क्या आपको पता है वशीकरण में सफलता के लिए कमांड और सुझाव का क्या महत्त्व है ?

2
6
वशीकरण में सुझाव का प्रयोग द्वारा आसानी से किसी के भी दिमाग को बदले

वशीकरण और सम्मोहन में दो चीजे काम करती है पहला सुझाव और दूसरा कमांड यानि आदेश, लेकिन क्या आप जानते है की इससे आगे की स्टेज में इन दोनों तरीको का क्या महत्व है और ये कैसे काम करती है। दोस्तों आज हम बात करेंगे इन दोनों चीजों के बारे में जिनका सम्मोहन हो या वशीकरण दोनों में बड़ा महत्व है और दोनों ही अलग अलग स्थिति में किस तरह से काम करती है। अगर सही तरीके से वशीकरण में सुझाव का प्रयोग किया जाए तो हम किसी भी काम को संभव बना सकते है। यही नहीं ये ऐसा जरिया है जिससे हम अपने सभी रुके हुए काम को करने के साथ साथ दुसरो के दिमाग को अपने इच्छानुसार भी ढाल सकते है।

वशीकरण में सुझाव का प्रयोग
वैसे तो आज की पोस्ट शेयर ना करनी वाले अनुभव में से एक है क्यों की इस अभ्यास का गलत फायदा उठाया जाए तो किसी को भी भ्रमित किया जा सकता है। थोड़ी सी प्रबल इच्छा-शक्ति रखने वाला इंसान इसका अभ्यास कर कैसे अपने काम को सफल बनाए आज की पोस्ट के माध्यम से मै आपको बताने जा रहा हूँ।

suggestion और कमांड तथा वशीकरण में इसका प्रयोग :

वैसे तो वशीकरण में ज्यादातार कमांड का यूज़ किया जाता है लेकिन आज हम बात करेंगे की कैसे सम्मोहन और वशीकरण में सुझाव का प्रयोग कर किसी का दिमाग कैसे चेंज करे।

वशीकरण और कमांड का प्रयोग :

वशीकरण में ज्यादातर कमांड देने का काम होता है क्यों की हम सामने वाले के मस्तिष्क और उसके आज्ञाचक्र पर अपना कण्ट्रोल बना लेते है। ऐसे में हम सामने वाले के अवचेतन मन में हर उस जानकारी को बैठा सकते है जो हम चाहते है। हमने कुछ समय पहले पहले ही फोटो वशीकरण की पोस्ट शेयर की थी जिसमे कल्पनाशक्ति का प्रयोग कर हम माध्यम के मस्तिष्क में अपनी मनचाही जानकारी भेजते थे।

आपके आज्ञाचक्र से निकलने वाली तरंगे हर-पल ब्रह्माण्ड में घूमती है। कल्पनाशक्ति उन्हें एक दिशा प्रदान करती है इसके साथ साथ ये आपकी एकाग्रता बढ़ाने का काम करती है। क्यों की जितनी देर आप कल्पनाशक्ति का प्रयोग करते है आपका विज़न क्लियर रहता है और आपके मन में कोई भी दूसरा विचार नही घूमता है ऐसे में हमें एकाग्रता के लिए ज्यादा प्रयास नहीं करना पड़ता है। आपकी सोच ही आपकी एकाग्रता बन जाती है।

महत्व और उदेश्य :

वशीकरण में कमांड का महत्व और प्रयोग ज्यादातर वहा काम आता है जहा पर हमें माध्यम के मन में अपनी मनचाही जानकारी डालनी होती है। अगर माध्यम हमसे नाराज है, दूर है तो उसे हमारे कण्ट्रोल में कर पास लाया जा सकता है। लेकिन इसकी सबसे बड़ी खामी है की वशीकरण के टूटने पर माध्यम वापस अपनी पुरानी स्थिति में चला जाता है। आपको याद हो तो सम्मोहन में एक स्टेज पोस्ट-हिप्नोटिज्म की है जिसमे हम माध्यम के मस्तिक की स्थिति को कुछ निर्धारित कमांड के साथ जोड़ देते है। वशीकरण में इसका प्रयोग भी उतना कारगर है जितना सम्मोहन में कैसे ? आइये जानते है।

असल में हम वशीकरण के द्वारा माध्यम के अन्तर्मन के अंदर छुपी कुछ खास बातो को बहुत कम समझ पाते है या फिर माध्यम के अंतर्मन का सुरक्षा-कवच उन खास जानकारियों को छुपा सकता है जो उसके बहुत ज्यादा खास और सीक्रेट है। इसीलिए वशीकरण में हमने सुझाव का प्रयोग जोड़ा है और उसे कर आजमाया भी है। यकीन करना जरा मुश्किल होगा पर वशीकरण में कमांड की जगह सुझाव में ज्यादा अच्छा रिजल्ट मिला।

वशीकरण और सुझाव का प्रयोग :

वशीकरण में सुझाव एक निर्देश की तरह काम करता है ना की किसी फाॅर्स की तरह इसलिए माध्यम का अंतर्मन भी ज्यादा विरोध नहीं कर पाता है। ये बिलकुल वैसे ही है जैसे किसी का विश्वास जीतना ना की उस पर हावी होना। मान लीजिए दो स्थिति है पहली में हम किसी व्यक्ति को जबरदस्ती कुछ जानकारिया पूछते है और वो कुछ जानकारिया दे भी देता है लेकिन क्या गारंटी है की वो

  • सही होगी ?
  • पूरी होगी ?
  • सबसे खास क्या हमारा प्रभाव हटने पर भी वो भरोसेमंद बना रहेगा।

तीसरा सबसे खास पॉइंट है क्यों की हर वशीकरण की एक सीमा होती है जिसके टूटने पर माध्यम वापस पहले जैसी स्थिति में आ जाता है। इसीलिए वशीकरण में हम कमांड की जगह सुझाव का इस्तेमाल कर माध्यम का भरोसा जीतने की कोशिश करते है और फिर कुछ निर्देश इस्तेमाल करते है जो जानकारी के आसपास या उससे जुड़े हो। माध्यम हमें सभी जानकारिया सही देगा ही हमें ये भी पता चल जाएगा की माध्यम के साथ किस तरह व्यव्हार करने पर कैसा रिएक्शन रहेगा।

वशीकरण में सुझाव का प्रयोग महत्व और उदेश्य

vashikaran में suggestion का प्रैक्टिस करने के पीछे हमारा उदेश्य माध्यम को अपने प्रभाव में एक समय सीमा तक रखना ही नहीं है बल्कि उसके अंदर की बातो को समझ कर उन्हें बदलना है। हम चाहे तो माध्यम के मन में हमारे प्रति अच्छी सोच पैदा कर सकते है। इसके लिए आपको बस पता होना चाहिए की माध्यम आपके प्रति कैसी सोच रखता है या फिर हम चाहे तो माध्यम को सोच के अनुसार सोचने पर मजबूर कर सकते है।

suggestion या command दोनों में best क्या है ?

कमांड के प्रयोग में माध्यम जहा हमारे आदेश मानता है वही सुझाव के प्रयोग में माध्यम हमारी सोच के अनुसार बर्ताव करता है। यहाँ तक की इस प्रयोग में आप माध्यम को मजबूर कर सकते है की वो अपने दिल की बात अपनी सोच को खुद आपके सामने जाहिर करे वो भी बिना किसी दबाव के सिर्फ अपने दिल के बोझ को हल्का करने के लिए। हम चाहे तो माध्यम में guilty feel करवा सकते है।

पढ़े :  क्या हम खुद को एक रोबोट की तरह बना सकते है ?

किन परिस्थिति में सुझाव का प्रयोग करे :

इस प्रयोग का अभ्यास तब करे जब आपको अपने आसपास के लोगो की सोच जाननी हो या फिर कोई आपके साथ दोहरा बर्ताव कर रहा है। ज्यादातर इसका प्रयोग उन लोगो के लिए बेस्ट है जो दूसरे लोगो के दोहरे बर्ताव को समझ नहीं पाते है जैसे की मेँ इसलिए हम इसका प्रयोग कर सामने वालो को बदल सकते है।

vashikaran में suggestion का success practice :

वशीकरण में सुझाव का प्रयोग सबसे सरल अभ्यास में से एक है सुझाव द्वारा माध्यम को अपने भरोसे में लेना। मान लीजिये की आपको किसी के आज्ञाचक्र पर कण्ट्रोल पाना है साथ ही मनचाही बात उसके मुँह से सुननी है जैसे की उसके मन में आपके लिए क्या है और वो आपके पीठ पीछे आपके बारे में क्या सोचता है।

इस तरह की बातो का पता आमतौर पर वशीकरण में गहराई से पता नहीं चलता है साथ ही एक समय के बाद या वशीकरण कमजोर होने के साथ ही माध्यम आपके कण्ट्रोल से बाहर हो जाता है ऐसे में सुझाव द्वारा आप माध्यम के मन की बात समझ सकते है और उसके हिसाब से माध्यम को अपने भरोसे में ले सकते है।

पढ़े : वशीकरण की ऑनलाइन सर्विस जो आपको फ्रॉड नहीं सही फायदा देगी।

वशीकरण में सुझाव का प्रयोग :

इसके अभ्यास के लिए आपको सिर्फ कुछ बातो का ध्यान रखना है। पहला आपकी इच्छाशक्ति और कल्पनाशक्ति दोनों ही मजबूत हो। दूसरा आप माध्यम से जुड़े हुए है या पहले भी उसके क्लोज रह चुके है ऐसे में माध्यम में मस्तिष्क में छुपी यादे आपका काम आसान कर देती है। अभ्यास करने का वक़्त माध्यम के सोने के ठीक आधा घंटा बाद और 2 घंटे से पहले का बेस्ट है। इस वक़्त अभ्यास करना आसान और प्रभावी रहता है।

रात को ध्यान की मुद्रा में बैठ जाइये और माध्यम की लोकेशन को कल्पना करे। मान लीजिये माध्यम सो रहा है। और आप की मानसिक तरंगे उनके मस्तिष्क में प्रवेश कर उनकी यादो को ताजा कर रही है माध्यम जो आपके बारे में सोचता है ये जानने के लिए उससे जुडी कुछ बाते आप कर रहे है। जैसे की मान लीजिए माध्यम आपके बारे में अच्छा नहीं सोचता है।

वशीकरण में सुझाव का प्रयोग करते समय आप माध्यम को सुझाव दे सकते है की आप और माध्यम अच्छे दोस्त है और माध्यम अगर कोई गलत भावना मन में रखता है तो उसका उसे क्या नुकसान हो सकता है जैसे की वो आपको खो देगा यानि एक अच्छा दोस्त ये सब बाते सिर्फ सुझाव की तरह है ना की कमांड इसलिए माध्यम पर इसका असर असली जिंदगी में भी पड़ता है।

पढ़े : सामुद्रिक और शकुन शास्त्र में जानिए आपके शरीर के अंगो के फड़कने के राज

वशीकरण में सुझाव का प्रयोग कैसे करता है काम :

दरअसल कुछ लोग अपने दिल से इतने करीब से जुड़े हुए होते है की जब भी उनके साथ कुछ गलत होने लगता है उन्हें इसका आभास हो जाता है या फिर जब भी वो निराश होते है उन्हें अपने दिल की आवाज सुनाई देती है साथ ही ये आवाज उन्हें गाइड करती है सही रास्ते पर चलने के लिए। इसे enlightment यानि अंतर्मन की आवाज सुनना कहते है। इसके होने से माध्यम खुद-ब-खुद आपके प्रति समर्पित होने लगता है। यही नहीं अगर वह कुछ गलत सोच रखता है या करने वाला होता है तो भी उसे अहसास हो जाता है की वो गलत कर रहा है।

इस प्रयोग के पीछे एक ठोस वजह और भी है। आपने देखा होगा की कुछ लोग सच्चे लोगो का बुरा करने का सोचते है और अचानक ही वो बदल जाते है या फिर खुद ही उन्हें बताने लगते है की वो उनका बुरा करने की सोच रहे थे लेकिन अब वो बदल गए है। ये प्रयोग तभी काम करता है जब आपकी विल-पावर और विज़न-पावर मजबूत हो। इसलिए अगर करना भी चाहते है तो ध्यान रखे की ज्यादा दबाव ना बने।

पढ़े : घूमने वाले शक्ति चक्र पर त्राटक करने का अभ्यास और उसके फायदे

वशीकरण में सुझाव का प्रयोग में क्या सावधानिया रखे :

कुछ लोग मानसिक अभ्यास में विज़न की जगह जबरदस्ती खुद को किसी जगह फोकस करने की कोशिश करते है। जैसे ही उनका मस्तिष्क अपनी मर्जी के विरुद्ध उन्हें कोई दृश्य दिखाने लगता है वो फिर से वापस लौटने और एक जगह फोकस होने लगते है। ये सिर्फ आपकी मानसिक ऊर्जा को नष्ट करता है और कुछ नहीं। इसलिए ध्यान रखे की आप ज्यादा मानसिक दबाव न बनाए।

दूसरा इस बात का भी ध्यान रखे की जब भी आप अभ्यास करे वातावरण पूरी तरह शांत हो और आपको कोई परेशान ना कर सके। क्यों की ऐसा ना होने पर आपके मन पर उल्टा असर पड़ता है।

वशीकरण में सुझाव का प्रयोग द्वारा क्या क्या लाभ हो सकते है :

ये एक ऐसा अभ्यास है जिससे हम खुद को इस लायक बना सकते है की जब भी हम गलत रास्ते चलने लगे या फिर हमसे कुछ गलत होने लगे हम खुद को संभाल सके। इसके अलावा भी निम्न फायदे है जैसे की

  • दुसरो के मन में क्या चल रहा है आपके प्रति वो क्या सोचते है उनकी सोच को पढ़ने और बदलने का आपके पास अच्छा मौका हो सका है।
  • इसके अभ्यास से हम मस्तिष्क की छिपी हुई यादो को न सिर्फ उकेर सकते है बल्कि उन्हें अच्छे में भी बदल सकते है।
  • अपने आस पास के लोगो में आप वशीकरण में सुझाव का प्रयोग द्वारा बगैर किसी बल के प्रयोग अपना काम निकलवा सकते है। लेकिन इसके कुछ नियम और अभ्यास है जिन्हे और बदले हुए तरीके के साथ समझाया जा सकता है।

दोस्तों आज के समय में अगर कुछ कमजोर हुआ है तो हमारा अपने अंतर्मन की आवाज को सुनने की क्षमता। इसके बगैर हम किसी भी तरह के मानसिक अभ्यास को सही तरीके से नहीं कर पाते है इसलिए ये एक अच्छा अभ्यास साबित हो सकता है।

पढ़े :  छाया पुरुष से जुड़ी रोमांचित कर देने वाली ये खास बाते क्या आप जानते है ?

अंतिम शब्द

वशीकरण में वैसे तो एक लिमिट और समय सीमा तक कार्य होता है लेकिन फिर भी इसमें कुछ बदलाव किया जाए तो हम इसके प्रभाव को बढ़ा सकते है। सम्मोहन में भी कुछ एडवांस स्टेज वक़्त के साथ बदलाव का नतीजा है। वशीकरण को भी अच्छे काम के लिए प्रयोग कर हम खुद में बदलाव ला सकते है साथ ही ये हर्बल भी है तो किसी तरह के नुकसान की कोई गुंजाईश भी नहीं।

आज की पोस्ट वशीकरण में सुझाव का प्रयोग किस तरह अच्छे रिजल्ट दे सकता है आपको कैसी लगी हमें जरूर बताये। वशीकरण और पारलौकिक समस्याओ के समाधान के लिए आप हमें भी कांटेक्ट कर सकते है।

 

Never miss an update subscribe us

* indicates required

2 COMMENTS

  1. Aapka gyaan bhot helpful rha dhanywaad itni best janakari bina kisi shulk k dene k liye aajkla sab pase lootne me lage hai per aap fre blog me bhi itna gehra rahasya bta rhe hai its too good sir ji

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.