वशीकरण का असर नहीं हुआ तो गौर करे इन 8 खास वजहों पर जो इसे फ़ैल कर देती है

6

वशीकरण पर लिखी गई पहले की पोस्ट वशीकरण कितना सही कितना गलत, fraud बाबा बंगाली की पहचान कैसे की जाये, इंटरनेट पर बाबा लोग बढ़ता business काफी सफल रही इसी कड़ी में आज vashikaran fail हो जाने की वजह पर प्रकाश डालते हुए आपको बताना चाहूंगा की ऐसी कोनसी वजह है जिनकी वजह से vashikaran fail होकर काम नहीं कर पाता है. why vashikaran dont work even try a lot of time.  चलिए जानते है वशीकरण के काम ना करने या फ़ैल हो जाने के पीछे की टॉप वजह के बारे में.

vashikaran fail

वशीकरण के लिए इन्टरनेट पर कई वेबसाइट, व्यक्ति जो खुद को वशीकरण, काला जादू में माहिर बताते है। उनके अनुसार वो कोई भी समस्या हो 2 दिन या कुछ घंटो में ही सुलझा सकते है। इसके लिए वो आपसे शुरू में कुछ पैसो की मांग करते है। ऐसा इसलिए ताकि वो अपना काम शुरू कर सके। आप भी सोचने लगते है की क्या पता काम सफल हो जाये तो पैसे देने में क्या हर्ज है। आपके पैसे जमा करवाने के बाद वो आपसे 2 दिन या उनके अनुसार कुछ समय मांगते है उनके काम का असर होने में आप उसका इंतज़ार करते है की आपका काम हो रहा है। कुछ समय बाद जब आपको कोई लाभ नहीं मिलता है तो आप दोबारा संपर्क कर पूछते है उनका जवाब मिलता है आप थोड़ा इंतज़ार करो आपका काम लगभग पूरा हो चूका है।

पढ़े : आत्माओ को बुलाने का सरल टेबल विज्ञान का तरीका

आप फिर कुछ समय तक इंतज़ार करने लगते है। इसके बाद जब आप उनसे दोबारा संपर्क करते है तो आपको जवाब मिलता है की पूजा साधना में थोड़ी अड़चन आ रही है और पूजा या बलि देनी करनी पड़ेगी। अब आपके पास 2 ही रास्ते है। या तो उन्हें मना कर दे या फिर और पैसे जमा करवाये। ज्यादातर लोग समझ जाते है की ये उनके साथ फ्रॉड हो गया है। लेकिन कुछ दिल के हाथो मजबूर युवा फिर भी इस आस में पैसे जमा करवा देते है की हो सकता है अब फायदा हो जाये। लेकिन उनके साथ ऐसा कुछ नहीं होता है. अंत में लुटे हुए हार जाते है।

vashikaran का working principle

वशीकरण मानव मन की सूक्ष्म तरंगों पर आधारित विलक्षण कर्म है| यह कभी सफल होता है कभी असफल होता है ,या यूँ कहें अकसर असफल भी होता है| क्योकि इसकी तकनिकी का ज्ञान नहीं होता, सूत्र पता नहीं होता, उद्देश्य पवित्र नहीं होते, लक्ष्य के प्रति एकाग्रता नहीं होती, स्वार्थपरता की भावना होती है, क्रिया-उद्देश्य-भाव-मानसिक तरंगों में एक रूपता नहीं होती, सही स्थान पर सही वस्तु का उपयोग नहीं पता होता कब कौन सी क्रिया क्या प्रभाव देगी पता नहीं होता|

जिसके लिए क्रिया की जा रही होती है उसकी और से भी बहुत सारे अवरोध होते है, उसका मानसिक बल-शक्ति, उसके चक्रों और ऊर्जा परिपथ की शक्ति, उसके ईष्ट, उसके कुलदेवता/देवी, उसपर पहले से की गयी कोई तांत्रिक क्रिया आदि आदि| उपरोक्त स्थितियों में vashikaran fail हो सकती है |

पढ़े : tantra mantra pdf books download hindi

vashikaran fail-Top reason

इस क्रिया के लिए इसके रास्ते के अवरोधों को समझना भी आवश्यक होता है |सम्पूर्ण जानकारी के साथ पूर्ण क्रिया द्वारा ही वशीकरण संभव है ,चाहे वह किसी व्यक्ति के लिए किया जा रहा हो या ईश्वर के लिए |व्यक्ति विशेष के मामले में यदि कोई तंत्र साधक कहीं दूर से केवल मंत्र द्वारा किसी अन्य के कहने पर किसी पर वशीकरण की क्रिया करता है तो जिसपर वह क्रिया कर रहा है उसके कुलदेवता और ईष्ट इसमें रुकावट उत्पन्न करते है |यह लोग नहीं चाहते की उनके संरक्षण में रहने वाला उनका भक्त किसी प्रकार के षट्कर्म के प्रभाव में आये, अतः यह वहां मंत्र के प्रभाव से आ रही शक्ति को रोकते हैं |

1.) कुलदेवता या पितरो का असर

यदि तंत्र साधक इन कुलदेवता/देवी और ईष्ट को अनुकूल कर या इनके प्रभाव को निष्प्रभावी कर लक्ष्य के व्यक्ति तक अपनी शक्ति पंहुचा देता है तो सफलता मिल सकती है बशर्ते व्यक्ति किसी अन्य नजदीकी तांत्रिक क्रिया के प्रभाव में न हो |यदि व्यक्ति के आसपास का कोई व्यक्ति उसपर पहले से कोई तांत्रिक क्रिया कर या करवा रहा होगा या कुछ खिला पिला दिया होगा तब दूर बैठे तंत्र साधक की केवल मान्त्रिक शक्ति की सफलता संदिग्ध हो जाती है |

पढ़े : चक्र और उनके मध्य ऊर्जा स्थानांतरण

उपरोक्त परिस्थिति में जिस व्यक्ति ने तंत्र साधक से यह क्रिया करने को कहता है या जो किसी को वश में करना चाहता है उसकी खुद की मानसिक स्थिति मुख्य हो जाती है | उसकी मानसिक शक्ति -एकाग्रता पर सबकुछ निर्भर हो जाता है, क्योकि मुख्य क्रिया अब उसे ही करनी पड़ सकती है ,क्योकि वह सीधे व्यक्ति के संपर्क में है या संपर्क चाहता है

2.) vashikaran fail क्यों की गंभीर अनुष्ठान से बचना

अब तंत्र साधक की क्रिया सहायक के तौर पर हो सकती है [सामान्यतया ऐसा इसलिए होता है की बहुत उच्च स्तर का साधक जो किसी को भी कहीं से भी किसी भी स्थिति में अनुकूल कर सके वह ऐसे मामलों में कम ही रूचि लेता है, जो सामान्यतया रूचि लेते हैं वह गंभीर अनुष्ठानिक क्रिया से या तो बचते हैं या इतनी शक्ति मुश्किल से ही होती है की हर स्थिति में सफल ही हो जाएँ | कुल मिलाकर जो यह क्रिया चाहता है उसकी भूमिका मुख्य हो जाती है |

3.) तांत्रिक नहीं खुद की मानसिक एकाग्रता का असर कारगर

जिसने तंत्र साधक से संपर्क किया है या जो किसी को वशीभूत करना चाहता है, वह जब भी जब खुद कोई क्रिया करता है तो उसकी मानसिक एकाग्रता और मानसिक शक्ति पर पर ही सबकुछ निर्भर होता है। ऐसे व्यक्ति अपने विवेक की बजाय आवेग से काम लेते है और नकारात्मक कार्य में लिप्त होने की वजह से उनमे भी वही प्रवृति और गुण आ जाते है।

पढ़े : मानसिक शक्ति बढ़ाने के उपाय -telekinesis power hindi

4.) vashikaran fail- व्यवधान या त्रुटि का ध्यान ना रखना

लक्षित व्यक्ति पर यदि तांत्रिक प्रभाव है तब तो गंभीर क्रियाएं करनी पड़ती ही हैं ,सामान्य मामलों में भी पूर्ण एकाग्रता और शक्ति की आवश्यकता होती है| क्रियाकर्ता का मानसिक भटकाव, एकाग्रता में कमी, किसी क्रिया में एक छोटी सी त्रुटी सारे कार्य बिगाड़ देती है, क्योकि यह ऊर्जा का खेल है और व्यवधान या त्रुटी से सम्पूर्ण क्रिया अनियंत्रित हो बिखर जाती है |

5.) गोपनीयता का महत्व

यदि क्रिया गोपनीय न रहे और किसी तीसरे व्यक्ति को जानकारी हो तो भी प्रभाव में कमी आ जाती है| किसी पर की गई पहले की तांत्रिक क्रिया के प्रभाव को कम करने के बाद की गई वशीकरण की क्रिया प्रभावी होने की संभावना अधिक हो जाती है| आपकी मानसिक एकाग्रता तभी बानी रह सकती है जब यह गोपनीय हो राज खुलने पर एकाग्रता भंग होने के चांस बढ़ जाते है।

पढ़े : अग्नि तत्व का रहस्य और जागरण के सच्चे उदहारण

6.) पहले से हो तंत्र कवच का प्रभाव

जिस व्यक्ति पर पहले से कोई तांत्रिक क्रिया की गयी हो, या जिसके कुलदेवता/ देवी अथवा ईष्ट बहुत प्रबल हों, जो बहुत मजबूत मानसिक शक्ति का स्वामी हो उसपर सीधे वशीकरण की क्रिया असफल हो सकती है देखने में आता है की बहुत से लोग खुद को तंत्र या तलिस्मान के कवच से सुरक्षित कर लेते है। क्यों की उन्हें पता होता है की आज नहीं तो कल कोई उनके ही परिवार से उन पर ऐसी क्रिया करवा सकता है। पारिवारिक कलह या दुश्मनी से कोई भी इस तरह का काम करवा सकता है।

7.)  भौतिक रूप से असर डालना है असरदार

यहाँ पहले आकर्षण की क्रिया कर उसे बुलाया या अपनी और आकर्षित करना बेहतर होता है| व्यक्ति से मिलने, संपर्क करने का प्रयास आकर्षण द्वारा करके उससे मिलने पर वशीकरण की क्रिया की जाए या अभिमंत्रित वस्तुएं खिलाई-पिलाई जाए तो अधिक सफलता की उम्मीद हो सकती है|

8.)  मजबूत आत्मबल अथवा किसी भी प्रकार के सुरक्षा आवरण से प्रभावित व्यक्ति पर सामान्य और छोटी क्रियाएं प्रभाव नहीं डालती| इसके लिए गंभीर अनुष्ठानिक क्रिया कराने वाले और करने वाले दोनों द्वारा किया जाना आवश्यक हो जाता है.

पढ़े : कम समय में कुंडलिनी जागरण की सर्वोत्तम क्रिया योग की विधि

क्षमतावान का मिलना मुश्किल

यद्यपि एक से बढकर एक सक्षम व्यक्ति और साधक है ,जो कही भी कभी भी कुछ भी कर पाने में सक्षम होते हैं , किन्तु अक्सर क्षमतावान का मिलना मुश्किल होता है या उन्हें रूचि नहीं होती |ऐसे में अक्सर सामान्य लोग ही किसी जानकार की सलाह से यह सब करने लगते है ,और जरुँरत भी खुद करने की होती है ,{सहायता जरुर किसी साधक से ली जा सकती है }, अतः पूर्ण क्रिया, पद्धति विधि आदि की जानकारी होनी चाहिए |विचारों की शुद्धता की कमी ,उद्देश्य की पवित्रता का अभाव ,एकाग्रता में कमी ,लक्ष्य का भटकाव ,सही तरीके  सही वस्तु का सही स्थान पर उपयोग न जानना ही असफल ही बनता है …..

vashikaran fail तो क्या करे

अगर आपको भी लगता है की आपके साथ धोखा हुआ है। तो सबसे पहले आप उस बैंक की डिटेल चेक करे जिसके द्वारा आपने पैसे जमा करवाये है। नाम अलग मिलने पर आप उसे इन्टरनेट पर चेक करे। फेसबुक पर हर वो इंसान है जो इन्टरनेट जानता है। इस तरह से आप उसकी डिटेल शेयर कर लोगो को अवेयर कर सकते है। गूगल से रिक्वेस्ट कर ऐसी वेबसाइट को ब्लॉक किया जा सकता है।

पढ़े :  रैकी द्वारा पास मार्जन की क्रिया से हीलिंग

सबसे ज्यादा वशीकरण एक्सपर्ट दिल्ली और जयपुर में है आप अगर राजस्थान से है या फिर इसके आसपास से तो आप आसानी से इन्हें पकड़ सकते है। यकीन मानिये अपनी वास्तविक जिंदगी में ये लोग आपकी तरह आम लोगो की तरह ही रहते है। बदनामी से डरकर या तो आपका पैसा वापस कर देंगे या फिर आप उनके खिलाफ एक्शन ले सकते है।

आज की पोस्ट का उदेश्य लोगो को ऑनलाइन फ्रॉड से बचाना है अगर आप किसी vashikaran fail का शिकार हो चुके है तो अपने अनुभव यहाँ शेयर करे आपकी जानकारी और लोगो को फ्रॉड का शिकार होने से बचा सकती है।

अगर आपके पास ध्यान से जुडी बढ़िया पोस्ट, जानकारी, अनुभव है तो आप हमारे ब्लॉग पर इसे शेयर कर सकते है। अपनी पोस्ट हमें sachhiprerna@gmail.com पर भेजे आपकी फोटो और आपके नाम के साथ हम इसे पब्लिश करेंगे।

आज की पोस्ट पर कमेंट कर अपनी राय जरूर दे।

6 COMMENTS

  1. Hi guyz
    I wanna share my experience to all of you that every online pandit and baba’s are fake online pandit baba molvi fake fake fake
    In may my gf cheated me and i love her totally and i wanna get her back then i saw a add on tv the baba name sulemani or the adv is pay aftr work nd all then i went there and
    I have visited ludhiana first they take money for pooja and they took 8000 for pooja after that they told they will do your work in 24hrs i give him 8000 then they took total 70k around in 10 days and he didn’t work and i have cheated aftr his name sulemani Ludhiana and number is 9815433956
    After that i got number from anyone his name swami dayanad he is from rasjestan and his number +919694146493 and he took 5000 and his name of bank and ifsc code AC no. 3959001500035398
    Ifsc code PUNB00395900
    Ac holder name:- ajay baghla
    And after that i got mail from pandit mk ji he tool first 8000 for bhandara mata ka and aftr that took 26000 for pooja last and his number is 9888785786
    Jatinder sharma
    20222555032
    Ifsc code SBIN0001547
    This is my totally experience and i have lost around 1.5 lac of this chakarview and i got nothing
    And we didn’t complaint bcz here no law for this we can fight own please no one give money first this is humble request for you
    Thankyou

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.