वशीकरण का ये अमल तभी करना जब बाकि सारे उपाय फ़ैल हो गए हो क्यों की ये 100% काम करता ही है

1

वशीकरण ये एक ऐसी विद्या है जिसे हर कोई सीखना चाहता है, ये कैसे काम करती है और क्या काम करती है ये ज्यादातर लोग सही तरीके से जानते ही नहीं है. internet पर देख लिया की इसके प्रयोग से हम कुछ भी कर सकते है और बस वशीकरण सीखना है. वशीकरण के उपाय कोई भी कर सकता है बशर्ते आपको उसके लिए कुछ बेसिक बातो का ध्यान हो और आपके अन्दर इससे जुड़ी वो भ्रान्ति न हो जो इस वक़्त आपको हर जगह देखने को मिलेगी. आज हम बात करने वाले है वशीकरण के शैतानी अमल के बारे में. how to do powerful devil vashikaran on desired person? ये एक मुसलमानी तरीका है जो लोग वशीकरण के आसान और काम करने वाले उपाय देख रहे है वो इसे कर सकते है.

वशीकरण के शैतानी अमल

वशीकरण के समय हम सबसे बड़ी गलती करते है अपनी उर्जा को एकाग्र न करने की. वशीकरण के उपाय करने वाले लोग जो इसे सही तरह से नहीं जानते है वो यही गलती करते है. वशीकरण के उपाय या मंत्र पढ़ते रहने से कुछ नहीं होता है. इसमें मुख्य रूप से काम करने वाली शक्ति आपकी अपनी मानसिक तरंगे है. वशीकरण में सफलता पानी है तो आपको इसे अच्छे से समझना होगा क्यों की बगैर इसे जाने आप इसमें कभी सफल नहीं हो सकते. आज की इस पोस्ट में शेयर किये जाने वाले वशीकरण के शैतानी अमल आसपास से जुताई गई जानकारी मात्र है इसलिए इनके काम करने या ना करने का sachhiprerna से कुछ भी लेना देना नहीं है.

वशीकरण के शैतानी अमल वास्तव में क्या है ?

किसी भी काम को अंजाम देने के कई तरीके होते है. इसमें कुछ सही होते है तो कुछ गलत क्यों की ये सब आपकी उर्जा और नियति पर निर्भर करता है की आप कौनसा रास्ता चुनते है. वशीकरण के लिए शाबर मंत्र, मुसलमानी अमल या तंत्र के साथ यन्त्र के उपाय अगर आप कर चुके है और आपको सफलता नहीं मिली है तो इस पोस्ट को पूरा पढ़े क्यों की इसमें आपको वशीकरण के शैतानी अमल के बारे में जानने को तो मिलेगा ही साथ हम शेयर करने वाले है इसके अन्दर आपकी उर्जा कैसे काम करती है ? क्यों की जब तक आप इसे नहीं समझ लोगे आप इसमें सफलता हासिल कर ही नहीं पाओगे.

वैसे तो शैतानी तरीके और अमल अपनाना गलत माना जाता है लेकिन इन्हें यहाँ सिर्फ एक जानकारी के लिए बताया जा रहा है. अगर आप इन्हें करना चाहते है तो पहले सुरक्षा कवच की जानकारी जरुर जुटा ले. जितने भी शैतानी अमल है वास्तव में काम तो करते है लेकिन अगर आप इनका प्रयोग बार बार करने लगते है तो ये आप पर बुरा प्रभाव डालने लगते है. ऐसा भी अनुभव देखने को मिला है की आपने किसी दुसरे पर इसका प्रयोग किया हो और परेशान होने लगे हो.

वशीकरण के शैतानी अमल – गुड़ से वशीकरण करना

इस विधि से वशीकरण करने के लिए आपको एक लाल कागज और गुड़ की भेरी चाहिए. जब रात्री को सोने जाए तो अपने बिस्तर के पायताने अर्धरात्रि में पूर्ण नग्न अवस्था में खड़े हो जाइये. गुड़ को लाल कागज पर रख दे और फिर खड़े होकर गुड़ पर ध्यान लगा ले. ध्यान लगते समय आपकी उर्जा का भाव तामसिक होना चाहिए. पूर्ण रूप से वासना के भाव में डूब जाए और इस वशीकरण के शैतानी अमल का 121 बार मंत्र जाप करे.

मंत्र :

अन्ना आत्वैना शैताना |

मेरी शक्ल में ( अमुक ) के पास जाना |

उसे वश में कर मेरे पास लाना |

ख्वाब में मेरी चाहत में उसे तड़पाना |

न लाए तो तेरे वजूद को विल्लाक |

तेरे घर की औरतो का 303 तल्लाक |

जब आप इस मंत्र का जाप 121 बार कर लेते है तो गुड़ को कागज में लपेट कर बिस्तर / चारपाई के निचे ही रख दे. सुबह होने पर इसे पक्षियों को खिला दे. ऐसा सात दिन करने पर निश्चय ही आपके वांछित व्यक्ति पर इसका असर दिखने लगता है.

गुड़ से वशीकरण की ये विधि गाँव में आज भी की जाती है लेकिन इसे वशीकरण की बजाय मनोकामना पूर्ति में ज्यादा इस्तेमाल किया जाता है. जिस तरह से हम गुरुवार के दिन माजर पर जाकर मन्नत मांगते है वैसे ही इस विधि द्वारा किसी मुश्किल काम को सुलझाने के लिए पारलौकिक शक्तियों का सहारा लेते है.

राई द्वारा वशीकरण के शैतानी अमल

शनिवार की अर्धरात्रि में इस अमल की शुरुआत की जाती है और इसका समय काल 41 दिन का है. इसे करने के लिए आपको गाय का कंडा, राई के 11 दाने और एक चीनी मिटटी की प्लेट ( आमतौर पर हर घर में मिल जाती है ) चाहिए.

इस विधि में साधक का मुख दक्षिण पूर्ण दिशा में होना चाहिए. आधी रात को इसे शुरू करे और कंडे / उपले को सुलगा ले. एक राई का दाना हाथ में ले और अणि नजर उस पर जमाते हुए एकाग्र होकर मंत्र का जाप करे.

बड़-पीपल का बड़ा थान |

वहां बैठा अबाबील शैतान |

अबाबील शैतान तू मेरी सुन |

(अमुक ) के जा दिल को धुन |

मेरी शक्ल में उसको आन |

न आने तो अपनी औरत के सर मुशीबत जान |

उठ अभी, अभी तू आन |

न आने तो तेरे सिर भैंसे की खाल |

हर बार राई के दाने पर नजर जमाते हुए एकाग्र होकर इस मंत्र का जाप करे और इसे धुनी में डाल दे. ऐसा 11 बार कुल 41 दिन तक करना है. और धीरे धीरे सामने वाले पर इसका असर देखने को मिलता है.

वशीकरण के शैतानी अमल काम कैसे करते है ?

वशीकरण पूर्ण रूप से मानसिक तरंगो का खेल है. जिसने इसे समझ लिया वो कभी भी किसी को भी प्रभावित कर सकता है. एक व्यक्ति की आज्ञाचक्र से निकलने वाली तरंगे अगर दुसरे व्यक्ति के आज्ञाचक्र को प्रभावित करती है तभी वो उससे प्रभावित होता है जिसकी ये तरंगे होती है. वशीकरण करने की इच्छा रखने वाले लोग ये बात जानते है की खिलाने और पिलाने जैसी चीजो के जरिये किया गया वशीकरण कितना असरदार होता है.

अगर आपका मन स्थिर नहीं है तो बाहरी तौर पर आप किसी को प्रभावित नहीं कर सकते है. इसके लिए आपके मन को साधना और तरंगो को निर्देशित करना आपको आना चाहिए.

क्या वाकई ये वशीकरण के शैतानी अमल काम काम करते है ?

कोई भी चीज तभी काम करती है जब उसे सच्चे मन से किया जाए. अगर आप सिर्फ formality कर रहे है, दिखावा कर रहे है की ये विधि ऐसे ही तो करनी है तो वो काम नहीं करेगी. हम ध्यान करते है, पूजा पाठ करते है और इस दौरान हमारा मन सांसारिक कार्यो में लगा हुआ है तो पूजा कैसे सफल होगी ? कैसे उसका प्रभाव हमें मिलेगा ? इस संसार में ऐसा कुछ भी नहीं है जो संभव नहीं किया जा सकता, जरुरत है तो बस विश्वास और लगन की. अगर एक बार fail हो गए तो दोबारा करो बजाय इसके की विधि को दोष दे, सफलता अवश्य मिलेगी.

रही बात वशीकरण के शैतानी अमल की तो मेरा ये विचार है की इसमें हम पारलौकिक शक्तियों का आवाहन करते है जो अतृप्त होती है. इन्हें ऐसा माध्यम चाहिए जो उनकी क्षमता का प्रयोग करवा सके और बदले में उनका मान सम्मान करे. आपके मन में ये सवाल तो आया ही होगा की इस वातावरण में विचरण करने वाली अतृप्त आत्माए हमारी मदद क्यों करेगी ?

वो हमारी मदद करती है क्यों की बदले में उन्हें इसका सही फल मिलता है. अगर काम अच्छा है तो पुण्य मिलेगा और गलत है तो उनकी शक्ति बढ़ेगी. साथ ही उन्हें आपकी उर्जा भी मिलती रहती है. दोनों ही मामले में ये उनके लिए फायदे का काम है.

किसे करना चाहिए ?

वशीकरण के नाम पर या किसी तरह की इच्छा के पूरा करने के नाम पर आज 95% सिर्फ फ्रॉड हो रहा है. जो सही काम कर रहे है उन पर लोगो की जल्दी ही श्रधा नहीं रहती है क्यों की लोगो को चमत्कार देखना होता है. सात्विक क्रिया अपना असर तो दिखाती है लेकिन इसमें समय लगता है और साधक के मन इतना संयम होना बेहद आवश्यक है. इसके आभाव में उसे सही फल नहीं मिलता है.

अगर आपको जल्दी फल चाहिए. अपनी मनोकामना की पूर्ति जल्दी करनी है तो आप ऐसी शक्तियों का सहारा ले सकते है जो हमारे भू-मंडल पर ही निवास करती है. इनका आवाहन सरल और सुलभ होता है जिसके कारण आपको जल्दी ही result मिलने शुरू हो जाते है. लेकिन आपको ध्यान भी देना चाहिए की ऐसी शक्तियों को ज्यादा महत्व न दिया जाए. मुसीबत में फंसे होने की स्थिति में आप बाहर निकल जाए बस वही तक इनका कार्य होना चाहिए. अगर आप इसे अपनी आदत बना लेते है तो आप जल्दी ही इन शक्तियों के चंगुल में फंस जाए है और फिर आपकी लाइफ बनने की बजाय बिगड़ने लगती है.

किसे नहीं करना चाहिए ?

हर किसी की चाहत है दुसरो को अपने आकर्षण में बांधना लेकिन ये इतना सरल भी नहीं है. अगर आप वशीकरण के शैतानी अमल को करते है तो आपको ध्यान रखना चाहिए की आपमें ये कमिया न हो. अगर ऐसा होता है तो आपको लाभ की बजाय नुकसान मिलने लगता है और फिर आपका इस स्थिति से निकलना मुश्किल हो जाता है. इसलिए ध्यान रखे

वशीकरण के शैतानी अमल में ध्यान रखने योग्य बाते

  • अगर आपका औरा यानि aura field कमजोर है तो इस तरह की साधना भूल कर भी ना करे, अगर ऐसा किया तो पारलौकिक शक्तिया आसानी से आप पर हावी हो सकती है.
  • अगर आपका मन स्थिर नहीं है तो वशीकरण के शैतानी अमल आप भूल कर भी न करे क्यों की ऐसा करते समय आपकी एकाग्रता ही ये सुनिश्चित करती है की जिस पारलौकिक शक्ति का आप आवाहन कर रहे है वो आपका काम करेगी या आपका नुकसान.
  • इस तरह के अमल का प्रयोग करने से पहले आपको ये पता होना चाहिए की आसपास की शैतानी आत्माए हमेशा बुरी नहीं होती है. उनमे से कुछ हमारे जरिये अच्छे कर्म कर अपनी तकलीफ दूर करने वाली भी होती है. अतः आवाहन के समय जितना हो सके किसी सदात्मा का ही चित्रण अपने मन में करे. जैसे की आपका कोई परिचित जिसकी अकाल मृत्यु हुई हो और दिल का अच्छा हो.
  • इस तरह के प्रयोग तभी करे जब आपके पास कोई और रास्ता ही न बचे क्यों की इनका प्रयोग करना बेहद आसान है लेकिन जब आप इसकी लत लगा लेते है और स्वार्थ सिद्धि करने लगते है तो ये आप पर उल्टा असर दिखाने लगती है.
  • अगर आप ध्यान लगाने, पूजा पाठ, गुरु पूजन या सुरक्षा कवच में से कोई भी उपाय नियमित रूप से नहीं करते है तो आपका इसमें सफल होना बेहद मुश्किल है, अगर आप फिर भी ऐसा करते है तो आपको फायदे की जगह नुकसान झेलना पड़ सकता है.

वशीकरण के शैतानी अमल – अंतिम शब्द

sachhiprerna किसी तरह के अंध-विश्वास को बढ़ावा नहीं देती है ना की किसी तरह के तंत्र मंत्र को support करती है. इस तरह की जानकारी यहाँ शेयर करने का उदेश्य सिर्फ लोगो को वो जानकारी देना है जो आज भी समाज में कही न कही प्रचलन में है. अगर आपके आसपास इस तरह के उपाय किसी ने किये है तो निचे कमेंट में शेयर जरुर करे. वशीकरण के शैतानी अमल करने से पहले सही एक्सपर्ट से इससे जुड़ी सही जानकारी जरुर ले.

अगर आपको हमारी पोस्ट अच्छी लगती है तो इसे अपने सोशल मीडिया पर शेयर जरुर करे. आपको लगता है की यहाँ पर आपकी पसंद की कोई जानकारी शेयर नही की गई है तो आप हमें जरुर बताए. हम इसे post on demand के तहत शेयर जरुर करेंगे.

 

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.