पैन कार्ड बनवाने में समस्या आ रही है तो इन बातो से आसानी से समाधान पाए

0
5
पैन कार्ड आसानी से कैसे बनवाये

पैन कार्ड आसानी से कैसे बनवायेपैन कार्ड हमारे बैंक खाते के लिए आवश्यक बन गया है। जैसे आधार कार्ड हमारी पहचान का सबसे आसान डॉक्यूमेंट है। पैन कार्ड 10 अंको का हमारा स्थाई पहचान का आधार माना जाता है। इसका महत्व आर्थिक लेनदेन को पारदर्शी करने के लिए किया जाए इस आधार पर नोटबंदी के बाद इसे आवश्यक डॉक्यूमेंट माना जाने लगा है। लेकिन इसे बनवाना इतना आसान नहीं है ऐसे में पैन कार्ड आसानी से कैसे बनवाये

कुछ छोटी छोटी गलतिया हमारे आवेदन में होती है जिनकी वजह से हम जब अप्लाई करते है तो हमारे डॉक्यूमेंट इनवैलिड बताये जाते है। आज की पोस्ट में हम पैन कार्ड से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारिया और इसके लिए अप्लाई करने के बाद आने वाली समस्या से छुटकारा पाने से जुड़ी कुछ सीक्रेट बाते शेयर करेंगे। जैसे की पैन कार्ड अप्लाई के लिए आवश्यक दस्तावेज और कैसे खुद अप्लाई करे, डॉक्यूमेंट इनवैलिड बताने पर क्या करे। साथ ही nsdl से आसानी से संपर्क कैसे करे।

पैन कार्ड में 10 अंकीय संख्या और उनका अलग अलग मतलब :

आपने पैन कार्ड में जो 10 अंको की संख्या देखी है उनका अलग अलग मतलब होता है। इसके अंदर शुरू के 5  अल्फ़ा-बेट्स फिर 4 अक्षर सांख्यिक और फिर अल्फाबेट्स के 1 अक्षर होते है। इन सबका अपना मतलब है जिसके आधार पर आप आसानी से पता कर सकते है की पैन कार्ड किस मतलब या कार्य के लिए बना है, और किस श्रेणी का है।

  • कंपनी के लिए-C
  • व्यक्ति के लिए-P
  • हिन्दू अविभाजित परिवार-HUF
  • व्यक्ति संघ के लिए-A
  • ट्रस्ट के लिए-T
  • व्यक्ति शरीर के लिए-B
  • स्थानीय प्राधिकरण के लिए-L
  • कृत्रिम न्यायिक व्यक्ति के लिए-J
  • फर्म के लिए-F
  • सरकार के लिए-G
  • पाँचवा अक्षर किसी भी व्यक्ति के नाम का आखिरी अक्षर और कंपनी या संगठन का पहला अक्षर होता है।

आखिरी पांच अक्षर सुरक्षा के लिए इस्तेमाल किए जाते है। इसके अलावा पैन कार्ड में दिनाक पैन कार्ड की जारी तारीख को शो करती है। इन सब बातो की जानकारी के बाद पैन कार्ड आसानी से कैसे बनवाये.

पढ़े : क्या आप जानते है सोने और स्वपन के पीछे का मनोवैज्ञानिक सच

पैन कार्ड बनवाना अनिवार्य क्यों :

PAN CARD TAX PAYER और TAX-DEPARTMENT के बिच पारदर्शिता का सबसे अच्छा माध्यम है। ऐसे में अगर इसे बैंक से जोड़ दिया जाता है तो कर चोरी को न्यूनतम किया जा सकता है। साथ ही बैंक अकाउंट से होने वाले लेनदेन पर सीधी नजर रखी जा सकती है। ये सब नोटबंदी के बाद और भी ज्यादा अनिवार्य हो गया था की की बड़ी मात्रा में काले धन को खपाने के लिए बैंक ही एकमात्र जरिया था या फिर उसे डिस्पोज़ करना। क्या आप जानते है की पैन कार्ड आसानी से कैसे बनवाये .

पैन कार्ड आसानी से कैसे बनवाये-कैसे अप्लाई करे :

PAN CARD APPLY करने के लिए अब आपको इ-मित्र पर जाने की जरुरत नहीं हम खुद 107 रुपये के लीगल चार्ज पर अप्लाई कर सकते है। इसके अलावा 60 रुपये के आसपास इसका स्पीड पोस्ट का चार्ज लगता है। इसके लिए आप पैन कार्ड की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाकर 49 फॉर्म भरे मगर इससे पहले एक सैंपल फॉर्म और गाइड-लाइन जरूर पढ़ ले। पैन कार्ड से जुड़ी आवश्यक वेबसाइट की जानकारी के बाद आप समझेंगे की पैन कार्ड आसानी से कैसे बनवाये.

पढ़े : क्या आप भी चुनाव के दौरान रखते है इन बातो का ध्यान

पैन कार्ड के लिए कौनसे डॉक्यूमेंट बेस्ट है :

वैसे तो हम कोई भी डॉक्यूमेंट जिसमे एक हमारी जन्म दिनांक और बेसिक जानकारी को दर्शाता है जैसे 10 वी की मार्कशीट और दूसरा हमारा पता दर्शाने वाला डॉक्यूमेंट जिसमे आधार कार्ड सबसे अच्छा माध्यम है। तीसरा डॉक्यूमेंट अगर आप लगाना चाहे तो लगा सकते है नहीं तो 2 डॉक्यूमेंट काफी है। इसमें आपको डॉक्यूमेंट की हर जानकारी दिखानी पड़ती है जो समान  होनी चाहिए। अगर आप परेशानी से रूबरू नहीं होना चाहते तो आपको पता होना चाहिए की पैन कार्ड आसानी से कैसे बनवाये.

आधार कार्ड वोटर आईडी से बेहतर है :

वोटर आईडी और आधार में सबसे बड़ा अंतर है नाम और उम्र को दिखाने का तरीका। आपने गौर किया हो तो ज्यादातर वोटर आईडी में दिनांक में सिर्फ साल दिखाते है ना की पूरा सही महीना और दिनांक। अगर आप ये डॉक्यूमेंट किसी ऐसे डॉक्यूमेंट के साथ जैसे 10 वी की मार्कशीट जिसमे आपकी जन्म-दिनांक दर्शायी गई है के साथ अप्लाई करेंगे तो 100% आपका Document Invalid बताएगा। पैन कार्ड आसानी से कैसे बनवाये।

कोशिश करे आधार कार्ड से ही अप्लाई करे और वो भी हर डिटेल को चेक करने के बाद की 10 मार्कशीट के अनुसार ही उसमे आपकी पहचान की जानकारी हो यहाँ तक की नाम और उसके अंदर की सरनेम वगेरह भी। आधार कार्ड में अगर हमारा फोन नंबर दिया गया होता है तो आसानी से हम घर बैठे 2 दिन में ही अपना आधार कार्ड सही कर सकते है।

पढ़े : बच्चो को बताए रिश्तो की अहमियत ताकि आगे चलकर आपको पछताना न पड़े

डॉक्यूमेंट में पायी जाने वाली गलती जिनकी वजह से पैन कार्ड नहीं बन पाता है।

पैन कार्ड बनाते वक्त अधिकारी इस बात को पूरा ध्यान में रखते है की आपके डॉक्यूमेंट की सभी जानकारी एक-समान हो। हालाँकि अब जो डॉक्यूमेंट बनता है उसमे जानकारी ध्यान से भरी जाती है पर पहले के डॉक्यूमेंट में कुछ ऐसी बारीक़ कमिया होती है जिनकी वजह से हम समझ नहीं पाते है की हमारे डॉक्यूमेंट पैन कार्ड के लिए इनवैलिड क्यों बताये जाते है। हलाकि ऊपर से हमें वो सही लगते है लेकिन उनमे कुछ बारीक़ कमिया होती है।

डॉक्यूमेंट में कुछ कमिया होती है जिनकी वजह से पैन कार्ड के लिए उन डॉक्यूमेंट को इनवैलिड माना जाता है। इनमे सबसे कॉमन है आधार कार्ड में सही उम्र का ना दर्शाना। जैसे जन्म दिनांक 10/04/1995 होती है जो 10 वी की मार्कशीट में दिखाई गयी भी होती है लेकिन आधार कार्ड में xx/xx/1995 या फिर xx/04/1995 की तरह होती है। ऐसे में भले ही आपकी ये सही लगे लेकिन आपका डॉक्यूमेंट गलत माना जाता है। आजकल जमाना डिजिटल युग का है ऐसे में आप आसानी से जान सकते है की पैन कार्ड आसानी से कैसे बनवाये.

दूसरी गलती जो नाम आपका 10 की मार्कशीट में है वही आधार कार्ड में होना चाहिए ना की उससे अलग। कुछ लोगो का नाम 10 की मार्कशीट में होता है उनमे सरनेम भी लिखा होता है या फिर जाति वगेरह भी लेकिन आधार कार्ड में सिर्फ आपका नाम या फिर सरनेम तक ही होता है। कई बार तो नाम और सरनेम आपस में बिना गैप के भी होता है जैसे की मेरा नाम Ramesh kumar आधार कार्ड में Rameshkumar था जिसकी वजह से आधार कार्ड की जानकारी इनवैलिड हो गई। ऐसे में ये सब देख कर ही अप्लाई करना चाहिए।

पढ़े : सफलता के लिए विद्यार्थियों को ध्यान रखनी चाहिए आठ बातें!!

इनवैलिड डॉक्यूमेंट दिखाने पर क्या करे :

जब हम पैन कार्ड के लिए अप्लाई करते है तो हमें एक 15 डिजिट का AKN नंबर मिलता है। ये नंबर हमारे पैन कार्ड के स्टेटस के लिए होता है। इसके द्वारा हम पैन कार्ड का ऑनलाइन स्टेटस चेक कर सकते है। वहां अगर आपके स्टेटस में डॉक्यूमेंट इनवैलिड बताया गया है तो उस पर क्लिक कर आप पता कर सकते है की किस डॉक्यूमेंट को गलत बताया है और किस वजह से। ऐसे में आप ऊपर दी गयी गलतियों पर गौर करे क्यों की ज्यादातर गलतिया यही होती है।

आधार कार्ड को अपडेट कर वापस स्पीड पोस्ट लगाने की जरुरत नहीं है। आप सीधे पैन कार्ड की ऑफिसियल ईमेल आईडी जो आपको स्टेटस में दिखाई जाती है पर भेज सकते है लेकिन इसमें ध्यान रखे की फाइल पीडीऍफ़ फॉर्मेट में हो और साथ ही आपका AKN नंबर उस फाइल के नाम की जगह हो।

पढ़े : कॉलेज और स्कूल में आप भी गुजरते है इन पलो से

पैन कार्ड से जुड़ी किसी जानकारी के लिए NSDL से संपर्क कैसे करे :

आपने अगर NSDL की कस्टमर केयर का नंबर मिलाया होगा तो पाया होगा की वो हमेशा व्यस्त आता है ऐसे में NSDL से संपर्क करने का सबसे अच्छा जरिया ट्विटर है या फिर ईमेल। इन दोनों माध्यम से ही NSDL आपको 7 दिन के अंदर अंदर जवाब से जुडी जानकारी उपलब्ध करवाता है। ये मेरा खुद का किया हुआ है और सफलता पूर्वक पैन कार्ड बनवाया हुआ है।

पढ़े : black magic का आपके अपनों पर कितना बुरा effect हो सकता है

पैन कार्ड के फायदे :

PAN CARD अब हर बैंक खाते से जोड़ना अनिवार्य कर दिया है ऐसे में हमे मालूम होने चाहिए की इसके फायदे क्या है जिससे हम इसका सही इस्तेमाल कर अपनी सुविधा में बढ़ोतरी कर सके।

  1. पैन कार्ड करदाताओ के लिए सबसे अच्छा और लाभकारी परिचय-पत्र है।
  2. ये कर संबधी परेशानी से हमें बचाता है।
  3. PAN CARD एक विश्वसनीय और मान्यता प्राप्त पहचान पत्र की जगह इस्तेमाल किया जा सकता है।
  4. पैन कार्ड को सैलरी अकाउंट से जोड़ना भी लाभकारी माना गया है।
  5. PAN CARD हर जॉब में अब फायदेमंद होने वाला है और लगभग हर जॉब सेक्टर के लिए आवश्यक भी।
  6. पैन कार्ड के नए डिजाईन में QR कोड और आपकी फोटो के साथ महत्वपूर्ण जानकारी भी जुड़ी होती है ऐसे में पहचान का अच्छा माध्यम भी हो सकता है।

दोस्तों मेने जब पैन कार्ड के लिए अप्लाई किया था तब मुझे भी ऊपर दी गई सभी परेशानी से गुजरना पड़ा था। अक्सर ई-मित्र वाले आपसे ऐसे हालात में ज्यादा चार्ज भी वसूल कर लेते है। क्यों की आपको इन सब बातो की जानकारी नहीं होती है। ऐसे में पोस्ट दी गई “पैन कार्ड आसानी से कैसे बनवाये” को पढ़ कर और समझ कर आप भी परेशानी से बच कर सफलतापूर्वक पैन कार्ड बनवा सकते है। अगर पोस्ट अच्छी लगे तो शेयर जरूर करे और हमें सब्सक्राइब करना ना भूले।

Never miss an update subscribe us

* indicates required

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.