Basic science of Parapsychology विज्ञान से परे रहस्यो को समझने के लिए की जाने वाली study

0

Parapsychology मे हम उन विषयो का अध्ययन करते है जिन्हे natural law and knowledge के जरिये न तो समझा जा सकता है और ना ही usual sensory abilities जैसे आँख नाक के जरिये देखा ओर महसूस किया जा सकता है. ये विज्ञान extrasensory perception की study करता है जो पाँच इंद्रियो के जरिये न तो देखा जा सकता है न ही महसूस किया जा सकता है. किसी व्यक्ति के विचारो को पढ़ना और उसके बारे मे छिपी हुई जानकारी को सामने लाना परा-मनोविज्ञान का विषय है.

किसी object को सिर्फ इशारे से move करवाना और उन्हे मोड़ देना जैसे की psychokinesis जैसे topic भी अध्ययन किए जा सकते है. 19 वी सदी मे इसे spiritualist movement से जोड़कर देखा जाने लगा क्यो की astral travel और भविष्य की घटनाओ को देखने जैसी गतिविधि का अध्ययन विश्वास से जुड़ा हुआ था.

Parapsychology

हर घटना को एक ही नजरिए से solve नहीं किया जा सकता है इसलिए हम different point of view को study करने के लिए हमे हर view को समझना पड़ता है. यही एक वजह रहती है की हम कुछ घटनाओ की एक ही परिभाषा के आधार पर नहीं मान सकते है. समय समय पर न सिर्फ इनकी परिभाषा बल्कि और भी दूसरे मायने बदलते रहते है.

आइए जानते है की मनोविज्ञान मे जिन चीजों को समझाया नहीं जा सका है उन्हे परा-मनोविज्ञान किस तरह explain करता है और काम करता है.

What is parapsychology?

यह psychology की एक branch है जो उन activity की study करता है जो paranormal activity से जुड़ी होती है. इसके अलावा इसमे उन गतिविधि का भी अध्ययन किया जाता है जो psychic ability से जुड़ी होती है जैसे की

  • extrasensory perception (ESP)
  • precognition (perceiving the future)
  • telepathy (communicating mind-to-mind)
  • telekinesis (manipulating objects with the power of the mind)

एक और जहां Parapsychologists इस तरह की activity के लिए PSI word का इस्तेमाल करते है वही दूसरी और कुछ expert इसे supernatural occurrences मानते है क्यो की इसमे out of body experiences ( शरीर से बाहर विचरण ), apparitions ( किसी तरह की अनजानी आकृति का दिखाई देना ), और haunting जैसे की paranormal activity like shadow person encounter जैसे विषय भी जुड़े हुए है.

आज भी हम paranormal activity को सुलझा नहीं पाये है लेकिन हम इनके अस्तित्व को नकार भी नहीं सकते है. ये विषय lack of evidence of true paranormal activity से जुड़ा हुआ है जिसमे ये गतिविधि बार बार होती है लेकिन फिर भी हमारे पास कोई सबूत भी नहीं होता है. हम psychic phenomena को काफी बार समझाने की कोशिश कर चुके है लेकिन फिर भी इनमे से कोई भी natural explanation पर खरा नहीं उतर सके है.

What is parapsychology in psychology?

Psychology उन विषयो का अध्ययन करती है जो दिमाग से जुड़ी हुई है. इन्हे हम एक ठोस आधार पर साबित भी कर सकते है लेकिन फिर भी कुछ ऐसे विषय है जिन्हे समझना हमारे लिए अभी तक possible नहीं हुआ है. ये विषय न तो नकारा जा सकता है ना ही वैज्ञानिक तौर पर साबित किया जा सकता है इसलिए psychology मे एक branch बनी जिसके अंतर्गत उन विषयो का अध्ययन होना शुरू हुआ.

विज्ञान और आध्यात्म के अलावा super natural ये विषय भी आज तक कौतूहल बना हुआ है. researcher अब तक जितनी भी रिसर्च कर पाये है उन्होने भी माना है की आज भी हमे ऐसी कई चीजों के बारे मे जानना बाकी है जिनका अस्तित्व है लेकिन उन्हे हम दुनिया के सामने prove नहीं कर सकते है. आइये जानते है कुछ fact और fiction के बारे मे जो हम parapsychology मे जानते है.

Main branch and category

परा-मनोविज्ञान मे हम काफी सारी चीजों का अध्ययन करते है जिसमे कुछ चीजों की study पर ज़ोर दिया जाता है जैसे की

  1. Telepathy – विचारो को बिना किसी माध्यम के एक जगह से दूसरी जगह भेजना
  2. Telekinesis – चीजों को इशारो से move करवाना
  3. Appearance – रहस्यमयी आकृति और चीजों का दिखना
  4. Psychophony अनजानी आवाज़े सुनाई देना

ये सभी object समझाए नहीं जा सकते है न ही इसका को physical evidence होता है. हम इसे सिर्फ समझा सकते है उन theory की मदद से जो समय समय पर बदलती रहती है.

Fact and Fiction

ऐसे कई topic है जिन्हे हम आज भी जानना चाहते है लेकिन हमारे पास वो तकनीक नहीं है जो इन्हे लोगो के सामने साबित कर सके जैसे की

  • आखिर क्यो कुछ लोगो को आत्मा या ghost दिखाई देते है जैसे की shadow person
  • बार बार आत्मा का दिखना क्या वाकई ये कोई coincidence है?
  • किसी तरह की फुसफुसाहट का सुनाई देना हमारा वहम है या वास्तविक

ऐसे कई topic है जिन्हे हम मानसिक बीमारी मान सकते है लेकिन जिन रहस्य को हम explain नहीं कर सके उनका अस्तित्व ही नहीं ऐसा तो नहीं है. ऊपर बताए गए 3 टॉपिक ऐसे है जिन्हे हम ना तो accept कर सकते है ना ही नकार सकते है. यही वजह है की parapsychology मे इन सब के अलग अलग point of view को समझने की कोशिश की जाती है.

परा-मनोविज्ञान की जरूरत

विज्ञान के सामने ऐसी कई चुनौती है जिन्हे सुलझाना आज भी संभव नहीं हो सका है. psychology मे जिन गतिविधि को हम मानसिक तौर पर वहम की श्रेणी मे रखते है उन्हे para-psychology मे सुलझाने की कोशिश की जाती है. paranormal activity, psychic power और mysterious activity जिन्हे हम नकार नहीं सकते है उन्हे इस category मे रखने की एक खास वजह है.

आज ऐसी कई घटनाए है जैसे की out of body experience, astral travel और life after death इन्हे नकारा नहीं जा सकता है क्यो की काफी लोगो ने इसका अनुभव किया है लेकिन उसे वैज्ञानिक मापदंड पर साबित नहीं कर पाये है. ये विषय वैसा है जो मानता है उसके लिए इसका महत्व है और जो नहीं मानता है उसके लिए ये कोई मायने नहीं रखता है.

Parapsychology true definition and final word

दोस्तो Parapsychology वो शाखा है जो paranormal or “psychic” phenomena की investigation और study करती है. विज्ञान जिन्हे सीधे तौर पर समझा या prove नहीं कर सकता है उन्हे हम इस कैटेगरी मे रखते है और फिर अलग अलग view को समझने की कोशिश करते है. दोनों ही तरह की सोच मे हम इन्हे रख सकते है. जिन लोगो का इसमे believe है वे इसे सीधे तौर पर accept करते है और जिन्हे believe नहीं है वे इसे नहीं मानते है.

शरीर से बाहर निकलना, सूक्ष्म शरीर, मौत के बाद जीवन जैसे रहस्य को हम आज भी समझने की कोशिश कर रहे है लेकिन फिर भी इसके पीछे कोई ठोस वैज्ञानिक नजरिया नहीं दे सकते है. वो सब गतिविधि जो हमारे conscious mind और five sense से परे है उन्हे हम paranormal मानते है लेकिन इसे भी explain करने की जरूरत होती है.

सभी paranormal or supernatural activity को हम सिर्फ coincidence नहीं मान सकते है. मनोविज्ञान इसे वहम मान कर इग्नोर करता है लेकिन बार बार ऐसा होना इस तरह की घटनाओ के अस्तित्व पर सवाल उठाते है. उम्मीद करता हूँ अब आप समझ ही गए होंगे की इसका psychology मे क्या महत्व है.

Never miss an update subscribe us

* indicates required

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here