ज्यादा फायदे के चक्कर में कभी न करे एक साथ इतने त्राटक का अभ्यास होगी सिर्फ हानि

ज्यादा फायदे के चक्कर में कभी न करे एक साथ इतने त्राटक का अभ्यास होगी सिर्फ हानि

अगर मै एक साथ bindu tratak, candle tratak, mirror tratak at same time करू तो क्या में successpo हो सकता हूँ ? क्या एक साथ 2-3 त्राटक का अभ्यास करने से सफलता हासिल की जा सकती है ? कुछ लोग अलग अलग त्राटक के अलग अलग फायदे सुनकर उन्हें एक साथ करने की कोशिश करना शुरू कर देते है तो क्या वो सफल हो सकते है ? multi tratak practice at same time यानि एक साथ दो से ज्यादा त्राटक करने के पीछे की वजह और उसके नुकसान क्या क्या है. side efeect of multiple tratak practice at same time in hindi.

multi tratak practice at same time

आज हम बात करने वाले है एक साथ कई त्राटक करने के नुकसान के बारे में. हालाँकि ये सिर्फ मेरा अपना opinion है क्यों की मैंने भी शुरुआत में इसकी कोशिश की थी जब में एकाग्रता के साथ साथ सम्मोहन सीखना चाहता था क्या में सफल हो पाया ? आइये जानते है आज की इस पोस्ट में जिसमे हम कम समय में ज्यादा benefit के चक्कर में त्राटक के कई सारे अभ्यास शुरू तो कर देते है लेकिन इसके छिपे हुए खतरे से अनजान होते है.

एक साथ कई त्राटक करने के पीछे हमारी सोच और वजह

जब में 10th class में था तब मुझे एक हस्त-लिखित पुस्तक मिली जो मेरे दादा जी के पास लम्बे समय से पड़ी थी. वो पुस्तक में अपने साथ हॉस्टल ले गया और उसे पढने के बाद मुझे लगा की में इसका प्रयोग पढाई के लिए कर सकता हूँ, इसके बाद मुझे पता चला की दर्पण त्राटक से सम्मोहन भी किया जा सकता है तो मैंने इसका भी अभ्यास करना शुरू कर दिया.

दरअसल उस पुस्तक में लिखा था की अगर begining practice of trataka with bindu tratak कर लेते है तो eyes की ज्यादातर problem solve हो जाती है और अभ्यास में आगे बढ़ने में आसानी रहती है. मुझे लगा की एक साथ दोनों त्राटक कर लेते है bindu tratak at morning time और फिर mirror tratak at night time सही रहेगा.

मैंने इसका ज्यादा नहीं 10 दिन ही अभ्यास किया और पाया की आँखों में प्रॉब्लम होने लगी है. concentration focus at single thoughts तो जैसे रही ही नहीं. स्वभाव भी चिडचिडा हो चूका था फिर मैंने इसका अभ्यास बंद कर दिया. इसके बाद step by step tratak meditation practice के जरिये मैंने ना सिर्फ concentration बढाई बल्कि कुछ समय के लिए ही सही hypnotism practice का प्रयोग भी करके देखा था जिसे आप यहाँ पढ़ सकते है.

what is multi tratak practice at same time

एक साथ कई त्राटक करने का मतलब है की आप सुबह बिंदु त्राटक करते है और शाम / रात्री को दर्पण या दीपक त्राटक कर रहे हो. एक से ज्यादा त्राटक, एक ही समय करने से आपको सभी फायदे मिल जायेंगे तो ये आपका वहम है. sachhiprerna blog पर आपको अभी तक त्राटक के कई चरण पढने को मिले है और आपके मन में ये सवाल जरुर आया होगा की अगर में दिन में बिंदु त्राटक करू और रात्री को दर्पण या दीपक त्राटक करू तो क्या में सफल हो जाऊंगा ?

हम सभी जानते है की different types of tratak have particular benefits. ऐसे में अगर हम एक बार में एक से ज्यादा tratak meditation practice at home करे तो हमें उससे double benefit मिल जायेगा. ये सोच कर हम एक साथ कई त्राटक करना शुरू तो कर देते है लेकिन अलग अलग त्राटक के अलग अलग अनुभव है इसे ना समझ पाने की वजह से हम उसमे success नहीं हो पाते है. आइये जानते है की आखिर क्यों लोग एक साथ कई त्राटक का अभ्यास करने की कोशिश करते है.

क्यों करते है एक साथ कई त्राटक का अभ्यास ?

अगर आप एक साथ दो काम करेंगे तो आपको उनसे डबल फायदा मिल जायेगा. शारीरिक स्तर पर एक साथ दो काम चल सकता है क्यों की हम physical थकान को दूर कर सकते है, लेकिन अगर यही बात मानसिक अभ्यास की हो तो क्या हम उतना जल्दी इससे recover कर सकते है ? नहीं ! क्यों की मानसिक थकावट हमें अन्दर तक तोड़ देती है जिसकी वजह से benefit मिलने की बजाय loss ही मिलता है.

ऐसा करने की सबसे बड़ी वजह रहती है कम समय में ज्यादा फायदा. हमें पता है की हम त्राटक साधना का अमुक अभ्यास करेंगे तो हमें ये फायदा मिलेगा. ध्यान और त्राटक जैसे अभ्यास में धैर्य और संयम का बहुत महत्त्व है इसके बिना आप इसमें सफलता हासिल नहीं कर सकते है.

मै खुद इस परिस्थिति से गुजर चूका हूँ और काफी सारे लोगो का यही सवाल रहता है की यदि में एक साथ दो या दो से ज्यादा त्राटक का अभ्यास शुरू करू तो क्या में इसमें सफलता हासिल कर सकता हूँ ? यानि multi tratak practice at same time जिसकी वजह से लोगो के बिच ये भ्रम रहता है की इससे हमें double benefits मिलेगा जो की बिलकुल गलत है.

क्या इससे कोई benefit मिलता है ?

ध्यान और त्राटक में एक ही समय पर कई अभ्यास करने की वजह से कुछ ऐसे बदलाव आते है जिसकी वजह से हम ये समझ ही नहीं पाते है की क्या करे. उदाहरण के लिए एक ही समय पर बिंदु त्राटक और रात्री में दीपक त्राटक करना जिसमे सुबह बिंदु त्राटक करने से हमारा मन स्थिर होना शुरू हो जाता है लेकिन रात्री में ये स्थिति नहीं रहती है दीपक त्राटक आपके अन्दर की energy को बढ़ा देता है जिसकी वजह से आप अनिद्रा जैसी शिकायत करने लगते है.

अगर एक साथ ही हमारे mind को active कर दिया जाए तो उसका हम पर क्या मानसिक असर पड़ेगा ? सबसे पहली शिकायत रहती है अनिद्रा की जिसमे समय पर सो ना पाना, आँखों का ज्यादातर पथराया हुआ रहना, स्वभाव में चिडचिडापन ऐसे ही कुछ negative symptom of multi tratak practice at same time देखने को मिल सकते है.

multi tratak practice at same time and its loss

अगर आप भी सोचते है की multi tratak practice at same time करने से आप जल्दी ही त्राटक के अभ्यास को सफलतापूर्वक कर लोगे तो ये आपकी गलतफहमी है. इसके चक्कर में कुछ bad health symptoms of tratak को ignore ना करे जैसे की

  • स्वभाव में अचानक से बहुत ज्यादा बदलाव.
  • किसी का साथ अच्छा ना लगना और एकांत खोजते रहना.
  • सर में भारीपन / अनिद्रा जैसी शिकायत.
  • आँखों को एक कुछ देर खुली रखने पर धुंधला दिखाई देना या फिर दिखने में शिकायत.
  • मानसिक भारीपन जिसकी वजह से आप किसी भी काम को सही तरीके से नहीं कर पाते है.

multi tratak practice at same time मेरे अपने विचार

मैंने शुरू में multi tratak practice at same time at home hindi जैसी ख़राब शुरुआत की थी. मेरा सपना था की मै एकाग्रता के साथ साथ सम्मोहन जैसी पॉवर पाना चाहता था लेकिन ऐसा नहीं हुआ. त्राटक में सफलता का कोई shortcut नहीं है और ना ही आप एक साथ कई त्राटक कर उनमे एक साथ सफलता हासिल कर सकते है. इसलिए tratak step by step guide in hindi को follow करना शुरू कर दे और धैर्य के साथ अभ्यास को आगे बढाए तभी आपको इसमें सफलता मिल सकती है.

अगर आपको लगता है की multi tratak practice at same time की पोस्ट के regard आपका कोई सवाल या शंका है तो बेझिझक हमें पूछ सकते है. पोस्ट अच्छी लगे तो कमेंट और शेयर करना न भूले.

त्राटक से जुडी इन पोस्ट को पढना ना भूले

  1. त्राटक से जुड़ी मेरे जीवन की सच्ची घटनाए जो आपको सही तरीके से आगे बढ़ने में मदद करेगी
  2. सिर्फ एक महीने में बिंदु त्राटक साधना के सरल अभ्यास के अमेजिंग रिजल्ट कैसे प्राप्त करे ?
  3. इस तरह श्री यन्त्र त्राटक साधना करने पर तीनो जगत वशीकरण की शक्ति मिलती है
  4. क्या आप जानते है की त्राटक और सम्मोहन में प्राण वायु का क्या महत्व और फायदे है – advanced tips
  5. दर्पण त्राटक करने से पहले इसके इन छुपे हुए सीक्रेट को समझ लेना है बेहद जरुरी

Never miss an update subscribe us

* indicates required

2 thoughts on “ज्यादा फायदे के चक्कर में कभी न करे एक साथ इतने त्राटक का अभ्यास होगी सिर्फ हानि”

  1. Kumarji ,you did so well.i was also practicing bindu tratak in the morning and jyoti tratak at night. Got confused about the result.i have good timing in jyoti trata.But I am interested in doing aantar jyoti tratak.still I am not successful.aantar jyoti प्रकट नही हो रही है।pl.guide.

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.