क्या आप भी दुसरो से help लेने में संकोच कर रहे है जानिये कैसे दूर करे इस problem को

4

dusro se help lene me sankoch hona. अपनी daily life ke kamo me dosto ki help kaise le. apne andar ke sankoch और hichkichaht ko kaise dur kare. दुसरो से हेल्प मांगने में संकोच क्यों होता है ? दुसरो के सामने निचा दिखने के डर को कैसे dur कर सकते है. क्यों की दिनभर ऐसे कई काम होते है जिसमे हमें दूसरे लोगो की हेल्प की जरुरत पड़ती है। ऐसे कई लोग भी है दिनभर सिर्फ इसलिए अकेले और अलग थलग रहते है की कोई उन्हें कमजोर साबित ना कर दे चलिए जानते है कैसे daily life में dusro se madad kaise le और अपने sankoch को कर करे।

dusro se madad kaise le

आज हम बात करने वाले है उन लोगो के बारे में जो किसी के साथ भी इस लिए नहीं जुड़ पाते है की कही उन्हें सामने वाले से हेल्प ना मांगनी पड़ जाए जिससे उनके आत्मनिर्भर होने पर सवाल उठे। अक्सर देखने को मिलता है की हमें कई कामो में दुसरो की जरुरत पड़ती है इस आधार पर हम दो तरह के लोगो में से हो सकते है या मिल सकते है।

  • पहले वो जिनमे आत्मविश्वास की कमी होती है और किसी भी काम और निर्णय को वो अकेले नहीं कर पाते है।
  • दूसरे वे लोग जो किसी के साथ बोलचाल और हेल्प मांगने से सिर्फ इसलिए हिचकिचाते है की कही वो कमजोर और दुसरो पर निर्भर साबित ना हो जाए।

अगर आपके साथ भी यही होता है तो आपको खुद की सोच में बदलाव लाने की जरुरत है नहीं तो बहुत जल्द आप अकेले पड़ सकते है।

common thinking problem in daily life – dusro se madad kaise le :

  • ज्यादातर लोग अपनी डेली लाइफ में इन चीजों से जरूर गुजरते है
  • दुसरो से मदद मांग तो लू लेकिन सामने वाले क्या सोचेंगे ?
  • में किसी से हेल्प क्यों लू क्या में कमजोर या दुसरो पर निर्भर हूँ ?
  • में किसी की हेल्प लूंगा तो वक़्त पर वो मुझे दुसरो के सामने निचा नहीं दिखा देगा इसकी क्या गारंटी ?
  • दूसरे लोग मेरा मजाक बना सकते है की मुझे इतना सा भी नहीं पता !

अगर इस तरह की प्रॉब्लम आपके साथ भी होती है तो पोस्ट को पूरा जरूर पढ़े आपको इससे निजात पाने का step by step guide मिलेगा।

Read also : इस तरह श्री यन्त्र त्राटक साधना करने पर तीनो जगत वशीकरण की शक्ति मिलती है

दूसरे क्या सोचेंगे ये सोच कर परेशान होना

ज्यादातर लोग जिनमे आत्मविश्वास की कमी होती है सिर्फ इसलिए हेल्प नहीं लेना चाहते क्यो की उन्हें लगता है इससे लोगो का उनके प्रति नजरिया बदल जायेगा या फिर वो दुसरो पर निर्भर हो जायेंगे। इसके अलावा daily life में ऐसे कई reason हो सकते है जो आपकी इस सोच के लिए responsible होते है।

आप बचपन से ही आत्मनिर्भर रहे है और अचानक बढ़ती उम्र में आपके parents आपको help और suggestion offer करते है तो आप उन्हें accept नहीं करते ये सोच कर की कही में इन पर निर्भर ना हो जाऊ।

अगर आप अपने co-age friends के साथ है तो उन पर बोझ बनने या खुद का काम खुद करने की सोच के चलते आप दोस्तों से मदद नहीं लेते है।

दुसरो से help ले तो ले लेकिन अगर कही उसने reject कर दिया और हेल्प ना की तो इज्जत का फालूदा हो जायेगा जो की सबमे common problem हो सकती है। reject होने का डर।

अगर आप एक popular और well -known person in society है तो हेल्प मांगने से लोग सोचेंगे की ये इतना अच्छा होकर भी अपनी problem खुद solve नहीं कर सकता तो मेरी क्या इज्जत रह जाएगी।

अपनी इच्छाओ के पीछे भागना :

क्या आप ये सोचते है की अगर आपने किसी और से हेल्प मांगी तो वो आपको जज कर सकता है, आपके पर्सनल लाइफ में interfere कर सकता है या फिर reject कर आपका मजाक बना सकता है यह सोच कर हम बहुत सी बार तो अपने अंदर एक बहुत बड़ी दो-राय वाली स्थिति बना लेते है।

हमें छोड़ सबको पता होता है की हम क्या कर सकते है। ऐसा नहीं की हम हमारी strengths से वाकिफ नहीं होते है लेकिन आत्मविश्वास की कमी हमें मजबूर कर देरी है की हम self doubt करने लगते है और यही वजह हमें कई बार right opportunity से दूर कर देती है।

इससे निजात पाने के लिए सबसे पहले तो आप अपने अंदर की खूबियों यानि strength को पहचाने, दोस्तों की मदद ले जो आपको सही guide कर सके और फिर उन्हें note कर ले आप चाहे तो diary की मदद ले सकते है। आपको अब उन्हें daily देखना है और अपने daily life में आजमाए।

Read : एस्ट्रल ट्रेवल प्रोजेक्शन की टॉप 10 तकनीक जो आसान और सहज है

आँखे बंद कर दूर करे अपने डर को

हम दुसरो से help मांगने में संकोच करते है क्यों ? क्या सिर्फ इसलिए की सामने वाले को हमारी कमजोरी का अहसास हो जायेगा। ये सब के साथ हो सकता है क्यों की ये emotional exposure है जो किसी दूसरे से asking for help असल में not comfortable. ये बात तो अब research on emotional exposure में proof हो चुकी है की गलतियो से इंसान सीखता है यानी meaningful human experience जिसमे हम अपने अंदर की गलतियों को कैसे दुसरो से help और corporate द्वारा दूर कर सकते है। इसलिए निचे लिखी कुछ बातो को समझने की कोशिश करे

जब भी आप इस तरह के हालात में खुद को महसूस करे सबसे पहले अपनी आँखे बंद कर ले।

हिचकिचाहट के साथ हम आगे नहीं बढ़ सकते इस बात को समझे, खुद में enough courage के लिए खुद को ready करे।

दुसरो के साथ जुड़ कर हम खुद की हिचकिचाहट को दूर कर एक सफल व्यक्ति बन सकते है यही नहीं खुद जब हम frankly होकर लोगो से जुड़ते है तो हम पर और सामने वाले पर क्या असर पड़ता है इस बात को समझे।

पढ़े : हमसे जुड़े रहिये क्यों की आने वाले समय में आपको ये खास चीजे सिर्फ यहाँ पर मिलने वाली है

प्रेरणा से कैसे हम खुद को बदल सकते है।

कई लोगो के साथ ऐसा भी होता है की वो खुद से नहीं दुसरो से ज्यादा प्रभावित होते है जिसकी वजह से अगर सामने वाला सही गाइड करता है तो आगे बढ़ सकते है नहीं तो सिर्फ दुसरो के इशारो के गुलाम बन कर रह जाते है। ऐसे कुछ ideal and logical idea की बात करते है जो हमारी daily life me age badhne ke best tips साबित हो सकते है।

अगर बात करे सोशल लाइफ की तो हर जगह एक चीज कॉमन देखने को मिलती है की एक हीरो विपरीत हालत से लड़कर ही बेस्ट साबित हो पाता है जिसकी वजह से वो लोगो के लिए आइडियल बनता है।

ऐसे राजा महाराजा ही इतिहास रच पाए है जिन्होंने विपरीत हालातो और परिस्स्थितियो को कड़ी चुनौती दी तभी हम आज उन्हें महान कहते है।

इन सबमे एक बात कॉमन है अगर किसी भी फील्ड में आगे बढ़ना है तो उसके लिए आपके अंदर enough courage to take risk Hindi me होना बेहद जरूरी है। ये आपको प्रेरित कर सकती है अगर आप इन बातो को नजरअंदाज कर पाए

हीरो के पास उसके दोस्तों का सपोर्ट और हेल्प था इसलिए वो ये सब कर पाया, लेकिन मेरे पास ऐसा कुछ नहीं है तो में ये सब कैसे कर सकता हूँ। आपको इसी shrink thinking यानि संकोचित मानसिकता से बाहर निकलना है।

ज्यादातर लोग चाहते है की उसके आसपास के लोग और ये संसार जैसा वो सोचते है वैसा होना चाहिए ना की जैसा वो देखते है। ख्याली पुलाव और हसीं सपने थोड़े समय के लिए आपको सुकून तो दे सकते है लेकिन हकीकत नहीं बदल सकते इसलिए बजाय दुसरो को बदलने के उन्हें accept करना सीखिए।

Must Read : metaphysics and quantum physics क्या है और क्या काम करते है ?

लोग आपसे जुड़े उससे पहले आप लोगो से जुड़िये

अगर आप लोगो से अलगाव और दुरी बनाए रखते है तो इसका मतलब है आप अपने लिए एक invisible barrier around yourself बना रहे है जिसकी वजह से आप लोगो से, अपने लक्ष्य से दूर हो जाते है। ऐसा कई लोगो के साथ हो सकता है की वो सामने वाले से ये expect करने लगते है की सामने वाला उनसे कुछ पूछे या जुड़ने की पहल करे जो की गलत है। कई बार ऐसी सोच की वजह से ही हम लोगो से जुड़ नहीं पाते है क्यों की same time सामने वाले के मन की भी यही thinking हो सकती है।

इसलिए जब भी भीड़ के बिच हो लोगो से जुड़ने की कोशिश करे ना की लोग आपसे जुड़े इसकी उम्मीद रखे। ये सबसे बढ़िया तरीका है dusro se madad kaise le लोगो के बिच अपनी positive value बढ़ाने का।

पढ़े : मेरी पहली Ad-sense earning और advertising को लेकर पहला अनुभव – जानने योग्य बाते

खुद को अनुभवी दिखाने के चक्कर में मजाक ना बने

अगर आप किसी एक फील्ड में अनुभवी है और आपकी उसमे अच्छी पकड़ है तो इसका ये मतलब नहीं की आप दुसरो की हेल्प नहीं ले सकते। किसी एक फील्ड में एक्सपर्ट होना आपको हर जगह अनुभवी नहीं बना देता इसलिए हमेशा जहा से जो मिले सीख लेना शुरू कर दे ताकि आपकी knowledge बढ़ती रहे।

how to learn daily life me dusro se madad kaise le :

अगर आप बिना किसी हिचकिचाहट और अनचाहे विचार के dusro se madad kaise le ना चाहते है तो निचे लिखे कुछ dusro se madad kaise le टिप्स आपको मदद कर सकते है।

अगर आपको वास्तव में किसी से हेल्प लेनी है तो सबसे पहले अपने अंदर की हिचकिचाहट और अनचाहे विचारो को दूर करे। मदद मांगने के दौरान मन में किसी भी तरह का दूसरा या negative thought ही मन में न आने दे।

मदद मांगते वक़्त सामने वाले के रिएक्शन जरूर देखे की वो सिर्फ दिखावे के लिए हेल्प कर रहा है या फिर दिल से आपकी मदद करना चाहता है। दिल से हेल्प करने वाले लोग अक्सर आपका पूरा सपोर्ट करेंगे ताकि आप अपने काम में सफल हो सके। इसलिए ये बेहद जरुरी है की ऐसे लोगो को चुनाव करे जो वास्तव में आपकी हेल्प करना चाहते है।

Advance tips : dusro se madad kaise le

आप किस तरह की हेल्प चाहते है इसका carefully selection करे। ऐसे लोगो का चुनाव करे जिनके साथ आप वास्तव में अपनी प्रॉब्लम शेयर कर सके, उनके साथ फ्रैंक रह सके और जो आपको मौके पर दुसरो के साने नीचा न दिखाए।

Read also : तीसरे नेत्र छटी इंद्री और आज्ञा-चक्र जागरण की सबसे सरल ध्यान विधि

अगर आप किसी की हेल्प करते है तो बदले में आपको भी हेल्प मिलेगी इसलिए give and take का रूल समझे। किसी दूसरे की हेल्प करना आपको कब कहा काम आ जाए कोई नहीं जानता इसलिए सिर्फ मदद मांगने की उम्मीद ना रखे दुसरो की मदद करना भी सीखे।

किसी की मदद ले रहे है उस पर trust है या नहीं ? ये ध्यान रखे की जिससे आप हेल्प ले रहे है उस पर आपका trust होना भी जरुरी है। इसलिए ये बाते जरूर ध्यान रखे

किसी से भी जरूरत से ज्यादा उम्मीद ना रखे ना ही निर्भर बने क्यों की सभी इंसान है और सबकी एक limitation है।

किसी से reject hone ka dar, दूर होने का डर यहाँ तक की छोड़ जाने का डर सभी relationship में होता है, इसलिए किसी भी तरह के डर को दूर करे।

प्रॉब्लम छोटी या बड़ी नहीं होती है आप उन्हें कितना महत्व देते है ये मायने रखता है इसलिए कभी भी अगर इस तरह की मुश्किल में हो तो decide करे की कोनसी प्रॉब्लम आपको solve करनी है किसे ignore करना है।

मुश्किलों को आसान करे और चैलेंज लेना सीखे ताकि आप हर बार किसी प्रॉब्लम को सिर्फ ignore ही नहीं solve करने का भी courage रखे।

dusro se madad kaise le – final word :

दोस्तों लाइफ में आगे बढ़ने के लिए संकीर्ण मानसिकता को दूर करना कितना जरुरी है ये तो आप इस पोस्ट के माध्यम से समझ ही गए होंगे। दुसरो के साथ जुड़ कर कैसे हम dusro se madad kaise le अपनी प्रॉब्लम को solve कर सकते है इसे समझना भी जरुरी है। जब भी आपके मन में इस तरह की मानसिकता बने आप इसे दूर करना सीख ले और खुद का personal development करे।

अगर आप हमारे रेगुलर विजिटर है तो पोस्ट शेयर करना, अपने विचार कमेंट करना ना भूले। आप हमें subscribe भी कर सकते है ताकि हम आपको daily अपडेट भेज सके।

dusro se madad kaise le जैसी इन पोस्ट को भी पढना ना भूले

4 COMMENTS

  1. Nice And Very useful info,
    This article important and really good the for me is.Keep it up and thanks to the writer.Amazing write-up,Great article. Thanks!
    used to really good
    your info is quite helpful to forever.

  2. Hiya, I am really glad I’ve found this information. Nowadays bloggers publish only about gossips and internet and this is actually annoying. A good website with exciting content, that is what I need. Thanks for keeping this website, I’ll be visiting it. Do you do newsletters? Cant find it.

  3. Hello.This post was extremely fascinating, particularly since I was investigating for thoughts on this issue last Saturday.

  4. बहुत अच्छा article sir,
    इसको पड़कर मेने help लेने की अच्छी आदत सीखी है धन्यवाद

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.