अवचेतन मन की शक्तियों को समझने और मन की गहराई में उतरने के लिए करे ये आसान अभ्यास

0

आज हम बात करने वाले है what is hypnagogia meaning in hindi ? hypnagogia state यानि जब हम wakefulness से dream sleep state में जाते है तो इसके बिच एक अवस्था ऐसी आती है जहाँ हम ना तो सो रहे होते है और ना ही जगे हुए. ये स्टेट कुछ कुछ lucid dreams की तरह होती है. एक और जहाँ hypnagogia state experience in dream yoga for spiritual benefits मिलते है वही दूसरी और इसके और benefits में creative ideas, innovation and research आते है. अगर आपको खुद को deeply understand करना है तो ये experiment आपके लिए best है. subconscious and unconscious mind को explore करने की सबसे easy and best method में से एक है hypnagogia trance state in hindi.

hypnagogia state experience

हम सभी जानते है की conscious mind की दो main state होती है पहली wakefullness and second is sleeping. इन दो स्टेट के बिच एक स्टेट और होती है जो हमें self-discovery and understanding में help करती है. ये स्टेट Hypnagogia के नाम से जानी जाती है. ये एक greek word है जिसका meaning है Hypons = sleeping and agogos = lead means a state that leads in sleeping. सभी को ये अलग अलग form में अनुभव होती है. आइये जानते है types of hypnagogia के बारे में .

hypnagogia state experience and its type

ये निर्भर करता है की आप किस type के vision देखते है. इसमें primary है a visual ( image oriented ) second है auditory यानि sound oriented और इसके अलावा है kinesthetic जिसे हम physical oriented भी कहते है इसके अलावा person oriented भी है. इसके आधार पर आपके द्वारा hypnagogia की state में experience भी vary करते है.

कुछ main hypnagogia state experience आप निचे समझ सकते है.

  • images : ये स्थिर या चलायमान हो सकती है, colorful या plain भी हो सकती है कई बार ये अकेले दिखाई पड़ती है तो कई बार ये सपनो में एक फिल्म का रूप ले लेती है.
  • sound : ये sound किसी भी तरह की हो सकती है आपने कई बार बारिश की बूंदों की, चिड़िया के चहचहाने की, healing म्यूजिक voice को सुना होगा जब आप इस स्टेट में होते है.
  • repetitive action : बार बार किसी एक खास सपने में खुद को एक ही काम को करते हुए देखना. कुछ लोगो का कहना है की उन्हें कई बार एक ही सपना बार बार आता है.
  • physical sensation : किसी भी तरह का physical activity का अनुभव जैसे किसी चीज की महक, उंचाई से गिरना, तापमान में परिवर्तन जैसे अनुभव इसमें होते है.
    sleep paralysis : ये स्टेट भी hypnagogia का एक हिस्सा है जिसमे हम हिलने डुलने में सक्षम नहीं हो पाते है. कुछ लोगो के लिए डरावना अनुभव हो सकता है लेकिन इसका कोई नुकसान नहीं है.

इन सबके अलावा आप multiple hypnagogia के experience कर सकते है. ये फिक्स नहीं है की आपको कौनसे experience होंगे क्यों की ये किसी भी experience के combination हो सकते है.

कई लोगो ने किया रहस्यों को समझने का प्रयास

इतिहास की बात की जाए तो writer, artist, फिलोस्फोर फील्ड के कई लोगो ने hypnagogia state experience  में इस तरह के प्रयोग कर खुद को explore किया है. उनका main target था नए आईडिया, इनोवेशन और रहस्य को उभारना. आइये कुछ लोगो के बारे में जानते है.

Artist Salvador Dali, writer Mary Shelley (author of Frankenstein), and inventor Thomas Edison ये कुछ ऐसे लोगो के नाम है जिन्होंने hypnagogia का अपने ऊपर experiment किया था. कुछ ऑब्जेक्ट्स को अपने हाथो पर रख कर सो जाना और फिर अचानक उस ऑब्जेक्ट के गिरने की आवाज सुन कर जाग जाना जिसके बाद सोते ही तुरंत वो hypnagogia की state में चले जाते थे.

ऐसा normal life में कुछ लोगो के साथ भी हुआ है जैसे की पढ़ते पढ़ते किताब को चेहरे पर रख सो जाना जो की ज्यादातर स्टूडेंट करते है. रात में अचानक जागने के बाद वो किताब को साइड में रख कर वापस सो जाते है और तुरंत इस स्टेट में चले जाते है जिससे की उनके mind में नए नए creative आईडिया आने लगते है और ये आईडिया ज्यादातर उससे रिलेटेड होते है जो वो पढ़ रहे थे.

तिब्बतन साधू इसका experiment अपने ऊपर dream yoga यानि योगनिद्रा के लिए भी करते है. ऐसा वो अपने mind को बेहतर तरीके से train करने के लिए करते है. इसके पीछे उनका मकसद आध्यात्मिक अनुभव और जागरण को बढ़ावा देना है. और कोई भी इन्सान योगनिद्रा का प्रयोग कर mind और body को बेहतर तरीके से कण्ट्रोल करना सीख सकता है.

modern era and hypnagogia state experience

आज के ज़माने में कुछ लोग जो अपने आप सामान्य से अलग मानते है इसका प्रयोग भविष्यवाणी के लिए करते है. hypnagogia की state में वो जो अनुभव करते है उसके आधार पर वो आगे क्या होने वाला है की भविष्यवाणी करते है. यही नहीं कुछ लोग जो अपने unconscious mind को explore करना चाहते है या फिर ज्यादा से ज्यादा improve करना चाहते है वो भी इसका प्रयोग करते है. अब जानते है की hypnagogia का experiment हम अपने unconscious mind को एक्टिव रखने के लिए कैसे करे ?

explore unconscious mind with hypnagogia state

कुछ लोगो के अनुसार

Hypnagogia is the shortest path for communication from our subconscious — Sirley Marques Bonham, physicist

जिस तरह  से लोग इसका प्रयोग अपने psychological level को improve करने में करते है उसे देख कर कहा जा सकता है की ये हमारे mind की unlimited power को explore करने के best method में से एक साबित हो सकता है.

जिस तरह से कुछ वैज्ञानिक लोगो ने इसका use एक active dream को enhance करने में किया और तिब्बत साधू जो इसका प्रयोग अपने आध्यात्मिक connection को मजबूत बनाने में करते है के आधार पर हम इससे बहुत कुछ कर सकते है. मै खुद मानता हूँ की dream yoga यानि योगनिद्रा एक ऐसा अनुभव है जो शारीरिक अनुभव में आपके body और mind को control करता है वही mental और spiritual level पर भी आपके अनुभव को बढाता है.

subconscious and unconscious mind ( read full about it here ) हमारे mind के वो part है जहाँ हमारे अतीत की वो यादे है जिन्हें हम दबा कर भूल चुके है लेकिन वो ख़त्म नहीं हुई है. इन्हें दोबारा से बाहर निकाल कर हम अपने कल को बेहतर बना सकते है. unlimited knowledge को बढ़ा सकते है.

अगर आप भी अपने unconscious mind को explore कर इसके knowledge को use करना चाहते है तो hypnagogia state experience के निचे दिए गए स्टेप follow करे.

1.) hypnagogia state experience – एक intention को set करे

आपका intention यानि आपकी सोच किस विषय में आप जानना चाहते है. ज्यादातर लोगो के intention यानि चाहत जुडी होती है सफलता से, पैसो से, ख़ुशी से इसलिए जब भी आप खुद पर hypnagogia का experiment करना चाहे और problem का solution find out करना चाहे तो सबसे पहला काम आपका ये पता करना है की आप चाहते क्या है ?

हमारे subconscious mind की कई powers में से एक है आपकी प्रॉब्लम का solution बताना. दिनभर चलने वाले हजारो विचारो की वजह से ये संभव नहीं हो पाता है इसलिए आपको उन विषय पर सोचना चाहिए जो आपके साथ बार बार हो रहा है. ऐसा क्यों हो रहा है ? ये आपको जानना है तो सिर्फ इसके बारे में सोचे वो भी 15-20 मिनट तक.

2.) अनुभव को रिकॉर्ड करे

मैंने पहले की पोस्ट में डायरी लिखने के फायदे बताए थे. इससे आप motivate रहते है, जो बनना चाहते है उस पर फोकस रहते है और इससे आप balanced बने रहते है. आप जब भी hypnagogia state में जाकर अपने problem solution करना चाहे तो इसे रिकॉर्ड भी करे. इससे आपके experience improve होंगे और आपको पता रहेगा की क्या हुआ. कुछ लोग रात को सोते वक़्त और सुबह उठते ही डायरी लिखने को महत्त्व देते है जो की उनको balanced रखता है.

3.) hypnagogia state experience के लिए alarm set करे

रात्री को सोते समय हम अलग अलग समय पर गहरी नींद में जाते है. अगर आप ज्यादा थके हुए है तो आपको 10 मिनट भी नहीं लगते है और आप गहरी नींद में चले जाते है वही दूसरी और normal दिनों में आपको 30 मिनट के करीब टाइम लगता है. hypnagogia state को experience करने के लिए आपको एक alarm set करना होगा.

अगर आप ज्यादा थके हुए है तो alarm को 10 मिनट पर set करे और normal में 20 मिनट पर. जब आप ऐसा करते है तो गहरी नींद में जाने से पहले आपकी नींद खुल जाती है और प्रोसेस को हम दूसरी और मोड़ देते है. ऐसा करना आपको एक अच्छे hypnagogia के experience को feel करने में मदद करता है.

4.) hypnagogia state experience के लिए आवश्यक है झपकी लेना

आपको ध्यान रखना है की जब आप alarm बजने के बाद उठे तो आपको फिर से सोना नहीं है. अगर ऐसा हो रहा है तो घबराए नहीं ये थोड़ा टाइम लेगा लेकिन आपकी practice हो जाएगी. योगनिद्रा में भी ऐसा ही होता है. अभ्यास करते रहने पर ही आप खुद को सोने से रोक पाएंगे. अगर आप सूक्ष्म शरीर की यात्रा का अनुभव करना चाहते है तो hypnagogia और astral travel अभ्यास आपके लिए बेस्ट रहेगा. दोनों ही अभ्यास आपके अवचेतन मन को फ्री करने में सहायक है.

alarm बजने के बाद आप बेड पर आराम से लेट जाइए जो आपका intention है उसके बारे में सोचिये. खुद को body और mind level पर relax कर दे और आपकी यात्रा का अनुभव शुरू हो जायेगा. कुछ लोगो के लिए ये ट्रेन में सफ़र करने जैसा होता है जिसमे उन्हें बाहर की चीजे इतनी तेजी से बदलती दिखाई देती है की वो डर जाते है. आपको सिर्फ इसे अनुभव करना है सोचना या reaction करना नहीं है.

5.) मस्तिष्क में चल रही गतिविधि को करे observe

सबसे मुश्किल काम है मस्तिष्क में चल रहे विचारो को observe कर पाना क्यों की विचार हर पल बनते रहते है और ये संभव नहीं की आप किसी एक विचार पर लम्बे समय तक टिके रहे. इसके लिए आपको बहुत लम्बी practice चाहिए. मैडिटेशन और त्राटक दोनों ही अच्छे माध्यम है अगर आप विचारो को कण्ट्रोल करना चाहते है. अगर ये न कर सके तो सिर्फ सांसो पर ध्यान लगाए या फिर शरीर में क्या हरकत हो रही है उसे महसूस करते रहे.

6.) hypnagogia state experience के बाद रिकॉर्ड करे अपने अनुभव को

पहला alarm आपको नींद से जगाने के लिए था और दूसरा alarm आपको hypnagogia से बाहर लाने के लिए. आप इस दौरान क्या क्या अनुभव करते है इसे लिखना न भूले. पहला alarm जो की 10-20 मिनट के मध्य का था ये alarm 30 मिनट के आसपास का होगा या फिर आप उस स्टेट में कितनी देर रह पाते है वो भी बिना सोए इसका ध्यान रखे.

ध्यान रखने वाली बात ये है की शुरू में ये सिर्फ 10 मिनट भी मुश्किल से होता है क्यों की बाद में हम नींद में चले जाते है. सोना नहीं है आपको इस स्टेट में आप कितनी देर रह पाते है उसके अनुसार alarm set करे क्यो कि सोने के बाद आप भूल जाएंगे की आपने क्या अनुभव किया है और आपको इसे रिकॉर्ड करना बेहद जरुरी है.

7.) अनुभवों को समझे और उन पर प्रतिक्रिया करे

hypnagogia state में आप क्या अनुभव करते है ये जरुरी नहीं की हर बार सही हो या फिर पहली बार में ही आपको इसका सही अनुभव मिल जाए. अलग अलग लोगो के ऊपर ये experiment अलग प्रभाव डालता है इसलिए experience vary होते है. इन सबके पीछे काम करती है आपकी intention and energy level जो की सब में एक जैसी नहीं होती है.

अगर अनुभव के दौरान आप खुद को negative thoughts में फंसा पाते है है या फिर सब कुछ बोरिंग फील हो रहा है जो की lifeless experience को दर्शाता है तो जरुरी नहीं की सही अनुभव हो practice करते रहे. ज्यादातर experience fantashy और thriller होते है जो की वक़्त के साथ साथ सही होने लगते है.

8.) मैडिटेशन में explore करे hypnagogia experience को

आप hypnagogia state में क्या feel करते है और आपका क्या अनुभव रहता है इस बारे में मैडिटेशन के दौरान गहन चिंतन करे. जब आप ऐसा करते है तो आप लुसिड जैसी स्टेट में खुद को पाएंगे और यहाँ पर आपका unconscious mind free होकर आपको गाइड करता है.

कुछ लोग जिनका कोई गुरु नहीं है वो इस स्टेट में खुद के अध्यात्मिक अनुभव को बढ़ा सकते है और अपने सवालों का जवाब पा सकते है जो उन्हें और कही से नहीं मिलते है. मेरा खुद का मानना है की कुछ समय एकांत में डायरी में लिखा हुआ चिंतन करने या फिर दैनिक जीवन में जो रहा है उस बारे में चिंतन करने से हम ज्यादातर प्रॉब्लम को solve कर सकते है. अगर आप ऐसा कर पाते है तो आप कभी निराश नहीं होंगे बल्कि एक balanced life को enjoy करेंगे.

hypnagogia state experience – final word

अगर मेरी राय ली जाए तो hypnagogia state experience करना एक अच्छा अभ्यास है. इसके जरिये आप क्या कुछ नहीं कर सकते है. जिस unconscious and subconscious mind को explore करने के लिए हम वर्षो की मेहनत करते है कुछ ही समय में इस experiment के जरिये समझा जा सकता है. ये योगनिद्रा जैसा ही अभ्यास है बस जरुरत है तो एक सही गाइड की और लगातार मेहनत करने की क्यों की सिर्फ नियमित अभ्यास करना ही आपको इसके लिए तैयार करता है और फिर आप हमारे मन के दबे हुए रहस्यों को उजागर कर उन्हें जिंदगी में अपनाना शुरू करते है.

hypnagogia state experience and explore your subconscious mind की इस पोस्ट को लेकर अगर आपके मन में कोई सवाल है तो आप कमेंट में पूछ सकते है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.