hypnosis psychology जिसे समझने के बाद आप कभी भी आसानी से सम्मोहन का अभ्यास कर सकते है – Advanced tips

0

क्या आप भी किसी को सम्मोहित करना या फिर खुद पर ही self-hypnotism आजमाना चाहते है ? कई बार कोशिश करने के बावजूद अगर सफलता न मिले तो आपको hypnosis psychology समझ कर आगे बढ़ने की जरुरत है. आज हम बात करने वाले है की सम्मोहन में किन किन बातो का ध्यान रखना चाहिए जिसमे सम्मोहन से जुड़ी छोटी छोटी जानकारी भी शामिल है.

अगर आप इस तरह के अभ्यास में इन बातो को ध्यान में रखते हुए शुरुआत करते है तो आपको शायद ही किसी समस्या का सामना करना पड़े. is hypnosis real या फिर ये किसी तरह का magic है जैसे सवाल मन में घूमते है.

hypnosis psychology

ज्यादातर लोगो ने इसके बारे में सुन रखा है की किसी को hypnotize कर हम उससे मनचाहा काम करवा सकते है. ये एक वजह ही है जो ज्यादातर लोगो को इसकी ओर आकर्षित करती है. इसके अलावा कुछ लोग ऐसे भी है जो आत्मसम्मोहन के जरिये खुद को और भी बेहतर बनाना चाहते है. लेकिन

क्या वास्तव में सम्मोहन वैसे ही काम करता है जैसा हम सोचते है ?

ये बात 100% सही नहीं है की हम सम्मोहन के जरिये कुछ भी कर सकते है. असल में सम्मोहन सिर्फ एक माध्यम है अपने अन्दर की छुपी हुई प्रतिभा को बाहर निकालने और लोगो के सामने रखने का. सम्मोहन के जरिये हम वो नहीं बन सकते है जो हम है. ( multiple personality disorder अलग है ) ये सिर्फ उन्ही चीजो पर काम करता है जो हमारे अन्दर पहले से ही है.

असली मेहनत तो हमें खुद करनी पड़ती है. यानि काम हम करते है और इसमें hypnotism हमारी सहायता करता है. लोगो को लगता है की ऐसा सम्मोहन की वजह से हुआ है जबकि करते हम है. आइये जानते है

what is hypnosis psychology

किसी भी फील्ड में सफलता पानी है तो सबसे पहले उससे जुड़े basic को clear करना बेहद आवश्यक है. hypnosis psychology यानि सम्मोहन से जुडी वो जानकारी जो हमारे लिए आगे बढ़ने में मददगार है और हमें पता होनी चाहिए.

जब हम किसी अभ्यास की शुरुआत करते है तब हम कुछ ऐसी बातो को ignore कर देते है जो आगे चल कर असफलता का कारण बनती है. यहाँ आज शेयर किये जाने वाले हर पॉइंट को अगर आपने समझ लिया तो आप इसमें बिना किसी हिचक के न सिर्फ सफलता पा सकते है बल्कि किसी तरह के loss से भी बच सकते है.

सम्मोहन के बारे में जानकारी शेयर करने से पहले हम बात करेंगे की क्या वाकई hypnotism is real होता है. ऐसा सवाल लोगो के मन में आ सकता है जो सम्मोहन के जरिये वो करने की सोचते है जो संभव नहीं है. हर अभ्यास की तरह सम्मोहन की भी कुछ सीमा है और बगैर इन basic concept को clear किये आप आगे बढ़ने में मुश्किल का सामना कर सकते है.

आज हम जिन बातो के बारे में जानने वाले है वो निम्न है

आइये जानते है hypnosis psychology के बारे में जिन्हें समझना बेहद जरुरी है.

क्या सम्मोहन वास्तव में काम करता है ?

बिलकुल ! सम्मोहन काम करता है. लेकिन अगर आपको लगता है की सिर्फ एक बार की कोशिश में हम किसी को भी hypnotize कर सकते है तो ये महज एक कल्पना है. सम्मोहन कभी भी too quick जैसे method पर काम नहीं करता है बल्कि एक process को steps में cover करता है.

सम्मोहन को अगर सही तरीके से किया जाए तो इसके लिए आपको अलग से किसी तरह की medical treatment या instrument की भी जरुरत नहीं पड़ेगी. इसके जरिये हम हम अपने thoughts और emotion दोनों को काबू कर सकते है. याद रहे की self-suggestion भी एक तरह का self-hypnotism ही है.

hypnotism really works इसका अंदाजा आप इस बात से लगा सकते है की बड़ी से बड़ी bad habits को भी hypnotism के जरिये सिर्फ कुछ ही वक़्त में छुड़ाया जा सकता है. इसके अलावा इसका प्रयोग हम memory boost करने और concentration की कमी को दूर करने में करते है. mostly केस जिसमे मानसिक रोगी होते है सुझाव द्वारा ठीक किये जाते है.

hypnosis psychology के अनुसार सम्मोहन एक ऐसी अवस्था है जिसमे हम चेतन भी हो सकते है और नींद में भी लेकिन, इस कंडीशन में भी हम पुरे होश में रहते है. एक नार्मल कंडीशन और hypnotism की स्टेट में फर्क सिर्फ इतना है की इसमें हम अपने विचारो और भावनाओ से मुक्त होते है.

हालाँकि इस स्टेट में भी हमारा अपने आप पर पूरा कण्ट्रोल रहता है ( basic steps ) लेकिन हमें गाइड करने वाला हमारे अन्दर से डर को दूर कर देता है और निर्णय लेने को हम फ्री हो जाते है.

हम सम्मोहन का अभ्यास क्यों करना चाहते है ?

किसी भी अभ्यास को करने से पहले हमें अपने उदेश्य के बारे में जरुर पता होना चाहिए. जब उदेश्य क्लियर होता है तो हमें direct method जो काम करता हो को समझने में मदद मिलती है. अगर आप भी उनमे से एक है जो अभ्यास की शुरुआत कर रहे है तो basic point in hypnotism और hypnosis psychology जरुर clear कर ले. यहाँ कुछ मुख्य वजह जिसकी वजह से हर कोई सम्मोहन का अभ्यास करना चाहता को शेयर किया जा रहा है.

  • सम्मोहन के जरिये बुरी लत छुड़ाना.
  • पढाई में concentration को बढ़ाना और ज्यादा से ज्यादा फोकस रहना.
  • किसी के मन को पढना और उसे उसके डर से बाहर निकालना फिर चाहे वो खुद ही क्यों न हो.
  • छिपे हुए डर को बाहर निकाल कर दूर करना और past life regression जैसी problem को दूर करना.
  • उन प्रतिभा को निखारना जिसमे हम आगे बढ़ सकते है लेकिन किसी न किसी डर की वजह से कोशिश करने से झिझकते है.

इनमे से कौनसा main reason आप खुद पर लागू करने के लिए सम्मोहन का अभ्यास करते है ये आप तय करे.

बिना किसी की मर्जी के उसे सम्मोहित कैसे करे

hypnotize someoneबहुत सी कंडीशन में ऐसा होता है की हम जिसे Hypnotize करना चाहते है वो अपने mind में पहले से ही एक बात बैठा कर आता है.

“मुझे किसी भी हाल में खुद को hypnotize करने नहीं देना है”

ऐसी कंडीशन में आप क्या करोगे ? अगर इस स्थिति में हम माध्यम को कुछ भी कहेंगे तो वो हमारी बात तो सुनेगा लेकिन उसका पूरा फोकस रहता है सिर्फ उसी एक बात पर की उसे किसी भी हालात में खुद को सम्मोहित होने नहीं देना है.

तो इस कंडीशन में हमारे सामने सबसे बड़ा सवाल खड़ा हो जाता है what to do for people who say they can’t be hypnotized?

अगर आपके सामने ऐसी स्थिति बनती है तो इस ट्रिक को आजमाना न भूले. 100% ये ट्रिक काम करने वाली है और आसानी से आप जिद्दी व्यक्ति को भी सम्मोहित कर पाएंगे.

ऐसे व्यक्ति की हाँ में हाँ मिलाते हुए आप उसका समर्थन कर दे ताकि उसे लगे की आप भी इस मामले में हार मान चुके है. ऐसा करने से माध्यम आधा निश्चित हो जाता है. बस इसी hypnosis psychology को समझ कर आप आसानी से उसे न सिर्फ hypnotize कर सकते है बल्कि अपनी बाते भी मनवा सकते है.

अब आपका सबसे पहला स्टेप है माध्यम को अपने साथ रिलैक्स फील करवाना. एक सुरक्षित वातावरण में ऐसे व्यक्ति के साथ एक्सपर्ट नहीं बल्कि दोस्त की तरह behave करे. जब आप ऐसा करते है तो माध्यम खुद के मन में आपके प्रति एक सिक्योर अहसास पैदा होना शुरू हो जाता है.

माध्यम को पूछे की उसे ऐसा क्यों लगता है और इसके पीछे की वजह क्या है ? ये सब उसे एक दोस्ताना लहजे में बात करते हुए पूछे ताकि वो अपने सीक्रेट आपके साथ शेयर कर सके.

उसका जवाब हो सकता है की past life में इसे try किया था लेकिन सफलता नहीं मिली. या फिर वो चाहता ही नहीं है की उसे कोई hypnotize करे. अब आप जब आपको पता चल गया है की ऐसा क्यों हो रहा है तो उसके अनुकूल steps ले.

ऐसी स्थिति के लिए माध्यम को कैसे तैयार करे ?

माध्यम को समझाए की ऐसा कोई व्यक्ति नहीं है जिसे सम्मोहित नहीं किया जा सकता है. ये कोई मैजिक नहीं बल्कि हमारी daily life की routine जैसा ही है जिसमे हम खुद को और बेहतर बनाने पर जोर देते है. इसके साथ ही उसे इसके फायदे गिनाए.

ध्यान रखे की वो लाभ उससे जुड़े हो यानि माध्यम क्या चाहता है उसे समझे. ( माध्यम सिर्फ ये सोच बनाता है की उसे सम्मोहित नहीं होना है लेकिन अन्दर से उसकी भी फीलिंग होती है खुद को लेकर और बेहतर करने के लिए ) ऐसे ही basic point in hypnotism है जिन्हें आप अपनी प्रैक्टिस में आजमा सकते है. समझना सिर्फ hypnosis psychology को है आगे का काम अपने आप आसान बनता जाता है.

काम को आसान कैसे बनाए ?

बाते करते समय आप उसे उसके basic thought यानि सम्मोहित नहीं होने देने वाली बात से distract करे. जब ऐसा होता है तो आप आसानी से उसे अपनी बातो में उलझा कर धीरे धीरे बिना उसे पता चले hypnotize कर सकते है. इसमें दो ही चीजे है

  • पहला माध्यम को उसके thought से distract कर अपनी बातो में उलझाने की कोशिश ताकि वो relax हो जाए की अब उसे कोई hypnotize करने की कोशिश नहीं करेगा बिना उसकी मर्जी के.
  • दूसरा इसके साथ माध्यम को hypnotize करने की स्टेप अपनाए यानि ऐसी भावनाए भी देते रहे जिससे की वो खुद को इसके लिए अन्दर ही अन्दर तैयार कर ले.

सम्मोहन की स्टेप में पहला काम सुझाव देकर माध्यम को उसके दुसरे विचारो से मुक्त करना है और एक्सपर्ट के सुझाव के अनुसार रिलैक्स करना होता है.

दूसरा स्टेप होता है सुझाव या यू कहे कमांड का जिसमे हम टेस्ट करते रहते है माध्यम को जो सुझाव दे रहे है वो उसके अनुसार बर्ताव कर रहा है या नहीं.

self practice and basic hypnosis psychology जिन्हें clear करना होगा.

खुद को सम्मोहित करना कितना कारगर अभ्यास है ? खुद को सम्मोहित करना एक बढ़िया आभ्यास है लेकिन, इसके जरिये आप खुद को better बनने में सिर्फ help कर सकते है. दुसरे शब्दों में कहे तो ये आपको स्मार्ट नहीं बनाता है बल्कि बनने में help करता है असली काम तो आप खुद करते है. हम सभी पहले से ही स्मार्ट है लेकिन कुछ डर की वजह से रिस्क नहीं लेना चाहते.

लम्बे समय से ऐसा करने की वजह से हम खुद की पहचान खो देते है जिसकी वजह से धीरे धीरे हम अपनी quality खो देते है. आत्मसम्मोहन की वजह से हम अपनी quality को ही बाहर उभारते है किसी तरह की external help नहीं लेते है. self-hypnotism कोई जादू नहीं है. बार बार सुझाव देने से हम हम अपने डर को बाहर निकाल देते है और फिर उभरती है हमारी असली पहचान.

आप चाहे तो पढ़ाई में आगे बढ़ने के लिए सम्मोहन की मदद ले सकते है. इसका मतलब ये नहीं की आपकी quality 40% की है और आप सोचते है 99% का. hypnotism के जरिये हम अपने विचारो और भावनाओ पर स्थिरता ला सकते है. असली काम यानि मेहनत तो आपको ही करनी पड़ेगी.

hypnosis psychology – basic study and category in Hindi

अगर आप पहली बार सम्मोहन सीखने की कोशिश कर रहे है तो आपको कुछ बातो का ध्यान रखना चाहिए. सम्मोहन किस उदेश्य के लिए सीख रहे है और आपके लिए कौनसा सम्मोहन काम करेगा.

इसकी वजह है सम्मोहन का अलग अलग केटेगरी में बंटा होना. अगर हम डिटेल में जाए तो पाएंगे की सम्मोहन की प्रैक्टिस मुख्य रूप से 2 तरह की होती है

  • पहली स्टेज सम्मोहन जिसमे एक्सपर्ट स्टेज पर प्रोग्राम करते है.
  • दूसरा क्लिनिकल सम्मोहन जिसमे एक्सपर्ट मानसिक रोगी या मानसिक बीमारी का इलाज करते है.

इसके अन्दर मुख्य प्रैक्टिस आती है

  • पहली है लाइफस्टाइल से जुड़ा सम्मोहन : इस अभ्यास में हम लाइफस्टाइल से जुड़ी चीजे जैसे पढ़ाई, खेलकूद या अपनी प्रतिभा को उभारना जैसी चीजो में help की जाती है.
  • दूसरा हेल्थ से जुड़ा सम्मोहन : बुरी आदते छुड़ाना जैसे सिगरेट की लत, वजन कम करना या बढ़ाना और स्वास्थ्य से जुड़े मुद्दे जिनमे सुधार किया जाता है.

पहली बार सम्मोहन सिखने में क्या क्या सावधानी रखनी चाहिए ?

  • पहली बार के अभ्यास में आपको कभी भी गहरी नींद नहीं देनी चाहिए फिर चाहे वो सम्मोहन का अभ्यास हो आत्मसम्मोहन का.
  • अगर आप इस फील्ड में पूरी तरह mature नहीं है तो माध्यम या खुद को जरुरत से ज्यादा और बलपूर्वक नींद देने की कोशिश न करे.
  • सम्मोहन की नींद से बाहर आने के बाद भी माध्यम सम्मोहन जैसा बर्ताव करता है तो उसे एक हल्की नींद लेने को कहे. ज्यादातर केस में ऐसा करने से माध्यम इस स्थिति से बाहर आ जाता है. अगर ऐसा न हो तो एक्सपर्ट को इस स्थिति को हैंडल करने के कहे. आपकी लापरवाही से माध्यम सम्मोहन में कोमा की स्थिति में भी जा सकता है.
  • पहली बार में सफलता न मिले तो हताश न हो. ऐसे अभ्यास में सफलता मिलने से पहले हमें सेंकडो बार असफलता का सामना भी करना पड़ता है.
  • अगर पहली बार में आपको सफलता मिल चुकी है तो ज्यादा उत्साहित होने से बचे. खुद को जितना ज्यादा स्थिर कर अभ्यास करेंगे तो सफलता के चांस बढ़ेंगे.
  • किसी भी तरह के नशे के बाद सम्मोहन का अभ्यास करने से बचे और आपके आसपास का माहौल सही और अनुकूल हो इसका ध्यान रखे.

hypnosis psychology को सबसे छोटे level से समझना आपको अभ्यास में आगे बढ़ने में help करेगा.

सम्मोहन के फायदे क्या है ?

सम्मोहन का सबसे बड़ा फायदा है किसी भी परिस्थिति को स्थिरता के साथ डील करना. जब भी हम किसी बड़ी परिस्थिति में फंसते है तब निर्णय लेना मुश्किल हो जाता है. हम किसी एक निर्णय तक पहुँच ही नहीं पाते है. सम्मोहन के बाद हम स्थिर रहते हुए निर्णय ले सकते है.

  • इसके जरिये हम बुरी आदतों को छुड़वा सकते है.
  • विचार और भावनाओ पर नियंत्रण बनाने के लिए सम्मोहन सबसे बड़े काम की प्रैक्टिस है.
  • एकाग्रता बढाने, ज्यादा समय तक फोकस होने और प्रतिभा पर ज्यादा concentrate होने में ये काफी help करता है.
hypnosis psychology – final word

किसी भी अभ्यास में सफलता छोटे छोटे पैमाने पर टिकी होती है. अगर hypnosis psychology को समझते हुए आप basic point in hypnotism को clear करने के बाद अभ्यास करते है तो सफलता पाने के chance बढ़ जाते है. किसी भी अभ्यास को short-cut के जरिये पूरा करने की कोशिश न करे. जितना ज्यादा समय हम अभ्यास को देते हुए धीरे धीरे अभ्यास में आगे बढ़ते है उतना ही हम स्थिरता के साथ इसमें आगे बढ़ते है.

अगर आप भी सम्मोहन के अभ्यास को सीखना चाहते है तो इन सभी पॉइंट्स को ध्यान में रखते हुए अभ्यास करे. अगर सम्मोहन से जुड़ी ऐसी ही अन्य पोस्ट पढना चाहते है तो निचे कुछ और भी पोस्ट है जिन्हें आप शायद ही miss करे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.