इस तरह श्री यन्त्र त्राटक साधना करने पर तीनो जगत वशीकरण की शक्ति मिलती है

2
11
shree yantra tratak

shree yantra tratakshree yantra tratak in hindi यानि tratak kriya जब एक यन्त्र पर की जाए तो क्या shree yantra tratak se jyada benefit milta h अगर हमें sammohan shakti chakra का लाभ लेना है तो shree yantra के किस चक्र पर tratak meditation करना चाहिए। ऐसे कई सवाल है जो tratak on sree yantra से जुड़े है। shree chakra वास्तव में श्री यन्त्र के वो लेयर है जो अलग अलग बेनिफिट लिए है। किस चक्र पर tratak meditation कोनसा बेनिफिट दिलाता है आज जानते है।

tratak sadhna in hindi में कई तरीको का वर्णन है जो अलग अलग महत्व लिए है। उनमे shakti chakra tratak in hindi और shree yantra tratak लगभग सबसे ज्यादा powerful माने गए है। shree yantra image par tratak करने से कैसे हमें सही लाभ मिलेगा और tratak benefit को ज्यादा से ज्यादा कैसे हासिल करे ऐसे कई सवालों का जवाब आज हम जानेंगे।

shree yantra tratak meditation in hindi :

श्री यन्त्र पर त्राटक ध्यान करने से हमें कई अनुभव ऐसे होते है जो आध्यात्मिक रूप से हमें मजबूत बनाते है। श्री यन्त्र की 9 लेयर में हमें सबसे ऊपरी और मध्य की लेयर पर त्राटक करना चाहिए। इससे ना सिर्फ हमें wealth मिलती है बल्कि triloki vashikaran यानि तीनो जगत का वशीकरण भी मिलता है। लेकिन sree yantra image par tratak करने से पहले आपको सबसे खास बात जान लेनी चाहिए की श्री यन्त्र कब हमें सही लाभ देगा।

shree yantra benefit in hindi की बात करे तो श्री यन्त्र की स्थापना और प्राण प्रतिष्ठा के बाद अगर हम shree yantra tratak करे तो हमें vashikaran और wealth यानी धन प्राप्ति होती है। लेकिन ये तभी होगा जब आप इससे जुड़े सभी नियमो का कड़ाई से पालन करेंगे।

tratak on shree yantra :

sree yantra tratak kriya vidhi हमारे पूजा पाठ के तरीको से जुडी है। जिस तरह हम देवी देवता की स्थापना करते है उसी तरह से श्री यन्त्र की स्थापना करनी चाहिए। इसके बाद श्री यन्त्र के सामने दीपक प्रज्ज्वलित कर मानसिक tratak meditation करना चाहिए तथा भगवान् शिव और माता पार्वती का ध्यान लगाना चाहिए जिससे की shree yantra me energy flow करने लगे।

shree yantra par tratak करने के लिए इसके सबसे ऊपर वाली लेयर और मध्य वाली लेयर का चुनाव करे। इसका मंत्र श्रीम है जिसमे श्री लम्बा खिंचाव लिए हुए है। बाकि सभी विधि एक normal bindu tratak जैसी है। आइये जानते है श्री yantra से जुडी कुछ खास बातो को जिन्हे जान कर ही हमें घर में श्री यन्त्र की स्थापना करनी चाहिए।

श्री यन्त्र और इसका उपयोग और मह्त्व

shree yantra एक divine yantra है जो हिन्दू धर्म में symbol of wealth माना जाता है। घर में sree yantra ki sthapna हालाँकि लोग सिर्फ wealth यानि धन प्राप्ति के उदेश्य से करते है फिर भी समय के साथ tratak me shree yantra ka upyog किया जाने लगा क्यों की इसके experience spiritual थे। हिन्दू धर्म के सबसे खास यन्त्र यानि श्री यन्त्र की बनावट और इसके डिज़ाइन को समझ कर आप अंदाजा लगा सकते है की ये किस तरह से हमारे लिए खास है। sammohan shakti chakra पर त्राटक करना हमें shree yantra benefit दिलाता है।

sri yantra image design and fact :

shree yantra को symbol of wealth यानि धन का प्रतिक माना गया है। ज्यादातर लोग अपने घर और पर्स में श्री यन्त्र की स्थापना करते है ताकि धन का प्रवाह बना रहे। shree yantra image design की बात करे तो इसमें 9 खास चक्र होते है जिसके मध्य में त्रिपुरा-सुंदरी निवास करती है। ये चक्र अलग अलग benefit लिए होते है। shree chakra tratak in hindi में हमें किस चक्र पर त्राटक करना चाहिए आइये जानते है अलग अलग लेयर यानि चक्र के महत्व को।

9 chakra in shree yantra :

sree yantra के ये 9 layer अलग अलग personality benefit से जुड़े है।shree yantra tratak in hindi

  1. पहली लेयर लाल रंग की है जिसका मंत्र श्रीम है और अगर हम इस लेयर पर त्राटक करते है तो धन की प्राप्ति होती है ऐसा जानकारों का मानना है।
  2. दूसरी लेयर या चक्र हमारे समृद्धि से जुड़ी है जिसके अनुसार इस पर नियमित मैडिटेशन करने से wealth और health में इजाफा होता है साथ ही हम जो चाहे वो पा सकते है।
  3. तीसरा चक्र : श्री यन्त्र की तीसरी लेयर में बीमारियों को रोकने की क्षमता होती है।
  4. चौथा चक्र सभी प्रकार के दोष का निवारण करता है।
  5. पांचवा चक्र आपके सभी रुके हुए काम सिद्ध करता है।
  6. sixth layer of shree yantra आपके भविष्य को ज्यादा बेहतर बनाती है।
  7. seventh layer of shree yantra आपके चारो और से negativity को दूर करती है।
  8. eightth layer आपकी सभी इच्छाओ की पूर्ति करती है।
  9. नौवे नंबर की लेयर यानि center of shree yantra पर त्राटक करना आपको triloki vashikaran ki sidhhi देता है।

tratak se pahle shree yantra ki sthapna ka sahi trika :

shree yantra ki sthapna करने से पहले आपको कुछ खास बातो का ध्यान रखना होता है क्यों की श्री यन्त्र पर त्राटक से पहले इसको ऊर्जावान बनाना बेहद जरुरी है।

shree yantra image की स्थापना किस तरीके से करे :

श्री यन्त्र की प्राण प्रतिष्ठा में ध्यान रखने योग्य कई ऐसी बाते होती है जिन्हे ध्यान ना दे पाने पर हम shree yantra को सही तरह से प्राण प्रतिष्ठित नहीं कर पाते है। इसके लिए निम्न 4 बातो का ध्यान रखे।

  • shree yantra को energetic बनाने के लिए shree yantra meditation यानि पूर्व ध्यान करे जिससे आपकी ऊर्जा श्री यन्त्र से जुड़ जाए।
  • श्री यन्त्र की sthapna घर में ऐसी जगह करे जो मंदिर लायक हो, अगर आप shree yantra par tratak in hindi करने की सोच रहे है तो घर में ऐसी जगह इसकी स्थापना करे जहा पर एकांत हो और स्थापित किया जा सके।
  • shree yantra image की स्थापना के बाद अगर आपके घर में किसी तरह की लड़ाई झगड़ा या मीट और शराब का सेवन होता है तो श्री यन्त्र निस्तेज हो जाता है जिससे की इसका प्रभाव नहीं रहता।
  • श्री यन्त्र की स्थापना ही नहीं प्राण प्रतिष्ठा भी बेहद आवश्यक है और ये हम भी कर सकते है लेकिन बेहतर होगा किसी शुभ मुहूर्त में ऐसे व्यक्ति जैसे पंडित से shree yantra pran pratishtha करवाई जाए जो ये विधि जानता हो।

sree yantra के ऊपर हमेशा पीला कपड़ा रखे अगर मंदिर में स्थापित है तो इसके ऊपर पीला पर्दा हो। कही आने जाने में अगर श्री यन्त्र लाना ले जाना पड़े तो साफ पिले कपड़े से ढक कर लकड़ी के बॉक्स में इसे रखे।

श्री यन्त्र से जुड़े फैक्ट – fact about shree yantra :

  • श्री यन्त्र की स्थापना के बाद शुक्ल पक्ष के बुधवार, पूर्णिमा और होली दीवाली जैसे त्यौहार और खास दिन इसकी स्पेशल पूजा या ध्यान होना बेहद जरूरी है क्यों की इन दिनों में इसका प्रभाव और लाभ दोनों बढ़ जाते है।
  • सबसे पहले श्री yantra को साफ करना बेहद जरुरी है इसके लिए सबसे पहले गुरु ध्यान करते हुए यन्त्र के सामने दीपक प्रज्ज्वलित करे और फिर शिव तथा माता पार्वती का मानसिक ध्यान करे।
  • shree yantra tratak करने के लिए यन्त्र के मध्य पर tratak meditation करे और इसके बाद सूक्त पाठ भी। अगर ये नहीं कर सकते और यंत्र पूजा नियमित न हो तो बुधवार पूर्णिमा को जरूर करे।
  • shree यन्त्र के 9 layer और 45 त्रिभुज अलग अलग 45 देवी देवताओ का प्रतिनिधित्व करते है। इस लिए अगर आप इसकी स्थापना घर में करते है तो पहले घर के माहौल को कण्ट्रोल कर ले।

sree yantra की समय समय पर पूजा पाठ ना कर पाने से negative effect भी होने लगते है इसलिए अगर आपके घर में कोई इसकी टाइम पर पूजा न कर पाए तो इसकी स्थापना न करे।

श्री यन्त्र सिद्धि :

shree yantra ki sidhhi के लिए सिल्वर श्री यन्त्र को अपने पास रखे और इस पर त्राटक करते हुए

om shrim hring shrim mahalakshmaye shrim hring shrim namah

मंत्र का 108 बार जाप करे। 125, 000 बार जाप सिद्ध माना गया है, जो शुभ है। shree yantra और shakti chakra tratak अलग नहीं है दोनों ही most powerful tratak है। बदलाव सिर्फ माध्यम का है की हम किस माध्यम को ज्यादा मानते है यहाँ भावनाए हमें प्रेरित करती है की हम किस पर ज्यादा देर फोकस रह पाते है।

जैसी हमारी भावनाए त्राटक के दौरान रहती है वैसे ही हमें अनुभव होते है। इसलिए जो माध्यम आपको बेहतर लगता है त्राटक उसी पर करना चाहिए। shree yantra tratak की आज की ये पोस्ट आपको कैसी लगी हमें जरूर बताए साथ ही लेटेस्ट अपडेट के लिए हमें सब्सक्राइब करे।

Never miss an update subscribe us

* indicates required

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.