कॉलेज और स्कूल में आप भी गुजरते है इन पलो से

4

आकर्षक व्यक्तित्वआकर्षक व्यक्तित्व कौन नहीं चाहता है। आप दुसरो के बिच खास है और सब आपकी तारीफ करते है इस तरह का ख्याल आपके मन में भी आया होगा। अक्सर देखने में आता है की ग्रुप में एक बंदा सबका चहेता होता है लडकिया उससे बाते करती है और लड़के उसके साथ घूमना पसंद करते है कुल मिला कर हर कोई सिर्फ उसके साथ अपनी बात शेयर करना चाहता है। ऐसे में हम सबमे ये बात कही ना कही सोचने लायक होती है की यार उस बन्दे में ऐसा क्या है जो हमारे अंदर नहीं है।

तो दोस्तों ज्यादा मत सोचिये आज की पोस्ट में में कुमार आपको कुछ ऐसी बाते बताने जा रहा हूँ जो जानते सब है और पहले भी सुन रखी है पर उन्हें अमल में नहीं ला पाए है। हो सकता है की उन्हें इस तरह का बदलाव ज्यादा परेशान करता हो क्यों की एक व्यक्तित्व से दूसरे व्यक्तित्व में ढलना या फिर अपनी इमेज में बदलाव लाना इतना आसान नहीं है। अक्सर लोगो से मिलने के बाद या कुछ एक बार आपको आजमाने के बाद आपकी एक इमेज लोगो के बिच बन जाती है जिसे बदल पाना बहुत मुश्किल होता है। खासतौर से तब जब बात आपकी कमियों को लेकर की जा रही हो।

दोस्तों में भी आप लोगो की तरह ही स्कूल और कॉलेज लाइफ से गुजर चूका हु और मेने इस दौरान बहुत से बदलाव महसूस किये है जो हर स्कूल और कॉलेज लाइफ में हम एक्सपेक्ट करते है। पर ऐसा क्या होता है की हम उन सपनो को पूरा नहीं कर पाते है जो कॉलेज और स्कूल में देखते है। खासतौर से लड़कियों के बिच मशहूर होना। या फिर यूँ कहे अपनी क्लास में अपनी खुद की खास पहचान चलिए आज की पोस्ट में बात करते है कुछ ऐसे अपनों की जो हमने स्कूल और कॉलेज में देखे।

पढ़े  : आत्मज्ञान ध्यान की विधि से कम समय में जाग्रत करे चेतना को

यार हमें तो कुछ नहीं आता है टीचर हमसे पूछ ना ले :

कही न कही आपको भी अपनी क्लास का वो दिन याद आ गया न जब आप क्लास में बिना तैयारी के गए थे पहले दिन हम मस्ती में भूल गए की हमें अमुक चैप्टर या टॉपिक याद भी करना है। दूसरे दिन हम ऐसा शो करते है जैसे टीचर की बाते सीधे हमारे दिमाग में जा रही है पर अंदर से हम रहते है बिलकुल खाली ! है ना ! इसी वक़्त टीचर ने हमसे कुछ सवाल कर लिया तब ऐसे सोचेंगे की पता नहीं कितना बढ़िया उत्तर सोच रहे है और इसके सवाल की इतनी अच्छी व्याख्या देंगे की सर हमसे खुश हो जायेंगे। हकीकत में हम डरते है की टीचर हमसे ही कुछ पूछ ना ले।

पढ़े  : आध्यात्मिक और शारीरिक विकास में मददगार है ध्यान

यार तू तो स्मार्ट है :

क्लास में दोस्त इतने कमीने होते थे की पूछो ही मत। बचपन में याद है जब में स्कूल में था मेरे दोस्त मेरी काफी टांग खिंचाई करते थे। असल में हम सब नए थे और लड़कियों को छेड़ने के उदेश्य से उनसे बात करते थे। मेरे दोस्त मुझे हमेशा लड़कियों से कुछ न कुछ लेने के लिए कहते थे। क्यों की लड़कियों से बात करना उनके बस की बात नहीं थी। इसका मुझे एक फायदा हुआ में लड़कियों से बात आराम से करने लगा था। तो अगर आपके साथ भी ऐसा हो तो डरिये मत ना ही नकारात्मक सोच रखे ये टांग खिंचाई आपको लड़कियों के बिच कूल बनाने में मदद करेगी।

पढ़े  : आत्माओ से बात करने के सरल माध्यम

भाई वो तुझे ही देख रही है :

ये वाकया तो स्कूल और कॉलेज में हर किसी के साथ हुआ ही होगा। लडकिया कभी दोस्ती की नजर से तो कभी किसी मकसद से लड़को की ओर देखती है और अगर आपका दोस्त उस लड़की को चाहता है तो वो सबसे पहले आपको अपने रास्ते से हटाएगा। क्यों की कुछ कमीने दोस्त पहले आपकी इमेज उस लड़की के सामने ख़राब करेंगे ताकि आप उस लड़की का ख्याल दिमाग से ही निकाल दो।

कुछ केस में ये इसलिए भी होता है क्यों आपके कमीने दोस्त आपको लव में देखना पसंद करेंगे। खुद का भी काम निकल जायेगा और लड़की पट गई तो हमारा भी भला हो जायेगा ऐसी सोच रखने वाले आपके दोस्त आपको आगे करते है क्यों की उनकी हिम्मत नहीं है। इसलिए जब भी ऐसा हो आप दिल खोल के उस लड़की से दोस्ती वाले ख्याल रखते हुए बाते करे। अगर लव जैसा कुछ है तो पता भी चलेगा ना भी है तो क्या हुआ दोस्त तो है ना !

पढ़े  : भूलने की आदत से निजात पाए इन घरेलु नुस्खों से

वक़्त निकलने के बाद उस पल का अफ़सोस :

अक्सर ऐसा सबके साथ होता है की जब हम स्कूल में एंटर होते है तो कुछ आदते और बदलाव हमें काफी परेशान करते है। जैसे हमारी क्लास और क्लास की यूनिफार्म या फिर नियमित खेल या यु कहे की स्कूल में होने वाली खास गतिविधियां। इन सबमे हम पहले पहल बोझ महसूस करते है मगर एक वक़्त आता है की हम उन पलो को सिर्फ ख्यालो में जीते है। जैसे आपके स्कूल में हुआ कोई मैच जिसमे आप पहले पार्टिसिपेट करते नहीं है और जब मैच होता है तब आपको लगता है की यार ! में होता तो मैच में कुछ अच्छा ही करता।

या फिर साल भर में होने वाली फेयरवेल जिसमे हम पार्टिसिपेट नहीं करते है ज्यादातर शर्म के मारे फिर हमें अफोसोस होता है क्यों की जिसमे पार्टिसिपेट किया वो सबका खास बन जाता है। और लड़के लडकिया उसे ज्यादा चाहने लगते है। तब आपको कही ना कही ये महूसस हुआ होगा की काश में भी कुछ ऐसा करता जो मेरी पहचान सबके सामने होती।

पढ़े  : मंत्र की ध्वनि का रहस्य और उनका आध्यात्मिक महत्व

दोस्तों मेरे बारे में तो इन बातो को सोच रहे है तो बता दू की में बोल्ड किस्म का हूँ। और अगर कोई कुछ कहता है तो उसे करता भी हूँ। हां लास्ट वाली बात का मुझे भी अफ़सोस है क्यों की में सिर्फ पढ़ने में आगे था। खैर अब बात करते है की आजकल लड़को के बिच लड़कियों को लेकर परेशानीक्यों होती है। क्यों कुछ लड़के लड़कियों के खास बन जाते है और कुछ हीन भावना में जीने की वजह से उनसे दूर भागते है।आकर्षक व्यक्तित्व वाले हमेशा हर फील्ड में आगे रहते है।

मन की बात को दुसरो के सामने बयान ना कर पाना :

अक्सर देखने में आया है की हम अपने मन में बहुत कुछ सोचते है दूसरे से शेयर करने के लिए। या फिर जब हम लड़के लडकिया बाते करते है तो बहुत कुछ हमारे दिमाग में चलता रहता है पर उसे शेयर करने में संकोच करते है। ये सोच कर की दूसरे इस पर क्या रियेक्ट करेंगे या फिर क्या सोचँगे मेरे बारे या फिर ये बात बोलने लायक है भी या नहीं।

ऐसा इसलिए होता है की हम ज्यादा से ज्यादा सोचते रहते है ये बात सही है की हमें सोच समझ कर ही बोलना चाहिए मगर इतना भी क्या सोचना की बात का ही कोई और मतलब निकल जाए। अगर आपके साथ ऐसा होता है तो आपके साथ ये बाते जरूर होती होगी। आप ग्रुप में बहुत कम ही बोल पाते है और आपके विचार कोई और बोल कर सामने अच्छा इम्प्रैशन बना लेता है। ऐसा ही क्लास में टीचर का हमसे सवाल पूछते वक़्त होता है। और हमारा जवाब सही होने के बावजूद हम बोल नहीं पाते है। आप मन ही मन ये सोचने लगते है की यार क्या बोले मुझे तो हर कोई इग्नोर करता जा रहा है और मेरा यहाँ कोई मायने ही नहीं है।

आकर्षक व्यक्तित्व के लिए लिए न रखे निम्न सोच :

ये सब आपके मन की सोच है। दूसरे लोग ऐसा कुछ नहीं सोच सकते जब तक आप खुद को कमजोर साबित नहीं कर देते। इसलिए इस तरह की दुविधा से बचे और अपनी बात जाहिर करना सीखे। इसके लिए आप अपने कुछ कमीने ( दोस्त और किस काम के है ) दोस्तों की मदद ले सकतेहै जो आपका हौसला बढ़ाये और आपकी बाते सुने। आपका मनोबल बढ़ाये। लेकिन इसमें आपको दोस्तों का चयन भी सावधानी से करना चाहिए क्यों की कुछ दोस्त आपको पहले तो झाड़ पर चढ़ा देंगे और ऐन टाइम परआपकी फजीहत का मौका भी नहीं छोड़ेंगे।

पढ़े  : योगासन की खास विधिया जिनसे निर्माण होता है निरोगी काया का

तो दोस्तों ये तो थी कुछ बाते जो आपकी बचपन की यादो को ताजा करती है अब बात करते है उन टिप्स की जो आपको आकर्षक व्यक्तित्व के लिए मददगार है। आकर्षक व्यक्तित्व के लिए ध्यान रखे इन बातो का

आकर्षक व्यक्तित्व के लिए सकारात्मक आदतों को अपनाए :

हमेशा मुस्कुराते हुए दुसरो की बाते सुने और उन्हें इस बात का अहसास करवाये की आप उनकी बातो में रूचि ले रहे है। जिनसे वो आप के साथ ज्यादा से ज्यादा वक़्त बिताएंगे और अपने दिल की हर बात आपके साथ शेयर करना पसंद करेंगे।मानव मनोविज्ञान के अनुसार :

हम उसी व्यक्ति के साथ वक़्त गुजरना पसंद करते है जो हमारी बातो को तवज्जो देता है और हमारी बातो को सुनना चाहता है।

# दुसरो को ना गिनाये अपनी मुश्किलें :

अक्सर हमारे ग्रुप में ऐसा एक बन्दा मिल ही जाता है जो मिलते ही अपनी परेशानिया गिनाने लगता है ऐसे बन्दे से लोग धीरे धीरे मिलना जुला बंद कर देते है और ग्रुप में भी उससे कोई बात करना पसंद नहीं करता है। उनके चेहरे में वो बात भी नहीं होती है क्यों की वो हींन भावना से ग्रस्त होता है। अगर आप ऐसा करते है तो सावधान हो जाइये ऐसा करना आपको ग्रुप से बाहर कर सकता है।

पढ़े  : चंद्र त्राटक से होते है ये आध्यात्मिक और शारीरिक बदलाव

#आकर्षक व्यक्तित्व के लिए हमेशा दयालु रहे :

देखने में ये भी आता है की कुछ लोग दुसरो के लिए वक़्त निकाल ही लेते है अगर आप भी बिजी रहने के बावजूद दुसरो की दिल से सहायता करते है तो आप उनके लिए महत्वपूर्ण हो सकते है। ऐसे में वो अपनी समस्या आपसे खुल के शेयर करना पसंद करेंगे। लोगो की मदद करना सीखे उनकी सहायता करने से आप उनके लिए आदरणीय बनेंगे और आपकी छवि भी अच्छी बनेगी।

# आकर्षक व्यक्तित्व चाहिए तो ईमानदार बनिए :

अगर आप अपने दोस्तों के प्रति ईमानदार रहते है तो आप उनके लिए अच्छे दोस्त साबित हो सकते है इसलिए किसी की मज़बूरी का फायदा ना उठाए, अगर आप एक दोस्त के राज जानते है तो उसे दुसरो के सामने जाहिर ना करे एक अच्छा दोस्त वही होता है जो आपके राज को अपने तक सिमित रखे, चुगली ना करे, और आपको दुसरो के सामने शर्मिंदा ना करे। अगर आप ऐसा कर पाते है तो एक बेहतर दोस्त साबित तो होंगे ही साथ ही आपका सम्मान भी बढ़ेगा।

पढ़े  : संकल्प शक्ति और इच्छाशक्ति को मजबूत करता है न्यास ध्यान

# थैंक्स बोलना सीखे :

अगर आप दुसरो द्वारा की गई सहायता के प्रति उनके कृतार्थ है तो आप इस बात को बेहतर समझ सकते है। आप खुद कैसा महसूस करते है जब  कोई आपको अच्छा बताता है बिलकुल वैसे ही जब आप आप किसी को थैंक्स कहते है तो वो भी ये अनुभव करता है की उसने जिसकी मदद की वो सही कदम था। आकर्षक व्यक्तित्व के लिए ये छोटा सा अनुभव बहुत बड़ा बदलाव ला सकता है। आकर्षक व्यक्तित्व पर नीचे कुछ अनमोल विचार दिये है :


1) नाम में क्या रखा है? जिसे हम गुलाब कहते है उसे हम दुसरे नाम से जिसकी सुगंध मधुर हो भी कह सकते है। –William Shakespeare


2) इंसान के विचारो की दिशा उसके व्यक्तित्व के समान होती है। उसका पूरा बाहरी जीवन उसके दिमाग के आंतरिक विचार और गुणों पर निर्भर करता है। –Erich Sauer


3) निश्चित रूप से यह दुर्लभता की दुनिया है। लेकिन दुर्लभता सिर्फ लोहे के अयस्क और मौजूदा जमीन तक ही सीमित नही है। बल्कि सबसे बड़ी दुर्लभता तो अपने चरित्र और व्यक्तित्व को बनाने में है। –William R Allen


4) खुद को दूसरो को बेचने का सबसे अच्छा रास्ता दूसरो को खुद को बेचना है। खुद के बेचने से पहले अपने चरित्र, अपने गुणों और अपनी योग्यताओ के बारे में जरुर सोचे। –Unknown


दोस्तों आकर्षक व्यक्तित्व पर आज की पोस्ट हमारे बचपन के स्कूल और कॉलेज की यादो से जुडी हुई है अगर आपका भी ऐसा कोई यादगार लम्हा बिता है तो आप हमें भेज सकते है। हमें कमेंट के माध्यम से आज की पोस्ट पर अपने विचार भेजे।

4 COMMENTS

  1. आकर्षण व्यक्तित्व को अगर सफलता की सीढी कहे तो कोई अतिसयोक्ति नही होगी । बहुत बढिया लेख । शेयर करने के लिए धन्यवाद।

  2. Youre so cool! I dont suppose Ive read something like this before. So nice to find any individual with some unique ideas on this subject. realy thank you for starting this up. this website is something that’s needed on the web, somebody with a little bit originality. useful job for bringing one thing new to the web!

  3. बहुत ही सुन्दर प्रस्तुति … शानदार पोस्ट …. Nice article with awesome depiction!! 🙂 🙂

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.