क्या शाबर मंत्र और झाड़फूंक द्वारा बीमारियों का भी इलाज किया जा सकता है – Top 5 mantra

2

ओझा द्वारा झाड़ा लगाने का सच क्या है ? क्या झाड़ा लगाने से बीमारी ठीक हो सकती है ? बीमारी ठीक करने के शाबर मंत्र और झाड़े क्या वाकई काम करते है ऐसे ही कई सवाल आते है हमारे मन में. शाबर मंत्र और इनके झाड़े सुनने में काफी सरल और सहज लगते है लेकिन इनका प्रभाव देखने लायक होता है. झाड़फूंक और बीमारियों का ईलाज करने में शाबर मंत्र बेहद प्रभावी है. स्वयं सिद्ध शाबर मंत्र क्या होते है और इन्हें कैसे काम में ले आइये जानते है.

शाबर मंत्र और इनके झाड़े

आपने अपने आसपास देखा होगा कुछ लोगो को मोरपंख / चाकू लेकर झाड़ा लगाते हुए और लोग इससे अच्छे होकर भी जाते है. ऐसा कैसे हो सकता है ? क्या बिमारी को झाड़फूंक द्वारा सही किया जा सकता है, हालाँकि अन्धविश्वास के चलते लोगो की मौत भी होती है जैसे की सर्प के काटने पर उसका मेडिकल इलाज करवाने की बजाय उसे ओझा के पास ले जाना.

कई बार लोग सही भी हो जाते है और हम भी इस तरह के supersition को बढ़ावा नहीं देते है लेकिन कुछ शाबर मंत्र और इनके झाड़े जो वाकई काम करते है और खुद का देखा हुआ है इसलिए यहाँ आपके लिए शेयर किया जा रहा है.

बीमारी ठीक करने के शाबर मंत्र और इनके झाड़े

अगर आप गाँव से ताल्लुक रखते है तो ओझा / भोंपा जैसे शब्द आपके लिए नए नहीं है. ये लोग झाड़े लगाने के लिए अपने आसपास famous होते है. कही कही पर सांप के काटने पर medical treatment नहीं ओझा द्वारा झाड़-फूंक करवाई जाती है. कई बार ठीक भी हो जाते है लेकिन इसे अन्धविश्वास ही कहा जा सकता है.आज हम जानने वाले है ऐसे ही Top 5 shabar mantra for disease in hindi यानि मंत्रो द्वारा बीमारी ठीक करने और झाड़ा लगाने के बारे में.

शाबर मंत्र और इनके झाड़े – special credit

जैसा की मै आपको पहले भी बता चूका हूँ की मेरे दादा जी काफी famous थे पूजा पाठ करने के मामले में और लोग उनके पास शाबर मंत्र सीखने के लिए आते थे. कुछ बीमारियों के इलाज वो झाड़े के रूप में करते थे जिसमे पीलिया, दाढ़ के दर्द और नजर उतारने के इलाज मुख्य थे. अपने समय में वो तंत्र और मंत्र के भी अच्छे जानकार थे. इसका credit उनके पास रखी इंद्रजाल की पुरानी किताब को जाता है.

इस किताब से पढ़कर वो अक्सर मंत्र सीखते थे और वही बुक आज blog पर Digital product book यानि PDF के रूप में बेचीं जाती है. इसे आप blog से purchase कर सकते है. ज्यादा जानकारी के लिए इसे पढ़े. आइये जानते है कुछ ऐसे शाबर मंत्र के झाड़े जिनका प्रभाव प्रत्यक्ष देखने को मिलता है. अगर आप निचे दिए गए मंत्र का प्रयोग करना चाहते है तो पहले किसी भी शुभ समय में इन्हें सिद्ध कर ले. सिद्धि में कोई संख्या की limitation नहीं है, 10 माला या इससे भी ज्यादा आप कर सकते है.

# 1 ) पीलिया का झाड़ा

पीलिया के लिए शाबर मंत्र और इनके झाड़े आसानी से सिद्ध हो जाता है. ये कई जगह बहुत common है क्यों की पीलिया की बीमारी में दवाई का असर तुरंत नहीं होता है लेकिन सिर्फ 3 दिन में ही झाड़े द्वारा पीलिया को दूर किया जा सकता है. जिन लोगो को लगता है की शाबर मंत्र काम नहीं करते है इस मंत्र को सिद्ध कर आजमा सकते है.

पीलिया का झाड़ा रोगी को दवाई की तुलना में ज्यादा आराम देता है. इसका देशी इलाज सांठे की जड़ है जो राजस्थान में काफी आसानी से मिल जाती है. सांठे की जड़ की माला अगर पहनाई जाए तो भी पीलिया में दोगुना ज्यादा आराम मिलता है.

मंत्र :

ॐ नमो वीर वैताल असराल नारसिंह देवखादी तुषादी सुभाल तुलाल

पीलिया तो काटे झारे पीलिया रहे न नेक निशान

जो रह जाय तो हनुमंत की आन |

विधि : कांसे के कटोरे में सरसों का तेल डाल ले. रोगी को सामने बैठाए और उसके सर पर उसे रख दे. रोगी जब उसे पकड कर बैठे तो उसके सामने तेल में दूर्वा ( दूब ) को तेल में चलाते हुए 21 बार मंत्र का जाप करे और रोगी पर फूंक मारे. ऐसा रोज 2 बार 3 दिन तक करे. 3 दिन में तेल में गाढापन आने लगता है और उसका रंग बदलने लगता है तथा रोगी को आराम मिलने लगता है. जल्दी फायदा पहुँचाने के लिए सांठे की जड़ की माला भी पहना सकते है.

# 2 ) शाबर मंत्र और इनके झाड़े – आधाशीशी का दर्द

ये एक ऐसी बीमारी है जिसका मेडिकल में कोई पुख्ता और exact इलाज नहीं है. सिरदर्द की दवाई भी इसमें काम नहीं करती है और मरीज बहुत ज्यादा परेशान रहने लगता है. शाबर मंत्र का झाड़ा आंधाशिशी के लिए इसका सही solution मुझे लगा है ( इसका मतलब ये नहीं की में इसका support ही करता हूँ ) कुछ दिन पहले मुझे खुद इसकी शिकायत हुई थी और में काफी परेशान था. पड़ोस में रहने वाली दादी से बात हुई तो वो बोली की सुबह आ जाना और पानी का एक गिलास ले आना.

फिर दुसरे दिन कुछ झाड़ा उन्होंने लगाया और उगते हुए सूर्य की झलक पानी में दिखाई और अमेजिंग दर्द ठीक हो गया. जो लोग इसे महज तुका, बकवास मानते है उन्हें में बता दू ये मेरा खुद का experience है और ये वाकई काम करता है.

मंत्र :

ॐ नमो दुघटा तौ बनमे बसे, तिपटो बसे कवाय

शीश पकड़ी करि चलिए, आधाशीशी जाय

विधि : रविवार को सूर्योदय के समय एक गिलास में जल लेकर 21 बार इस मंत्र का जाप करे और पानी में फूंक मार कर इसके छींटे दे.

दूसरी विधि :

ॐ नमो बनमे ब्यानी वानरी, उछर वृक्ष पर जाय

कूदी कूदी शाखानपै, काचा बन फल खाय

आधा तोड़े आधा फोड़े, आधा देय गिराय

हुंकारत हनुमानजी, आधाशीशी जाय

विधि : रोगी को सामने बिठा ले और मंत्र पढ़ते हुए चाकू से सात रेखा खींचे और फिर उन पर सात आड़ी रेखा खींचते हुए काट दे. 7 बार मंत्र पढ़े इससे 2-3 बार में ही फायदा मिलने लगता है.

# 3 ) धरण डिगने का इलाज के लिए शाबर मंत्र और इनके झाड़े

कई बार ऐसा होता की वजन उठाते ही धरण ( पेट की एक नाड़ी ) अपनी जगह से हट जाती है. अगर आपको पेट दर्द, खाना ना पचना और खाते ही शौच होने लगे तो ये धरण के symptom हो सकते है. गाँव में इसकी मालिश की जाती है और कही पर झाड़ा दिया जाता है.

मंत्र

ॐ नमो नाडी नाडी नौसे नाडी बहतर कोठा चले

अगाड़ी डिगे न कोठा चले नाडी रक्षा करे हनुमंत की आन

विधि : एक बांस की लकड़ी ले जिसमे 9 गांठ हो, इसे नाभि पर रखे मंत्र पढ़े और फूंक मारे. इससे नाभि अपने स्थान पर आ जाती है.

अलग अलग जगह इसे करने के तरीके में फर्क हो सकता है लेकिन ये एक कारगर तरीका है. धरण का कोई मेडिकल इलाज नहीं है सिर्फ मालिश ही इसका प्राथमिक इलाज है लेकिन ऐसा करने से इसकी समस्या दूर नहीं होती है बल्कि बढती है क्यों की बाद में इसे वापस करने का सिर्फ मालिश का उपाय ही बचता है.

एक बार धरण डिगने पर मालिश करवा ले तो फिर ये आसानी से डिगने लगती है. इसका इलाज सिर्फ योगा और प्राणायाम ही है साथ ही धरण डिगने का झाड़ा भी कारगर इलाज है.

# 4 ) नजर दूर करने का झाड़ा

सबसे ज्यादा बच्चो को नजर होती है. वैसे तो हर उम्र में और हर किसी को यहाँ तक की पशुओ को भी नजर लग सकती है. कुछ लोगो का मानना है की ये महज अन्धविश्वास है लेकिन ऐसा सच नहीं है. वास्तव में नजर लगती है. नजर लगना क्या है ?

जब कोई आपको किसी काम के टोक दे / बोल दे और फिर आपका वो काम ना बने तो इसका मतलब है उसकी नजर आपको लग गई है. आज भी नजर उतारने के लिए शाबर मंत्र और इनके झाड़े बेहद प्रभावी माने जाते है.

नजर लगने के कुछ example जिसका जवाब science के पास भी नहीं है
  1. छोटे बच्चे जिन्हें अगर कोई जी भर कर प्यार करने लगे और बोले की ये तो प्यारा है और फिर वो बच्चा दूध नहीं पीता है, लगातार रोता है जब तक उसकी नजर नहीं उतार ली जाती है.
  2. आपके पशु अच्छा दूध देते है और आपका पडौसी दूध निकालने के टाइम बोल दे की “आपकी भेंस का दूध अच्छा है” और “कितना दूध देती है !” ऐसी बाते कहने के बाद आपकी भेंस के दूध की quality और quantity में फर्क आने लगता है. यही वजह है की ज्यादातर औरते दूध निकालते वक़्त ये नहीं चाहती की कोई उन्हें देखे.
  3. आपका काम अच्छा चल रहा होता है और अचानक कोई रिश्तेदार आपको ये कह देता है की “अरे बाप रे कितना काम चल रहा है आपका” और फिर आपके बनते काम बिगड़ने लगते है. ऐसा क्यों होता है किसी के पास जवाब नहीं होता है.
  4. सबसे बड़ी बात ऐसी condition में झाड़ा लगाने, देसी इलाज करने और किसी तरह के उपाय जैसे ताबीज, यन्त्र की स्थापना के बाद आपकी स्थिति पहले जैसी हो जाती है.

नजर दूर करने का शाबर मंत्र और इनके झाड़े

ॐ नमो सत्य नाम आदेश गुरु का

ॐ नमो नजर जहां पर परि न जानी

बौलेचल्सो अमृतबानी कहे नजर कहाँ से आई

यहाँ की ठौर तोहिं कौन बताई

कौन जाति तेरो कहाँ ठाम, किसकी बेटी कहां तेरो नाम

कहाँ से उड़ी कहाँ को जाय, अबही बस कर ले तेरी माया

मेरी जाति सुनो चित ले, जैसी होय सुनाऊ आय

तेलिन, तमोलिन, चडी, चमारी, कायथनी, खतरानी, कुम्हारी

मेहतरानी रजा की रानी जाको दोष वाहिके सिर पड़े

जहर पीर नजरसे रक्षा करे

मेरी भक्ति गुरु की शक्ति फुरो मंत्र इश्वरोवाचा

विधि : मंत्र पढ़ते हुए मोर पंख का झाड़ा सर से पैर तक दे, 7 और 21 बार में फायदा मिल जाता है.

नजर उतारने का सबसे बढ़िया उपाय मिर्च और राई ( कही कही पर रोगी की पेरो की धूल ) का मिश्रण रोगी के सर पर 7 बार घुमाकर झटके से आग में डाल देना है.

# 5 ) जाड़ ( मसूडो ) के दर्द के ईलाज का झाड़ा

मसूड़ो के दर्द में अक्सर लोग डॉक्टर के चक्कर काट काट कर थक जाते है. मसूड़ो का दर्द / कीड़ा लगने का इलाज क्या वाकई शाबर मंत्र या झाड़ा लगाने से संभव है ? हाँ क्यों की बचपन में खुद इसे लोगो पर करता हुए देख चूका हूँ. वैसे तो ये बहुत ज्यादा बड़ी प्रॉब्लम नहीं है लेकिन ये झाड़फूंक से कैसे सही होता है ये सोचने वाली बात है. दांत दर्द का झाड़फूंक द्वारा इलाज करवाना कोई फेक बात नहीं है ये संभव है.

मंत्र

ॐ नमो कामरूदेश कामाक्षी देवी जहाँ बसे इस्मायल योगी

इस्मायल योगी ने पाली गाय नित उठ चरवा वन में जाय

वन में चरे सूखा घास, खाय पियके गोबर किया जामे निपज्या कीड़ा

सात सूत सुताला पूंछ पुंछाला धड़ पीला मुह काला

दाढ़ दांत गाले मसूढा गाले मसूढे करे तो गुरु गोरखनाथ की दुहाई फिरे

विधि : मंत्र को सिद्ध करने के बाद इस मंत्र को पढ़ते हुए 3 कील ( लोहे की ) लेकर काठ में थोक दे पीड़ा दूर होगी.

मसूड़ो की समस्या और दांत का कीड़ा मारने का झाड़ा ( शाबर मंत्र )

अगर किसी को दांत में दर्द के साथ साथ कीड़ा भी लगा हुआ है तो निचे दिए गए शाबर मंत्र का प्रयोग करे. ये अविश्वसनीय है क्यों की इसमें पहले कीड़ा वही रुक जाता है और दर्द थम जाता है और बाद में तो कीड़ा मर भी जाता है और रोगी पूरी तरह ठीक हो जाता है.

सकोरा में सामे में सिशे में पानी सीची में कीड़ा कीड़ा में कीड़ा मरे पीड़ा हरे

शब्द सांचा पिंड कांचा फुरो मंत्र इश्वरोवाचा

विधि : लोहे की दो कील लेकर इन्हें मंत्र से कीलित कर ले एक को कुए में और दुसरे को निम्बू में गाड़ दे. कीड़ा मर जायेगा और दर्द में भी आराम मिलेगा. 2-3 बार करे. कुए ना होने की स्थिति में नहर, जोहड़ में भी डाल सकते है. दांत दर्द दूर करने के लिए शाबर मंत्र और इनके झाड़े बचपन में मेने दादा जी को कई बार करते हुए देखा भी है.

कैसे करे इन आसान शाबर मंत्र को सिद्ध

  1. अगर आपको लगता है की आप इन मंत्रो को किसी भी condition में जाग्रत / सिद्ध कर सकते है तो कुछ बाते जान ले.
  2. इन्हें आसानी से वही सिद्ध और प्रयोग कर सकता है जो पूजा पाठ करता हो यानि पूजा पाठ आपके जीवन का नियमित हिस्सा हो.
  3. समय समय पर जैसे अमावस / पूर्णिमा / शनिवार / काल रात्रि को मंत्र के बार बार जागरण की आवश्यकता रहती है. इसलिए एक बार सिद्ध होने के बाद इन्हें बार बार जाग्रत करते रहे ताकि इनकी शक्ति और प्रभाव बना रहे.
  4. सिर्फ दिखावे से आप इन्हें सिद्ध नहीं कर सकते है इसके लिए आपकी श्रधा होनी चाहिए.
  5. ये एक समाज सेवा का काम है इसलिए इससे मिलने वाले पैसे का प्रसाद बच्चो में बाँट देना चाहिए.

शाबर मंत्र और इनके झाड़े – final word

वैसे तो ऐसे कई शाबर मंत्र और झाड़े है जिनका प्रयोग दैनिक जीवन की बीमारियों में किया जा सकता है जैसे गले की सूजन, नेत्र दुखने और बिच्छू के जहर उतारने का मंत्र जिन्हें आसानी से सिद्ध किया जा सकता है. अगर आप ऐसे ही किसी मंत्र की विधि यहाँ पर जानना चाहते है तो हमें कमेंट में बताए. आज की पोस्ट बीमारी दूर करने के लिए शाबर मंत्र और इनके झाड़े कैसी लगी हमें जरुर बताए ताकि हम आगे भी आपके साथ ऐसी पोस्ट शेयर कर सके.

बहुत सारे लोग शाबर मंत्र सिद्ध करने के लिए काफी कोशिश करते है लेकिन सफल नहीं होते है लेकिन इसकी वजह शाबर मंत्रो का काम ना करना नहीं है बल्कि आपके अन्दर श्रधा और विश्वास की कमी है. कुछ मंत्र सिद्ध होते है, कुछ जाग्रत और कुछ को जाग्रत करना पड़ता है. इसलिए शाबर मंत्र और इनके झाड़े बेहद प्रभावी है क्यों की ये पहले ही सिद्ध होते है.

इन पोस्ट को भी पढ़े

  1. किसी भी शाबर मंत्र को आसानी से जाग्रत करने वाली अलोकिक साधना जो वशीकरण सिखने में काम आती है
  2. साधना में जल्दी सफलता के लिए बीज मंत्र का इस तरह उच्चारण जरूर करना चाहिए
  3. घर बैठे किये कराये जैसे वशीकरण और काले जादू की काट करने का सरल उपाय जो सुलभ है
  4. अगर आप खुद में ये बदलाव महसूस करते है तो हो सकता है आप पर वशीकरण का खतरा
  5. इस पूर्ण चंद्रग्रहण की रात्री का एक प्रयोग और कर पाओगे सबसे शक्तिशाली वशीकरण

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.