आत्माओं से बात करने के सबसे सरल माध्यम में से एक – amazing tricks of table science

2
6
atma ko bulane ka plainchit tarika

atma ko bulane ka plainchit tarika तो आप सबने सुना ही होगा जिसमे कुछ लोग घेरा बना कर बैठते है और उनमे से एक आत्मा से बात करने का जरिया बनता है।plain chit में कुछ आकर्षण तत्व होते है जिनके बारे में पिछली पोस्ट में जिक्र किया था। atma ko bulane ka plainchit tarika hindi में प्रयोग के दौरान हमें शांत, स्थिर और गंभीर रहना चाहिए। plain-chit or आत्मा के आवाहन पर आधारित कई हॉलीवुड फिल्मे जो सत्य घटना पर बेस्ड है बन चुकी है जिसमे ओउजा सबसे खास है।

atma ko bulane ka plainchit tarika

Europe में वर्तमान समय में इस विधा का अधिक प्रचार है, परन्तु यह भी हमारी पूर्वक योग विद्या के धारनांग की एक क्रिया है. जिसको साधारण मानव जादू या भुत विद्या के नाम से जानने लगे है. वास्तव में akrshn art or mesmerism अति कठिन है. इसके हासिल करने की रीति यही है की आत्मा का संयम करो, आत्मा के संयम से यह अपूर्व विद्या मनुष्य में आ जाती है जिससे वह मृतक आत्माओं को अपने पास बुला कर चाहे जो सहज में करा सकेगा. आइये आत्माओं को बुलाने के तरीके को जाने।

आज की पोस्ट में बात करते है टेबल विज्ञान की ये आत्मा को बुलाने का एक जरिया है जिसमे हम कुछ आकर्षण की चीजो को टेबल के अंदर रखते है और सामान्य से खास में बदलते है। आत्माओ को बुलाने के खास तरीको के बारे में हम पहले भी बात कर चुके है। इसके लिए आप आत्माओ को बुलाने के 5 खास तरीके जरूर पढ़े।

atma ko bulane ka plainchit tarika -करामाती मेज

plain-chit

जिस atma ko bulane ka plainchit tarika किया जाता है उस का नाम table science है. पहले एक गोलाकार मेज आम या जामुन की बनाइये. पहले दो या तीन फुट की गोलाई का एक तख्ता बढई (carpenter ) से बनवाकर रंडवा कर खूब साफ कर ले इसके निचे 3 पाए एक बराबर लगाओ.

फिर एक पाया उसमे बिच लिए पाए की चौड़ाई से ड्योढ़ी उचाई रखो, इसमें ऊपर के सिरे पर एक गोल चकला लगाकर तख्ते को उस पर जड़ दो.

वह यही करामाती मेज है. परन्तु ऊपर के तख्ते में थोड़ा सा गढ्ढा करके उसमे चुम्बक पत्थर समशानी, मोर पंख का चंदवा छिपकली की पूंछ, यह सब वस्तु मिलकर भरी जाती है।

plain chit-मेज रखने का मकान

एक ऐसा मकान तलाश करो, जिसमे गर्मी व् सर्दी अधिक न हो न ही अधिक हवा का आवागमन हो न ही अधिक अंधकार हो न ही उजाला। फर्श पर दरी बिछा दे और पांच सात बत्तियां धुप की और कपूर सुगंध लिए राखी रहने दो।

पढ़े  : वशीकरण एक्सपर्ट से संपर्क करने से पहले जान ले ये जरुरी बातें

atma ko bulane ka plainchit tarika – प्रयोग विधि

कमरे के मध्य भाग में यह मेज रख दे। इसके चारो और बराबर दुरी पर 3 स्टूल बिछाकर 3 मनुष्य उन पर प्रयोग के लिए बिठा ले। तीनो इस प्रकार बैठे की उनके अंगूठे दूसरे के अंगूठे से मिलता रहे। शेष दोनों आदमियों की कनिष्ठ अंगुली को छूती रहे।

जिस समय करामाती मेज पर आत्मकर्षण का प्रयोग किया है, उस समय मेज में भरे हुए आकर्षण विद्युत पात्र की औज से भरे हुए हो. यानि आकर्षण शक्ति को जाग्रत करना पड़ता है. ये आकर्षण शक्ति मेज में आई हुई आत्मा को अपनी तरफ खिंच लेती है. और वह आत्मा जो आ गई है।

जब तक साधक पूर्ण नहीं हो जायेगा तब तक वाही रहेगी और जिस साधक में वह आती है वो अचेत रहती है, परन्तु यह प्रयोग 1 घंटे से ज्यादा नहीं किया जा सकता है. यदि ऐसा होता है तो आत्मा साधक को अचेत करके अपने कार्य में निगमन हो जाती है।

आवाहन रीति ( आत्माओं का अस्तित्व है या नहीं )

करामाती मेज पर रखे हुए हाथो के केंद्र छिद्र कर के उसमे पुष्प या गेंदा का पुष्प रखो, फिर तीनो एकाग्रचित से ईश्वर से प्राथना करनी चाहिए और निगाहे पुष्प पर जमाए रखे मन में विचार करे की आत्मा इसमें आवे.

जब आकर्षण शक्ति तीव्र हो जाती है तब वह आसपास विचरण करती किसी आत्मा को मेज में पदार्पण करेगी. आत्मा का आना मेज में इस प्रकार मालूम होगा की हाथो में चींटी की सनसनाहट शब्द सुनाई पड़ेगा और कहने पर जिस पाए को उठाओगे, वही पाया उठेगा।

पढ़े  : जिन्न और उनकी दुनिया का रहस्य

आत्मा का खिलाना

आत्मा किस धर्म से है. इसमें जब आत्मा ए तब आत्मा से भय नहीं करना चाहिए बल्कि द्रढ़तापूर्वक आत्मा से सवाल पूछना चाहिए. जिस व्यक्ति में आत्मा प्रवेश करती है उसमे सनसनाहट आत्मा उसमे प्रवेश कति है जिससे उसका शरीर भारी प्रतीत होता है. मानसिक शक्ति निर्बल हो कर आत्मशक्ति बलवान हो जाती है. उस समय जैसा सवाल किया जाता है उसका सही जवाब मिलता है।

spirit  वापस भेजना

जिस समय कार्य पूर्ण हो जाये उस समय सविनय निवेदन करना चाहिए की वो व्यक्ति के शारीर को छोड़ के चली जाये. प्राथना करने के बाद भी आत्मा न जाये तब मधुर गान द्वारा ईश्वरीय भजन/प्राथना सुनाइए। भजन या प्राथना में लीन होकर आत्मा उतर जाती है. यदि फिर भी न उतरे तो निम्न मंत्र का उच्चारण करे।

ॐ भूर्भुवः॒ स्वः । तत्स॑वि॒तुर्वरेण्यं॒

भर्गो॑ दे॒वस्य॑ धीमहि । धियो॒ यो नः॑ प्रचो॒दया॑त् ॥

इस मंत्र से आत्मा साधक के अंगुली के माध्यम से मेज को चली जाएगी. और पात्र का शरीर हल्का होकर चेतन्य हो जाता है।

पढ़े  : आत्मज्ञान ध्यान की विधि से कम समय में जाग्रत करे चेतना को

आत्मा बुलाने सरल माध्यम

मेज के निचे पानी का शुद्ध कांच का भरा हुआ गिलास भरा हुआ रखो, यदि मेज नीची हो तो उसके पायो के निचे कुछ इधर उधर रखकर ऊँचा कर दे जिससे गिलास आसानी से आ जाए। इस गिलास के समीप मोमबत्ती और दियासलाई का box रख दो. जिस मकान में प्रयोग किया जाता है. उसमे एक शमादान जला दो, उसकी रौशनी मोमबत्ती की रौशनी के बराबर हो। अधिक प्रकाश न हो। यदि शमादान न हो तो मोमबत्ती ही जली रहने दे।

plain chit-प्रयोग समय

रात्रि के साढ़े 9 बजे जब मौषम साफ़ हो और किसी तरह का कोई व्यवधान न हो तब यह प्रयोग करे. ऐसा समय विचरण करती आत्माओं को आकर्षित करने के लिए अति उत्तम है।

पढ़े  :  आत्माओ से बात करने के सरल माध्यम

ध्यान दे

अगर आप किसी हंसी मजाक के लिए इस तरह की विधि का प्रयोग करते है तो आप खुद मुसीबत को बुलाते है। हॉलीवुड में अब तक कई ऐसी फिल्मे बन चुकी है जो आत्मा को शरीर से अलग करने पर, आत्मा को बुलाने पर आधारित है और ये सब कोई फिक्शन या कल्पना नहीं हकीकत पर बनी हुई है। इसलिए सिर्फ इसे देखने या आजमाने के लिए इस विद्या अभ्यास का प्रयोग ना करे। अक्सर ऐसा देखने में आता है की लोग आत्माओ को बुलाने से पहले खुद को निडर दिखाते है सोचते है की ऐसा कुछ नहीं होता है। पर जब हकीकत बन उनके सामने कड़ी होती है तब वो उसके जाल में फंस जाते है।

atma ko bulane ka plainchit tarika : अभ्यास में सावधानी

इस अभ्यास में सावधानिया रखने की जरुरत होती है जो निम्न हो सकती है।

  • सबसे पहले तो मन से डर निकाल दे की आत्मा आप पर हावी हो जाएगी तो आप उसके चंगुल में फंस जायेंगे। अगर आप डरते है तो आत्मा आप पर हावी होती है इसलिए मन में हमेशा दृढ़ निश्चय और आत्मविश्वास से परिपूर्ण होकर ही अभ्यास में प्रवेश करे।
  • कभी भी अभ्यास में आधी अधूरी जानकारी ना रखे जिस से संपर्क करना है उसकी जानकारी हो या फिर जिस जगह आप अभ्यास करते है उसकी जानकारी जरूर रखे।
  • अभ्यास को कभी खेल की तरह ना देखे।
  • सिर्फ मनोरंजन के लिए इसे शुरू ना करे।

अपने स्वार्थ के लिए भी इसे ना आजमाए जैसे की भविष्य की जानकारी या फिर हमारा कुछ फायदा करने वाली जानकारी।


अगर आपका मन साफ होता है तो ये संभव है की जिस आत्मा को आप बुलाते है वो सही आत्मा होती है ऐसे में आपके मदद होने के चांस बढ़ जाते है। इसलिए मन हमेशा साफ रखे और सद-आत्मा का शुक्रिया करना न भूले।

atma ko bulane ka plainchit tarika वास्तव में mesmerism का एक भाग है. अगर आपको इस पोस्ट से रिलेटेड कुछ सवाल है या सुझाव है तो कमेंट के माध्यम से हमें बताए पोस्ट पसंद आये तो सब्सक्राइब और शेयर करना ना भूले.

Never miss an update subscribe us

* indicates required

2 COMMENTS

    • अनुज जी आत्मा को बुलाना एक आकर्षण विधि का अभ्यास है जिस तरह सम्मोहन जिन्दा लोगो पर काम करता है mesmerism और अन्य किसी भी तरह की आकर्षण की विधि के जरिये आत्माओ का अवाहन संभव है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.