उस पर निर्भर करता है।

8.) आपको अपनी गलतियों में भी फायदे दिखते है :

ये आपको सरप्राइज कर सकता है लेकिन ये सच है क्यों की जब हम आकर्षण के सिद्धान्त में मास्टर बन जाते है तब हमें हमारे नकारात्मक कदम और समस्याओ में भी फायदे नजर आने लगते है। ये सब निर्भर करता है हमारी सोच के नजरिये पर। हर परिणाम के दो पहलु होते है। अगर आप अच्छे पहलु की ओर देखे तो दूसरे को नजरअंदाज कर रहे है। जीवन में कई बार बड़े फैसले लेने पड़ते है। ऐसे में दोनों पहलु पर विचार कर ही हम सही फैसला ले सकते है। हमारी गलतिया हमारे फ़ैल होने का सबूत नहीं है ये हमें बताती है की हम अच्छा कर सकते है। और फिर क्या गलतियों से अनुभव नहीं मिलता।

पढ़े : कैसे दुसरो के मन में अपने लिए अच्छाई भर कर आप उन्हें अपना दीवाना बनाये

9.) ये तो अनंत सफर है मंजिल नहीं :

क्या आप सिर्फ एक बार कामयाब होकर संतुष्ट हो जायेंगे। हमारी सोच और विश्वास से जब हम एक बार कामयाब हो जाते है तो हम बैठते है बल्कि दूसरे सफर के लिए निकल पड़ते है। क्यों की कभी भी जीवन में हमारे सामने सिर्फ एक लक्ष्य नहीं होता है। एक इच्छा पूरी होने के बाद दूसरी इच्छा पूरी करने हम निकल पड़ते है जीवन के अनंत सफर पर। आपकी सोच की Law of attraction में मास्टर कैसे बने हमेशा इस सफर में आपको नया सिखाती रहती है।

10.) लोग आपके बारे में क्या सोचते है पर ध्यान नहीं देते है :

आत्मविश्वास में कमी वाले हमेशा किसी भी काम को दुसरो की उम्मीदों के हिसाब से पूरा करते है ना की खुद के लिए। अगर आप भी किसी काम को करते हुए ये सोचते है की लोग इस बारे में क्या कहेंगे तो आप समझ जाइये की आप उस काम को खुद के लिए नहीं दुसरो के लिए कर रहे है। क्यों की ऐसे में आप खुद के फायदे के लिए नहीं लोग क्या चाहते है की तरह से काम पूरा करेंगे। और जब आप ऐसा करते है तो आप सिर्फ दिखावा करते है।

हमें खुद में इतना आत्मविश्वास तो बनाना ही चाहिए की हम समझ सके की हम चाहते क्या है। लोग आपके बारे में क्या सोचेंगे या फिर में इस काम को ऐसे करू ताकि लोग खुश हो की सोच नहीं रखनी चाहिए। क्यों की आपको अपने लिए काम करना है ना की दुसरो के लिए। खुद में आत्मविश्वास जगाना Law of attraction में मास्टर कैसे बने की समस्या को दूर करने में सहायक है।

पढ़े : क्या आप विचारमात्र से शरीर और मन को कण्ट्रोल कर सकते है ?

अंतिम शब्द-लेखक का नजरिया :

दोस्तों में कभी भी किसी काम को करते वक़्त सबसे पहले उसमे विश्वास करता हूँ की वो कार्य में कर सकता हूँ। इसके साथ ही दूसरा सबसे बड़ा नियम बाह्य संसार से अलगाव यानि सिर्फ अपने नजरिये के लोगो के साथ ना रहकर विस्तृत नजरिये के लोगो के साथ वक़्त बिताना ये दो नियम Law of attraction में सबसे ज्यादा काम आते है। क्यों की अपने काम को पूर्ण करने का विश्वास उसे आधा पूरा कर देता है। बाद में बचता है सिर्फ तरीका।

आज की पोस्ट Law of attraction में मास्टर कैसे बने की पोस्ट इन्टरनेट पर आकर्षण के सिद्धान्त से जुड़ी अलग अलग पोस्ट का मिश्रण है। अगर आपको लगता है की इसमें कही पर सुधार हो सकता है तो कृपया अपने सुझाव कमेंट बॉक्स में जरूर रखे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.